Sponser

Search

Winter Clothing

Sunday, April 5, 2020

एके -203 राइफल क्यों अच्छा है INSAS राइफल से ?

पिछले पोस्ट में हमने SSG-69 के बारे में डिसकस किये और अब इस पोस्ट में हम इंसास राइफल और एके -203  राइफल के बिच एक तुलनातमक विश्लेषण करेंगे ! 


जैसे की आप सभी जानते है की इंसास राइफल(INSAS RIFLE) एक भारत का ही बना हुवा अपना स्वदेशी राइफल है ! दोनों राइफल्स के बिच तुलना करने से पहले हम इन दोनों राइफल्स की कुछ बेसिक डेटा  जाने ले:

INSAS(INdian Small Arms System)


  • कुल वजन : 4. 5  किलोग्राम 
  • लम्बाई : 960 mm 
  • बैरल की लम्बाई :464 mm 
  • अम्मुनिशन : 5 . 56  mm 
  • काम करने का सिद्धांत : गैस ऑपरेटेड रोटेटिंग बोल्ट 
  • रेट ऑफ़ फायर :600 -650  राउंड्स/मिनट 
  • मजल वेलोसिटी :900 मीटर /सेकंड 
  • रेंज : 400 -600 मीटर 
  • मागज़ीने कैपेसिटी : 20 -30 बुलेट पर मैगज़ीन 
  • साइट : इन बिल्ट साइट जो की नाईट /टेलीस्कोपिक साइट भी लग सकता है 

आयरन साइट ऑफ़ इंसास राइफल 


इंसास राइफल की खामिया :
  • बार बार रोके पड़ती है विशेष कर ठंढ वाले इलाको में 
  • मैगज़ीन में क्रैक आ जाते है ठंढ के समय 
  • ब्रिटल मजल ज्यादा ठंढ के समय 
  • फायरिंग करते समय राइफल आयल आँख में आती है 
  • TRB  मैकेनिज्म अच्छे से काम नहीं करता है जिससे ब्रस्ट फायर भी हो जाता है !

AK-203 के बेसिक डेटा :यह राइफल AK -47  का एडवांस वर्शन है और इस का मुख्य मुख्य बेसिक डिटेल्स इस प्रकार से है :
AK -203 
  • वजन : 3. 4  किलोग्राम 
  • लम्बाई -943 mm 
  • बैरल की लम्बाई :415 mm 
  • अम्मुनिशन : 7. 62 mm 
  • काम करने का सिद्धांत :गैस ऑपरेटेड रोटेटिंग बोल्ट 
  • रेट ऑफ़ फायर :600  राउंड्स/मिनट 
  • मजल वेलोसिटी :715 मीटर /सेकंड 
  • रेंज : 500 से 600 मीटर 
  • मागज़ीने कैपेसिटी : 30  राउंड्स 
  • साइट : आयरन साइट जिसमे ऑप्टिकल साइट भी लग सकता है !

क्यों AK -203  राइफल इंसास राइफल से बेहतर है :
  • AK -203  वजन से इंसास राइफल से हल्का है जिसके कारन इसको हैंडल करना आसान है !
  • AK -203 राइफल में बहुत प्रकार के साइट जैसे की नाईट साइट , इंफ्रारेड , ACOG , टेलीस्कोपिक साइट यदि लगाया जा सकता है  जो की इंसास में इनमे से कुछ  साइट नहीं लग सकती है !
  • AK -203 एक अपग्रेडेड वर्शन है AKM  जबकि ऐसा कहा जाता है की इंसास राइफल एक प्रोटोटाइप राइफल है जो केवल 10 साल के लिए ही उपयुक्त होना था !
  • AK -203 का मैक्सिम रेंज 1000 मेटर तक भी हो सकता है !
  • AK -203 राइफल को फायर करते समय आयल आँख में पड़ने की कोई गुंजाइस नहीं है !
  • AK -203 राइफल में ठंढ वाले इलाके में रोके पड़ने की सिकायाते नहीं है !
  • AK -203 राइफल में UBGL फिट किया जा सकता है ! यह राइफल जंग रहित है इसमें जंग नहीं लगता है corrosion फ्री है !
ऊपर बताये गए कुछ तथ्य है जिससे AK -203 राइफल इंसास के बनस्पत एक अच्छा राइफल माना  जाता है !
उम्मीद है की आप को ये मेरा पोस्ट पसंद आएगा अगर मेरा पोस्ट पसंद आये में मेरे  इस ब्लॉग को लाइक  शेयर और सब्सक्राइब जरूर करे !

इसे भी पढ़े :
  1. 84 mm राकेट लांचर के पार्ट्स का नाम और बेसिक टेक्निकल डाटा तथा विशेषताए
  2. एंगल ऑफ़ डिपार्चर और एंगल ऑफ़ एलिवेशन क्या होता है
  3. आटोमेटिक हथियारों का चाल और सिद्धांत
  4. आटोमेटिक वेपन के गैस ऑपरेशन के सिद्धांत कैसा काम करता है
  5. आटोमेटिक हथियार के गैस को रेगुलेट करने का तरीका तथा फायदे और नुकशान
  6. ब्लो बैक ओपेराटेड हथियार और उसका विशेषताए
  7. सिंपल ब्लो बैक और ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है
  8. ग्रुपिंग फायर क्या होता है? ग्रुपिंग की काबिलियत किसे कहते है ?
  9. एम् पी आई और एप्लीकेशन फायर क्या होता है ?
  10. इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग (IWT) चलाने का तरीका

Saturday, April 4, 2020

कोरोना से बचाव आरोग्यसेतु मोबाइल ऍप के द्वारा

दोस्तों जैसे की आप देख ही रहे है की कोरोना वायरस अपना पैठ दुनिया के सभी देशो में कैसे कैसे बना रहा है और उस से अपना देश भी अछूता नहीं है !और इस महामारी से बचने के लिए सभी देशो ने आपने अपने अस्तर पे बहुत से उपाय कर रहे है लेकिन फिर भी जान माल की बहुत ही निकसान उठाना पद रहा है !

विश्व के जो विक्षित देख थे ो भी इस बीमारी के मार को सँभालने में पूरी तरह से बिफल होते दिख रहे है चाहे ो अमेरिका हो या इटली सभी एक जैसा हाल है और उन देशो को देखते हुए हम कह सकते है की हमारी सर्कार ने बहुत ही सही समय पे सही निर्णय लिया और जिसके कारण हमरे यहाँ अभी तक इस बीमारी का वैसा रूप नहीं है जैसा की पक्षिम की विक्षित देशो में हुवा है!

लेकिन वह के भावहा  स्थिति देख कर बहुत चिंता होना सवभाविक है अगर विकशित  देश इस महामारी  की लड़ाई में हारते दिख रहे है तो भारत जैसे विकासशील  देश जहा की जनसँख्या कभी ज्यादा है एक सोच की विषय जरूर है फिर भी अपनी सरकार  ने बहुत ही अच्छी तरह से इस महामारी को अभी तक कंटेन  कर के रखा है और इसी कड़ी में 2  अप्रैल 2020 को अपनी सरकार  ने एक मोबाइल ऍप  AarogyaSetu  नाम से रिलीज़ किया जो की एनरोइड और आई फ़ोन ऑपरेटिंग सिस्टम पे लांच किया है और अपने सभी नागरिको से अनुरोध किया है की इस ऍप को इनस्टॉल करे जैसे की बताया गया है इस अप्प को इनस्टॉल करने से यह फायदा :


  • यह एक कोरोना की लड़ाई की टूल की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है!
  • इस ऍप को इनस्टॉल करने के बाद अगर कोई कोरोना पीड़ित मरीज आप के नजदीक आता हो तो उसका जानकारी आप को इस ऍप के जरिये प्राप्त होगी  जिससे की आप अपनी बचाव कर सकते है और कोरोना की प्रसार को रोका जा सकता है !
  • सर्कार ने लेटर के द्वारा अपने सभी आर्म्ड फाॅर्स और पुलिस बिभाग से अनुरोध किया है की अपने  बिभाग के कर्मचारीओ को बोले की इस अप्प को इस्टॉल करे. 






AarogyaSetu  Mobile  App को install  करने की विधि:



  • गूगल प्ले स्टोर में जाये और AarogyaSetu  सर्च करे 
  • और उसको डाउनलोड कर के इनस्टॉल करे 
  • इनसेट होने के बाद आप के मोबाइल पे एक OTP आएगा उसको एंटर करे और 
  • अपना लोकेशन तथा विदेश विजिट से सम्बंधित डिटेल एंटर करेर बस होगया।     


आप निचे दिए हुए लिंक से भी डाउनलोड कर सकते है 
Anroid 

iOS


धन्यवाद अगर ये ब्लॉग पसंद आये तो मेंरे इस ब्लॉग को जरूर लाइक /शेयर और सब्सक्राइब करे।