Sponser

Search

Winter Clothing

Thursday, May 31, 2018

6 महत्वपूर्ण बाते 81 mm मोर्टार के बारे में

पिछले पोस्ट में हमने 81 mm मोर्टार के बेसिक टेक्निकल डाटा के बारे में जानकारी हासिल किये ! इस पोस्ट में हम 81 mm मोर्टार को जोड़ने के बाद देखनेवाली बाते तथा मोर्टार से सम्बंधित 6 अहम जानकारी हम  प्राप्त करेंगे !


जैसे की हम जानते है की ब्रिटेन  का बना हुवा बजल लोडिंग हाई एंगल ऑफ़ फायर वेपन है  ! इसके बैरल  का वजन 14.5 किलोग्राम तथा बेस प्लेट का 14.4 किलोग्राम होता है !


इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बात दिया है !

1.मोर्टार को जुड़ जाने के बाद देखनेवाली बाते कौन कौन सी है ?
2. बेस प्लेट फ्लैग और दर्शक का क्या काम है ?
3.मोर्टार का हिफाजत और सफाई क्यों जरुरी है ?
4.मोर्टार के साईट का क्या फायदे है ?
5.दिशा बब्ल के फायदे कौन कौन से है ?
6. मोर्टार नम्बर -3 अमुनिसन तैयार करते समय क्या क्या बाते देखता है ?

1.मोर्टार को जुड़ जाने के बाद देखनेवाली बाते कौन कौन सी है ?(81 mm Mortar ko judne ke bad dekhnewali bate):मोर्टार को जुड़ने का बाद निम्न बातो को विशेष ध्यान देना चाहिए :
  • नम्बरों की हरकत , पोजीशन और नम्बर 1 का साईट दुरुस्त रखना !
  • बेस पलट की सफ़ेद लाइन, बेस पलट प्लग एक सिद्ध में होना 
  • ब्रीच पिस लॉक होना !
  • मजल कवर लगा रहना उचाई स्क्रू तकरीबन 6 इंच निकला हो !
  • योक मध्य में हो 
  • सेफ्टी नब F पर ऊपर की तरफ हो और रोटेटिंग सॉकेट हैंडल ठीक सेफ्टी नोब के पीछे हो !
  • नोब लॉकिंग कसा हुवा हो 
  • क्लैंप कलर का निचला हिस्सा बैरल की मोती से तक़रीबन 6 इंच ऊपर और क्लैंप बोल्ट ठीक कसा हुवा हो !
  • बाई पोड दुरुस्त फासले पर रखा हुवा(बेस पलट से लगभग 18 इंच पर)
  • जंजीर ठीक लगी हुई !

2. बेस प्लेट फ्लैग और दर्शक का क्या काम है ?(Base plate flag aur darshak ka kya kaam hai): निम्न काम है :
  • बेस प्लेट फ्लैग :मोर्टार को एक्शन में लाते समय सही बेस प्लेट पोजीशन को जाहिर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है !
  • दर्शक: जब मोर्टार एक्शन में आती है तो इस पर शिस्त लेकर दिशा हासिल की जाती है !
3.मोर्टार का हिफाजत और सफाई क्यों जरुरी है ?(81 mm mortar ka hifajat aur safai kyo jaruri hai): इस लिए जरुरी है :
  • मोर्टार की लाइफ बढ़ने के लिए 
  • ज्यादा दुरुस्ती हासिल करने के लिए 
  • काम से काम समय में एक्शन में लाने  और  उसमे कामयाबी के साथ काम लेने के लिए 

4.मोर्टार के साईट का क्या फायदे है ?(Mortar ke site ka kya fayde hai)
मोर्टार के साईट के निम्न फायदे है :
  • इसके मदद से बगैर टारगेट को देखते हुए मोर्टार को उस टारगेट के ऊपर ले(Lay) कर सकते है !
  • उच्चाई स्केल और उच्चाई बब्ल की मदद से मोर्टार की दिए हुए फासले पर ले(Lay) कर सकते है !
  • साईट के दिशा के लिए बड़े आर्क में मोर्टार को ले(Lay) किया जा सकता है !
5.दिशा बब्ल के फायदे कौन कौन से है ?(Disha babl fayde kaun kaun se hai): दिशा बब्ल के निम्न फायदे है :
  • इससे malum कर सकते है की जब दिशा बब्ल मध् में हो तो साईट जमीन के हमवार खड़ी है !
  • दिशा के मदद से बाई पोड की टैंगो से ह्म्वारी और ट्रावेर्स के असर को दूर कर सकते है !

6. मोर्टार नम्बर -3 अमुनिसन तैयार करते समय क्या क्या बाते देखता है ?(Mortar no-3 amunition taiyar karte samay kya kya bate dekhta hai):
  • विंड सील्ड  ढिल्ला तो नहीं है !
  • विंड सील्ड  के ऊपर कोई चोट तो नहीं है 
  • विंड सील्ड क्रैक तो नहीं है 
  • फ्यूज में सेफ्टी पिन है या नहीं 
  • सेकेंडरी कार्ट्रिज पर कोई सुराख़ तो नहीं है और चार्ज के लिहाज से पुरे है !
  • तेल यूनिट ढिल्ला तो नहीं है !

इस प्रकार से 81 mm मोर्टार को जोड़ने के बाद देखनेवाली बाते और मोर्टार से  सम्बंधित 5 मुख्य बाते हम जाने इस पोस्ट में !उम्मीद है की ये पोस्ट आपक लोगो को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित करे !
इसे भी पढ़े :
  1. 84 mm राकेट लांचर के पार्ट्स का नाम और बेसिक टेक्निकल डाटा तथा विशेषताए
  2. एंगल ऑफ़ डिपार्चर और एंगल ऑफ़ एलिवेशन क्या होता है
  3. आटोमेटिक हथियारों का चाल और सिद्धांत
  4. आटोमेटिक वेपन के गैस ऑपरेशन के सिद्धांत कैसा काम करता है
  5. आटोमेटिक हथियार के गैस को रेगुलेट करने का तरीका तथा फायदे और नुकशान
  6. ब्लो बैक ओपेराटेड हथियार और उसका विशेषताए
  7. सिंपल ब्लो बैक और ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है
  8. ग्रुपिंग फायर क्या होता है? ग्रुपिंग की काबिलियत किसे कहते है ?
  9. एम् पी आई और एप्लीकेशन फायर क्या होता है ?
  10. इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग (IWT) चलाने का तरीका

7.62 mm MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान में रखनेवाली बाते

पिछले पोस्ट में हमने MMG में पड़नेवाली रोके के कारण के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान में रखने वाली बातो के बारे में जानकारी प्राप्त करे !


जैसे की हम जानते है की MMG एक लम्बी दुरी तक मारकर करने वाली हथियार है !जिसे हम ट्राई पोड पे माउंट करके फायर करते है ! इसके ट्राई पोड का पूरा नाम माउंटिंग  ट्राई पोड 7.62 mm L4आ है जिसका वजन 31 पौंड 3 औंस या 14.2 किलोग्राम होता है !

जरुर पढ़े : 7.62mm एलेमजी का बेसिक डाटा और एलेमजी कि निरिक्षण करने का तरीका

फायरिंग के समय 4 बेल्ट रैपिड फायर के बाद इसकी बैरल की बदली की जाती है और इसके रियर साईट पर 200 से लेकर 1800 मीटर का रेंज लिखा रहता है !

इसमें इस्तेमाल होने वाले ट्रेसर राउंड 1000 मीटर तक रौशनी देता है और एंटी एयरक्राफ्ट रोल  के समय इसके बेल्ट बॉक्स में 47 ट्रेसर राउंड रखे जाते है  और बेल्ट बॉक्स के ऊपर लाल रंग से A/A लिखा रहता है !

इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए इसे हम निम्न भागो में आबंट दिए है :
1. गन को फायर के लिए तैयार  करते समय ध्यान में रखने वाली बाते ?
2. दिशा की गलती का क्या कारण है MMG फायर में ?
3.MMG के रेंज मालूम करने की कौन कौन सी विधि है? 
4. फ्लान्किंग फायर की किस्मे क्या होती है ?
5.डिफेंस में MMG का क्या काम है ?
6. एंटी एयरक्राफ्ट रोल में लगी MMGको देखनेवाली बाते ?
7. फ्लान्किंग फायर समय ध्यान में रखनेवाली बाते  है
8. हरकती  टारगेट को मारते समय ध्यान में रखने वाली बाते

जरुर पढ़े : 7.62mm LMG के मगज़ीन के भरना , एलेमजी को भरना , खाली करना और साईट को लगाने का तरीका

1. गन को फायर के लिए तैयार  करते समय ध्यान में रखने वाली बाते ?(Gn ko fire ke lie taiyar karte samay dhyan me rakhnewali bate):गन को फायर के लिए तैयार  करते सम्ह हमे निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए 
  • यकीन करे की गैस रेगुलेटर ठीक जगह और मौसम के लिहाज से सेट किया गया है !
  • बैरल ठीक लगी हुई है !
  • तेल और सफाई के सामान उपलब्ध है !
  • साईट कसी  हुई हो 
  • बेल्ट के पुर्जे को बेक और बंद करे  
2. दिशा की गलती का क्या कारण है MMG फायर में ?(Disha ki galti ka kya karan hota hai MMG ke fire me): दिशा की निम्न गलतिय होती है :
  • पहलु की हवा 
  • शिस्त में मामूली गलती 
  • और ट्राई पोड की थरथराहट 

जरुर पढ़े : 7.62 mm एलेमजी को खोलना जोड़ना और सके होलडोल के साथ आने वाले सामान


3.MMG के रेंज मालूम करने की कौन कौन सी विधि है? (MMG ke range malum karne ki kaun kaun si vidhi hai) रेंज मालूम करने की निम्न विधि है :
  • रेंज फाइंडर से 
  • नक़्शे से
  • की  रेंज से 
  • गन फायर करके 
4. फ्लान्किंग फायर की किस्मे क्या होती है ?(Flanking fire ki kisme kya hoti hai): निम्न किस्मे होती है फ्लंकी फायर की :
  • टारगेट को उस समय तक मारना  जब तक की उसकी तरफ एडवांस  कर रही अपनी सेना  सुरक्षित रहे !
  • सुरक्षा का ध्यान रखते हुए अपनी सेना के नजदीक से नजदीक फायर का  पर्दा बनाना 

5.डिफेंस में MMG का क्या काम है ?(Defence me MMG ka kya role hai?): MMG का डिफेन्स में निम्न रोल है :
  • बटालियन के फ्रंट को कवर करना !
  • बटालियन के गैप को कवर करना 
  • किसी खाली  फ्लेंक को कवर करना 
  • एंटी एयरक्राफ्ट रोल 
  • दो बटालियन के बिच के गैप को कवर करना 
6. एंटी एयरक्राफ्ट रोल में लगी MMGको देखनेवाली बाते ?(Anti aircraft role me MMG ko dekhnewali bate):  एंटी एयरक्राफ्ट रोल में लगे MMG में देखनेवाली बाते निम्न है :
  • पोजीशन हवाई शत्रु के छुपाव में हो 
  • पोजीशन आरामदेह हो 
  • हवाई जहाज के आने वाले रस्ते  पे कारगर फायर डालने वाला हो 
  • अगर जरुरी हो तो जमीनी शत्रु के ऊपर भी फायर डालनेवाला हो

जरुर पढ़े :7.62mm LMG का दुरुस्त शिस्त , दुरुस्त पकड़ और दुरुस्त फायर का तरीका

7. फ्लान्किंग फायर समय ध्यान में रखनेवाली बाते  है ?(Flanking fire ke kya fayde hai): फ्लान्किंग फायर के निम्न फायदे है :
  • अपनी सेना के पोजीशन का पता हो या किसी टाइम प्रोग्राम के मुताबिक काम कर रही हो 
  • फ्लान्किंग फायर देते समय बचाव के बुनियाद का 60 मिल्स रखा जय 
  • टारगेट को मारने की विधि बुनियादी कोण में शामिल किया 
  • हवा का हक़ को ध्यान में रखा  जाय 
  • बचाव का हक किसी दुरुस्त विधि से नापा जाय न की हाथ से 
8. हरकती  टारगेट को मारते समय ध्यान में रखने वाली बाते (Harkati target ko marte samay dhyan me rakhnewali bate)हरकती टारगेट को मारते समय ध्यान में रखने वाली कुछ बाते निम्न है :
  • नजर की लाइन को खड़ी और पड़ी बदलते रहना चाहिए 
  • रेंज में तबदीली करते रहना चाहिए 
  • टारगेट के कितने आगे फायर करवाया  जाय यह टारगेट के गति और दिशा  देख कर फिक्स की जाय 

इस प्रकार से MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान में रखनेवाली बातो से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज को लाइक करे के हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !

इसे भी पढ़े :
  1. नॉ-36 ग्रेनेड का खोलना जोड़ना और ग्रेनेड की चाल
  2. ग्रेनेड के हमला से बचाव और ग्रेनेड फेकने का तरीका !
  3. ट्यूब लौन्चिंग MK-I का बेसिक डाटा और विशेषताए
  4. राइफल ग्रेनेड फायर करने का तरीका और चाल
  5. X-95 राइफल का परिचय और बेसिक स्पेसिफिकेशन डाटा
  6. X-95 राइफल को खोलना जोड़ना तथा हिस्से पुरजो का नाम और साफ सफाई करने का तरीका
  7. X-95 रेफिले में लगने वाले साईट की जानकारी
  8. X-95 राइफल से फायर करने का तरिका
  9. 7.62 mm LMG की खुबिया ,कमिया और डिप्लॉयमेंट के उसूल
  10. 84 mm राकेट लांचर 2"और 51 mm मोर्टार के खुबिया , खामिया और डिप्लॉय करने का उसुल

Wednesday, May 30, 2018

7.62 mm MMG के टारगेट का नाम और MMG में पडनेवाले रोके के कारण

पिछले पोस्ट में हमने MMG फायर आर्डर का क्रम के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम जानेगे की MMG के टारगेट का नाम और MMG में पड़ने वाले रोको के कारण  क्या होता है(7.62 mm MMG ke target ka naam aur MMG me padenwale roke ke karan) !


जैसे की हम जानते है की MMG एक लम्बी दुरी तक मार  करनी वाली हथियार है जिसका कारगर रेंज 1800 मीटर है और इसके बैरल की लम्बाई 24.8 इंच तथा इसका वजन 22 पौंड 7.5 औंस या 10.2 किलो ग्राम होता है ! MMG का पूरा नाम मीडियम मचिन गन 7.62 mm 2A !

जरुर पढ़े : INSAS LMG में पड़ने वाले अन्य रोके तथा उसे दूर करने का तरीका

इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बाँट दिया है !
1. MMG के टारगेट का नाम क्या क्या होते है ?(MMG ke target ka nam)
2.MMG के फायर रफ़्तार कितने की होती है ?(MMG ke fire raftar kitne ki hoti hai)
3.MMG में रोके पड़ने का क्या कारण होते है ?(MMG me roke padne ke kya karan hote hai )
4. MMG के फौरी इलाज से कौन कौन से रोके दूर की जाती है ?(MMG ke fuari ilaj se kaun kaun se roke dur hoti hai)
5. MMG को खोलते समय ध्यान में रखने वाली बाते (MMG ko kholte samay dhyan me rakhnewali bate)

1. MMG के टारगेट का नाम क्या क्या होते है ?(MMG ke target ka nam):MMG के टारगेट को निम्न नमो से जानते है :

  • नुक्ता टारगेट 
  • चौड़ाई वाला टारगेट 
  • गहरे वाला टारगेट 
2.MMG के फायर के प्रकार  कितने की होती है ?(MMG ke fire ke prakar kitne ki hoti hai): MMG के फायर का प्रकार निम्न होता है :
  • लगतार फायर : 600 से 1000 राउंड प्रति मिनट 
  • तेज फायर : 200 राउंड्स प्रति मिनट 
  • साधारण फायर :100 राउंड्स प्रति मिनट 
3.MMG में रोके पड़ने का क्या कारण होते है ?(MMG me roke padne ke kya karan hote hai ): MMG में रोक पड़ने के निम्न कारण है :
  • गन टोली को दुरुस्त काम का नहीं जानना 
  • खराब अमुनिशन  
  • फायर से पहले और फायर के दौरन देखने वाली बातो पे ध्यान न देना 
  • किसी पुर्जे का टूट फुट 

4. MMG के फौरी इलाज से कौन कौन से रोके दूर की जाती है ?(MMG ke fuari ilaj se kaun kaun se roke dur hoti hai): MMG के फौरी इलाज से दूरं होने वाले रोके निम्न है :
  • चपता राउंड 
  • टुटा हुवा खराब बेल्ट 
  • डैमेज लिंक के कारण अच्छा राउंड फीड नहीं होना 
  • सख्त खिचाव 
5. MMG को खोलते समय ध्यान में रखने वाली बाते (MMG ko kholte samay dhyan me rakhnewali bate)MMG को kholte समय निम्न बाते का ध्यान रखना चाहिए :
  • जो पुर्जा खोला जाए उसे साफ जगह पर तरतीब से  रखा जाय 
  • खोते सामी किसी भी पुर्जे को गम या टूट नहीं होनी चाहिए !

इस प्रकार से 7.62 mm MMG के टारगेट का नाम और MMG में पडनेवाले रोको से सम्बंधित एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज को लाइक करे के हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !


इसे भी पढ़े :
  1. इंसास एलेमजी को खोलना जोड़ना और उसके पार्ट्स का नाम
  2. INSAS LMG को फिक्स्ड लाइन पे लगाने का तरीका तथा एलेमजी के साथ आने वाले सामान
  3. 5.56 MM INSAS LMG के ऊपर दुरुस्त पकड़ बनाने का तरीका
  4. 5.56 MM INSAS LMG से दुरुस्त शिस्त लेने का तरीका
  5. 5.56 mm INSAS LMG से सही फायर करने का तरीका
  6. 5.56 mm INSAS LMG से सही फायर करने का तरीका
  7. 5.56 mm INSAS LMG का चाल और चाल में सामिल होने वाले हिस्से पुर्जे !
  8. इंसास एलएमजी में पड़ने वाले रोके और फौरी इलाज से दूर करने का तरीका
  9. इंसास एलएमजी में पड़ने वाले शख्त खिचाव के रोक और उसे दूर करने का तरीका
  10. INSAS LMGमें पड़ने वाली गैस की कमी का रोक और उसे दूर करने का तरीका

7.62 mm MMG के फायर आर्डर का क्रम और वक्फा के दौरान ध्यान देने वाली बाते

पिछले पोस्ट में हमने MMG के ट्राई पोड माउंट  तथा गन माउंट के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम MMG के फिरे आर्डर का तरतीब और वक्फा के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते के बारे में जानेगे !


यह हथियार एक लम्बी दुरी तक मार करने वाला हथियार है! MMG का कारगर रेंज 1800 मीटर होता है  ! इसका साइक्लिक रेट ऑफ़ फायर ज्यादा है !इसकी हैंडलिंग ट्रेनिंग के दौरान 80 राउंड भरने का अध्यास कराया जाता है जिसके दौरान 25 राउंड से कम कभी भी भरवाई नहीं जाती है !

जरुर पढ़े  :7.62 mm एसएलआर का बेसिक डाटा -I

जैसे की हम जानते है की MMG को खाली तथा दिस माउंट गन पूरी तरह से हो जाते है तभी हम समझते है की MMG का फायर समाप्त हुवा है ! और  भर की करवाई उसी समय किया जाता है जब हमे जल्दी फायर करनी हो !

इस पोस्ट को अच्छी तरह हे समझने के लिए इस पोस्ट को निम्न भागो में बाँट दिया गया है  :
1. MMG के फायर आर्डर की क्रम क्या होता है ?(MMG ke fire order ka squence kya hota hai)
2. भर के आदेश पर नम्बर-2 किन किन बातो का ध्यान रखता है ?(MMG ke bhar ke aadesh par no-2 kin kin bato ka dhyan rakhta hai )
3. फायर के दौरान के वक्फा के समय क्या चेक किया जाता है ?(Fire ke dauran wakfa ke samay kya check kiya jata hai)

जरुर पढ़े  :7.62 Self Loading Rifle basic data-II?

1. MMG के फायर आर्डर की क्रम क्या होता है ?(MMG ke fire order ka squence kya hota hai): MMG का फायर आर्डर का क्रम निम्न होता है !

  • सूचित करना 
  • रेंज 
  • टारगेट का बयाँन 
  • फायर की विधि 
  • फायर का हक़ (यदि हो तो )
  • फायर का हुक्म और 
  • फायर की गति 
2. भर के आदेश पर नम्बर-2 किन किन बातो का ध्यान रखता है ?(MMG ke bhar ke aadesh par no-2 kin kin bato ka dhyan rakhta hai ): भर के आदेश पर नम्बर-2 निम्न बातो का ध्यान रखता है :
  • बेल्ट को सीधा रखना 
  • पहले राउंड को कार्ट्रिज स्टॉप के खिलाफ रखता है !
  • बेल्ट को डालते और निकलते समय कोई ऊँगली फीड ट्रे पर नही हो !
  • बेल्ट को फीड ट्रे पर उस समय रखता है जबकि नम्बर-1 ने टॉप कवर खड़ा किया हो !
जरुर पढ़े  :7.62 Self Loading Rifle basic data-III?


3. फायर के दौरान के वक्फा के समय क्या चेक किया जाता है ?(Fire ke dauran wakfa ke samay kya check kiya jata hai): वक्फा के समय निम्न बाते चेक करता है :

  • क्लाम्पिंग हैंडल 
  • क्रेडल 
  • कोच्किंग लीवर 
  • फ्रंट मौन्तिंग पिन 
  • साईट 
जैसे की हम जानते है की MMG के एक बेल्ट में २३५ राउंड होते है और एक बेल्ट का वजन  19 पौंड होता है !



इस प्रकार से यहाँ 7.62 mm MMG के फायर आर्डर का क्रम और वक्फा दरों चेक करने वाली बातो से सम्बंधित एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुवा !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज को लाइक करे के हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !


इसे भी पढ़े :
  1. फायरिंग के दौरान फायरर द्वारा की जानेवाली कुछ गलतिया ? 
  2. 7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?
  3. 7.62mm LMG के बारे में कुछ जानकारिय
  4. 7.62mm ki chal. एस एल आर कैसे काम करता हा(एसएलआर की चाल). 
  5. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  6. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  7. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  8. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  9. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  10. .303 LE राइफल का इतिहास

Tuesday, May 29, 2018

7.62 mm MMG के माउंट ट्राई पोड की करवाई के समय ध्यान में रखनेवाली बाते

पिछले पोस्ट में हमने 7.62 mm MMG को खोलने और जोड़ने के बारे जानकारी प्राप्त की और इस पोस्ट में हम माउंट ट्राईपोड और माउंट गन के बारे में में जानेगे !


 यह हथियार एक लम्बी दुरी तक मार करने वाला हथियार है! MMG का कारगर रेंज 1800 मीटर होता है  ! इसका साइक्लिक रेट ऑफ़ फायर ज्यादा है !इसकी हैंडलिंग ट्रेनिंग के दौरान 80 राउंड भरने का अध्यास कराया जाता है जिसके दौरान 25 राउंड से कम कभी भी भरवाई नहीं जाती है ! 

जरुर पढ़े  7.62 mm MMG के प्रकार तथा टेक्निकल डाटा 7.62 mm MMG के ?

इस पोस्ट को पढने के बाद इन विषयों की जानकारी प्राप्त होगी :
1. 7.62 mm MMG के  माउंट ट्राईपोड की करवाई  में देखने वाली बाते( 7.62 mm MMG ke mount tripod me dekhne wali bate kaun kaun si hai)
2. 7.62  mm MMG के माउंट गन की करवाई  में देखने वाली बाते कौन कौन सी है !(7.62 mm MMG ke mount gun me dekhne wali bate)
3. 7.62 mm MMG के लिंक के हिस्से पुर्जे का नाम (7.62 mm MMG ke linke ke hisse purje ka naam)
4. 7.62 mm MMG  के एक्शन की करवाई को मीलाकर पूरी होती है ?(7.62mm MMG ke action ki karwai ko milakar puri hoti hai

1. 7.62 mm MMG के  माउंट ट्राईपोड में देखने वाली बाते( 7.62 mm MMG ke mount tripod me dekhne wali bate kaun kaun si hai): माउंट ट्राईपोड में देखने वाली बाते निम्न है 

  • सॉकेट बताये हुए स्थान पर हो 
  • रियर लेग आम रुख के सिद्ध में हो 
  • डायल हमवार हो 
  • फ्रंट माँउन्टिंग पीन बहार हो 
  • डिफलेक्सन और ऐलीवेसन ड्रम मध्य में हो 
  • क्रेड्ल लॉकिंग लीवर लगा हुवा हो और 
  • क्लाम्पिंग हैंडल कसे हुए हो !

2. 7.62  mm MMG के माउंट गन में देखने वाली बाते कौन कौन सी है !(7.62 mm MMG ke mount gun me dekhne wali bate): माउंट गन में देखनेवाली निम्न बाते है :
  • नम्बर 1,2,और 3 का आखरी काम और पोजीशन दुरुस्त हो 
  • गन हमवार हो 
  • फ्रंट मौन्तिंग पिन लगी हुई हो 
  • कैरिंग  हैंडल दाहिने तरफ हो 
  • बेल्ट बॉक्स फीड ट्रे के लाइन में हो 

3. 7.62 mm MMG के लिंक के हिस्से पुर्जे का नाम (7.62 mm MMG ke linke ke hisse purje ka naam): लिंक के हिस्से तीन होते है और उनका नाम इस प्रकार से है :
  • लिंक 
  • प्रोजेक्शन कैप 
  • प्रोजेक्शन डीटेंट  क्लिप 
4. 7.62 mm MMG  के एक्शन की करवाई को मीलाकर पूरी होती है ?(7.62mm MMG ke action ki karwai ko milakar puri hoti hai) 7.62 mm MMG का एक्शन की करवाई माउंट गन और भर की करवाई को मिलाकरबनता है !


इस प्रकार से 7.62 mm MMG माउंट ट्राईपोड के समय ध्यान में रखने वाली बातो से सम्बंधित पोस्ट संपत हुई !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज को लाइक करे के हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !


इसे भी पढ़े :
  1. 84 mm राकेट लांचर के पार्ट्स का नाम और बेसिक टेक्निकल डाटा तथा विशेषताए
  2. एंगल ऑफ़ डिपार्चर और एंगल ऑफ़ एलिवेशन क्या होता है
  3. आटोमेटिक हथियारों का चाल और सिद्धांत
  4. आटोमेटिक वेपन के गैस ऑपरेशन के सिद्धांत कैसा काम करता है
  5. आटोमेटिक हथियार के गैस को रेगुलेट करने का तरीका तथा फायदे और नुकशान
  6. ब्लो बैक ओपेराटेड हथियार और उसका विशेषताए
  7. सिंपल ब्लो बैक और ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है
  8. ग्रुपिंग फायर क्या होता है? ग्रुपिंग की काबिलियत किसे कहते है ?
  9. एम् पी आई और एप्लीकेशन फायर क्या होता है ?
  10. इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग (IWT) चलाने का तरीका

Wednesday, May 23, 2018

SSG-69 राइफल को रेडी, मेक सेफ और खाली कर का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने  SSG-69 राइफल को भरना और खाली  करने के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम जानेगे की SSG-69 राइफल को रेडी , मेक सेफ और खाली rifle ko ready, make safe aur khaali karne ka tarika) !


जैसे की हम जानते है की SSG-69 राइफल के फायरिंग में ज्यादा से ज्यादा फायदे के लिए जरुरी है की हथियार को शुरू से ही सही ढंग से इस्तेमाल किया जाय और उसके साफ सफाई के ऊपर उचित ध्यान दिया जाय ताकि वह समय पड़ने पे साफ सफाई के कारन कोई रोके न पड़े ! इस लिए इसकी हरेक पार्ट्स की साफ सफाई तरतीब वाइज इस प्रकार से की जाये !

जरुर पढ़े:9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I

स्नाइपर को इस हथियार की हैंडलिंग में उच्चे दर्जे तक पहुचने के लिए जरुरी है की शुरू शुरू में राइफल हैंडलिंग की करवाई तरतिवबार तरीके से करे !

इस पोस्ट को आसानी से समझने के लिए हमने  इस पोस्ट को निम्न भागो में बाँट दिया है !

SSG-69 Rifle
SSG-69 Rifle
1. SSG-69 राइफल को रेडी करने का तरीका(SSG-69 Rifle ko ready karne ka tarika) 
2. SSG-69 राइफल को मेक सेफ करने का तरीका (SSG-69 rifle ko make safe karne ka tarika)
3. SSG-69 राइफल को खाली करने का तरीका (SSG-69 rifle ko khaali arne ka tarika)

ऊपर बताई हुई कोई भी करवाई करने से पहले सीखे हुए तरीके से लायिंग पोजीशन अख्तियार करे !
1. SSG-69 राइफल को रेडी करने का तरीका(SSG-69 Rifle ko ready karne ka tarika) :रेडी या रेंज का हुकुम मिलते ही करवाई इस प्रकार से करे ! दाहिने हाथ के अंगूठे से सेफ्टी कैच स्लाइड को फायर पर करे और राइफल को कॉक करे और कलमे वाली  अंगुली को ट्रिगर गार्ड के ऊपर रखे !

जल्दीबाजी फायर हो जाने की वजह से ट्रिगर पर अंगुली न रखे ! ऐसे हादसो से बचने  के लिए सेफ्टी कैच स्लाइड को सेफ पर कर दे ! अगर फायर करना है तो सेफ्टी कैच स्लाइड को फायर पर करे और फायर जरी करे ! दुबारा कॉक करे और फायर करे !
 जरुर पढ़े:9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
2. SSG-69 राइफल को मेक सेफ करने का तरीका (SSG-69 rifle ko make safe karne ka tarika): मेक सेफ की हुकुम पर करवाई इस प्रकार  से करे मगज़ीन को उतारे और साफ जगह पर रखे ! राइफल को दाहिने टर्न करे, बाये हाथ के अंगूठे को मगज़ीन वे के नीच और चारो अंगुलिया इजेक्शन स्लॉट के रस्ते पर रखे! बोल्ट को पीछे खिचे और बाये हाथ  की मदद से चैम्बर वाले राउंड को पकडे और साफ जगह पर रख दे ! बाये हाथ की कलमे वाली अंगुली को मगज़ीन वे में दाखिल करे औरचैम्बर में  टटोले ! यकीं करेकी चैम्बर खली है ! बोल्ट को लॉक  करे और ट्रिगर दबाये ! सेफ्टी कैच स्लाइड को दाहिने साथ के अंगूठे से सेफ पर करे! राइफल को बाये टर्न करे और भरी हुई मगज़ीन चढ़ा दे ! अभी राइफल मेक सेफ है !

जरुर पढ़े:9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया

3. SSG-69 राइफल को खाली करने का तरीका (SSG-69 rifle ko khaali arne ka tarika): सीखे हुवे  तरीके से राइफल को खाली करे ! मेक सेफ और खाली कर में इतना ही अंतर है की मेक सेफ में बरी मगज़ीन चढ़ाई जाती है जाकी की खाली कर के करवाई  के बाद खाली  मगज़ीन चढ़ाई जाती है 

इस प्रकार से SSG-69 राइफल को रेडी , मेक सेफ और खली कर की करवाई से संबंधित पोस्ट समाप्त  हुई!उम्मीद है की यह आप लोगो को पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे ! 
इन्हें भी  पढ़े :इन्हें भी  पढ़े :
  1. एंगल ऑफ़ अटैक तथा एडवांस प्राइमर इग्निशन क्या होता ...
  2. समन और वारंट में अंतर
  3. स्निपिंग राइफल SSG -69 का एक संक्षिप्त परिचय
  4. स्नाइपर राइफल के अन्दर क्या क्या खूबिया होनी चाहि...
  5. SSG-69 स्नाइपर राइफल का बेसिक टेक्निकल डाटा
  6. SSG-69 राइफल की विशेषताए और सुरक्षित इस्तेमाल के ल...
  7. SSG-69 राइफल को खोलना और जोड़ने का तरीका
  8. SSG-69 राइफल के टेलीस्कोपिक साईट की बेसिक जानकारी ...
  9. SSG-69 राइफल का इस्तेमाल और रख रखाव में ध्यान में ...
  10. SSG-69 राइफल की रख रखाव और सफाई का तरीका