Sponser

Search

Friday, August 31, 2018

यूनिफार्म के कौन कौन से आइटम्स अब नहीं मिलेंगे पुलिस डिपार्टमेंट की तरफ से !

पिछले दिनों बहुत हो हल्ला हुवा था की भारत सरकार ने आर्मी के जवान को यूनिफार्म देना बंद कर दी और अब आर्मी के जवान खुद अपना यूनिफार्म ख़रीदेगे और इस बात पर बहुत ही पोलिटिकल बयानबजी भी हुई जब की इसके पीछे की बात थी की यूनिफार्म अलाउंस 7th पे कमीशन के अनुसंसा के अनुसार दी जा रही है जिसमे कमीशन ने न केवल आर्म्ड फ़ोर्स बल्कि  आर्म्ड पुलिस /लोकल पुलिस और भी बहुत से संसथान थे जिनके लिए एक मुस्त सलाना यूनिफार्म भत्ता देने का व्यवस्था दी थी !



 जिससे के इन संस्थानों के सदस्य अपना बेसिक यूनिफार्म खुद ही खरीद सके ! जो कमीशन का आदेश निम्न था :

Clothing Allowance
आर्म्ड फाॅर्स के जवान को
 यूनिफार्म अलाउंस का
 सरकारी आर्डर 
इस प्रावधान से लोअर रैंक सदस्यों में ख़ुशी भी है लेकिंग उसके साथ एक समस्या भी है की बहुत से जगह में क्लोथिंग देना एक दम से ही बंद कर दिया गया है क्यों की इस आर्डर  में कुछ भी साफ नहीं है की बेसिक यूनिफार्म  में कौन कौन से सामान आता  है  और जिसके कारण  कुछ संस्थानों ने यूनिफार्म के बाकि सामान भी देना बंद कर दिए है !

इस व्यवस्था से बड़े आर्गेनाईजेशन को तो कोई खास असर नहीं पड़ा है ओ अपना स्टोर और टेलर रखे है जहा से ड्रेस एक तरह के बनवा सकते है लेकिंग छोटी संस्थानों को यह प्रॉब्लम आएगा जहा पे जवान अपना खुद का ड्रेस मटेरियल ख़रीदेगे जिससे की उनिफोर्मिटी ड्रेस के अन्दर लाना मुस्किल होगा !जो की उस आर्गेनाईजेशन के  डिसिप्लिन पे भी असर डालेगी !


लेकिंग पिछले दिनों BSF जैसी  एक बड़ी सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फाॅर्स आर्गेनाईजेशन  की ओर से जो आर्डर जारी  किया गया जिसमे बताया गया है की लिस्ट में दिए गए 28 आइटम्स  किसी को इशू न किया और किसी को पिछले साल अगर दिया गया हो उनसे पैसा  वसूला जाय  जो 28 आइटम्स है उनका लिस्ट इस प्रकार से है :

list of clothing items which will not be issued 

आर्म्ड फाॅर्स के जवान को अब नहीं मिलने वाले यूनिफार्म आइटम्स का लिस्ट
आर्म्ड फाॅर्स के जवान को अब नहीं मिलने
वाले यूनिफार्म आइटम्स का लिस्ट 

  • बैरेट कैप 
  • पगड़ी 
  • लेदर बेल्ट 
  • एंकल शूज (ब्लैक/ब्राउन )
  • डर्बी शूज 
  • बैच पगड़ी /कैप 
  • बूट ब्रस
  • बूट पोलिश 
  • बैज रैंक  सेट (वाइट मेटल )
  • बैच रैंक क्लॉथ(एम्ब्रोदियर)
  • फाॅर्स लैटर विथ बटालियन  नॉ 
  • हैकल  
  • सर्कुलर फेल्ट कत्तिंग
  • हाउस वाइफ कम्पलीट सेट 
  • शेवरॉन सेट 
  • फार्मेशन सिग्न 
  • सॉक्स 
  • समर यूनिफार्म शोर्ट /पेंट 
  • डोप(द्येद पोल्य्स्टर वेसकॉसे/टेरी कॉटन /केडी खाकी )
  • नाम  प्लेट 
  • सिंगल वाइट बुश शर्ट 
  • विस्सल कार्ड (लान्यार्ड )
  • विस्सल 
  • कोट ब्लू सीर्गे (मुफ़्ती ) for ओर्स
  • पेंट वाइट टीसी(मुफ़्ती ) for ओर्स
  • शर्ट वाइट टीसी(मुफ़्ती)(फॉर ओर्स)
  • शोर्ट खाकी स्लैक खाकी for ओर्स 
  • रनिंग शू 

इन लिस्ट को देखने के बाद ऐसा लगता है की इन 28 आइटम्स को छोड़ के बाकि जो भी आइटम्स पहले मिलते थे ओ पहले की तरह ही अभी भी  मिलते रहेंगे! शायद इन लिस्ट को देखा और भी संसथान जो अभी अभी तक निर्णय नहीं कर पाए है की क्या बेसिक यूनिफार्म है वह भी अब  उसके ऊपर अपना निर्णय ले पाएंगे !


इस प्रकार से बेसिक यूनिफार्म आइटम्स कौन कौन से होते है उससे सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !
इन्हें  भी  पढ़े :
  1. 7.62 mm एसएलआर का बेसिक डाटा -I
  2. 7.62 Self Loading Rifle basic data-II?
  3. 7.62 Self Loading Rifle basic data-III?
  4. अच्छे राइफल फायर कैसे बने ? 
  5. फायरिंग के दौरान फायरर द्वारा की जानेवाली कुछ गलतिया ? 
  6. 7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?
  7. 7.62mm LMG के बारे में कुछ जानकारिय
  8. 7.62mm ki chal. एस एल आर कैसे काम करता हा(एसएलआर की चाल). 
  9. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  10. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.

Sunday, August 26, 2018

इंसास राइफल और एल एम् जी का पाउच अम्मुनिसन कितना होता है ?

पिछले पोस्ट में हमने 5.56 mm इंसास LMG के बेसिक डाटा और स्पेसिफिकेशन के बारे में जानकारी प्राप्त किये और अब  इस पोस्ट में हम जानेगे की इंसास राइफल  और एलेमजी का पाउच/ऑन वेपन  अम्मुनिसन कितना होता है!


जैसे की हम जानते है की इंसास राइफल में जो अमुनिसान इस्तेमाल करते है उसका पूरा नाम हो 5.56 x 45 m  SS 109  special या उसे 5.56  x 45 mm INSAS MK-I भी बोलते है !

जरुर पढ़े:9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया

पाउच अम्मुनिसन या ऑन वेपन अम्मुनिसन हम उसे कहते है जितना की एक वेपन के ऊपर आमुनिसन औथोराइइसड है और उस वेपन के अनुसार ही आमुनिसन को यूनिट को दिया जाता है और उसी के अनुसार जब कभी वह वेपन किसी ऑपरेशन के लिए बहार ले जाया जाता है  तो उतने ही नम्बर में अम्मुनिसन साथ में भी ले जाते है !उतने ही अम्मुनिसन कोटे में रिज़र्व भी रखते है 

इस पोस्ट में हम निम्न वेपन के पाउच अम्मुनिसन या ऑन वेपन अम्मुनिसन के बारे में जानेगे :
इंसास अम्मुनिसन
इंसास अम्मुनिसन 
1. 5.56 mm इन्सान राइफल के पाउच अम्मुनिसन /ऑन वेपन अमुनिसन कितना होता है ?(5.56 mm INSAS Rifle ka pouch ammunition /on weapon ammunition kitna hota hai)
2. 5.56 mm इन्सान LMG के पाउच अम्मुनिसन /ऑन वेपन अमुनिसन कितना होता है ?(5.56 mm INSAS LMG ka pouch ammunition /on weapon ammunition kitna hota hai)

1. 5.56 mm इन्सान राइफल के पाउच अम्मुनिसन /ऑन वेपन अमुनिसन कितना होता है ?(5.56 mm INSAS Rifle ka pouch ammunition /on weapon ammunition kitna hota hai): इंसास राइफल का पाउच अम्मुनिसन /ऑन वेपन अम्मुनिसन और मगज़ीन का औथोराइजेसन  इस प्रकार से है :

फर्स्ट लाइन (First Line ammunition for INSAS Rifle)
  •  पाउच/ऑन  वेपन अम्मुनिसन - 300 राउंड्स 
  • यूनिट रिज़र्व अम्मुनिसन -  150 राउंड्स 
सेकंड लाइन (Second Line ammunition for INSAS Rifle)
  • 150 राउंड्स और 6 मगज़ीन प्रति राइफल 

2.  5.56 mm इन्सान LMG के पाउच अम्मुनिसन /ऑन वेपन अमुनिसन कितना होता है ?(5.56 mm INSAS LMG ka pouch ammunition /on weapon ammunition kitna hota hai)

फर्स्ट लाइन (First Line ammunition for INSAS LMG)
  • पाउच /ऑन वेपन -             1500 राउंड्स , ट्रेसर - 90 राउंड्स 
  • यूनिट रिज़र्व अम्मुनिसन -  750 राउंड्स , ट्रेसर - 30 राउंड्स 
सेकंड लाइन (Second Line ammunition for INSAS LMG)
  • 750 राउंड्स  और ट्रेसर - 60 राउंड्स 
  • फर्स्ट लाइन और सेकंड लाइन मिलाकर कुल अम्मुनिसन - 3000  राउंड्स और ट्रेसर - 180 राउंड्स 
  • मागज़ीन 25 प्रति एल एम् जी 

इस प्रकार से हम जाने की पाउच /ऑन वेपन अम्मुनिसन के औथोराइजेसन इंसास राइफल और एलेमजी के बारे में हम जानकारी प्राप्त किया !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !

इन्हें  भी  पढ़े :
  1. 7.62 mm एसएलआर का बेसिक डाटा -I
  2. 7.62 Self Loading Rifle basic data-II?
  3. 7.62 Self Loading Rifle basic data-III?
  4. अच्छे राइफल फायर कैसे बने ? 
  5. फायरिंग के दौरान फायरर द्वारा की जानेवाली कुछ गलतिया ? 
  6. 7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?
  7. 7.62mm LMG के बारे में कुछ जानकारिय
  8. 7.62mm ki chal. एस एल आर कैसे काम करता हा(एसएलआर की चाल). 
  9. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  10. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.

Friday, August 24, 2018

कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन का ब्रीफिंग देने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन के दौरान ध्यान में रखने वाली बातो से सम्बंधित जानकारी  के बारे में जाना और अब इस पोस्ट में हम कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन केलिए ब्रीफिंग (cordon and search in hindi)कैसे दी जाती है  उसके बारे में जानेगे !


हम जानते है की टैक्टिकली  दो प्रकार की ब्रीफिंग होती है एक जो ऑपरेशन शुरू होने के पहले दी जाती है जिसे हम ब्रीफिंग कहते  है और एक किसी ऑपरेशन के ख़त्म होने के बाद दी जाती है उसे हम डी ब्रीफिंग कहते है ! जो ब्रीफिंग पहले दीजाती है उसका महत्व उस ऑपरेशन के ऊपर रहता जब की बाद वाली ब्रीफिंग से हम उस ऑपरेशन के दौरान होने वाली गलतियों के बारे में जानते है और अगले ऑपरेशन में उन गलतियो और कमी बेसी को दूर करते है !

जरुर पढ़े:ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन क्या होता है ?

जैसे की जानते है की कोई भी ऑपरेशन की प्लानिंग सीनियर ऑफिसर के स्तर पे होती है लेकिंग उस ऑपरेशन को जमीन के ऊपर अमल सीनियर और  जूनियर स्तर  दोनों तरह के ऑफिसर सामिल हो कर जमीन पर अमल करते है ! और एक ऑपरेशन के अन्दर  बहुत से टीम सामिल होती है इसलिए ब्रीफिंग की बहुत ही अहमियत होती है क्यों की ब्रीफिंग के द्वारा ही पूरी टीम को ऑपरेशन के बारे में उनका टास्क और टारगेट बताया जाता है !

इस पोस्ट में आज हम कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन के ब्रीफिंग के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे !


कार्डों एंड सर्च की ब्रीफिंग या तो यूनिट के अन्दर या ऑपरेशन की जगह से दूर जगह पे दी जाती है  और इस ब्रीफिंग के दौरान पार्टियो और ट्रूप्स को उसके  काबिलियत के अनुसार बाँट  दिया जाता है और उनके काम और कार्यवाही के बारे में साफ साफ बता दी जाती है ! कार्डों एंड सर्च ब्रीफिंग के दौरन  बताई जानेवाली बाते  इस प्रकार से है :


जरुर पढ़े:ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन की पहले स्टेज में की जानेवाल...

आम रुपरेखा : यह ऑपरेशन तीन भागो में पूरा होता है :
Cordon and Search Operation in hindi
Cordon and Search Operation in hindi
  • भाग-1 - मूव टू रिलीज पॉइंट 
    • भाग-2 - गाँव का कार्डों एंड सर्च 
    • भाग-3-शिनाख्त एवं पहचान 
कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन की पार्टी और उसका काम :

1. कार्डों पार्टी : इस पार्टी का बनावट  निम्न है :
    • कमांडर 
    • ट्रूप्स 
    • लोकेशन 
    • रूट 
    • पोजीशन में लगने का समय 
    • विभिन्न हालातो में कार्यवाही 
2. स्टॉप्स : स्टॉप्स -1  स्टॉप्स -2  स्टॉप्स -3 
    • कमांडर 
    • ट्रूप्स 
    • लोकेशन 
    • रूट 
    • पोजीशन में लगने का समय 
    • पोजीशन छोड़ने का समय एवं हालात

3. सर्च पार्टी : सर्च पार्टी -1     एंड सर्च पार्टी -2 अगर जरुरत पड़े तो 
    • कमांडर 
    • ट्रूप्स 
    • टास्क 
    • जिमेवारी का इलाका 
    • सर्च का तरीका  
    • सर्च सुरु करने का समय 
    • फायर आने पर कार्यवाही 
    • शकिया मकान की पहचान 
    • मुखिया और पुलिसकर्मी का बंदोबस्त
4. रिज़र्व पार्टी : 
    • कमांडर 
    • ट्रूप्स
    • लोकेशन 
    • टास्क 
    • विभिन्न हालातो में कार्यवाही 
5. कैदियो के लिए गार्ड :
    • कमांडर '
    • ट्रूप्स 
    • टास्क 

6. इन्टरोगेसन पार्टी 
    • कमांडर 
    • ट्रूप्स 
    • टास्क 
7. सिविक एक्शन पार्टी :
    • कमांडर 
    • ट्रूप्स 
    • टास्क 
8.  शिनाख्त और पहचान : यह साफ साफ बता दिया जाता है की शिनाख्त परेड कैसे होगा और उसमे कौन कौन से लोग सामिल होगे !

9. गाँव वालो को इकट्ठा होने का जगह : यह ब्रीफिंग के दौरान ही बता दिया जाता है की गाँव वालो का कहा इकट्ठा किया जायेगा !

10. सिविक एक्शन : इसकी भी तैयारी पहले से कर ली जाती है की ऑपरेशन के बाद सिविक एक्शन में क्या किया जायेगा  और उसी के अनुसार सामान तथा बंदोबस्त की कार्यवाही की जाती है !और कितनी समय के लिए किया जाएगा 

11. साइकोलॉजिकल ऑपरेशन : इस के बारे में सभी जवान जो उस ऑपरेशन में सामिल होते है समझाया जाता है की आम पब्लिक के साथ कैसा व्यवहार किया जाए  और आतंकवादियो के साथ कैसे ट्रीटमेंट दिया जाय !

12.ऑपरेशन के दौरान क्या करे और क्या नहीं करनी है : इसके बारे में भी बताया जाता है :

क्या करे: 
    • गाँव वासिओ को ऑपरेशन करने  के कारण समझाना चाहिए  तथा आतंकवादियो की गतिविधिओ के बारे में आवगत करना चाहिए 
    •  सर्च के बाद घर के सामान को पहले की तरह तरतीब से लगा देना चाहिए 
    • मकान मालिक और मुखिया से सर्च के बाद नॉ क्लेम सर्टिफिकेट ले लेना चाहिए !
क्या न करे :
    • सर्च के समय यह यकीं करे की सर्च के समय घर का कोई सामान न उठाया जाय 
    • कैदियो को यातना न दी जाय  
इस प्रकार से कार्डों एंड सर्च के ब्रीफिंग से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !
इन्हें  भी  पढ़े :
  1. पेट्रोलिंग और नाईट पेट्रोलिंग और उसके टास्क और नफरी
  2. अम्बुश और काउंटर अम्बुश, अम्बुश का उद्देश्य , अम्बुश का पार्टिया , अम्बुश का टारगेट
  3. सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान
  4. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -II
  5. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I
  6. कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी
  7. पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार
  8. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  9. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  10. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका


Wednesday, August 22, 2018

कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन के दौरन ध्यान में रखनेवाली कुछ मुख्य बाते

पिछले पोस्ट में हमने कार्डों एंड सर्च की पार्टी और उन पार्टियो का काम के बारे में जनकारी प्राप्त की और हमने जाने की कार्डों एंड सर्च के दौरान करवाई किस प्रकार से  की जाती है ! अब इस पोस्ट के माध्यम से हम जानेगे की कार्डों एंड सर्च के दौरान कौन कौन से मुख्या बाते है जिनके ऊपर ध्यान रखना चाहिए 


हम जानते है की कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन  काउंटर इनसरजेंसी(CI Operation) की लड़ाई का एक बहुत अहम ऑपरेशन है ! यदि पक्की खबर एवं विस्तारपुर्वक प्लानिंग के साथ इस ऑपरेशन को किया जाये तो इसमें सफलता अवश्य ही मिलती है  !

जरुर पढ़े:ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन क्या होता है ?

इस ऑपरेशन को अंजाम देने के लिए बहुत सी पार्टिया लगती है कभी कभी एक नहीं बहुत सी एजेंसीज भी इसमें समिल्लित होती है जिनका काम भिन्न भिन्न होता है !इस ऑपरेशन को सफलता पूर्वक अंजाम तक पहुचने की जिम्मेवारी सभी की होती है और अगर सभी इस ऑपरेशन के निर्देश के को सही जानकारी रहे  और सही तरीके से अंजाम दे तो सफलता काफी  उच्च दर्जे की होगी !

इस पोस्ट के दौरन हम कार्डों एंड सर्च के निम्न विषयों के विशेष हिदायतों के बारे में जानेगे  :


CASO  cordon Party
CASO  cordon Party
1. घेराबंदी करना के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते (Cordon ke dauran dhyan me rakhnewali bate)
2.आबादी वाले मकानों के तलाशी के दौरान ध्यान में रखनेवाली बाते (Abadi wale makano ka talashi ke dauran dhyan me rkhne wali bate)
3.खाली घरो और मकानों की तलाशी के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते (khali gharo aur makano ke talashi ke darun dhyan me rakhne wali bate)
4.मनोवैज्ञानिक कुछ बाते कार्डों एंड सर्च के बारे में(Cordon and search ke daurn kuch psychological bate jiska dhyan rakhe) 

1. घेराबंदी करना के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते (Cordon ke dauran dhyan me rakhnewali bate): घेराबंदी के दौरान निम्न बातो का ध्यान रखे :
  • गाँव , कस्बो , गालिओ की बनावट तथा  जमीनी बनावट की विस्तृत सुचना एकत्र करे !
  • सरप्राइज के लिए हरकत अलग अलग रास्तो से करे 
  • घेरा बंदी रात के समय उजाला होने से पूर्व तथा तलाशी दिन के समय करे !
  • घेरा लगते समय मिलाप के लिए एक मोबाइल पेट्रोल की नियुक्ति करे जो कार्डों  पार्टी के साथ संपर्क बनाये रखे !
  • गति व सरप्राइज बनाये रखने के लिए कार्डों पार्टी के बिभिन्न ग्रुप्स  के लिए अलग अलग रास्ते चुने !
  • बेहतर संचार प्रदान करे परन्तु कम से कम प्रसारण सुनिश्चित करे !
  • तलाशी वाले इलाके को अलग थलग रखने हेतु टेलेफोन एक्सचेंज तथा टेलेफोन जंक्शन बॉक्स को डिसकनेक्ट करे !
  • घेराबंदी करने से पूर्व , भागेंवाले रास्तो को अवरुद्ध करने के लिए गहराई में स्टॉप्स का इस्तेमाल अम्बुश के तौर पे करे !
  • घेराबंदी और तलाशी उस समय किया जाये जब ज्यादा से ज्यादा ग्रामवासी घरो में हो !

  • फर्स्ट लाइन में घेरा बंदी का जाँच करे और घेरा बंदी के गैप्स को भरो !
  • सभी नागरिको  के उनके समझनेवाले भाषा में बताये की वे एक विशेष जगह एकत्र हो !
  • यह भी चेतावनी दे की कोई भी व्यक्ति कार्डों को तोड़ने की कोशिश करेगा तो उस पर गोली चलाई जाएगी !
  • कसी भी व्यक्ति को घेरा बंदी वाले इलाके में घुसने नहीं दिया जाय  !
  • विशेष सुचना पर, विभिन्न दिशाओ से बढ़ते हुए घेरा बंदी दिन के समय भी की जाय , परन्तु तलाशी सूर्यास्त से पहले पूरी कर ली जाय !
  • घेंबंदी के दौरान जोड़े से रहने की प्रथ यानि बॉडी पेअर आपनाई  जाए !
  • घेराबंदी के दौरान ठंढ से बचने के लिए किसी भी व्यक्ति को आग जलने का अनुमति न  दी जाये !
  • चिकित्सा दल नजदीक इलाके में सहायता व जन कल्याण के लिए मौजूद रहेंगे !
2.आबादी वाले मकानों के तलाशी के दौरान ध्यान में रखनेवाली बाते (Abadi wale makano ka talashi ke dauran dhyan me rkhne wali bate): आम घरो की तलाशी के दौरान निम्न बातो का ख्याल रखे :
  • सभी घरो और मकानों का क्रमबद्ध तरीके से तलाशी करे !
  • निर्मित इलाको में आमलोग के किसी घर/इलाके से दुसरे में न जाने देने के लिए स्लाइस लगाये !
  • तलाशी करने वाली पार्टी के साथ स्थानीय मुखिया या उसका प्रतिनिधि साथ में रखे !
  • घेराबदी किये गए इलाके के सभी व्यक्तिओ को एक उचित स्थान पर एकत्र करे तथा उन पर नजर रखे !
  • जहा संभव हो स्थानीय पुलिस और महिला पुलिस की सहयता ले !
  • सुनिश्चित करे  की घर का पुरुष सदस्य तलाशी दल के आगे चले !
  • अदृश्य आपातकालीन स्तिथि के लिए ऑपरेशन कमांडर को हमेशा  रिज़र्व नफरी रखनी चाहिए !

  • विद्रोहियो को आत्मसमर्पण के लिए कहे !
  • तलाशी दल के पास प्रोडर, मेटल डिटेक्टर, सर्च लाइट , टोर्च इत्यादि होनी चाहिए !
  • सभी कमरा ,छुपे हुए छत , रसोई घर , शौचालय , स्नानघर टॉयलेट टंकी , पानी की टंकी यदि कोई भी जगह छुट न पाए सभी को विधिवत तलाशी लेना चाहिए  !
  • पूर्व निर्धारित चिन्हों से तलाशी लिए गए घरो को चिन्हित करे !ऐसे चिन्हों को जितना जल्दी हो मिटा दे काम ख़त्म होते ही !
  • इलाके के आकार  व उपलब्ध जनशक्ति के अनुसार साथ साथ काम करने हेतु ज्यादा से ज्यादा तलाशी दल तैनात  करे !
  • पुरुष की तलाशी , पहचान परेड के दौरान ही की जाये !
  • महिला की तलाशी हेतु महिल पुलिस या स्थानीय मनोनीत महिला को नियुक्त करे !
  • तलाशी करने के बाद प्रत्येक वास्तु को उसके पुराने स्थान पर ही रखे !
  • स्थान छोड़ने से पहले "कोई दावा नहीं प्रमाण पत्र(No Dues Certificate)" गाँव मुखिया से प्राप्त करे !
  • अत्यधिक संदिग्ध घरो की तलाशी साथ साथ करने हेतु जनशक्ति के साथ एक विशेष तलाशी दल नियुक्त करे !
  • विशेष घरो की तलाशी पूर्वक उसके खिड़की व दरवाजे को हमेशा  कवर करे !
  • स्टॉप्स कमांडर के साथ एक क्यु आर टी रिज़र्व रखे ताकि भिडंत की स्तिथि में घेराबंदी/तलाशी दल की सहायता की जा सके !
  • फायर आने की स्तिथि में भवन को अलग करे !
  • गाँव के किनारे व थोड़ी दूर पर स्थित मकानों को शाकीय नजर से देखा जाय !
  • तलाशी दल के साथ चल रहे आम नागरिक ज्यो ही घरो में घुसने से हिचकिचाते है या चुपके से भागने का प्रयास करते है तो तुरंत चौकाने हो जाये !
  • तलाशी के दौरान किसी सम्पति को नुकशान न पहुचाये !
3.खाली घरो और मकानों की तलाशी के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते (khali gharo aur makano ke talashi ke darun dhyan me rakhne wali bate):खाली घरो/भवनों के तलाशी के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते :
  • प्रवेश ध्यान से करे इस स्थान पर एनकाउंटर हो सकता है !
  • ताला लगे दरवाजे तथा खिड़कियो में बूबी ट्रैप्स / आई ई  डी  हो सकते है !
  • सुनिश्चित करे की तलाशी दल की प्रत्येक कारवाही पर नियुक्त सुरक्षा दल /कवरिंग पार्टी ध्यान रख रहा है !

4.मनोवैज्ञानिक कुछ बाते कार्डों एंड सर्च के बारे में(Cordon and search ke daurn kuch psychological bate jiska dhyan rakhe) : कुछ मनोवैज्ञानिक बाते कार्डों एंड सर्च से सम्बंधित निम्न है :
  • ध्यान रखे प्रत्येक व्यक्ति दुश्मन नहीं है !
  • केवल पक्की सुचना पर ही घेरा बंदी करे व तलाशी की कारवाही करे !
  • ग्रामीण को ऑपरेशन के कारण के बारे में आवगत कराये तथा किसी भी असुविधा के लिए खेद प्रकट करे !
  • उग्रवादियो की गलत कारवाही तथा उनकी लूट खसोट की जानकारी ग्रामीणों को दे !
  • महिलाओ तथा बच्चो को तलाशी पहले कर ले , ताकि वे  अपने घरेलू कार्य में लग सके!
  • गाँव के बुजुर्ग तथा महिलाओ को सम्मान दे !
  • धार्मिक स्थानों को अपवित्र न करे !
  • उचित जन कल्याण की कारवाही करे !
  • पहचान परेड से पहले ग्रामीण तथा बाहरी व्यक्तिओ को अलग करे तथा बाहरी व्यक्ति की दुबारा जाँच करे !
  • आम लोगो के सामने संदिघ व्यक्तिओ से पूछताछ  कभी न करे !
ये रही कुछ अहम् बाते कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन के दौरान ध्यान रखने से ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम तक पहुचाया जा सकता है !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !

Download this post
इन्हें  भी  पढ़े :
  1. पेट्रोलिंग और नाईट पेट्रोलिंग और उसके टास्क और नफरी
  2. अम्बुश और काउंटर अम्बुश, अम्बुश का उद्देश्य , अम्बुश का पार्टिया , अम्बुश का टारगेट
  3. सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान
  4. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -II
  5. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I
  6. कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी
  7. पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार
  8. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  9. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  10. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका

Monday, August 20, 2018

ट्रेन टिकेट में यात्रा की तिथि को बदलने की सुविधा

भारतीय रेल समय और परिस्थिति के साथ चलने के लिए तरह तरह के नई नई सुविधाए अपने ग्राहक को देने की कोशिश कर रही है और इसी कड़ी में उसने निम्न नई सुविधाए देने की सुरुवात की :


1. यात्रा की तिथि में बदलाव(Prepond/postpond of Train Ticket Date) : भारितीय रेल के वेबसाइट indianrailway.gov.in के अनुसार ab अगर आपने  अपनी ट्रेन यात्रा की टिकेट किसी काउंटर से यानि ऑफ लाइन टिकेट लिए है और किसी परिस्थिति बस उस दिन नहीं जा करे आप उसे आगे या पीछे के तिथि में चेंज  करना  चाहते है तो उसे आप अब करा सकते है ! उसके लिए आप को निम्न बातो को ख्याल रखना होगा 
  • आप का टिकेट किसी काउंटर सी ली गई होनी चाहिए यानि ऑफ लाइन टिकेट होनी चाहिए !
  • आप तिथि केवल और केवल एक बार बदलवा सकते है !
  • तिथि की बदली आपको यात्रा शुरू होने से कम  से कम 48 घंटे पहले रेलवे रिजर्वेशन ऑफिस को एप्रोच करना पड़ेगा !
ऊपर बताई हुए सभी शर्तो को अगर आप पूरा करते है और अपना रेल यात्रा टिकेट की तिथि को आगे या पीछे कारण चाहते है तो इसके लिए आपको एक निर्धारित फीस  देकर  अपना ओरिजिनल टिकेट  को रेलवे रिजर्वेशन ऑफिस में सरेंडर कर के नई तिथि का टिकेट बनवा सकते है !निर्धारित फ़ीस के बारे में वेबसाइट  पर कुछ नहीं लिखा हुवा है ! इस सुविधा सुरु होने से बहुत यात्रिओ को फायदा होगा क्यों की कैंसिल करके फिर से टिकेट बनवाने पे कैंसलेशन चार्ज और नया टिकेट बनवाने का चार्ज लगता है अब उस सब से छुटकारा मिलेगा !

2.यात्रा जर्नी को बढ़ाने की सुविधा(Journey extention beyod reserved station) : रेलवे के वेब साईट के अनुसार अब कीसी यात्री की यात्रा का टिकेट किसी निर्धारित रेलवे स्टेशन तक का है और वह उससे आगे का यात्रा करना चाहता है तो वह अपने टिकेट के आगे तक एक्सटेंड करा सकता है इसके लिए उसके उसे टिकेट चेकिंग स्टाफ से अपने निर्धारित स्टेशन पे पहुचने से पहले या पहुचने पर उनसे अनुरोध कर के अपने टिकेट को आगे तक एक्सटेंड  करा सकता है जहा उसे आगे की यात्रा का यात्रा भाडा देना पड़ेगा औए कोई  फाइन उससे नहीं असुला जायेगा !लेकिन अगर वह ऐसा नहीं करता है है कोई टिकेट चेकिंग स्टाफ उसे पकड लिया हो तो उसे फाइन के साथ आगे का टिकेट दिया जायेगा !

3.परिवार के किसी और सदस्य के नाम ट्रेन टिकेट ट्रान्सफर की सुविधा(Transfer of Train reserve Ticket) : अगर आपने अपने रिजर्वेशन करा लिए है और टिकेट कनफर्म्ड है और किसी कारणवस् आप यात्रा नहीं कर पा रहे है और चाहते है की आप के जगह पे आपके परिवार का कोई और सदस्य आपके टिकेट पे यात्रा करे तो ये सुविधा रेलवे ने सुरु कर दिया है और अब आप अपना टिकेट अपने पिता , माता , भाई , बहन , बेटा ,बेटी पति और पत्नी किसी को ट्रान्सफर कर सकती है इसके लिए आप को यात्रा के तिथि से 24 घंटे पहले टिकेट रिजर्वेशन ऑफिस में अपना अनुरोध पत्र  सबमिट करना पड़ेगा और आप का पहचान पत्र और टिकेट देख आप का टिकेट को ट्रान्सफर कर दिया जायेगा !

यह सुविधा सरकारी कर्मचारियो/एनसीसी के कैडेट   को भी दी गई है जो कही ड्यूटी/कैंप  पे जा रहे  थे लेकिन किसी कारण  बस उनके जगह पर कोई और कर्मचारी/कैडेट  जा रहा हो तो ऐसी परिस्थिति में टिकेट दुसरे कर्मचारी/कैडेट  के नाम ट्रान्सफर किया जा सकता है लेकिन इसके लिए 24 घंटे पहले टिकेट रिजर्वेशन ऑफिस में एप्रोच करना होगा  !एन सीसी के जवान के लिए जरुरी है की वह रिजर्वेशन ऑफिस यात्रा के तिथि से 48 घंटे पहले एप्रोच करे !

शादी पार्टी के लोग भी अपना टिकेट में नाम का बदली करा सकते है !  यह सभी बदली केवल और केवल एक बार ही हो सकती है !

रेलवे के इन नई सुविधा से यात्रा में बहुत ही आसानी हो जाएगी खास कर आर्म्ड फाॅर्स के जवानों को क्यों की उनकी ड्यूटी के अक्सर बदलाव होते रहता है ! 

यस पोस्ट केवल एक जानकारी के लिए है !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !




Saturday, August 18, 2018

कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन की पार्टिया और उन पार्टियो का काम क्या होता है ?

 पिछले पोस्ट में हमने कार्डों एंड सर्च के बेसिक बातो के बारे  में जानकारी प्राप्त की अब इस पोस्ट में हम कार्डों एंड सर्च  की पार्टिया और उनके काम (Cardon and Search ki party ttha unka deployment)प्राप्त  करेगे !


जैसे हम जानते है की CASO ऑपरेशन की सफलता के लिए अच्छी विस्तारपूर्वक योजना , विस्तारपूर्वक तैयारी , पक्की खबर तथा गोपनीय कार्यवाही की बहुत अहमियत होती है ! 

इसलिए इस ऑपरेशन के अच्छे नतीजा हासिल करने के लिए यह जरुरी है की हिस्सा लेने वाले ट्रूप्स की संख्या बहुत सावधानी से चुना जाए तथा उनकी रेहेर्शल करवाई जाए !

जरुर पढ़े:सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें

अगर इन बातो का ख्याल नहीं रखा जाए तथा असलियत के खिलाफ करवाई करने से सुरक्षा बलों को काफी बेवजह नुकशान उठाना पड़ सकता है !

इस पोस्ट में हम इस ऑपरेशन से सम्बंधित निम्न विषय के बारे में जानकारी प्राप्त कर पायेंगे :
CASO  Deployment
CASO  Deployment
1. CASO को सफल बानाने के लिए आतंकवादियो के बारे में खबरे हासिल करना!
2. CASO को सफल बानाने केलिए गाँव के बारे में जानकारी प्राप्त करना !
3. CASO के पार्टिया और उनका काम 
4. CASO का सर्च का समय 
5. CASO में ब्रीफिंग  का अहमियत 
6.CASO की तैयारी का महत्व 
7. CASO के दौरान कानून को ध्यान रखने वाली बाते 
8.CASO के दौरान गाँववासिओ की मानसिकता को ध्यान में रखते हुए जरुरी बाते 
9. CASO  को कंडक्ट ध्यान में रखने वाली बाते 

1. CASO को सफल बानाने के लिए आतंकवादियो के बारे में खबरे हासिल करना!:कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन शुरू करने से पहले विस्तृत एवं सही खबरे हासिल कर लेना बहुत जरुरी होता है ! यदि देशद्रोहियो की पिछले कुछ समय की गतिविधियों को ध्यानपूर्वक पढ़ा जाए तो उससे उनके काम करने के तरीको के बारे में रुपरेखा  तैयार की जा सकती है !

इसे ध्यान में रखते हुए दुसरे सुरक्षा बलों एवं पुलिस से खबरे हासिल की जा सकती है तथा इन्हें विभिन्न गाँव में पट्रोल भेजकर भी हासिल किया जा सकता है ! ऑपरेशन के दौरान आतंकवादियो के बारे में निम्नलिखित खबरे काफी फायदेमंद होता है :

  • आतंकवादियो की संख्या तथा उनकी पहचान 
  • आतंकवादियो के छिपने के स्थान तथा समय 
  • आतंकवादियो के हाईड आउट तथा  ऑपरेशन एरिया 
  • आतंकवादियो का लड़ने की क्षमता 
  • आतंकवादियो की सुरक्षा तथा इंटेलिजेंस व्यवस्था 
  • आतंकवादियो के बचाव या भागने के रास्ते 
यनी आतंकवादियो से सम्बंधित ज्यादा से ज्याद जानकारिया हासिल करने लेना चाहिए जिसमे उनके बारे में कुछ कमजोरिया तथा मजबूत बाते सामिल हो !


2. CASO को सफल बानाने केलिए गाँव के बारे में जानकारी प्राप्त करना !: जिस गाँव में CASO ऑपरेशन करना है उसके बारे में भी सारी  जाकारी इकट्ठा कर लेनी चाहिए ! जैसे :
  • गाँव कितना बड़ा है था उसका बनावट कैसा है !
  • घरो की संख्या क्या है !
  • गाँव को प्रभावित करने वाले स्थान तथा गाँव के आस पास के प्रकृति और बनावटी रूकावटे क्या क्या है !
  • गाँव में आने जाने के छोटे और बड़े रस्ते कौन कौन से है !
  • गाँव के आस पास का इलाका प्लानिंग बनाने तथा ऑपरेशन के लिए उपलब्ध हो !
गाँव की आबादी के बारे में जानकारी :
  • गाँव को अच्छी तरह से सर्च करने के लिए जरुरी है की उसमे रहने वालो लोगो की सूचि हो !
  • गाँव में रहने वाले आतंकवादियो उनके मददगार , सरकारी कर्मचारी के बारे में जानकारी हो !
  • गाँववासिओ की भाषा , रहने का ढंग एवं आर्थिक स्थिति की जानकारी हो 
  • गाँववासिओ का अपनी सरकार तथा सुरक्षा बलों के प्रति व्यवहार कैसा है उसकी जानकारी हो !
  • गाँव के महत्वपूर्ण व्यक्ति जैसे मुखिया, सीनियर सरकारी अधिकारी और धर्मगुरूओ के बारे में जानकारी होनी चाहिए !
CASO की तयारी के दौरान गाँव से सम्बंधित इस जानकारी को प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए !


3. CASO के पार्टिया और उनका काम (Cordon and search ki partiya): आम तौर पर कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन की कुल 6 निम्न पार्टिया होती है :

(a) कांडों पार्टी (Cordon Party): इस पार्टी का काम गाँव को चारो तरफ से घेर कर आतंकवादियो के भागने के रास्तो को बंद करना होता है ! ऑपरेशन में शामिल ट्रूप्स की संख्या का एक बड़ा भाग इस पार्टी में होता है ! यदि गाँव काफी बड़ा तथा फैला हुवा हो तो आतंकवादियो के भागने के रास्तो पर स्टॉप्स लगाये जा सकते  है !

(b) सर्च पार्टी (Search Party):कांडों लगने के बाद यह जरुरी है की गाँव की तरतीबवार व विस्तारपूर्वक तलाशी ली जाये ! यह काम सर्च पार्टी द्वारा किया जाता है ! 

सर्च पार्टी को दो भागो सर्च और सपोर्ट ग्रुप में बाँट दिया जाता है ! एक ऑपरेशन में एक या एक से ज्यादा सर्च पार्टी हो सकती है ! यदि एक से ज्यादा सर्च पार्टी हो तो गाँव को इलाके में बाँट दिया जाय और सभी सर्च पार्टी को उसके जिम्मेवारी के इलाके सर्च करने के लिए दे दिए जाय ! 

(c) रिज़र्व पार्टी (Reserve Party):रिज़र्व पार्टी को ऑपरेशन के दौरान मौके के अनुसार कोई भी काम दिया जा सकता है ! रिज़र्व पार्टी को निम्न काम दिए जा सकते है :
  • कर्फ्यू लगाना 
  • ऑपरेशन के दौरान गाँव का निगरानी रखना 
  • भागते हुए आतंकवादियो को पकड़ना 
  • आतंकवादियो के भागने वाले रास्ते के ऊपर नजर रखना !
(d) इन्टेरोगेसन एवं आइडेंटिफिकेशन टीम (Interogation and Identification Team): इस पार्टी का इन चार्ज  एक अधिकारी या अधीनस्थ अधिकारी होता है उसके साथ लोकल भाषा जानने  वाला आदमी , एक आतंकवादियो की पहचान करने वाला व्यक्ति तथा गाँव का मुखिया भी हो सकता है ! इनका काम गाँववासिओ का शिनाख्त के दौरान पकडे गए शाकीय लोगो की पूछताछ कर खबर हासिल करना है !


(e) सिविक एक्शन पार्टी (Civic Action Party): CASO ऑपरेशन के दौरान गाँव वासिओ को काफी तकलीफ हो सकती है इस लिए उनकी तल्किफो को कम  करने के लिए कुछ सिविक एक्शन किया जा सकता है जिसके दौरन सिविक एक्शन पार्टी जिसमे की कुछ ट्रेड मैंन  भी रहते है जैसे डॉक्टर, कम्पाउण्डर यदि ! ये लोग गाँव वासिओ को कुछ फ्री में मेडिकल हेल्प और मेडिसिन बाँट कर जरुरत मंद लोगो का चिक्तिस्य सहायता और गरीब बच्चो को फ्री में कॉपी पेंसिल और नास्ता का इन्तेजाम करते  है जिससे की गाँववासियो के अन्दर सुरक्षा बलों के प्रति कोई दुर्भावना पैदा न हो  !

(f) कैदी सुरक्षा पार्टी (Prisoner Escort Party) : इस पार्टी का काम होता है की ऑपरेशन के दौरान पकडे गए आतंकवादियो पर गार्ड लगाना ताकि वे बचकर भाग न सके! पकडे हुए आतंकवादियो को आपस में बातचीत न करने देना और उनको अलग अलग दिशा में मुह कर के बैठा के रखे !

4. CASO का सर्च का समय : कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन के दौरान सर्च का समय ऑपरेशन के उद्देश्य पर निर्भर करता है !सर्च का समय इस प्रकार से चुना जाये की ज्यादा से ज्यादा सरप्राइज हासिल किया जा सके !समय का चुनाव सुरक्षा बल पोस्ट से गाँव की दुरी तथा ऑपरेशन के लिए समय के जरुरत पर निर्भर करता है !आमतौर पर कार्डों रात के अँधेरे तथा सर्च फर्स्ट लाइट होने पर शुरू की जाती है !


5. CASO में ब्रीफिंग  का अहमियत :ऑपरेशन में हिस्सा लेने वाले ट्रूप्स की ब्रीफिंग अच्छी तरह से होनी चाहिए था हरेक व्यक्ति को उसका काम या ड्यूटी मालूम होनी चाहिए !

6.CASO की तैयारी का महत्व : ऑपरेशन की पूरी तयारी एकदम गुप्त होनी चाहिए की आतंकवादियो को इसके बारे में कोई भनक न लगे ! ऑपरेशन के दौरान गाइड और द्विभाषिए को रखना चाहिए !ऑपरेशन की तयारी बहुत विस्तृत और बारीकी से देखा जाए ताकि ऑपरेशन के दौरान कोई रुकावट न पैदा हो !

7. CASO के दौरान कानून को ध्यान रखने वाली बाते : कार्डों एंड सर्च एक ऐसा ऑपरेशन है जिसमे की आर्म्ड फाॅर्स के ऑपरेशन के कारण आम जनता को काफी मुस्किलो का सामना करना पड़ता है और जिसके कारण जनता को आंदोलित होने की भी समभावन होती है इसलिए यह जरुरी है के इस ऑपरेशन के दौरान कुछ लोकल पुलिस के जवान और अधिकारिओ को भी साथ रखा जाए ! 

क्यों की लोकल पुलिस के लोग उस गाँव तथा उस गाँव के लोगो से काफी हद तक वाकिफ होते है !और आर्म्ड फाॅर्स के जवान को किसी का घर को सर्च करने का अधिकार नहीं है वह काम केवल लोकल पुलिस के देखरेख में ही हो सकता है !नहीं तो कोई स्पेशल आदेश के द्वारा वह अधिकार  आर्म्ड फाॅर्स के जवानों को भी देदिया गया हो तो आर्म्ड फाॅर्स के जवान भी सर्च कर सकते है  !सुरक्षा बल के जवानों को कानून के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं करनी चाहिए !


8.CASO के दौरान गाँव वासिओ की मानसिकता को ध्यान में रखते हुए जरुरी बाते : कार्डों एंड सर्च के दौरान सुरक्षा बलों को जनता के साथ काम करना पड़ता है ! जैसे की हमारा उद्देश्य जनता को बिना तकलीफ पहुचाये जनता के दिलो दिमांग को जित कर काम करे इसके लिए हमे वह हर कदम उठाना चाहिए जिससे की सिविल जनता को कम से कम तकलीफ हो ! उनकी तकलीफों को निम्न प्रकार से काम किया जा सकता है :
  • ऑपरेशन पक्की खबर के बाद ही किया जाय बेवजह किया गया ऑपरेशन से जनता परेशां होती है और सुरक्षा बालो के प्रति उनको मन में बुरा विचार आता है !
  • औरत और बच्चो का पहले सिनाख्त पहले की जाये ताकि वे अपने घर का काम काज देख सके 
  • यदि कुछ व्यक्तिओ को पकड़ा जाता है तो उनके खाने और रहने की व्यवस्था किआ जाय उन्हें आम जनता के सामना मारा पिता न जाय !
  • ट्रूप्स का व्यवहार आम गाँववासियो के साथ अच्छा होना चाहिए !
  • गाँव के बुजुर्गो और औरतो को सम्मान करना चाहिए !
  • ऑपरेशन के दौरान सिविक एक्शन जरुर करना चाहिए !
इस सभी बातो को ख्याल रखा जाए तो ऑपरेशन के दौरान आम जनता का सभी साथ सुरक्षा बालो को मिलेगा इसमें कोई शक नहीं किया जा सकता है !

9. CASO  को कंडक्ट ध्यान में रखने वाली बाते :कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन को कंडक्ट करते समय निम्न बाते का ध्यान रखना चाहिए :

(a) गाँव को एप्रोच करते समय ध्यान में रखनेवाली बाते :इसमें निम्न बातो का ख्याल रखना चाहिए :
  •  क्रॉस कंट्री मूव किया जाय एवं रात को मूव किया जाय
  • अगर रास्ते  में कोई सिविलियन मिलता है तो उसे छोड़ा न जाये उसको अपने साथ उस समय तक बैठा कर रखा जाये जब तक की ऑपरेशन शुरू न हो जाये ! 
  • मूव के दौरान सीखी हुई ड्रिल  को अपनाया जाय !
(b)गाँव के घेराव के दौरान ध्यान में रखने वाली बाते :
  • गाँव के निश्चित दुरी पर रिलीज़ पॉइंट का चुनाव किया जाए !
  • रिलीज़ पॉइंट्स तक ट्रूप्स गाडियो से आ सकते है तथा भरी सामान को वह छोड़ा जा सकता है !
  • कार्डों पार्टी को क्रॉस कंट्री मूव करना चाहिए !
  • गाँव के चारो तरफ एक फंदे के तरह घेरा देना चाहिए !ताकि बचाव के साडी रास्ते बंद हो जाए !
  • शुरू में कार्डों गाँव से दुरी पर लगाया जाये फिर निश्चित किये हुए समय पे गाँव के नजदीक कर दिया जाए !
  • जिस जगह पर कार्डों लगाना संभव नहीं हो वह स्टॉप लगाना चाहिए !
  • आतंकवादियो के भागने के रूट पर स्टॉप्स के रूप में अम्बुश लगाना चाहिए !

(c) तलाशी का तरीका के दौरान ध्यान में रखनेवाली बाते  :
  • जब गाँव का घेराव हो जाता है तो पुरे गाँव की विस्तार से तलाशी लेनी चाहिए
  •  शाकीय मकानों की यदि हो सके तो पहले तलाशी लिया जाए 
  • और तलाशी ऊपर से निचे को ली जाये !
कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन काउंटर इंसरजेंसी की लड़ाई का एक बहुत ही अहम् ऑपरेशन है ! यदि पक्की खबर और विस्तारपूर्वक योजना के साथ ऑपरेशन किया जाए तो इसमें सफलता आवश्य ही मिलती है !

इस प्रकार से कार्डों एंड सर्च ऑपरेशन के विभिन्न पार्टिया और उनके काम से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !

इन्हें  भी  पढ़े :
  1. पेट्रोलिंग और नाईट पेट्रोलिंग और उसके टास्क और नफरी
  2. अम्बुश और काउंटर अम्बुश, अम्बुश का उद्देश्य , अम्बुश का पार्टिया , अम्बुश का टारगेट
  3. सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान
  4. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -II
  5. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I
  6. कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी
  7. पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार
  8. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  9. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  10. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका