Search

14 September 2022

9 mm पिस्टल का परिचय विशेषताए और बेसिक डाटा

 पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने  9 mm कार्बाइन मशीन गन की चाल और रोके  के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 9 mm पिस्टल का परिचय विशेषताए  और बेसिक डाटा(9 mm Pistol Browning ka parichay aur technical data ka IWT Saral Sabdo me    ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे! 

9 mm Pistol Browning FN
9 mm Pistol Browning FN
1.परिचय - सन् 1825 ई० में जॉन ब्रोइंग नामक वैज्ञानिक ने इसका डिजायन किया था। बेल्जियम के फेबिक्स नेशनल हर्टल फैक्ट्री ने तैयार किया। द्वितीय विश्वयुद्ध के बाद यह पिस्टल संशोधित कर कई देशों में तैयार किया जाने लगा। भारत में ऑडीनेन्स फैक्ट्री इशापुर (प०बंगाल में) तैयार किया जाता है। 9 एम. एम ब्राउनिंग पिस्टल मुठभेड़ की लड़ाई में इस्तेमाल होने वाला खास हथियार है। लम्चे रेंजों के हथियारों के साथ-साथ नजदीक रेंज वाले हथियार का उतना ही महत्व है. जितना कि लम्चे रेंज तक फायर करनेवाले हथियारों का महत्व है | 9 एम.एम. पिस्टल के अंदर तेज फायर करने की क्षमता है। साथ ही एक हाथ से फायर किया जा सकता है। इसको फायर करने के लिए सहारे की जरूरत कम पड़ती है। इसमें 9 एम.एम. बॉल एम्युनिशन इस्तेमाल किया जाता है। मैगजीन की सुविधा होने के कारण जल्दी-जल्दी फायर करके दुश्मन को बर्बाद किया जा सकता है। इसमें सुरक्षा का खास ध्यान रखना पड़ता है। मुठभेड़ में कम रेंज. गली-कूची में हथियार का इस्तेमाल कारगर साबित होता है।

9 एम.एम. पिस्टल का टेक्निकल डाटा :

  • (i) बिना मैजगीन पिस्टल का वजन - 910gm
  • (ii) खाली मैगजीन का वजन- 75 gm
  • (iii) भरी मैगजीन का वजन - 200 gm
  • (iv) भरी मैगजीन के साथ वजन-1.1 kg
  • (v) पिस्टल की लम्बाई- 8.7 inch
  • (vi) बैरल की लम्बाई-- 4.75 inch
  • (vii) साइड रेडियस-6.25 inch
  • (vii) मजल वेलोसिटी-- 305 mt./Sec.
  • (ix) कारगर रेंज-15 गज
    • 10 गज बेटल क्रौच पोजीशन से
    • 50 गज स्पोर्ट फायर इफेक्टिव रेंज
  • (x) मैगजीन क्षमता- 13 राउण्ड
  • (xi) मैगजीन का प्रकार-- Box Type

9 mm Pistol parts
9 mm Pistol Browning FN
9 mm Pistol parts
9 mm Pistol parts

इसके साथ ही 9 mm  पिस्टल ब्राउनिंग ऍफ़ एन का परिचय तथा विशेषताए   से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !
इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे! 
इन्हें भी पढ़े :

  1. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  2. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  3. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  4. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  5. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  6. .303 LE राइफल का इतिहास
  7. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  8. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  10. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II

9 mm कार्बाइन मशीन गन की चाल और रोके के IWT सरल भाषा में

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने  9 mm कार्बाइन मशीन गन के मैगज़ीन को भरना, कार्बाइन को भरना, कार्बाइन को खाली करना और फायर करना  के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 9 mm कार्बाइन मशीन गन की चाल और रोके के IWT सरल भाषा में जानेगे (9 mm  Carbine Machine Gun ki chal aur roke ki IWT Saral shabdo me   ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे! 
9 mm Carbine Machine gun
9 mm CMG
1. शुरू-शुरू का कामः-
  • (क) क्लास की गिनती और ग्रुपों में बाँट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्यवाही 
2 दोहराई- पिछले सबक से प्रश्न पूछे जायें तथा कारवाईन को नरना, खाली करने का अभ्यास कराया
जाय।
3. पहुँच -सी.एम.जी. हल्के वजन का हथियार है। साथ ही सो बैक के साथ ए.पी.आई. के सिद्धांत पर
चालन क्रिया करता है। लड़ाई में किसी भी जवान को फायर करने का मौका मिल सकता है। इसलिए हर एक जवान को सी.एमजी. की चाल जानना आवश्यक है. ताकि फायर के दौरान किसी प्रकार के
हादसे से बच सके। यह तभी संभव है. जब जवान अच्छा प्रशिक्षण पाया हुआ हो।
4. उद्देश्य -9 एमएम. कारबाईन की चाल और पड़नेवाली रोकों को दूर करने का तरीका सिखाना है।
(उद्देश्य को दोहराये)।
5. सामान :- सी.एम.जी., मैगजीन, ड्रील काट्रिज, टारगेट फिगर 11 और ग्राउण्डशीट।
6. भागों में बाँट -
  • भाग 1- कारबाईन की चाल और सेफ्टी।
  • भाग 2- तुरन्त उपायों से रोकों को दूर करना।
भाग 1- कारवाईन की चाल और सेफ्टी
कारवाईन की चाल और सेफ्टी :- (नमूना बयान से) पहले खुली हुई कारबाईन पर चाल बताया जाय, इसके बाद जुड़ी हुई कारबाईन पर चाल सवाल-जवाब से पूरा किया जाय । 9 एम.एम. कारवाईन की चाल दो एक्शनों में पूरा होता है-
  • 1. ब्लो बैक
  • 2 एडवांस प्राइमर इग्निशन (API) |
चाल - जब चेंज लीवर के पोजीशन को 'एस' से आर' या 'ए पर करके ट्रिगर को दबाते हैं, तो सियर नीचे दब जाता है, जिससे सियर ब्रिज लॉक वेन्ट से अलग हो जाता है और ब्रिज ब्लॉक रिटर्निंग स्प्रिंग की ताकत से आगे की हरकत करता है. इस दौरान ब्रिज ब्लॉक का फीड हार्न मैगजीन के ऊपरवाले राउण्ड को बायें से दायें घुमाते हुए चैम्बर में दाखिल करता है। जैसे ही राउण्ड चेम्बर में दाखिल होता है ब्रिज लॉक आगे का हरकत जारी रहता है। इस दौरान राउण्ड 0.3 इंच दाखिल होने के लिए बाकी रहता है, वैसे ही फिक्स फायरिग पिन प्राइमर पर ठोकर मारता है और राउण्ड फायर हो जाता है। राउण्ड फायर होने से गैस पैदा होती है, जो बुलेट को बैरल में आगे धकेलती है. गैस सेफ लेवल पर होता है ।
गैस के निम्नलिखित काम हैं-
  • (क) भारी ब्रिज ब्लॉक को आगे जाने से रोकता है
  • (ख) बुलेट को आगे धकेलता है
  • (ग) खाली केश को पीछे लाता है
  • (घ) ब्रिज ब्लॉक को पीछे लाता है। ज्योंही बुलेट मजल को छोड़ता है. उसी दौरान फायर केश और ब्रिज ब्लॉक पीछे की हरकत करता है। फायर केश एजेक्टर से टकराकर एजेक्शन स्लॉट के रास्ते दाहिनी ओर नीचे गिर जाता है और ब्रिज ब्लॉक पूरा पीछे आ जाता है। जब ब्रिज सॉक पूरा पीछे रहता है, तो ब्रिज ब्लॉक का वेन्ट सियर में फंस जाता है।
सेफ्टी (सुरक्षा)-सुरक्षा के बारे में बताने से पहले कारवाईन की खूबियाँ और कमियाँ बताना जरूरी है।
खूबियों :-
  • (1) 9 एम.एम. कारवाईन का काट्रिज पैरलल होने के कारण चेम्बर में सही बैठता है। फायर होने पर गैस को पीछे नहीं आने देता है। यह कार्टिज ब्लो बैंक के सिद्धांत को पूरा करता है।
  • (2) भारी ब्रिज ब्लॉक API के सिद्धांत को पूरा करने के लिए बनाया गया है। भारी बिज लॉक के कारण फायर के एक्यूरेसी में अंतर देता है जिससे एम.पी.आई.2 इंच नीचे बनता है।
  • (3) लो पावर एम्यूनिशन फायर होने से धक्का नहीं लगता है और फायर की रफ्तार को बढ़ाता है। साथ ही ब्लो बैक के सिद्धांत को भी पूरा करता है।
कमियों :- इस हथियार की तीन कमजोरियों हैं-
  • (1) हैण्ड चैम्चरिंग
  • 2) हैंग फायर
  • (3) अर्ली इग्नेशन।
भाग 2- तुरन्त उपायों से रोकों को दूर करना
तुरन्त उपायों से रोकों को दूर करना:-9 एमएम कारबाईन में बहुत कम रोके पड़ती है। अगर किसी कारण रोकें पड़ जाती हैं. तो तुस्त उपाय से उसे दूर किया जाता है। तुरन्त उपाय से पाँच प्रकार के रोकों को दूर किया जाता है -
  • (क) खाली मैगजीन
  • (ख) अनफिट मैगजीन
  • (ग) बॉडी में रोक
  • (घ) मिस फायर
  • (ड.) साइज से मोटा राउण्ड।
रोक दूर करने का तरीका- यदि कारबाईन शुरू से ही फायर न करे या फायर करते-करते रुक जाय, तो कार्रवाई इस प्रकार करें -
  • (i) कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से बाहर निकालें तथा कारबाईन को भर पोजीशन में लायें।
  • (ii) कारवाईन को कॉक करें, बायें टर्न करते हुए एजेक्शन स्लॉट से मैगजीन चैम्बर का निरीक्षण करें, देखने से पता चला मैगजीन खाली. चेम्बर खाली तो खाली मैगजीन समझकर मैगजीन कैच दबाते हुए मैगजीन को उतारे और पाउच में रखें पाउच से भरी हुई मैगजीन को लें और सरसरी निगाह से चेक करते हुए मैगजीन वे में दाखिल करे और यकीन करें कि मैगजीन बैठ गया है और फायर को जारी करें।
  • (in) यदि देखने से पता चला कि मैगजीन भरा चेम्बर खाली तो अनफिट मैगजीन समझकर बाये हाथ से मैगजीन को ठीक से बैठायें, शिस्त लें और फायर करें।
  • (iv) यदि देखने से पता चला कि बॉडी में फायर केश या लटका हुआ राउण्ड हो तो कारबाईन को बायें टर्न करें और आगे-पीछे हिलाएँ। फायर केश या राउण्ड बाहर आ जायेगा। फायर को जारी करे।
  • (v) यदि देखने से पता चला मैगजीन भरा. चेन्बर खाली और इजेक्ट किया हुआ राउण्ड हो तो राउण्ड के पेदे को चेक करें। अगर पेदे पर चोट हो तो मिस फायर का रोक समझकर शिस्त लें और फायर करे।
  • (vi) देखने से पता चला मैगजीन भरा, चेम्बर भरा तो कार्रवाई इस प्रकार करें- कारबाईन को 45 डिग्री ऊपर करते हुए आगे-पीछे हिलायें, राउण्ड निकल जायेगा। यदि नहीं निकला तो सीखे हुए तरीके मैगजीन को उतारें, दोनो पाँव को मिलाएँ. कारबाईन को कंधे पर ले जायें दायें-बायें 10 गज देखें कोई जानदार चीज तो नहीं, है अगर न हो तो फायर करें। साइज से मोटा राउण्ड का रोक दूर हो जाएगा । पोजीशन में जायें, शिस्त लें और फायर करें । इस प्रकार तुरन्त उपाय से पाँच प्रकार की रोकों को दूर किया जाता है ।
नोट :- रात के समय रोक को टटोलकर पता किया जाता है। अभ्यास रोकों का पता लगाने और दूर करने का अभ्यास कराया जाय ।
संक्षेप - सवाल-जवाब द्वारा सबक को दोहराया जाय तथा क्लास के शक-सवाल को दूर किया जाय।
इसके साथ ही 9 mm  कार्मबाइन  मशीन केचाल और रोके  से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !
इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे! 
इन्हें भी पढ़े :
  1. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  2. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  3. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  4. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  5. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  6. .303 LE राइफल का इतिहास
  7. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  8. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  10. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
 


12 September 2022

9 mm कार्बाइन मशीन गन के मैगज़ीन को भरना, कार्बाइन को भरना, कार्बाइन को खली करना और फायर करना के IWT सरल भाषा में

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने 9 mm कार्बाइन मशीन गन की विशेषताए, खोलना जोड़ना और सफाई के   आदि के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 9 mm कार्बाइन मशीन गन के मैगज़ीन को भरना, कार्बाइन को भरना, कार्बाइन को खली करना और फायर करना के IWT सरल भाषा में जानेगे (9 mm CMG ke magazine ko bharna, Carbine ko bharna khali karna aur fire karna ke IWT Saral Shabdo me  ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे!
9 mm  CMG
9 mm  CMG

1. शुरू-शुरू का काम :-

  • (क) क्लास की गिनती और गुपों में बाँट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्यवाही

2 दोहराई :- पिछले सबक से प्रश्न पूछे जायें तथा कारबाईन को खोलने-जोड़ने का अभ्यास कराया

जाय।

3. पहुँच : सी.एम.जी. को खोलना जोड़ना ही काफी नहीं है बल्कि इससे काफी नजदीक होनेवाले दुश्मन के खिलाफ इस्तेमाल होने के कारण प्रत्येक जवान को कारबाईन भरने, तथा खाली करने की कार्रवाई इतनी तेजी से आनी चाहिए कि वह तेजी और दुरुस्ती के साथ कारबाईन को भरकर फायर कर सके। इसके लिए जरूरी है कि प्रत्येक जवान ने सही ट्रेनिंग हासिल की हो।

4. उद्देश्य :- मैगजीन भरना, कारबाईन भरना, खाली करना और फायर करने का तरीका सीखाना है (उद्देश्य को दोहराये) ।

5. सामान :- सी.एम.जी.. मैगजीन, ड्रील कार्टिज, बैनेट, सिलिंग, सी.क्यू.बी टारगेट और ग्राउण्डशीट।

6. भागों में बाँट :-

  • भाग 1- मैगजीन भरना और खाली करना ।
  • भाग 2-कारबाईन को भरना, ले जाने का तरीका, रेडी पोजीशन और खाली करना
  • भाग 3- फायर, स्टॉप और मेकसेफ की कार्रवाई।
भाग 1- मैगजीन भरना और खाली करना :- (नमूना बयान से)

(क) मैगजीन भरना- मैगजीन को भरने से पहले जरूरी है कि एम्यूनिशन की सफाई कर लें, ताकि फायरिंग के दौरान रोकों से बचा जाय। मैगजीन का निरीक्षण करें तथा यकीन करें कि मैगजीन के सभी हिस्से ठीक हैं। बायें हाथ से मैगजीन को इस तरह से पकड़ें कि मैगजीन का मुड़ा हुआ भाग अपनी तरफ हो। मैगजीन को दरी. बूट की टो या दाहिने जंधे पर रखते हुए राउण्ड का पेंदा आगे की तरफ रखते हुए लिप्स के ऊपर रखें और बायें अंगूठे से नीचे तथा दाहिने अंगूठे से आगे की तरफ दबायें। यकीन करें कि राउण्ड ठीक तरह से बैठ गया है। यदि भरते समय कोई राउण्ड गिर जाय, तो उसे अंत में साफ करके भरें। इस प्रकार एक मैगजीन में 32 राउण्ड भरे जाते हैं। मैगजीन ज्यादा दिनों तक इस्तेमाल में लाना हो तो उसे खाली करके रखा जाय, नहीं तो स्प्रिंग की ताकत कम हो जाती है ।

(ख) मैगजीन को खाली करना- मैगजीन को खाली करने का तरीका इस प्रकार है- बायें हाथ से मैगजीन को इस प्रकार पकड़ें कि छोटा मेहरा नीचे की तरफ हो। अगर चिन्दी लगाई गई हो तो निकाल दें। बायें हाथ के अंगूठे से राउण्ड के पेंदे के पीछे से नीचे की ओर दबाते हुए राउण्ड खाली करें (जिस प्रकार मकई को पिरोया जाता है)। याद रहे कि राउण्ड का गिराव साफ जगह पर हो।


भाग 2- कारबाईन को भरना, ले जाने का तरीका, रेडी पोजीशन और खाली करना :

(क) कारबाईन भरना - (नमूना बयान से)

  • (i) उठाओ कारबाईन और मैगजीन हुक्म पर दाहिने हाथ से कारबाईन और बायें हाथ से मैगजीन को उठायें। मैगजीन को पाउच में बंद करें। मजल जमीन से 45 डिग्री के एंगल पर हो। 
  • (ii) भर पोजीशन के हुक्म पर बायाँ पाँव थोड़ा आगे और बायीं तरफ रखते हुए पैर को खम दें। बाएँ हाथ से बैरल केसिंग और दाहिने हाथ से पिस्टन ग्रिप को पकड़ें। कलमे वाली अंगुली ट्रिगर गार्ड से बाहर तथा नजर सामने हो। भर के हुक्म पर यकीन करें कि चेंज लीवर 'एस' पर है। बायें हाथ से मैगजीन को पाउच से निकालें और निरीक्षण करते हुए मैगजीन वे में दाखिल करें तथा यकीन करें कि मैगजीन ठीक से बैठ गया है। पकड़ पहले की तरह। 
(ख) ले जाने के तरीके - (नमूना बयान से)

जब कभी हमें कारबाईन को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना पड़े तो हम तीन तरीकों से कैरी करते हैं

  • (i) माला या हार पोजीशन- इस पोजीशन को अख्तियार करने के लिए सबसे पहले बैरल को बायीं तरफ करते हुए सिलिंग को गले में डालें। ध्यान रहे कि मैगजीन बायीं बगल में दबा हो तथा मैगजीन कैच ऊपर की तरफ हो। इस पोजीशन में दोनो हाथ खाली होते हैं।
  • (ii) सिलिंग आर्भ पोजीशन- इस पोजीशन को हम उस हालत में इस्तेमाल करते हैं, जब हमें काफी समय तक मार्च करना हो । सिलिंग को दाहिने कंधे में इस तरह डालें कि बैरल ऊपर की तरफ हो और मैगजीन पीठ के साथ लगा हो तथा दाहिना हाथ सिलिग पर हो। बारिश के मौसम में बैरल का पोजीशन नीचे की तरफ किया जाता है, ताकि बैरल में पानी नहीं जाय।
  • (ii) तोल शस्त्र पोजीशन-कारबाईन को दाहिने हाथ से कॉकिंग हैंडल के पास पकड़ें। बैरल आगे की तरफ और मैगजीन दाहिने जाँध से मिला हो तथा मैगजीन कैच ऊपर की तरफ हो । यह पोजीशन दुश्मन के इलाके में या छोटी-छोटी रुकावटों को पार करते समय अख्तियार की जाती

(ग) रेडी पोजीशन – (नमूना बयान से)

जब दुश्मन दिखाई दे या आदेश मिले 'रेडी तो कार्रवाई इस प्रकार करें

  • (i) कारबाईन को भर पोजीशन में लायें, बायें हाथ से चेन्ज लीवर को 'आर' या 'ए' पर करें, कारबाईन को कॉक करें, कलमे वाली अंगुली ट्रिगर पर रखें नजर सामने तथा अगले हुक्म का इन्तजार करें।
  • (ii) खाली करना- अगर फायर करने की जरूरत न हो या हुक्म मिले खाली कर. तो कार्रवाई इस प्रकार करें- कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से हटायें, चेन्ज लीवर का पोजीशन 'एस' पर करें, मैगजीन कैच को दबाते हुए मैगजीन को उतारें और पाउच में बंद करें। चेन्ज लीवर को 'ए' या 'आर' पर करते हुए पुर्जी पर काबू रखते हुए ट्रिगर दबायें। यह कार्रवाई दो बार करें, चेन्ज लीवर को 'एस' पर करें तथा कारबाईन ठीक का रिपोर्ट दें।

भाग 3- फायर, स्टॉप और मेकसेफ की कार्रवाई - (नमूना बयान से)

(क) उठायें कारबाईन से रेडी तक की कार्रवाई के लिए क्लास से सवाल-जवाब करते रहे और अनुदेशक रेडी की कार्रवाई पर आ जायें ।

(ख) इस कारबाईन से दो हलातों में फायर करते हैं-

1. जब दुश्मन दूर हो

2. जब दुश्मन नजदीक हो।

(ग) जब हुक्म मिले फायर और दुश्मन दूर हो तो कारबाईन को कंधे में ले जायें और साइट का इस्तेमाल करते हुए शिस्त लेकर फायर करें ।

(घ) जब दुश्मन नजदीक को तो कारबाईन को बैटल क्रोच पोजीशन में लायें। इस पोजीशन में देखने वाली बातें- बायें पैर चलती हलात में खम किया हुआ तथा टारगेट की सीध में दायाँ पैर खिंचा हुआ, पोजीशन छोटा से छोटा. दोनो हाथ का पोजीशन पहले की तर

स्टॉप और मेकसेफ :- अगर फायर करने की जरूरत न हो. या हुक्म मिले स्टॉप तो सबसे पहले कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से हटायें और कारबाईन को भर पोजीशन में लें। यदि मैगजीन खाली हो गया हो तो सीखे हुए तरीके से मैगजीन की बदली करें। यदि कुछ समय के लिए फायर न करना हो तो मेकसेफ की कार्रवाई की जाती है । मेकसेफ की कार्रवाई इस प्रकार करें -

  • (i) कलमे वाली अंगुली ट्रिगर से हटायें, चेंज लीवर को 'एस' पर करें ।
  • (ii) मैगजीन कैच दबाते हुए मैगजीन उतारें ।
  • (iii) चेंज लीवर 'एस' या 'आर' पर करें।
  • (iv) कारबाईन को कॉक करें और ट्रिगर दबायें। साथ ही चेंज लीवर को 'एस' पर करें।
  • (v) पाउच से भरा मैगजीन निकालें और निरीक्षण करते हुए चढ़ा दें।।

अभ्यास :- फायर, स्टॉप, मेकसेफ तथा पूरे सबक पर अभ्यास कराया जाय ।

संक्षेप:- पूरे सबक से सवाल-जवाब करें तथा क्लास का शक दूर करें और अच्छे जवानों से नमूना दिलाओं ताकि उनका हौसला बलंट हो ।

इसके साथ ही 9 mm  कार्मबाइन  मशीन के मैगज़ीन को भरना , कार्बाइन को भरना खली करना और फायर करने  से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !

इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!  

इन्हें भी पढ़े :
  1. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  2. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  3. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  4. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  5. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  6. .303 LE राइफल का इतिहास
  7. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  8. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  10. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II

Popular Posts

Add