Sponser


Tuesday, May 31, 2016

इंसास एलेमजी को खोलना जोड़ना और उसके पार्ट्स का नाम

पिछले पोस्ट में हम इंसास एलेमजी के विशेषताए और उसके कुछ अहम टेक्नीकल  स्पेसिफिकेशन(INSAS LMG ke important technical specification) के बारे में बाट किए ! इस पोस्ट में हम इंसास एलेमजी को खोलना जोड़ना (LMG ko Kholna aur Jodna )और उसके हिस्से पुरजो के नाम  बारे में बात(Insas LMG ke Parts ka naam) करेंगे !




                         जरुर पढ़े : ओब्जेक्टी प्रस्नोतर एलेमजी के बारे में 

एलेमजी के खोने जोड़ने का मतलब है की आप को एसएलआर(SLR) , इंसास राइफल(INSAS Rifle), कार्बाइन(9mm Carbine), तहत पिस्तौल(9mm Pistol) को खोलना जोड़ना आता होगा!  अगर नहीं आता है तो उसके बारे में भी पोस्ट है उसे आप पढ़ सकते है और जानकरी हासिल कर सकते है !

जैसे की हम जानते है कीकिसी भी हथियार को खोलना जोड़ना एक तरतीब से होता है उसी तरह से इंसास एलेमजी को भी खोलने जोड़ने का तरतीब है ! जैसे :
  • सबसे पहले मग्जिन  उतारें
  • कॉक करे
  • कवर असेंबली को खोलें
  • पिस्टन एक्सटेंशन असेंबली को निकले
  • रोटेटिंग बोल्ट को अलग करे
  • गैस ट्यूब को खोलें
  • फायरिंग पिन, एक्सट्रैक्टर , मगज़ीन के प्लेट फॉर्म को भी खोले सकते है 
INSAS LMG
INSAS LMG
इंसास एलेमजी के हिस्से पुर्जे का नाम और काम : इंसास एलएमजी में कुल 13 असेंबली होती है जो निम्न है !
  • बैरेल असेंबली(INSAS LMG ke barrel Assymbly aur uske partska name) :
  1. फ़्लैश एलिमिनाटर(flash eliminator) : पैदा होने वाले सोले की तीव्रता को कम करता है और ग्रेनेड प्रोजेक्टर का भी काम करता है !
  2. बैरेल(Barrel) : गोली को सही दिशा में जाने में मदद करता है ! इसके ग्रूव और लैंड गोली को स्थिरता देती है 
  3. गैस ब्लाक और गैस प्लग(Gas Block and Gas plug) : गैस वेंट के ऊपर लगी पूरी एक्सेसरीज को ब्लाक गैस कहते है जिससे गैस सिलिंडर में दाखिल होती है !
  4.  गैस रेगुलेटर ,गैस एस्केप होल(Gas regulator and gas escape hole) : गैस रेगुलेटर गैस की मात्र को कण्ट्रोल करता है लो और हाई पोजीशन द्वारा !
  5. लूप फ्रंट स्लिंग(Lug for front sling) :  फ्रंट स्लिंग लगाने का काम आता है !
  • हैण्ड गार्ड असेंबली (Hand Guard Assembly)
  • कोक्किंग हैंडल असेंबली(Cocking handle Assysmbly) : ये राइफल को कॉक करने में मदद देता है ! स्लाइड के पीछे हिस्से में लगा होता है ! इसके पुर्जे का नाम इस प्रकार है :
  1. कोक्किंग हैंडल (Cocking handle)
  2. स्लाइड (Slide)
  3. प्लंजर (Plunger)
  4. पीन(Pin)
  • बॉडी हाउसिंग असेंबली(Body Housing Assymbly) : ये 1.8 mm  सिट मेटल का बना होता है और इसके पुरजो का नाम :
  1. लेफ्ट चैनल (Left Chanel)
  2. राईट चैनल (Right Channel)
  3. सेफ्टी सियर (Safety Sear)
  4. एजेक्टोर (Ejector)
  5. स्पेसर (Spacer)
  6. रियर ब्लाक(Rear Block) 
  • कवर असेंबली (Cover assybmly)
  1. हिन्जेस(Hinges) 
  2. मेल डोवेटेल(Mail Devoetail)
  3. रियर साईट हाउसिंग(Rear sight Housing) 
  • ट्रिगर मैकेनिज्म असेंबली (Trigger Mechanism Assembly)
  1. चेंज लीवर (Change lever)
  2. TRB
  3. हैमर (Hammer)
  4. ट्रिगर सियर (trigger  sear)
  5. औक्सिल्लारी सियर (Auxillary Sear)
  • पिस्तौल ग्रिप असेंबली (Pistol Assymbly)
  • बट असेंबली (But Assymbly)
  1. बट प्लेट (But Plate)
  2. बट ट्रैप (But Trap)
  3. रियर स्लिंग लग (Rear sling lug
  4. शोल्डर पिवोट (Shoulder pivot)
                      जरुर पढ़े :  इंसास राइफल के चाल
  • पिस्टन एक्सटेंशन असेंबली (Piston extension Assembly)
  1. पिस्टन (Piston)
  2. काम वे (Cam way
  3. स्टेम (stem)
  4. रेकोइल स्प्रिंग हाउसिंग(Recoil Spring Housing) 
  5. राईट लग (Right Lug)
  6. बॉटम सरफेस (Bottom surface)
  • रोटेटिंग बोल्ट असेंबली (Rotating bolt assembly)
  1. काम (Cam)
  2. फायरिंग पीन (firing pin)
  3. लॉकिंग लग (Lockin lug)
  4. फीड पीएस (Feed piece)
  5. एक्सट्रैक्टर (Extractor)

  • रेकोइल स्प्रिंग असेंबली(Recoil spring assembly) 
  1. स्टॉपर(Stopper)
  2. गाइड(Guide)
  3. स्प्रिंग(Spring)
  • मगजिन असेंबली (Magzin Assembly)
  1. लिप्स(Lips)
  2. प्लेटफार्म (Platform)
  3. बॉटम प्लेट(Bottom plate) 
  4. डिंपल (Dimpal)
  5. रिटेनर (Retainer)
  6. स्प्रिंग (Spring)
  • बिपोड़ असेंबली (Bipod assembly)
  1. शूज(Sheos)
  2. कैच (Catch)
  3. लेग्स (legs)
इस प्रकार इंसास एलएमजी को कुल 13 असेंबली में विभाजित किया गया है और उसके अस्सेब्ली के अनुसार पुर्जो का नाम है !

5.56 mm इंसास एलेमजी को जोड़ना : इंसास राइफल की तरह ही इसका भी जो पार्ट्स आखिर में खुलता है उसे सबसे पहले जोड़ा जाता है और आखिर में कॉक कर के चेक कर लिया जाता है की कॉक सही से हो रहा है की नहीं और सभी पार्ट्स सही से जुड़ गये है की नहीं !



अगर ये पोस्ट कैसा लगा इसे कमेंट में  जरुर लिखे और कोई सजेसन हो उसे भी कमेंट बॉक्स में लिख सकते है जिसे इस ब्लोग्को और उत्तम बनाने में मदद मिलेगी ! 


No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...