Sponser

Search

Winter Clothing

Sunday, August 27, 2017

ऑपरेशनलन आर्डर क्या होता है और ऑपरेशनल आर्डर पास करने के तरीके

पिछले पोस्ट में हमने किसी ऑपरेशन का मूल्यांकन करने के तरीका के बारे में जानकारी प्राप्त की इस पोस्ट में हम ऑपरेशनल आर्डर के बारे में जानेगे!




इस पोस्ट को समझने के लिए हमने इस पोस्ट को निम्न भंगो में बाँट दिया है :
वार्निंग आर्डर
ऑपरेशनल आर्डर (प्रतीकात्मक )
    1. ऑपरेशनल आर्डर क्या होता है ?(Operational order kya hota hai )
    2. ऑपरेशनल आर्डर पास करने के तरीके  क्या क्या होता है ?(Operational order pas karne ke tarike)
    3. ऑपरेशनल आर्डर देते समय ध्यान में रखने वाली बाते (Operational Order dete samay dhyan  me rakhnewali wali bate)
    जरुर पढ़े :फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
    1.ऑपरेशनल आर्डर क्या होता है ?(Operational order kya hota hai ): सेना सुरक्षा बल या पुलिस के सभी स्टार के कमांडरस को कीई टास्क या ऑपरेशन को पूरा करने के लिए सही तरीके से प्लान बनाना होता है ! उसी प्लान को अपने अधिनस्त कमांडर्स तथा जवानों को सही तरीके से बताना होता है ताकि जिससे वे उस टास्क को सही तरीके से समझ सके !



    टास्क को पूरा करने के लिए अपने अधिनस्त कमांडर्स को जिस विधि से आदेश पास किये जाते है उसे ऑपरेशनल आर्डर कहते है !

    2. ऑपरेशनल आर्डर पास करने के तरीके  क्या क्या होता है ?(Operational order ke tarike): आमतौर पर ऑपरेशनल आर्डर निम्न तरीके से पास किये जाते है :
    (a) मौखिक (Verbal)
    • कमांडर के द्वारा : ये कमांडर द्वारा अपने हेड क्वार्टर में दिए जाते है या फिर किसी RV(Rendezvous) जो पहले से मुकर्र हो वह पर या कभी कभी जरुरत पड़ने पर टेलीफोन या रेडियो पर भी दी जा सकती है !
    • स्टाफ अधिकारी द्वारा : जब कमांडर खुद ये आर्डर  देने में अश्मर्थ हो तब ये आर्डर अपने स्टाफ अधिकारी के जरिये पास का सकता है ! स्टाफ अधिकारी खुद वह जा कर या टेलीफोन या रेडियो के द्वारा आदेश को पास कर सकता है 
    • संपर्क अधिकारी : जब RV(Rendezvous)  पर किसी कारन बस सम्बंधित अधिकारी को बुलाना वो ठीक नहीं समझता  और साथ ही सिग्नल कम्युनिकेशन फेल हो जाये तब आर्डर संपर्क अधिकारी के जारी पास किये जाते है !

    (b)लिखित आदेश (Written Order)
    • मेसेज फॉर्म (Message form): कई बार मेसेज फॉर्म में आर्डर दिया जता है 
    • फॉर्मल ऑपरेशनल आर्डर (Formal Operational Order):फॉर्मल ऑपरेशनल आर्डर मौखिक आदेशो के पुष्टि के लिए जरी किये जाते है और सामान्यतः उनके जैसे ही होते है ! लेकिन यूनिट लेवल पर या इसके निचे स्टार पर नहीं दिए जाते है !
    • कन्फर्ममेटेरि आर्डर (Confirmatory Order): यह वेर्वल आर्डर देने के बाद उसके बाद की कारवाही या फॉलो उप के लिए लिखित में दिए जाते है !

    3. ऑपरेशनल आर्डर देते समय ध्यान में रखने वाली बाते (Operational Order dete samay dhyan  me rakhnewali wali bate): ऑपरेशनल आर्डर पास करते समय एक कमांडर को इन बाते को अमल में  लाना चाहिए !
    • कमांडर के लिए सबसे अच्छा है की वह अपने अधिनास्तो को व्यक्तिगत रूप से मौखिक आर्डर पास करे जिससे की दुसरो के जरिये आर्डर पास करने में लगने वाली समय की बचत होगी और वह अपनि इक्छा और व्यक्तित्व का प्रभाव दल सकता है और उसमे विश्वास तथा प्रेरणा भर सकता है !
    • आर्डर किस तरीके के पास किया जाय ये बहुत हद तक उपलब्ध समय के ऊपर निर्भर करता है ! आर्डर तभी तक प्रभावी रहते है जब उसे समय से पास किया जाए !
    • ऑपरेशन के समय को देखते हुए जितने जरुरी हो उतन ही आर्डर दिया जाये !
    • ट्रूप्स को कभी भी बिना ब्रीफिंग , प्लानिंग और आर्डर तथा रिहर्सल के बना ऑपरेशनल एरिया में जाने का आदेश नहीं देना चाहिए !
    इस प्रकार से ऑपरेशनल आर्डर के प्रकार तथा ऑपरेशनल आर्डर देने के तरीके   से सम्बंधित  एक संक्षिप  ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई! उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 

    इन्हें भी पढ़े :

    1. 6 कॉमन गलतिया अक्सर एक आई ओ सीन ऑफ़ क्राइम पे करता है
    2. क्राइम सीन पे सबसे पहले करनेवाले काम एक पुलिस ऑफिसर के द्वारा
    3. बीट और बीट पेट्रोलिंग क्या होता है ?एक बीट पट्रोलर का ड्यूटी
    4. पुलिस नाकाबंदी या रेड् क्या होता है ?नाकाबंदी और रेड के समय ध्यान में रखनेवाली बाते 
    5. निगरानी और शाडोविंग क्या होता है ? किसी के ऊपर निगरानी कब रखी जाती है ?
    6. अपराधिक सूचना कलेक्ट करने का स्त्रोत और सूचना कलेक्ट करने का तरीका
    7. चुनाव के दौरान पुलिस का कर्तव्य
    8. थाना इंचार्ज के चुनाव ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट
    9. पुलिस फाॅर्स के जवानों लिए इलेक्शन ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट
    10. V.I.P. सिक्यूरिटी बंदोबस्त ड्यूटी में पुलिस की भूमिका
    11. पुलिस की छवि और छवि का पुलिस के ड्यूटी पे पड़ने वाले असर कौन कौन से है

    Saturday, August 26, 2017

    किसि ऑपरेशन का मूल्यांकन करने का तरीका

    पिछले पोस्ट में हमने सैंड मॉडल के बारे में जानकारी(Sand Model ki Jankari) प्राप्त किया इस पोस्ट में हम किसी ऑपरेशन को प्लान करते समय का मूल्यांकन या अप्रेसीएसन करते समय किन की बातो को ज्यादा ताबजो दी जाती है(Operation ko plan karte samay mulyankan ya appreciation karte samay kin kin bato ko dhyan diya jata hai ) उसके बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे



    इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इस पोस्ट को निम्न भागो में बंटा दिया है :

    ऑपरेशन प्लानिंग(प्रतीकात्मक)
    1. ऑपरेशन मूल्यांकन क्या होता है ?(Operation appreciation kya hota hai )
    2. ऑपरेशन मूल्यांकन के चार मुख्या तथ्य (Operation appreciation ke mukhy tathy )
    3. दुश्मन की जानकारी (Operation appreciation ke samay dushamn ki jankari)
    जरुर पढ़े :आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
    1. ऑपरेशन मूल्यांकन  क्या होता है ?(Operation appreciation kya hota hai ): मूल्यांकन एक टेक्टिकल हालत को समझकर उस पर तर्तिबर सोच विचार करने का तरीका है ! इस तर्तिबर सोच विचार द्वारा ही दिए हुए टास्करा करने के लिए एक प्लान बनाया जाता है !

    2. ऑपरेशन मूल्यांकन के चार मुख्या तथ्य (Operation appreciation ke mukhy tathy ):किसी टेक्टिकल हालत को समझने लिए निम्न चार तथ्यों पर सोच विचार करना जरुरी है :
    (a) खतरा (Threat)
    (b) जमीन (Ground)
    (c) साधन (Resource)
    (d) समय (Time)
    ऊपर दिए  हुए तथ्यों को गहराई से समझना जरुरी है क्यों की इन्ही के आधार पर मूल्यांकन की बुनियाद है !

    (a) खतरा (Threat):  किसी हालत में सबसे पहले हमे अपने सामने के खतरे को समझना होगा ! जो कमांडर हमे टास्क देते है वही कमांडर दुश्मन के बारे में खबरे भी देंगे ,जिसमे  दुश्मन के इरादे , नफरी और काबिलियत पर सोच विचार होगा !
    दुश्मन के बारे में निम्न डिटेल की जानकारी हासिल करना बहुत जरुरी होती है :

    • दुश्मन की नफरी 
    • दुश्मन की काबिलियत 
    • और दुश्मन का इरादा 
    जरुर पढ़े : फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
    (b) जमीन (Ground):दुश्मन  का मिली डिटेल  को जमीनी बनावट के साथ मिलाकर सोच विचार करना चाहिए , अब हमे सोचना चाहिए की दुश्मन जमीन को कैसे इस्तेमाल करेगा 

    (c) साधन (Resource): दुश्मन का डिटेल और जमीन बनावट को मिलाकर सोच विचार करेने के बात हमे अपने पास उपलब्ध संसाधन जैसे निचे दिए हुए है उसको  मिलाकर सोच विचार करना चाहिए  !

    • अपनी उपलब्ध मैन पॉवर 
    • अपने को मिलने वाली सपोर्ट फायर  यदि 
    जरुर पढ़े :फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
    (d) समय (Time):  जब उपर दिए सभी तथ्य हरे सामने आ जाते है तब हमारे प्लान की एक रु रेखा सामने आने लगती है और उसी प्लानिंग को हम एक टाइम प्लान में ऑर्गनाइज्ड करते है !

    और इसी प्रकार से किसी ऑपरेशन को प्लानिंग करते समय हम मूल्यांकन करते है और प्लान बनाते है !

    इस प्रकार से सैंड मॉडल का परिचय और ब्रीफिंग की विधि   से सम्बंधित  एक संक्षिप  ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई! उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 
    इन्हें भी पढ़े :

    1. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
    2. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
    3. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
    4. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
    5. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
    6. फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
    7. अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
    8. रोड ओपनिंग पार्टी/पट्रोल और उसके महत्व के बारे
    9. कॉन्वॉय कितने प्रकार का होता है ? कॉन्वॉय प्रोटेक्शन की पार्टिया कौन कौन सी होती ?
    10. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें
    11. रोड ओपनिंग पार्टी की तैनाती करने का तरीका तथा ROP ड्यूटी के दौरान IED से बचा के लिए ध्यान में रखनेवाली बाते
    12. ROP लगाते समय एक कमांडर को ध्यान में रखनेवाली बाते !

    Friday, August 25, 2017

    सैंड मॉडल का परिचय तथा सैंड मॉडल ब्रीफिंग की विधि

    पिछले पोस्ट में हमने ROP लगाते समय एक कमांडर को ध्यान में रखने वाली बाते क्या होती है उसके बारे में जानकारी  प्राप्त की इस पोस्ट में हम सैंड मॉडल के बारे में जानकरी प्राप्त करगे!



    इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बाँट दिया है :
    Sand Mode
    Sand Model(प्रतीकात्मक)

    1. सैंड मॉडल के फायदे (Sand Model ke fayde)
    2. सैंड मॉडल बनाते समय ध्यान में रखने वाली बाते (Sand Model banate samay dhyan me rakhnewali bate)
    3. सैंड मॉडल पे ब्रीफिंग देने का तरीका (Sand model pe briefing dene ka tarika)



    1. सैंड मॉडल के फायदे (Sand Model ke fayde): किसी ऑपरेशन  या एरिया के बारे में ब्रीफिंग देने के लिए सैंड मॉडल एक उम्दा जरिया है और सैंड मॉडल का इस्तेमाल के बहुत सरे फायदे है जिसमे से कुछ निचे मै लिखने का कोशिस कर रहा हु !
    • ऑपरेशन एरिया के बारे में अच्छी तरह से वाकिफ कराया जा सकता है !
    • एरिया में मौजूद सभी तरह के जानकारियो को उसके वास्तविक रूप या 3D में दिखाया जा सकता है !
    • ऑपरेशन एरिया में जाने से पहले ही ट्रूप्स को एरिया के बारे में सही जानकारी दी जा सकती है !
    • किसी वी आई पी  या सीनियर ऑफिसर को ऑपरेशन और एरिया  के हालत के बारे में सही जानकारी देने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है !
    • उस एरिया में मौजूद रूकावटो तथा सहायक बस्तुओ के बारे में जानकारी दी जासकती है ! इतियादी 

    2.सैंड मॉडल बनाते समय ध्यान में रखने वाली बाते (Sand Model banate samay dhyan me rakhnewali bate): सैंड मॉडल बनाते समय इस सब जानकारी को उसमे  सामिल कर दर्शाने की कोशिस की जानी चाहिये 
    • सैंड मॉडल का उद्देश्य (Sand Model ka uddeshy)
    • एरिया का हदबंदी (area demarcation )
    • नार्थ (North)
    • स्केल (Scale)
    • इंटरनेशनल बौन्द्री(International Boundary)
    • स्टैण्डर्ड कलर (standard Color)
    • आम जमीनी बनावट (aam Jamini Banawat)
    • खास खास जमीनी निशान (Khas khas jamini nishan)
    • महत्व्वाले स्थान (Mahatwwale jamini sthan)
    • सड़क व रास्ते (sadak aur raste)
    • रेलवे लाइन (Railway line)
    • हेलिपैड (Halipad) 
    • नदिया व नाले(Nadiya nale) 
    • रूकावटे (Rukawate)
    • मुख्य गाँव और कसबे (Mukhy gaon aur kasbe)
    • कोई खास विवरण (Koi khas bibran)
    • वेजिटेशन (Vegitation)
    • जनसख्या (Population)
    • स्थानीय संसाधन (Sthaniy sansadhan)
    • मौसम (Mausam)
    • अन्य कोई विवरण (Koi any jankari)
    3. सैंड मॉडल पे ब्रीफिंग देने का तरीका (Sand model pe briefing dene ka tarika): सैंड मॉडल पर ब्रीफिंग देना भी एक कला है जिसको बार बार प्रैक्टिस करने से सिखा और निखारा जा सकता है ! ऐसा देखा जाता है की सैंड मॉडल ब्रीफिंग देते समय लोग आम तौर पे घबराते है जो की उनके अन्दर की कॉन्फिडेंस की कमी को दर्शाता है ! सैंड मॉडल ब्रीफिंग देते समय अच्छी ब्रीफिंग देने के लिए इन बाते का ख्याल  रखने से आप के ब्रीफिंग काफी अच्छी हो सकती है !
    • श्रोतागणों का सामना करे  यानि ऑय कांटेक्ट रखे !
    • विश्वास पूर्वक  और सयंमपूर्वक उचे स्वर में ब्रिफिएंग दे 
    • स्वर की उचाई श्रोता की संख्या और उनसे आपकी दुरी के अनुसार रखे !
    • ब्रीफिंग  देने से पहले हो सके तो एक दो बार प्रैक्टिस करले !
    • संक्षिप्त में बोले !
    • तरतीब से बोले 
    • सैंड मॉडल पे  ब्रीफिंग नार्थ से साउथ की ओर मूव करे 
    • पॉइंटर का सही इतेमाल करे 
    • किसी बात को बार बार न दोहराए 
    • सही सिलसिला में बोले !
    इस प्रकार से सैंड मॉडल का परिचय और ब्रीफिंग की विधि   से सम्बंधित  एक संक्षिप  ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई! उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए !  

    Download pdf sand model details 

    इन्हें भी पढ़े :

    1. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
    2. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
    3. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
    4. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
    5. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
    6. फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
    7. अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
    8. रोड ओपनिंग पार्टी/पट्रोल और उसके महत्व के बारे
    9. कॉन्वॉय कितने प्रकार का होता है ? कॉन्वॉय प्रोटेक्शन की पार्टिया कौन कौन सी होती ?
    10. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें
    11. रोड ओपनिंग पार्टी की तैनाती करने का तरीका तथा ROP ड्यूटी के दौरान IED से बचा के लिए ध्यान में रखनेवाली बाते
    12. ROP लगाते समय एक कमांडर को ध्यान में रखनेवाली बाते !


    Wednesday, August 23, 2017

    राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने बाएँ सलूट करने का कमांड और करवाई

    पिछले पोस्ट में हमने राइफल के साथ सामने सलूट की ड्रिल करवाई के बारे में जानकारी प्राप्त की इस पोस्ट में इस पोस्ट में हम  राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने बाये की सलूट के बारे में जानेगें.


    इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हम इस निम्न भागो में बंटा है
    Samne salute
    Samne salute 

    1. राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ सलूट की जरुरत (Rifle ke sath khade khade dahine/baen salute ki jarurat)
    2. राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ सलूट का वर्ड ऑफ़ कमांड (Rifle ke sath khade khade dahine/baen salute ka word of command)
    3. राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ सलूट की करवाई (Rifle ke sath khade khade dahine/baen salute ki karwai)
    जरुर पढ़े : खड़े खड़े सलूट का तरीका और जरुरत

    1.राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ  सलूट की जरुरत (Rifle ke sath khade khade dahine/baen salute ki jarurat): राइफल के साथ तेज चाल से दाहिने/बाएँ सलूट की हरकतों को चेक और दुरुस्त करने के लिए राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने /बाएँ सलूट की करवाई की जाती है !
    2. राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ सलूट का वर्ड ऑफ़ कमांड (Rifle ke sath khade khade dahine/baen salute ka word of command):  वर्ड ऑफ़ कमांड इस प्रकार से दी जाती है :
    सलूट करना दाहिने/बाएँ सलूट : एक-दो-तीन -एक 

    जरुर पढ़े : 2 स्टेप्स में खड़े खड़े दाहिने सलूट की करवाई की तरीके


    3. राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ सलूट की करवाई (Rifle ke sath khade khade dahine/baen salute ki karwai):इस ड्रिल की करवाई बगल सज करा कर की जाती है ! राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने बाएँ सलूट की करवाई में गर्दने दाहिने/बाएँ तरफ रखने के अलावा बाकि सभी करवाई समने  सलूट की तरह ही की जाती है !


     जरुर पढ़े : 2 स्टेप्स में खड़े खड़े बाएँ सलूट की करवाई का तरीका


    इस प्रकार से राइफल के साथ खड़े खड़े दाहिने/बाएँ  सलूट  राइफल ड्रिल की कमांड और करवाई सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुवा ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
    इन्हें भी पढ़े :

    1. विशार्जन , लाइन तोड़, और स्वस्थान का ड्रिल करवाई
    2. धीरे चाल से सामने सलूट की जरुरत और करवाई
    3. 4 स्टेप्स में धीरे चल से दाहिने दाहिने सलूट की करवाई और जरुरत
    4. 4 स्टेप्स में धीरे चल से बाएँ सलूट के ड्रिल और कमांड
    5. "परेड पर(getting on parade) " जरुरत और करवाई
    6. परेड मार्च पास्ट का कमांड और मार्च पास्ट परेड करने का तरीका
    7. 7 स्टेप्स में पत्र के साथ सामने सलूट की पूरी करवाई करने का तरीका
    8. धीरे कदम ताल , थम और आगे बढ़ की ड्रिल की करवाई करने का तरीका !
    9. खड़े खड़े बाएँ स्क्वाड बना ड्रिल की कमांड और तरीका
    10. गार्ड मौन्टिंग का ड्रिल भाग -I

    Saturday, August 19, 2017

    राइफल के साथ सामने सलूट करने की जरुरत और ड्रिल करवाई

    पिछले पोस्ट में हमने ड्रिल की बुरी आदते के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम शास्त्र क्वाद के एक और सबक जिसमे राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट(Rifle ke sath khade khade samne salute) के बारे में जनकारी प्राप्त करेंगे !





    इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बाँट दिया है :
    Rrifle ke sath samne salute
    Rrifle ke sath samne salute


    1. राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट की जरुरत (Rifle ke sath khade khade samne salute ki jarurat)
    2. राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट का वर्ड ऑफ़ कमांड (Rifle ke sath khade khade samne salute ka word of command)
    3. राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट की करवाई (Rifle ke sath khade khade samne salute ki karwai)

    1.राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट की जरुरत (Rifle ke sath khade khade samne salute ki jarurat): क्वार्टर गार्ड में खड़ा नम्बर एक संतरी सब-इंस्पेक्टर/न्येब सूबेदार  से असिस्टेंट कमांडेंट/डिस्पी/कैप्टेन रैंक तक के अधिकारी को राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट से समानित करता है ! इसके अलावा राइफल के साथ तेज चाल से सामने सलूट के मूवमेंट को चेक और दुरुस्त करने के लिए राइफल के साथ सामने सलूट करते है !

    2.राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट का वर्ड ऑफ़ कमांड (Rifle ke sath khade khade samne salute ka word of command): अगर संतरी बगल शास्त्र पोजीशन में न हो तो सबसे पहले बगल शास्त्र का कमांड दे और बगल शास्त्र होने के बाद  कमांड देंगे " सलूट करना सामने सलूट - एक दो तीन एक "! एक दो तीन की गिनती मन में की जाती है बशर्ते की गिनती से न बोला गया हो !

    जरुर पढ़े : 2 स्टेप्स में खड़े खड़े दाहिने सलूट की करवाई की तरीके



    3.राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट की करवाई (Rifle ke sath khade khade samne salute ki karwai):  राइफल के साथ सामने सलूट के की करवाई  इस प्रकार से की जाती है !

    •  बगल से शास्त्र से वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है गिनती से सलूट करना  सामने सलूट एक - इस वर्ड ऑफ़ कमांड पे करवाई इस प्रकार से करे - बाएँ साथ को कोहनी से मोड़ते हुए बाएँ हाथ की पंचों अंगुलिओ को मिलते हुए राइफल के फोरहैंड गार्ड पर ले जाए  और साउटिंग करे एक (अगर साउटिंग करने का नहीं बोला गया हो तो साउटिंग मन में करे )! 
    • राइफल के साथ सामने सलूट की पोजीशन एक में देखने वाली बाते : बाएँ  हाथ कोहनी से कलाई तक बेल्ट लाइन में पांचो अंगुलिय राइफल के फोरहैंड गार्ड पर ! बाकि पोजीशन दुरुस्त बगल शास्त्र की तरह !
    • वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है स्क्वाड दो - इस वर्ड ऑफ़ कमांड पर बाएँ हाथ को चटकी से बाएँ बगल में सावधान पोजीशन में ले जाये और साउटिंग करे दो(अगर साउटिंग करने का नहीं बोला गया हो तो साउटिंग मन में करे )! 
    • राइफल के साथ सामने सलूट की पोजीशन दो में देखने वाली बाते: बाएँ  बाएँ हाथ बाएँ पोजीशन में बदन के साथ चिपकी हुई और दुरुस्त बगल शास्त्र की पोजीशन अख्तियार किया हुवा !


    इस प्रकार से राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट  की करवाई की जाती है !
    इस प्रकार से राइफल के साथ खड़े खड़े सामने सलूट  राइफल ड्रिल की कमांड और करवाई सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुवा ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
    इन्हें भी पढ़े :


    1. विशार्जन , लाइन तोड़, और स्वस्थान का ड्रिल करवाई
    2. धीरे चाल से सामने सलूट की जरुरत और करवाई
    3. 4 स्टेप्स में धीरे चल से दाहिने दाहिने सलूट की करवाई और जरुरत
    4. 4 स्टेप्स में धीरे चल से बाएँ सलूट के ड्रिल और कमांड
    5. "परेड पर(getting on parade) " जरुरत और करवाई
    6. परेड मार्च पास्ट का कमांड और मार्च पास्ट परेड करने का तरीका
    7. 7 स्टेप्स में पत्र के साथ सामने सलूट की पूरी करवाई करने का तरीका
    8. धीरे कदम ताल , थम और आगे बढ़ की ड्रिल की करवाई करने का तरीका !
    9. खड़े खड़े बाएँ स्क्वाड बना ड्रिल की कमांड और तरीका
    10. गार्ड मौन्टिंग का ड्रिल भाग -I