Sponser

Search

Amazon Freedom

Thursday, June 21, 2018

21 जून को योग दिवस को क्यों मनाया जाता है ?

पिछले पोस्ट में हमने योग और शारीरिक व्याम के बारे में थोडा जानकारी हासिल की थी इस पोस्ट में हम जानेगे 21 जून योग दिवस मनाये जाने के पीछे का इतिहास  के बारे में !


सरल रूप मे कहे तो योग अध्यात्मिक एवं अत्यंत सूक्ष्म विज्ञानं पर आधारित ज्ञान है जो मन और शारीर के बिच सामंजस्य स्थापित करता है ! 

जरुर पढ़े :सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान

यह  करोड़ सालो पुरनी एक कला है जिसे भारत के ऋषि मुनिओ ने विकशित किया और आज ये संसार के सबसे लोकप्रिय व्याम कला बन गया है ! योग भारत के अमूल्य सम्पति है! यह  विभिन्न प्रकार के शारीरिक क्रियाओ को करके अपना शारीर को स्वस्थ रखने के लिए करते है !
1st Yog day at Rajpath
यह हमारे लिए गर्व की बात है की इसका उद्गम हमारे ही देश में हुवा !


योग 21 जून को मनाये जाने के पीछे का इतिहास(Yog 21 Jun ko manaye jane ke pichhe ka itihas) : 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा के 69 वे सत्र को संबोधित करते इ  के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र भाई मोदी ने विश्व समुदाय  अंतराष्ट्रिय  दिवस मानाने का आह्वान किया !

अपने भाषण में माननीय प्रधानमंत्री  ने कहा उनके शब्द " योग एक प्राचीन भारतीय परम्परा एवं संस्कृति की अमूल्य देंन  है ! योग अभ्यास शारीर  एवं मन, विचार एवं कर्म , आत्मसंयम एवं पुर्णता की एकात्मकता तथा मानव एवं प्रकृति के बिच सामंजस्य स्थापित करता है ! यह स्वास्थ्य एवं कल्याण का पूर्णतावादी दृष्टिकोण है !

योग मात्र व्याम नहीं है बल्कि स्वम के साथ, विश्व और रकृति के साथ एकत्वा खोजने का भाव है ! योग हमारी जीवन शैली में परिवर्तन लाकर हमारे अन्दर जागरूकता उत्पन्न करता है तथा प्राकृतिक परिवर्तन से शारीर में होने वाले बदलावों को सहन करने में सहायक हो सकता है !आइए हम सब मिलकर योग को अन्तराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में स्वीकार करने की दिशा में कार्य करे "
जरुर पढ़े : पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
माननीय प्रधान मंत्री के उपरोक्त आग्रह को सभी देशो ने बहुत ही सराहा और विश्व के मीडिया ने इसे का हाथो हाथ लिए और योग को एक अच्छा रूप में प्रस्तुत किए !

इसी के फलस्वरूप 11 दिसम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभ के 193 सदस्यों ने रिकॉर्ड 177 सह समर्थक देशो के साथ 21 जून को अन्तराष्ट्रीय योग दिवस मानाने का संकल्प सर्वसम्मति  से अनुमोदित किया ! यह अपने आप में एक रिकॉर्ड था आज तक के संयुक्त राष्ट्र के इतिहास में किसीभी विषय को  इतने देशो ने एक साथ सह- समर्थक बना हो ! 

अपने संकल्प में संयुक्त राष्ट्र महासभा ने स्वीकार किया की योग स्वास्थ्य एवं कल्याण केलिए पूर्णतावादी दृष्टीकोण प्रदान करता है !योग विश्व के जनसख्या के स्वास्थ्य के लिए तथा उनके लाभ के लिए विस्तृत रूप में कार्य करेगा !

योग जीवन के सभी पहलुओ में सामंजस्य बैठता है और इसीलिए बिमारी रोकथाम , स्वास्थ्य संवर्धन और जीवन शैली संबधित कई विकारो के प्रबंधन के लिए जाना जाता है !

21 जून को योग दिवस इसीलिए मानते है क्यों की इस दिन को संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग दवस मानाने का घोषणा की थी !

पहला अन्तराष्ट्री योग दिवश का गिनिज बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड :आयुष मंत्रालय ने 21 जून 2015 को राजपथ , नई दिल्ली में प्रथम अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का सफल आयोजन किया ! इस आयोजन में दो वर्ल्ड रिकॉर्ड बने एक की 35985  प्रतिभागियो के साथ सबसे बड़ा योग सत्र तथा एक ही योग अभ्यास सत्र में सर्वाधिक देशो यानि 84 देशो के नागरिको की प्रतिभागिता हुई !

विज्ञानं भवन में 21 एवं 22 जून 2015 को सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए योग विषय पर दो दिवसीय अन्तराष्ट्रीय संगोष्ठी आयोजित हुवा जिसमे भारत तथा विदेश के लगभग 1300 प्रतिनिधिओ ने भाग  लिया !

इस प्रकार से हम इस पोस्ट के माध्यम से जाने के 21 जून को योग दिवस क्यों मनाया जाता है !उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए !


Wednesday, June 20, 2018

ड्राइव & हंट ऑपरेशन स्टेज-3 की करवाई और सफलता के लिए जरुरी बाते

पिछले दो पोस्ट्स में हमने ड्राइव & हंट के स्टेज-1 और स्टेज -2 के बारे में जानकारी प्राप्त किये ! इस पोस्ट में हम ड्राइव & हंट स्टेज-3 के बारे में जानेगे !


जैसे की हमने पिछले पोस्ट्स से जान चुके है की  ड्राइव एंड हंट के स्टेज -1 में एरिया रैकी तथा खबरे अपने और विद्रोहियों के बारे में हासिल की  जाती है वही स्टेज-2 में सैंड मॉडल और माप पे ब्रीफिंग तथा पार्टियो की बाँट की जाता है !


जरुर पढ़े :पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का असान तरीका ?

इस ऑपरेशन का सबसे अहम् स्टेज है  वह स्टेज -3 है वैसे तो किसी ऑपरेशन के हरेक एक्टिविटीज ही अहम् होता है उस ऑपरेशन को सफल और विफल बनाने के लिए लेकिन फिर भी कुछ एक समय होता है जहा से हम उस ऑपरेशन को सही मायने में इम्प्लेमेंट करते है यानि हकीकत में जमीनी जमा पहनते है !

ड्राइव & हंट ऑपरेशन का स्टेज-3 इसीलिए अहम् माना जाता है क्यों की बाकि स्टेज में हम जो  खबर हासिल करते है या प्लानिंग बनांते है उन सब को इस स्टेज में इस्तेमाल करते हुए करवाई कर ऑपरेशन को सफल बनाते है !


जरुर पढ़े :काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग और कन्वेंशनल पेट्रोलिंग में मुख्य अंतर

ड्राइव & हंट ऑपरेशन का स्टेज-3 के अन्दर भी 3 स्टेज होते है  जो निम्न है :
1. तैयारी का दर्जा (Prepratory stage)
2. धावा का दर्जा (Assault Stage)
3.री-ग्रुपिंग का दर्जा (Re-grouping स्टेज)

1. तैयारी का दर्जा (Prepratory stage):इस स्टेज के अन्दर निम्न करवाई की जाती है :

  • इसमें खबर मिलने से लेकर तमाम पार्टियो के अपनी अपनी जगह पर लग जाने तक की सभी करवाई शामिल होती है !
  • कमांडर को विद्रोही की सूचना मिलना !
  • कमांडर द्वारा अपने सेकंड इन कमांड को वार्निंग आर्डर देना !और उस वार्निंग आर्डर में ऑपरेशन का नाम तथा टास्क , एन एम् बी , ओ, आर, एवं ऍफ़ ग्रुप के लिए आर वि और बंदोबस्त की करवाई और दूसरी कोई विशेष निर्देश  यदि 
  • ऑपरेशन वाले इलाके की जमीनी और माप पर रैकी करना 
  • और योजना बनाना :
(क) अभियान के लिए पार्टियो की बाँट और उनकी जिम्मेवारी  का इलाका 
(ख) जाने व आने के रस्ते व साधन 
(ग) असेंबली एरिया , और ऍफ़ यु पी का चुनाव 
(घ)समय की बाँट 
(च) बंदोबस्ती की कार्यवाही 
(छ)मिलाप के साधन 
(ज)सफलता का इशारा 
(झ)ड्राइव पार्टी के साथ नेविगेशन पार्टी नियुक्त किया जाय 
(ट) ऑपरेशन समाप्ति के बाद आर वी कहा होगी !
जरुर पढ़े :कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक मुख्य बातो की जानकारी
2. धावा का दर्जा (Assault Stage): इस स्टेज में निम्न करवाई की जाती है :
  • ड्राइव पार्टी ऍफ़ यु पी लाइन के ऊपर एक्सटेंडेड लाइन में बाये और दाहिने खुल जाती है !
  • इस पार्टी से सबसे बाये वाले जवान के बाये हाथ पर और दाहिने वाले जन के दाहिने हाथ पर पहचान के लिए एक सफ़ेद पट्टी बंधी जाए ताकि दाहिने और बाए लगी स्टॉप परी के जवान ये मालूम कर सके की ये जवान ड्राइव पार्टी का सबसे बाया या दाहिना जवान है !
  • एच  ऑवर पर ड्राइव पार्टी तान शास्त्र पोजीशन में स्टार्ट लाइन से ड्राइव शुरू करेगी !
  • नेविगेशन पार्टी पूरी ड्राइव के दौरान ड्राइव पार्टी को सही दिशा कायम रखने में मदद करेगी !
  • अपने सामने के इलाके को ड्राइव पार्टी दुरुस्त तरीके से तलाश करते हुए आगे बढ़ेगी !
  • रास्ते  में कोई रुकावट आती है जैसे नदी , नाले खाई , पहाड़ इत्यादि होतो तो फायर एंड मूव से पार करेंगे 
  • विद्रोहियो का फायर अत है तो "चांस एनकाउंटर " ड्रिल की कारवाही की जाये ! और फिर उसके बाद ड्राइव को जरी रखा जाये !
  • दाहिने या बाये  स्टॉप्स का वही जवान फायर करेंगा जिसके सामने और नजदीक विद्रोही आ गए हो !
  • ड्राइव के दौरान जब ड्राइव पार्टी के जवान आगे बढ़ जाती है तो दाहिने और बाये में लगे हुए जवान जिनके सामने से ड्राइव पार्टी गुजरती है रियर कार्डोंन  बनाने की कार्यवाही करते जायेगे !
  • अगर ड्राइव करते हुए ड्राइव पार्टी के सामने का इलाका ज्यादा घना  व चौड़ा आ जाये जिसमे ड्राइव पार्टी पुरे इलाके को कवर न कर पा रही हो तो ऑपरेशन कमांडर रियर करडान से कुछ आदमी ड्राइव पार्टी के साथ बिच में मिला सकता है और बचे स्टॉप से रियर करडान बनाया जायेगा ताकि विद्रोही अगर ड्राइव पार्टी से बचकर निकाल जाता है तो वह रियर करडान द्वारा पकड़ा या मारा जा सके !

  • विद्रोहिओके किलिंग ग्राउंड में पहुचते ही ड्राइव पार्टी रुक जाएगी और पहले से निश्चित की हुई पोजीशन पर लग जाएगी ! ऑपरेशन कमांडर विद्रोहियो को आत्म समर्पण करने के लिए चेतावनी देगा !
  • अगर विद्रोही दिए हुए समय में आत्म  समर्पण नहीं करते तो ऑपरेशन कमांडर " कट ऑफ ग्रुप " कमांडर को विद्रोहियो को किलिंग ग्राउंड में बर्बाद करने का हुक्म देगा !
  • ऑपरेशन कमांडर ड्राइव पार्टी की पोजीशन से ही "कट ऑफ़ ग्रुप" कमांडर से रिपोर्ट लेगा की क्या उसकी फायर  की करवाई पूरी हो चुकी है! रिपोर्ट मिलने के बाद ऑपरेशन कमांडर ड्राइव पार्टी को किलिंग एरिया की तलाशी के लिए  कहेगा ! तलाशी के दौरान कोई विद्रोही छिपा है तो उसे पकड़ा या बर्बाद किया जायेगा !
  • इस ऑपरेशन के दौरान दाहिने या बाये स्टॉप से या "कट ऑफ ग्रुप " से विद्रोही बच  कर यदि निकाल भागता है तो ऐसी हालत में ऑपरेशन  या सम्बंधित  पार्टी कमांडर   वायर लेस या वि एल पि के फायर द्वारा भागते हुए विद्रोही की नफरी व भागने की दिशा के बारे में बताएगा! ऑपरेशन कमांडर यदि जरुरत समझता है तो रिज़र्व पार्टी को भागे विद्रोहियो को पकड़ने या बर्बाद करने में लगा सकता है !
  • ऑपरेशन कमांडर तमाम पार्टियो से रिपोर्ट लेगा और पकडे हुए विद्रोही पर गार्ड लगाएगा और सफलता का दोहरा इशारा देगा !

3.री-ग्रुपिंग का दर्जा (Re-grouping स्टेज): इसके दौरान निम्न करवाई की जाती है :
  • जैसे ही सफलता का इशारा मिलता है ड्राइव पार्टी और दोनों स्टॉप पार्टी के जवान या रियर कार्डोंन  के जवान मिलकर तान  शास्त्र पोजीशन में अपने अपने सामने वाले इलाके की तलाशी करते हुए आगे बढ़ेंगे और "कट ऑफ पार्टी " के पीछे तक जायेंगे व पोजीशन ले लेंगे !
  • छिपे हुए या पकडे हुए विद्रोहियो के साथ करवाई 
  • ऑपरेशन कमांडर पुरे ऑपरेशन का रिपोर्ट लेगा !
  • घायल , कैदियो व मृतक का नितरा 
  • हथियार अमुनिसन की जाँच तथा जरुरत के मुताबिक कमियों को पूरा करना !
  • कैदियो की तलाशी , पूछ ताछ करना तथा उन्हें हेड क्वार्टर भेजना !
  • यदि एनी कोई ऑपरेशन करना हो तो उसकी तैयारी करा !

(4) ड्राइव & हंट ऑपरेशन की सफलता के लिए जरुरी बाते  कुछ निम्न है :
  • इस ऑपरेशन की पूर्ण सफलता सरप्राइज पर निर्भर करती है !
  • समझ और होशियारी के साथ पर्त्यो का ले आउट साईटिंग और छुपाव !
  • खामोशी 
  • होशियारी के साथ पोजीशन चुनना , जिस पर विद्रोहियो को शंका न हो !
  • रिज़र्व का होना !
  • रिज़र्व को सही जगह पर रखना और उसका दुरुस्त इस्तेमाल !
  • कमांड व कण्ट्रोल हर स्तर पर ऊँचे दर्जे का होना चाहिए !
  • फायरिंग करते समय पने जवानों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाये !
  • वायरलेस सेट्स को ऑपरेशन शुरू होने से लेकर समाप्त होने तक लिसनिंग वाच पर रखा जाय ! वायरलेस सेट्स पर अनावश्यक बातचीत न की जाय !
  • पार्टियो के पोजीशन में लगने के समय तक रेडियो साइलेंस ब्रेक न की जाय !
  • इशारे पहले से मुकर्र हो 
  • पार्टिया रात के अँधेरे में ही लग जाए !
यह ऑपरेशन बड़े स्तर पर होता है ! इसलिए यह जरुरी है की ऐसे अभियान की प्लानिंग तथा तैयारी सही तथा विस्तृत रूप से होनी चाहिए ! जवानों का ट्रेनिंग आला दर्जे का होना चाहिए जिसमे हर एक जवान यह समझ सके की उसे करना क्या है कमांडर के आदेश सादे और स्पस्ट होने चाहिए ! ऑपरेशन की सफलता के लिए यह जूनियर लीडर्स की भूमिका को नजर अंदाज नहीं किया जाए , यदि मुमकिन हो तो ट्रूप्स का ऑपरेशन की रेहेर्सल पहले करा ली जाये !


इस प्रकार से यहाँ ड्राइव & हंट ऑपरेशन का स्टेज -3 की करवाई और सफलता से सम्बंधित और इसके साथ ही ड्राइव & हंट के स्टेज-1 और स्टेज- 2 के साथ पूरी ड्राइव & हंट ऑपरेशन की  एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 
इन्हें भी पढ़े :
  1. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें
  2. रोड ओपनिंग पार्टी की तैनाती करने का तरीका तथा ROP ड्यूटी के दौरान IED से बचा के लिए ध्यान में रखनेवाली बाते
  3. ROP लगाते समय एक कमांडर को ध्यान में रखनेवाली बाते !
  4. सैंड मॉडल का परिचय तथा सैंड मॉडल ब्रीफिंग की विधि
  5. किसि ऑपरेशन का मूल्यांकन करने का तरीका
  6. ऑपरेशनलन आर्डर क्या होता है और ऑपरेशनल आर्डर पास करने के तरीके
  7. वर्बल आर्डर देनेका तरतीब और तरीका क्या होता है ?
  8. वर्बल आर्डर में जमीनी निशान देने का तरीका क्या होना चाहिए ?
  9. फौजी टैक्टिकल वर्ड गुरिल्ला बैंड और गुरिल्ला बेस क्या होता है ?
  10. काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग और कन्वेंशनल पेट्रोलिंग में अंतर

Tuesday, June 19, 2018

ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन के स्टेज-2 की करवाई और पार्टियो का काम

पिछले पोस्ट में हमने ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन में स्टेज -1 में क्या करवाई होती है उसके बारे में जानकारी प्राप्त किये ! इस पोस्ट में हम ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन के स्टेज -2(Drive and hunt operation ke stage -2 ki karwai) के करवाई के बरेमेंट जानकारी प्राप्त करेंगे  !


जैसे की हम जानते है की ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन के कुल तीन स्टेज(Drive and hunt operation me kul stage) होते है जिनमे पहले स्टेज में प्लानिंग , खबरे हासिल करना तथा  एरिया की रैकी तक सिमित रहता है!

 जबकि स्टेज -2 में एरिया को रैकी करने के दौरान  तथा दुश्मन के बारे में जो कुछ भी खबरे हासिल हुई है उनसब को ध्यान में रखते हुए इस ऑपरेशन में शामिल होने वाले जवानों और कमांडर्स को नक्शा के ऊपर ब्रीफिंग दिया जाता है !

जरुर पढ़े :टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -II

ब्रीफिंग के दौरान सभी को  एरिया से वाकिफ कराना  , दुश्मन के बारे में जानकारी देना तथा ऑपरेशन में शामिल होने वाले ट्रूप्स की पार्टियो में बाँट करना और ऑपरेशन कैसे अंजाम दिया जायेगा इसके बारे में बताया जाता है !

यनी हम कह सकते है के ड्राइव हंट के स्टेज-2 में नक़्शे पर ब्रीफिंग तथा पार्टियो की बाँट की जाती है और ट्रूप्स को ये बता दिया जाता है की ऑपरेशन के दौरान आपका क्या काम रहेगा !

जरुर पढ़े :टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I

इस ऑपरेशन के लिए कुल चार पार्टिया होती है जिनका नाम और काम निम्न है(Drive and hunt operation ke parties aur unka kaam )  :
Drive and Hunt Operation ki parties
Drive and Hunt Operation ki parties 
1. ड्राइव पार्टी (Drive Party): यह पार्टी इलाके की बड़ी सावधानी से छानबीन करती है ! उह हमेशा फैलकर यानी एक्सटेंडेड लाइन में और जिम्मेवारी के इलाके को क्लियर करती हुई आगे बढती है !

 इसमें यह जरुरी है की ट्रूप्स का आपस में नजरी मिलाप हो तथा दाहिनी और बाये हदों को हमेशा ध्यान रखा जाए !

2. स्टॉप पार्टी(Stop Party) : यह पार्टी ड्राइव पार्टी द्वारा तलाशी लेने वाले इलाके के दाहिने व बाये तरफ के तरफ के इलाको में लगाई जाती है ! इसमें इस बात का ध्यान रखा जाता है की तलाशी लेने वाला इलाका दोनों तरफ से घिरे जाये और कोई गैप न छूटे ! इसका मुख्य काम विद्रोहियो को दाहिने व बाये से भागने से रोकना है !

जरुर पढ़े :सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान

3. कट ऑफ़ ग्रुप(Cut off group) : इस पार्टी का मुख्य काम मुठभेड़ से बचकर निकल भागने वाले विद्रोहियो के रस्ते को सामने से "कट ऑफ" करना है ! जहा तक मुमकिन  इस टोली के सामने का इलाका (field of fire) बिलकुल साफ होनी चाहिए !

इस पार्टी का फायर पॉवर बढ़ाने के लिए ज्यादा से ज्यादा एल एम् जी डी जाती है , ताकि ज्यादा से ज्यादा इलाका और भागने के रास्तो को प्रभावशाली ढंग से कवर कर सके !

4. रिज़र्व पार्टी(Reserve Party) : इस पार्टी को ऐसी जगह पर लगाया जाता है की जहा से उसे जरुरत पड़ने पर कारगर रूप से इस्तेमाल किया जा सके जैसे की ऑपरेशन से बाख निकले विद्रोहियो के खिलाफ इस्तेमाल किया जा सके !

यदि ऑपरेशन के दौरान किसी गाँव की तलाशी लेनी है तो इस टोली को इस्तेमाल में लाया जा सकता है ! इस अभियान को पूरा करने के लिए कितनी नफरी चाहिए यह उस इलाके पर निर्भर करता है जहा की ऑपरेशन करना है यानी इलाका कितना लम्बा चौड़ा है , घना जन्गालदार या खुला इलाका है !

जरुर पढ़े :अम्बुश और काउंटर अम्बुश, अम्बुश का उद्देश्य , अम्बुश का पार्टिया , अम्बुश का टारगेट

इस प्रकार से ड्राइव एंड हंट के स्टेज-2 की करवाई तथा ड्राइव एंड हंट की  पार्टियो का काम से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई ! अगले पोस्ट में हम ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन के स्टेज -3 के बारेमे जानेगे !म्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 


इन्हें भी पढ़े :
  1.  सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें
  2. 4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए
  3. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  4. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  5. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  6. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
  7. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब

Monday, June 18, 2018

ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन की पहले स्टेज में की जानेवाली करवाई

पिछले पोस्ट में हमने ड्राइव एंड हंट  से क्या समझते है उसके बारे में जानकरी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम जानेगे की ड्राइव एंड हंट कितने स्टेज में पूरा होता है और स्टेज-एक में क्या करवाई की जाती है !


जैसे की हम देखते है की आज के समय में प्रत्येक देश में किसी न किसी तरह के असामजिक तत्व मिल ही जाते है ! संगठित राज विद्रोही तोड़ फोड़ करने वाले डाकू, देश के किसी भाग में स्वतंत्रता और स्वायत्त की माग करने वाले निवासी इन्ही विद्रोहियों के श्रेणी में आ जाता है!

प्राय: विद्रोही तोड़ फोड़ या लूट मार आदि की कारवाही करने के बाद किसी बड़े घने जंगली इलाके में शरण लेते है और ऐसे इलाको में इन के बारे में खबर मिलना मुस्किल होता है ! इनके ठिकाने आम तौर पर बदले रहते है !

इसलिए इलाके की एक तरफ से तलाशी ली जाये और दाहिने बाए   विद्रोहियो को रोकने के लिए "स्टॉप पार्टिया" लगाई जाये ! खदेड़ने की इस करवाई को ड्राइव एंड हंट कहते है ! और इस करवाई में भागने वाले विद्रोहियो को बर्बाद करने के लिए "कट ऑफ़ ग्रुप"  लगाई जाती है !

इस ऑपरेशन के बारे में सही तरह से समझाने के लिए हमने इस पोस्ट को निम्न भागो में बाँट दिया :
Drive and Hunt Deployment Layout
Drive and Hunt Deployment Layout
1. ड्राइव एंड हंटऑपरेशन  कितने स्टेज में पूरा होता है ?(Drive and hunt operation ke stage)
2.ड्राइव एंड हंट के पहला स्टेज की करवाई क्या होता है ?(Drive and hunt operation ka pahla stage me ki jane wali karwai)
3. ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन को कामयाब बनाने के लिए कमांडर को ध्यान में रखनेवाली बाते !(Drive and hunt operation ko kamyab banane ke lie commande ko dhyan me rakhne wali bate )
4.ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन कण्ट्रोल एंड कोआर्डिनेशन कैसे हासिल किया जाय ?(Drive and hunt operation me control and coordination kaise hasil kare)

1. ड्राइव एंड हंटऑपरेशन  कितने स्टेज में पूरा होता है ?(Drive and hunt operation ke stage): यह ऑपरेशन तीन स्टेज में पूरा होता है जो इस प्रकार से है :
  • स्टेज -1 अभियान के हालते और खबर 
  • स्टेज -2 नक़्शे पर अभियान जानकारी पार्टियो की बाँट और उनके काम 
  • स्टेज -3 करवाई का तरीका 
2.ड्राइव एंड हंट के पहला स्टेज की करवाई क्या होता है ?(Drive and hunt operation ka pahla stage me ki jane wali karwai):इस स्टेज में निम्न करवाई की जाती है :
(a) अभियान के हालते  और खबर 
       हालाते 
  • जबकि विद्रोही लम्बे चौड़े इलाके में छिपे हुए है और इलाका बहुत मुस्किल न हो !
  • ऐसी स्थिति में जबकि सुरक्षा बालो को उनके रहने की जगह का ठीक पता न हो !
  • जबकि विद्रोही अच्छे हथियारों से लैस हो और अच्छी सिखाली पाए हुए हो !
  • जबकि विद्रोही उस इलाके में पक्के तौर पे रहते हो !
  • जबकि बहुत अधिक फाॅर्स उपलब्ध हो 

   (b) खबर 
   (i)इलाके के बारे में जानकारी :इस अभियान के लिए इलाके की जानकारी होना बहुत जरुरी है ! इसके लिए कमांडर को उस क्षेत्र की रैकी खुद करनी होगी तथा रैकी करते समय निम्न बातो की ध्यान रखना चाहिए :
  • इलाके की बनावट :इलाका किस प्रकार का है खुला या जंगल वाला 
  • कुदरती बनावट और रूकावटे कौन कौन सी है जैसे नदी , नाले , पहाड़ी और उसका फलाव !
  • रस्ते(Routes) :- उस इस्लाके में जाने के लिए रस्ते किस प्रकार के है !क्या गाड़िया जा सकती है , अगर जा सकती है तो कहा तक, रात में उस इलाके में गाड़िया चलती है या नहीं !
  • आस पास का गांवो तथा विद्रोहियो का व्यवहार सुरक्षा बालो और विद्रोहियो के साथ कैसा है !
  • पानी पिने का स्थान 
  • क्या अंतर्राज्य अथवा अंतर्राष्ट्रीय सीमा निकट है !
  • पुलिस थाने कहा कहा है !
(ii) खबर विद्रोहियो के बारे में :
  • खबर मिलने का समय 
  • विद्रोहियो की पोजीशन 
  • विद्रोहियो की संख्या , हथियार एवं आदते 
  • उनके सप्लाई के जरिये 
  • उनके देखभाल के जरिये और आपसी मिलाप के साधन 
  • भाग निकलने के रस्ते 
  • फाॅर्स बेस से लेकर विद्रोहियो की जगह तक का फासला 

  (iii) खबर अपने बारे में 
  • समय और फासला कितना है 
  • अपनी फाॅर्स की कितनी नफरी उपलब्ध है !
  • हथियार किस तरह के चाहिए 
  • असेंबली एरिया तक किस प्रकार पहुचेगे !
  • गाड़िया कितनी मिलेगी 
  • आस पास में कहा से सहायता मिल सकती है 
  • अपने फाॅर्स का ट्रेनिंग का स्टार और मनोबल कैसा है !
3. ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन को कामयाब बनाने के लिए कमांडर को ध्यान में रखनेवाली बाते !(Drive and hunt operation ko kamyab banane ke lie commande ko dhyan me rakhne wali bate ): निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए :
  • पक्के इरादे वाली लीडरशिप 
  • ट्रूप्स को अपने लीडरशिप पे भरोसा 
  • ऊँचा मनोबल 
  • दुरुस्त तैयारी
  • सदी और असं तजवीज 

4.ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन कण्ट्रोल एंड कोआर्डिनेशन कैसे हासिल किया जाय ?(Drive and hunt operation me control and coordination kaise hasil kare): कण्ट्रोल एंड कोआर्डिनेशन हासिल करने के निम्न तरीके है :
  • फायर खोलने और बंद करने के इशारे 
  • अलग अलग टोलियों का आपस में अच्छा मिलाप 
  • सब यूनिट कमांडर्स और ट्रूप्स को अच्छी ब्रीफिंग 
  • अच्छी रिहर्सल होनी चाहिए 'अच्छा फायर प्लान 
  • ट्रूप्स  उच्चे दर्जे की सिखलाई और अनुशासन 
  • ट्रूप्स फील्ड सिग्नल में माहिर 
इस प्रकार से यहाँ ड्राइव एंड हंट अभियान के स्टेज में हमे करने वाली करवाई से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई ! अगले पोस्ट में हम स्टेज- 2 के बारे में जानकरी शेयर करेंगे !उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 


इन्हें भी पढ़े :
  1.  सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें
  2. 4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए
  3. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  4. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  5. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  6. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
  7. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब

Sunday, June 17, 2018

ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन क्या होता है ?

पिछले पोस्ट में हमने टैक्टिकल पेट्रोलिंग के बारे कुछ अहम् जानकारिया हमने प्राप्त किया था इस पोस्ट में हम ऑपरेशन ड्राइव और  हंट के बारे में जानेगे !


ऐसे तो आर्म्ड फाॅर्स तरह तरह के ऑपरेशन करते रहते  है और उस ऑपरेशन के द्वारा आतंकवादियो या विद्रोहियो के खिलाफ  करवाई करते  रहते  है ! कुछ ऑपरेशन है  जिसे आर्म्ड फ़ोर्स  विद्रोहियो के खिलाफ करते है ओ है जैसे की काम्बिंग ऑपरेशन , कार्डों एंड सर्च , अम्बुश , फायर एंड फ्लश यदि !

जरुर पढ़े :पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का असान तरीका ?

यह ऑपरेशन हम उस इलाके में करते है जहा सुरक्षा बल काफी संख्या में उपलब्ध है लेकिंग विद्रोहियो के बारे में सुनिश्चित जानकारी नहीं मिल रही हो ! तब हम ऐसी ऑपरेशन करके के विद्रोहियो को किसी एक एरिया में इकठ्ठा कर के बर्बाद करते है !

इस ब्लॉग पोस्ट में हम ड्राइव एंड हंट के  बारे में जानेगे ! इस पोस्ट को समझने के लिए हम निम्न भागो में बाँट दिया है जैसे :
Drive and hunt
Drive and hunt
1. ड्राइव एंड हंट अभियान से क्या समझते है ?(Drive and hunt abhiya se kya sajhte hai )
2. ड्राइव फॉर हंट किन किन हालातो में किया जाता है ?(Drive for hunt kin kin halato me kiya jata hai)
3. ड्राइव एंड हंट की पार्टी कौन कौन होती है ?(Drive and hunt ki party kaun kaun si hoti hai)

जरुर पढ़े :पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के अहम् जानकारी

1. ड्राइव एंड हंट अभियान से क्या समझते है ?(Drive and hunt abhiya se kya sajhte hai ): जब विद्रोही किसी घने जंगल में सहारा ले लेते है तो उनकी पूरी  खबर मिलना मुस्किल हो जाता है और इनके ठिकाने आम तौर पर बदलते रहते है !
इसीलिए एक तरफ से तलाशी ली जाय और दाहिने बाए और सामने से विद्रोहियो  को रोकने के लिए स्टॉप पार्टिया लगाई जाए और इनको एक तरफ से हाका लगाकर एसी जगह  ले जाकर बर्बाद किया जाए जो की पहले से मुकरर की गई हो ! ऐसे अभियान को हम ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन कहते है !

2. ड्राइव फॉर हंट किन किन हालातो में किया जाता है ?(Drive for hunt kin kin halato me kiya jata hai):यह ऑपरेशन निम्न हालातो में किया जाता है :

  • जब विद्रोही लम्बे चौड़े इलाके में फैले हुए हो और इलाका बहुत मुस्किल हो 
  • जब विद्रोहियो को गाँव के लोगो का मदद हासिल हो और सुरक्षा बालो को उनका ठीक से पता न हो !
  • जब विद्रोही अच्छे हथियारों से लैस  और अच्छी सिखलाई पाए हुए हो !
  • विद्रोही किसी इलाके में पक्के तौर पे न रहते हो !
  • जब जरुरत के मुताबिक फाॅर्स मिल सके !

3. ड्राइव एंड हंट की पार्टी कौन कौन होती है ?(Drive and hunt ki party kaun kaun si hoti hai):ड्राइव एंड हंट की चार पार्टिया होती है :
  • ड्राइव पार्टी(Drive Party) :यह पार्टी इस ऑपरेशन में विद्रोहियो को हाकते  हुए  एक एरिया जो पहले से मुकर किया हुवा होता है उस तरफ ले जाती है !जिस साइड में स्टॉप पार्टी पहले से लगी हुई होती है !उस अरे में ले जेक स्टॉप पार्टी के साथ मिल कर विद्रोहियो को बर्बाद करते है !
  • स्टॉप पार्टी(Stop Party) : इनका काम होता है जब  ड्राइव पार्टी विद्रोहियो को हकते हुए इनके एरिया में लेट है तो यह विद्रोहियो को भागने  नहीं देते है और विद्रोहियो को अपने एरिया में  बर्बाद करते है !
  • कट ऑफ पार्टी :यह पार्टी उसे अरे के आने वाले मुमकिन रास्तो पे लगाई जाती है इनका काम होता है के इनके एरिया से कोई उस ऑपरेशन एरिया  में न आ सके और कोई विद्रोही उस एरिया से न भाग सके !
  • रिज़र्व पार्टी(Reserve Party) : इस पार्टी का काम जरुरत पड़ने पे ये किसी भी पार्टी का काम कर सकते है और ऑपरेशन के दौरान तथा ऑपरेशन ख़त्म  होने पे दूसरी पार्टियों को सहायता प्रदान करते है !

इस प्रकार से ड्राइव एंड हंट से सम्बंधित एक छोटा सा पोस्ट समाप्त हुवा !उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 

इन्हें भी पढ़े :
  1.  सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें
  2. 4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए
  3. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  4. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  5. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  6. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
  7. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब

10 बेसिक जानकारी बास्केट बॉल खेल के बारे में

पिछले पोस्ट में हम बैडमिंटन खेल और उसके नियम  के बारे में जानकारी प्राप्त की इस पोस्ट में हम बास्केट बल और उससे सम्बंधित नियम की जानकारी लेंगे !


आर्म्ड फाॅर्स में फिजिकल ट्रेनर की एक अपनी अहमियत है और उसी की जिमेवारी होती है की फिजिकल ट्रेनिंग के अलावा जितने भी स्पोर्ट्स एक्टिविटीज है सब के आर्गनाइज्ड सही नियम के साथ कराये !

लेकिंग यह देखा गया है की एक ट्रेनड फिजिकल ट्रेनर छोटे छोटे यूनिट्स में उपलब्ध नहीं होते है इस लिए यह जरुरी है की खेल कूद से सम्बंधित बेसिक  जानकारी सभी के पास होनी चाहिए की वह अपने यूनिट में छोटे मोटे खेलो का आयोजन खुद करा सके !

जरुर पढ़े :पुलिस फिजिकल ट्रेनिंग के सिद्धांत, उसूल और हादसे रोकने के तरीका

बास्केट बाल एक टीम गेम है जो दो टीम के बिच खेला जाता है ! यह एक इंडोर गेम है जिसे आउटडोर में भी खेला  जा सकता है ! इस गेम में हर टीम में 5 खिलाडी होते है जो हर टीम के  खिलाडी विपक्षी टीम ऊपर स्कोर करना चाहते है बाल फेक कर के  गोल करके  जो की एक उचाई पे लगी हुई नेट होती है  जिसे बास्केट कहते है उसके अन्दर बाल डाला जाता है ! बास्केट बॉल एक बहुत ही लोकप्रिय गेम है !

इस पोस्ट में हम बास्केट बल के कुछ बेसिक जानकारी को जानेगे जैसे :
1. बास्केट बाल  के ग्राउंड की नाप क्या होती है ?(Basket ball ke ground ka nap kya hota hai )
2. बास्केट रिंग तथा बेक बोर्ड का नाप क्या होता है ?(Basket ball ke ring ttha back board ka nap kya hota hai )
3.बाल का नाप तोल क्या होता है ?(Basket ball ke ball ka naam jokh kya hota hai)
4. बास्केट बाल में कितने खिलाडी होते है ?(Basket ball me kul kitne players khelte hai)
5. बास्केट बाल खेलने के नियम क्या क्या है ?(Basket ball khel ke niyam kya kya hai)
6. बास्केट बाल में डेड बल कब हॉट है ?(Basket ball me dead ball kab mana jata hai)
7. बास्केट बाल में थ्री सेकंड रूल क्या होता है ?(Basket ball ke three scond rule kya hai)
8.बास्केट बाल का मेजर फाउल कौन कौन से होते है ?(Basket ball ke major foul kaun kaun se hai)
9.बास्केट बाल के पर्सनल फाउल कौन कौन से है ?(Basket ball ke personal foul kaun kaun se 
10. बास्केट बाल की कोर्ट  की मार्किंग  कैसी होती है ?(Basket ball court ka daigram)

जरुर पढ़े :पीटी का इतिहास, सिस्टम, पीटी का उद्देश्य और पीटी का उसूल

1. बास्केट बाल  के ग्राउंड की नाप क्या होती है ?(Basket ball ke ground ka nap kya hota hai ): बास्केट बल की ग्राउंड का साइज़ लीग के ऊपर निर्भर करता है ! जूनियर्स कॉलेज के लिए थोडा छोटा होता है जबकि इंटरनेशनल गेम केलिए कुछ अलग होता है ! जो इस प्रकार से है 

  • ग्राउंड की लम्बाई : 28 मीटर 
  • ग्राउंड की चौड़ाई : 15 मीटर 
  • फ्री थ्रोविंग लाइन की दुरी : 5.80 मीटर 
  • रिस्ट्रिक्टेड एरिया की चौड़ाई बोर्ड की तरफ : 6 मीटर 
  • रिस्ट्रिक्टेड एरिया की चौड़ाई थ्रोविंग लाइन की तरफ :3.6 मीटर 
  • रेडियस ऑफ़ सर्किल सेण्टर के साथ : 1.8 मीटर 
2. बास्केट रिंग तथा बेक बोर्ड का नाप क्या होता है ?(Basket ball ke ring ttha back board ka nap kya hota hai ):
  • बास्केट रिंग की ग्राउंड से उचाई :3.05 मीटर 
  • रिंग का डिमीटर :45 सेंटीमीटर 
  • नेट की लम्बाई :40 सेंटीमीटर 
  • बेक बोर्ड की लम्बाई : 1.8 मीटर 
  • बेक बोर्ड की चौड़ाई :1.2 मीटर 
  • बेक बोर्ड के इनर रेक्टिंगले की लम्बाई :59 सेंटीमीटर 
  • बेक बोर्ड के इनर रेक्टिंगले की चौड़ाई  :45 सेंटीमीटर 
  • यह सफ़ेद रंग का होता है ! इस पर मार्किंग कला रंग से किया जाता है और लाइन की चौड़ाई 5 सेंटीमीटर से ज्यादा नहीं होता है ! बोर्ड के नीचेवाला किनारे की ग्राउंड से उचाई 2.75 मीटर होता है !

3.बाल का नाप तोल क्या होता है ?(Basket ball ke ball ka naam jokh kya hota hai):नाप तोल निम्न होता है :
  • बाल का वजन 600 ग्राम होता है ! और इसका गोलाई 75 सेंटीमीटर से कम और 78 सेंटीमीटर से ज्यादा नहीं होना चाहिए !इसके अन्दर इतना हवा भरा जाता है की अगर इसके 180सेंटीमीटर से छोड़ा जाए तो यह 120 सेंटीमीटर तक वापिस आये  लेकिंग 140 सेंटीमीटर से ऊपर  न जाये!
4. बास्केट बाल में कितने खिलाडी होते है ?(Basket ball me kul kitne players khelte hai): इसमें 5 खिलाडी हर टीम के खेलते है लेकिंग 7 खिलाडी रिज़र्व में होते है ! हर एक खिलाडी के बनियान पर 4 से लेकर 15 तक का नम्बर लिखा होता है ! एक टीम का खिलाडी  दो नम्बर नहीं इस्तेमाल कर सकते है !गेम के दौरान कोई भी खिलाडी ऑफिसियल को बताये बिना ग्राउंड से बहार नहीं जा सकता है !
5. बास्केट बाल खेलने के नियम क्या क्या है ?(Basket ball khel ke niyam kya kya hai): खेल के निया कुछ इस प्रकार से है :
  • बास्केट बल का गेम 40 मिनट तक खेली जाती है और 10 मिनट का हाफ टाइम दिया जाता है !
  • जब तक दोनों टीम्स के 5 खिलाडी ग्राउंड में नहीं होते और अगर 15 मिनट तक नहीं आते तो दूसरी टीम को विजेता घोषित कर दिया जाता है ! 
  • खेलते वक्त बल रिंग में ऊपर से निचे को गुजर जाये तो बास्केट हो जाता है और 2 पॉइंट्स मिल जाते  है! 
  • फ्री थ्रो  में बास्केट होने पर 1 पॉइंट मिलता है ! 
  • जो टीम ज्यादा पॉइंट्स स्कोर करती है वह विनर होती है !
  • अगर गेम , टाइम ख़त्म होने पर , पॉइंट बराबर हो तो 2 मिनट टाइम हर बार डी जाती जब तक की फैसला न हो जाये ! एक्स्ट्रा टाइम में कोर्ट की बदली नहीं की जाती है !

6. बास्केट बाल में डेड बल कब हॉट है ?(Basket ball me dead ball kab mana jata hai)निम्न होती है :
  • जब बास्केट हो जाये 
  • जब कोई फ़ाउल होता है !
  • जब बाल बास्केट में सपोर्ट में फंस जाये 
  • जब फ्री थ्रो की जाती है तब 
  • जब बॉल ग्राउंड से बहार चली जाये तब !
7. बास्केट बाल में थ्री सेकंड रूल क्या होता है ?(Basket ball ke three scond rule kya hai): दूसरी टीम के खिलाडी रिस्ट्रिक्टेड एरिया में 3 सेकंड से ज्यादा रहता है  तो फ़ाउल माना जाता है बशर्ते की अगर बॉल हवा में है , बास्केट की तरी में है या बॉल को रिस्ट्रिक्टेड एरिया में हो तो फ़ाउल नहीं मन जाता है !

8.बास्केट बाल का मेजर फाउल कौन कौन से होते है ?(Basket ball ke major foul kaun kaun se hai)निम्न मेजर फ़ाउल है बास्केट बॉल के :
  • विपक्षी खिलाडी का रिस्ट्रिक्टेड एरिया में तीन सेकंड से ज्यादा रहना !
  • बॉल को विपक्षी कोर्ट में 5 सेकंड से ज्यादा अपने पास रखना !
  • अपने ही कोर्ट में 10 सेकंड से ज्यादा अपने पास रखना !
  • विपक्षी कोर्ट से बाल को लेकर जाना 
  • बाल कण्ट्रोल में आने से गोल 30 सेकंड में होना चाहिए 
  • दो से ज्यादा कदम बाल लेकर चलना 
  • हाथो के अलवा  बदन के किसी हिस्से को बाल से लग जाना 
  • बाल के साथ जम्प लेना और एक बार जम्प लेने से ग्राउंड को टच करने से पहले बाल को नहीं छोड़ना 
  • बाल के साथ ग्राउंड से बहार जाना 
  • कोर्ट के बहार खिलाडी को पास देना यदि !
9.बास्केट बाल के पर्सनल फाउल कौन कौन से है ?(Basket ball ke personal foul kaun kaun se ):निम्न पर्सनल फ़ाउल है :
  • ब्लॉकिंग 
  • होल्डिंग पीछे से गार्ड करना 
  • धक्का देना 
  • और खिलाडी के हरकत में बाधा डालना !

10. बास्केट बाल की कोर्ट  की मार्किंग  कैसी होती है ?(Basket ball court ka daigram)

Basket ball court ka daigram
Basket ball court ka daigram
इसके साथ ही बास्केट बॉल के 10 बेसिक जानकारी से सम्बंधित पोस्ट संपत हुई !उम्मीद है पोस्ट पसंद आएगा अगर कोई कमेंट या सुझाव हो तो जरुर दे 

और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब  करके हमलोगों को सपोर्ट करे!