Advertisement

Search

Thursday, May 31, 2018

6 महत्वपूर्ण बाते 81 mm मोर्टार के बारे में

पिछले पोस्ट में हमने 81 mm मोर्टार के बेसिक टेक्निकल डाटा के बारे में जानकारी हासिल किये ! इस पोस्ट में हम 81 mm मोर्टार को जोड़ने के बाद देखनेवाली बाते तथा मोर्टार से सम्बंधित 6 अहम जानकारी हम  प्राप्त करेंगे !


जैसे की हम जानते है की ब्रिटेन  का बना हुवा बजल लोडिंग हाई एंगल ऑफ़ फायर वेपन है  ! इसके बैरल  का वजन 14.5 किलोग्राम तथा बेस प्लेट का 14.4 किलोग्राम होता है !


इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बात दिया है !

1.मोर्टार को जुड़ जाने के बाद देखनेवाली बाते कौन कौन सी है ?
2. बेस प्लेट फ्लैग और दर्शक का क्या काम है ?
3.मोर्टार का हिफाजत और सफाई क्यों जरुरी है ?
4.मोर्टार के साईट का क्या फायदे है ?
5.दिशा बब्ल के फायदे कौन कौन से है ?
6. मोर्टार नम्बर -3 अमुनिसन तैयार करते समय क्या क्या बाते देखता है ?

1.मोर्टार को जुड़ जाने के बाद देखनेवाली बाते कौन कौन सी है ?(81 mm Mortar ko judne ke bad dekhnewali bate):मोर्टार को जुड़ने का बाद निम्न बातो को विशेष ध्यान देना चाहिए :
  • नम्बरों की हरकत , पोजीशन और नम्बर 1 का साईट दुरुस्त रखना !
  • बेस पलट की सफ़ेद लाइन, बेस पलट प्लग एक सिद्ध में होना 
  • ब्रीच पिस लॉक होना !
  • मजल कवर लगा रहना उचाई स्क्रू तकरीबन 6 इंच निकला हो !
  • योक मध्य में हो 
  • सेफ्टी नब F पर ऊपर की तरफ हो और रोटेटिंग सॉकेट हैंडल ठीक सेफ्टी नोब के पीछे हो !
  • नोब लॉकिंग कसा हुवा हो 
  • क्लैंप कलर का निचला हिस्सा बैरल की मोती से तक़रीबन 6 इंच ऊपर और क्लैंप बोल्ट ठीक कसा हुवा हो !
  • बाई पोड दुरुस्त फासले पर रखा हुवा(बेस पलट से लगभग 18 इंच पर)
  • जंजीर ठीक लगी हुई !

2. बेस प्लेट फ्लैग और दर्शक का क्या काम है ?(Base plate flag aur darshak ka kya kaam hai): निम्न काम है :
  • बेस प्लेट फ्लैग :मोर्टार को एक्शन में लाते समय सही बेस प्लेट पोजीशन को जाहिर करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है !
  • दर्शक: जब मोर्टार एक्शन में आती है तो इस पर शिस्त लेकर दिशा हासिल की जाती है !
3.मोर्टार का हिफाजत और सफाई क्यों जरुरी है ?(81 mm mortar ka hifajat aur safai kyo jaruri hai): इस लिए जरुरी है :
  • मोर्टार की लाइफ बढ़ने के लिए 
  • ज्यादा दुरुस्ती हासिल करने के लिए 
  • काम से काम समय में एक्शन में लाने  और  उसमे कामयाबी के साथ काम लेने के लिए 

4.मोर्टार के साईट का क्या फायदे है ?(Mortar ke site ka kya fayde hai)
मोर्टार के साईट के निम्न फायदे है :
  • इसके मदद से बगैर टारगेट को देखते हुए मोर्टार को उस टारगेट के ऊपर ले(Lay) कर सकते है !
  • उच्चाई स्केल और उच्चाई बब्ल की मदद से मोर्टार की दिए हुए फासले पर ले(Lay) कर सकते है !
  • साईट के दिशा के लिए बड़े आर्क में मोर्टार को ले(Lay) किया जा सकता है !
5.दिशा बब्ल के फायदे कौन कौन से है ?(Disha babl fayde kaun kaun se hai): दिशा बब्ल के निम्न फायदे है :
  • इससे malum कर सकते है की जब दिशा बब्ल मध् में हो तो साईट जमीन के हमवार खड़ी है !
  • दिशा के मदद से बाई पोड की टैंगो से ह्म्वारी और ट्रावेर्स के असर को दूर कर सकते है !

6. मोर्टार नम्बर -3 अमुनिसन तैयार करते समय क्या क्या बाते देखता है ?(Mortar no-3 amunition taiyar karte samay kya kya bate dekhta hai):
  • विंड सील्ड  ढिल्ला तो नहीं है !
  • विंड सील्ड  के ऊपर कोई चोट तो नहीं है 
  • विंड सील्ड क्रैक तो नहीं है 
  • फ्यूज में सेफ्टी पिन है या नहीं 
  • सेकेंडरी कार्ट्रिज पर कोई सुराख़ तो नहीं है और चार्ज के लिहाज से पुरे है !
  • तेल यूनिट ढिल्ला तो नहीं है !

इस प्रकार से 81 mm मोर्टार को जोड़ने के बाद देखनेवाली बाते और मोर्टार से  सम्बंधित 5 मुख्य बाते हम जाने इस पोस्ट में !उम्मीद है की ये पोस्ट आपक लोगो को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित करे !
इसे भी पढ़े :
  1. 84 mm राकेट लांचर के पार्ट्स का नाम और बेसिक टेक्निकल डाटा तथा विशेषताए
  2. एंगल ऑफ़ डिपार्चर और एंगल ऑफ़ एलिवेशन क्या होता है
  3. आटोमेटिक हथियारों का चाल और सिद्धांत
  4. आटोमेटिक वेपन के गैस ऑपरेशन के सिद्धांत कैसा काम करता है
  5. आटोमेटिक हथियार के गैस को रेगुलेट करने का तरीका तथा फायदे और नुकशान
  6. ब्लो बैक ओपेराटेड हथियार और उसका विशेषताए
  7. सिंपल ब्लो बैक और ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है
  8. ग्रुपिंग फायर क्या होता है? ग्रुपिंग की काबिलियत किसे कहते है ?
  9. एम् पी आई और एप्लीकेशन फायर क्या होता है ?
  10. इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग (IWT) चलाने का तरीका

No comments:

Post a Comment