Sponser


Friday, May 5, 2017

आटोमेटिक हथियारों का चाल और सिद्धांत

पिछले पोस्ट में हमने थ्योरी ऑफ़ स्माल आर्म्स से सम्बंधित कुछ शब्द के मतलब जाने इस पोस्ट में हम स्वचालित  हथियारों के काम  करने का तरीका(Automatic weapon ke chaal) वह हथियार होते है जिसमे साइकिल ऑफ़ ऑपरेशन की क्रिया बगैर हाथ की मदद से पूरी होती !

जरुर पढ़े :51 mm मोर्टार तथा इसके डायल साईट के बेसिक टेक्निकल जानकारी

स्वचालित हथियार के निम्न 8 क्रियाये है जो की हथियार की बनावट के अनुसार अपने समय पर पूरी होती है !

(a) स्वचालित हथियार के चाल में सामिल होने वाले ये 8 क्रिया है
आटोमेटिक वेपन के चाल में सामिल होने वाली क्रियाये
आटोमेटिक वेपन के चाल में सामिल होने वाली क्रियाये 
1.  फायर(Fire) : कार्ट्रिज के .22 कैप पर फायरिंग पिन द्वारा चोट मरना

2. अनलॉक (UNLOCK): गोली फायर होने पर गैस पैदा होती है , पैदा हुयी गैस बुलेट को बरेल में आगे धकेलती है जब बुलेट गैस वेंट के पास से गुजरती है तो कुछ गैग, गैस वेंट से होकर गैस सिलिंडर में दाखिल हो जाती है ! यह गैस पिस्टन हेड पर दबाव डालती है जिससे रिसीवर पीछे की हरकत करता है! रिसीवर की पीछे के हरकत के दौरान रोटेटिंग बोल्ट का गाइड लग पथ वे की मदद से दायें से बाएं इतना घूमत जाता है की रोटेटिंग बोल्ट का गाइड लेग रियर कापबले से फ्रंट कापबले में आ जाता है! जिससे रोटेटिंग बोल्ट का लॉकिंग लेग दाहिने से बाएं घूमकर बॉडी लॉकिंग मेन रेसस्सेस से अलंग हॉट जाता है ! इस एक्शन  को अनलॉक की का एक्शन कहते है !

जरुर पढ़े :51mm मोर्टार को खोलना जोड़ना और उसके पार्ट्स के नाम

3. एक्सट्रेक्ट(Extract) : फायरिंग पिन के पीछे हटने के बाद एक्सट्रैक्टर का फायर हुए केस को रिम से पकड़कर चैम्बर से बहार लाना !

4. इजेक्ट(Eject) : फायर हुए केस का एजेक्टोर से टकराकर हथियार से बहार गिरना !

5. फीड(Feed) : ब्रीच  ब्लाक के पीछे जाने पर प्लेटफार्म मागज़ीने का स्प्रिंग की ताकत से ऊपर उठकर ऊपर वाले राउंड का ब्रीच ब्लाक फीड पिस की सीधी में आना

6. कॉक(Cock) : वह अवस्था जबकि ट्रिगर मैकेनिज्म , फायरिंग मैकेनिज्म को रिलीज़ करने के लिए तैयार है ! या शोर्तागे ऑफ़ एनर्जी  फोर स्ट्राइकिंग थे पर्कुसन कैप राउंड  के पेंदे पर चोट मरने केलिए हैमर में उर्जा  को स्टोर करता है !

7. लोड(Load) : राउंड को हैमर में पूरी तरह से बैठ जाना !

8. लॉक(Lock) : ब्रीच लॉकिंग कॉम्पोनेन्ट का गन बॉडी य बैरल के साथ लॉक होकर राउंड के बेस को पीछे से सहारा देता है !

जरुर पढ़े : स्मोक और इल्लू बम का चाल और बेसिक डाटा

(b) चाल वाले पुरजो को पीछे लाने के लिए ताकत(Automatic weapon ke chal wale purjo ko pichhe lane wale takte) :स्वचालित हथियारों के लिए चाल वाले पुरजो को कम से कम एक राउंड की लम्बाई के बराबर पीछे आना जरुरी है ताकि दूसरा राउंड लोड हो सके! चाल वाले पुरजो को पीछे आने के लिए ताकत 3 तरीको से प्राप्त की जाती है !
  • राउंड फायर होने से पैदा हुई गैस की ताकत से 
  • गैस द्वारा केस के पैंदे पर लगाये धक्के से 
  • बुलेट के आगे की दिशा में प्राप्त मूवमेंट के प्रितिकिरिया स्वरुप बैरल के रेकॉइल से 
(c) स्वचालित हथियार चलने के सिद्धांत (Automatic weapon ke chalne ka siddhant) : इस प्रकार से स्वचालित हथियार निम्न 3 सिद्धांत पर चलते है !
  • गैस की ताकत से 
  • केस के बेस पर दबाव से 
  • बैरल के रेकॉइल से 

इस प्रकार से आटोमेटिक हथियारों की चाल , चाल वाले पुरजो को पीछे लाने वाले ताकत और स्वचालित हथियार के चलने के सिद्धांत समबन्धित पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !

इसे भी पढ़े :
  1. स्मोक और इल्लू बम का चाल और बेसिक डाटा
  2. 2" मोर्टार का परिचय,और खुबिया तथा इसकी खामिया
  3. 51 mm मोर्टार छोटी छोटी बाते
  4. 51 mm मोर्टार डिटैचमेंट का काम, बनावट और फायर कण्ट्रोल करने का तरीका
  5. 51 mm मोर्टार के भरना और खली करने का तरीका तथा बम को तैयार करना
  6. 51 mm मोर्टार का ले और फायर तथा मिस फायर पे करवाई
  7. 7.62 mm MMG के प्रकार तथा टेक्निकल डाटा 7.62 mm MMG के ?
  8. 7.62 mm MMG को खोलना और जोड़ने का तरीका
  9. 7.62 mm MMG को भरना और खाली करने का तरीका

1 comment:

  1. ऑटोमेटिक हथियार कि चाल पीडीएफ फ़ाइल हो तो सेन्ड करो

    ReplyDelete

Addwith