Sponser

Search

Monday, April 23, 2018

SSG-69 राइफल को खोलना और जोड़ने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने SSG-69 राइफल की विशेषता और इस्तेमाल के समय की सावधानी के बारे में बात किये ! इस पोस्ट में  हम SSG-69 राइफल को तरतीब से खोना और जोड़ने के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे !


जैसे की हमसब जानते है 7.62 mm SSG-69 स्नापिंग राइफल से पहले  न.4 एम् के (टी) राइफल इस्तेमाल में ली जाती थी ! लेकिंन लम्बे समय इस्तेमाल होनेसे इसमें काफी नुक्स आने लगे और एक्यूरेसी पर फर्क पड़ने लगा ! और स्नापिंग राइफल का मुख्य गुण होता है हाई एक्यूरेसी उस में अगर कमी आने लगी तो फिर शार्प शूटिंग गन का कोई मतलब नहीं रहा !


जरुर पढ़े :9mm कार्बाइन मचिन के रोके और उसे दूर करने का तरीका

स्नाइपर को SSG-69 राइफल की सुरक्षा के लिए रेक्सीन का बना हुवा केस दिया जाता है , जिसमे उसका हथियार बंद रहता है ! उसकी राइफल  दुसरे राइफल्स से कही अधिक कारगर है ! यह राइफल ऑस्ट्रिया की बनी हुई ! इसको खास तरीके से बनाया गया है ! इसका कारगर रेंज  टेलेस्कोप चढ़ा कर 800 मीटर यानी लगभग 875 गज है ! इसकी देखभाल करना स्नाइपर की जिम्मेवारी  है !

इस राइफल को सही और कारगर इस्तेमाल की लिए जरुरी है की इसको हैंडल करने वाले जवान जिन्हें की शार्प शूटर  जाता है उन्हें इसे तरतीब से खोलना जोड़ना तथा हैंडलिंग आती हो !


जरुर पढ़े :इंसास राइफल के थ्री ब्रस्ट मेचानिस्ज्म की चल और पुर्जे

SSG-69 राइफल को खोलने जोड़ने का तरीका निम्न है :

SSG-69 Rifle
SSG-69 Rifle
1. SSG-69 राइफल को केस से निकलना और बंद करना : केस से राइफल को बहार निकलने के लिए करवाई इस प्रकार से करे की दाहिने हाथ की कलमे वाली ऊँगली और अंगूठा के मदद से चेन को खोले और राइफल को बहार निकले ! राइफल को वापस बंद करने के लिए करवाई इस प्रकार करे ! बोल्ट वाले हिस्से को निचे की तरफ रखते हुवे बैरल  के पतले सिरे के अन्दर घुसा दे और राइफल को केस में डाल दे ! केस क बंद कर दे !

2. SSG-69 राइफल को खोलना :  राइफल को खोलने से पहले निम्न बाते सुनिश्चित करे !
  • यकीं करे की राइफल खाली है 
  • सेफ्टी कैच  स्लाइड आग हो , लाल निशान साफ दिखाई दे !
उसके बाद  सबसे पहले निलिंग पोजीशन अख्तियार करे और राइफल को निम्न क्रम में  खोल दे 

iSSG-69 राइफल के मजल कैप को खोलना : जब राइफल से फायर  करना हो या साफ करनी हो तो मजल कैप को उतरना पड़ता है ! मजल कैप को उतरने के लिए करवाई इस प्रकार से करे ! किसी भी हाथ के अंगूठे को कैप के नुचे और फोर साईट बंद के ढलवान के पास रखे और आगे की तरफ धकेले, कैप बहार को आ जायेगा ! ध्यान रखे यह प्लास्टिक या रबड़ का बन होता है बार बार कोलने बंद करने से ढीला हो सकता है ! फायर करने से पहले इसे जरुर उतर ले !

ii. SSG-69 राइफल के सीलिंग को खोलना : स्लिंग को खोलने के लिए निलिंग पोजीशन को अख्तियार करे और राइफल को बाये थाई पर इस प्रकार तिको की बोल्ट हैंडल बायीं पैर की तरफ हो ! लूप में से स्लिंग का आखिरी किनारा निकले और धातु कड़ी के ऊपर वाले किनारे को ढिल्ला करते हुए , स्लिंग को निकले धातु करी और लूप को स्लिंग से अलग करे और राइफल से अलग करे  ! स्लिंग का दूसरा किनारा बहार निकलने के लिए रोलर को पीछे राखते हुए स्लिंग खिछे और राइफल के रियर स्लिंग स्वीवल में निकाल ले !स्लिंग , लूप और धातु कड़ी को तर्तिबर रखे ! यह स्लिंग केवल राइफल ले जाने के लिए इस्तेमाल होता है ! यह निवार का बना होता है ! इस स्लिंग की सहायता से फायर न किया जाय !


जरुर पढ़े :इंसास राइफल की दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन

iii. मग्जिन को खोलना : मग्जिन को निकलने के लिए दाहिने हाथ की कलम वाली अंगुली और अंगूठे की मदद से दोनों मगज़ीन कैच के खुरदरे हिस्से के मध्य पर दवाव डालो और मग्जिन को बहार निकाल ले ! मग्जिन को इसे ज्यादा खोलने का इजाजत स्नाइपर को नहीं है !

iv. रिसीवर को खोलना : रिसीवर यानि बोल्ट को निकलने के लिए करवाई इस प्रकार से करे की दाहिने हाथ के मदद से बोल्ट हैंडल को ऊपर उठाओ और पीछे खिचो साथ ही बाये हाथ के किसी अंगुली से ट्रिगर को दबाव बोल्ट बहार आ जायेगा !

जरुर पढ़े :36 ग्रेनेड के बेसिक जनरल डाटा और ग्रेनेड का इस्तेमाल और पार्ट्स के नाम

v. फायरिंग पिन को खोलना : रोजाना की सफाई के लिए फायरिंग पिन को निकलने की जरुरत नहीं पड़ती क्यों की इसके अन्दर पहले से तेल लगा रहता है !लेकिंग अगर बोल्ट के अन्दर पानी चला जाये या गन्दा हो जाये तो इसको साफ करना पड़ेगा !

 खोलने के लिए करवाई इस प्रकार करे ! बोल्ट को बाये हाथ से इसप्रकार पकड़ो की फायरिंग पिन होल बहार की तरफ हो और  बोल्ट हैंडल दाहिने तरफ !बाये हाथ के अंगूठे की मदद से प्लंजर को दबाव और दाहिने हाथ से बोल्ट हैंडल को घडी की सुई के रुख में जब तक घुमाव जबतक वह खुद ब खुद बहार न आ जाये !

जरुर पढ़े :ग्रेनेड के हमला से बचाव और ग्रेनेड फेकने का तरीका !

बोल्ट के आगे के हिस्से को किसी सख्त और साफ जगह पर टिकाओ लेकिन ध्यान रखो की एक्सट्रैक्टर पर जोर न पड़े !अभी दाहिने हाथ की तलहटी से  बोल्ट श्राउड पर ताकत डालते हुए घडी के उलटे रुख में इतना घुमाव की बोल्ड श्राउड ऊपर खुदे नुम्बे बोल्ट श्राउड के कटव के सीधे में आ जाये !

 बोल्ट श्राउड को बहार निकले , स्लीव , फायरिंग पिन , स्प्रिंग और बोल्ट हैंडल को बहार निकले ! ध्यान रहे की बोल्ट को इससे ज्यादा न खोले !

जरुर पढ़े :नॉ-36 ग्रेनेड का खोलना जोड़ना और ग्रेनेड की चाल

vi. स्पेसर : स्पेसर को बार बार खोलने से खराब हो जाता है इस लिए इसे जब जरुरत हो ताभी सही साइज़ का स्क्रू द्रिएर का इस्तेमाल किया जाए और आराम से आवश्यकता के अनुसार खोला जाये ! गलत साइज़ के स्क्रू ड्राईवर यूज़ करने से सर्व का हेड ख़राब हो जाता है !

3SSG-69 राइफल को जोड़ना : SSG-69 राइफल को जोड़ने की करवाई इस प्रकार से करे :
i. फायरिंग पिन को जोड़ना :  फायरिंग पिन को जोने के लिए बोल्ट को बाये हाथ की गोल मुठी से इसप्रकार पकड की एक्सट्रैक्टर दाहिने तरफ हो ! दाहिने हाथ से बोल्ट हैंडल को पकड़ो और प्लंजर को आगे की तरफ रखते हुए सीवर बोल्ट में चढ़ा दे !

जरुर पढ़े :ट्यूब लौन्चिंग MK-I का बेसिक डाटा और विशेषताए

ध्यान रखे की प्लंजर और एक्सट्रैक्टर को निचला किनारा एक साथ में हो तभी कटव लाइन में आएगा !

फिरंग पिन और स्प्रिंग को ले और कोक्किंग vent के निचे की तरफ रखते हुए , फायरिंग पिन को होल मेसे गुजर दे !

स्लीव को ले और ज्यादा कते हिस्से को निचे कोक्किंग बोल्ट की तरफ रखते हुए स्लीव में डाल दे ! यh आसानी से दाखिल हो जायेगा !

बोल्ट श्राउड को ले और इस पर खुदे नम्बर को स्लीव के कम कटे वाले हिस्से की सिद्ध में लाओ !बोल्ट को किसी सख्त जगह पर टिकाये और ध्यान रखे की एक्सट्रैक्टर पर दबाव न पड़े ! दाहिने हाथ की तलहथी से बोल्ट श्राउड पर दबाव डालो और उसकी के साथ घडी के सुई के रुख में घुमाये !बोल्ट श्राउड लग जायेगा !

जरुर पढ़े :राइफल ग्रेनेड फायर करने का तरीका और चाल

बाये हाथ से बोल्ट बोल्ट को मजबूती स पकड़ो ताकि बोल्ट हैंडल दाहिने की तरफ हो , दाहिने हाथ की मदद से बोल्ट को उपर उठाओ ! बोल्ट हैंडल श्राउड का मिलाप हो जायेगा ! गलत जुड़े हुए बोल्ट में फायरिंग पिन बहार निकली हुई रहती है !

ii. रिसीवर :रिसीवर को चढाने के लिए राइफल को तोल वाली जाह से पकडे और साफ्टी स्लाइड को फरे पर करे ! त्रिगेर को दबाते हुए बोल्ट को दाखिल करो और बोल्ट हैंडल को बैठो ! सियर के बचाव के लिए ट्रिगर  दबा के ही बोल्ट चढ़ाना चाहिए !

iii. मग्जिन : निलिंग पोजीशन अख्तियार करो ! दाहिने हाथ से मग्जिन को लो और विंडो को निचे की तरफ रखते हुए मग्जिन वे  दाखिल करो और दबावो  मग्जिन लग जायेगा !

जरुर पढ़े :X-95 राइफल का परिचय और बेसिक स्पेसिफिकेशन डाटा

iv. स्लिंग को चढ़ाना : स्लिने को चाधानेके लिए निलिंग पोजीशन अख्तियार करे ! और राइफल को बाये थाई पर इस प्रकार से टिकाये की बोल्ट हैंडल बाये पैर कि तरफ हो ! 

स्लिंग को बाये हाथ से धातु कड़ी के सिले हुए हिस्से से और दाहिने हाथ से आखरी किनारे को पकड़ो ! स्लिंग को निचे वाली स्लिंग कड़ी के निचे से गुजरो और रोलर के पीछे रखते हुए धातु कड़ी मेसे गुजरे !

अभी लूप को लो और सिले हुए हिस्से को निचे की तरफ रखते हुए स्लिंग के ऊपर चढ़ा दो ! धातु कड़ी को सीधा पकड़ो और स्लिंग को उसके अन्दर से निकालो ! ध्यान रखे की धातु कड़ी के बिच वाली कड़ी स्लिंग के निचे आ जाये ! अभी स्लिंग को ऊपर वाले स्लिंग कड़ी से गुजरो ! धातु कड़ी में लगी हुई स्लिंग क ढीला करो और स्लिंग के निचे से दाखिल करो और लूप को लगा दो ! जरुरत के अनुसार स्लिंग को ढिल्ला और टाइट करे !

जरुर पढ़े :X-95 राइफल को खोलना जोड़ना तथा हिस्से पुरजो का नाम और साफ सफाई करने का तरीका

v. मजल कैप : जब राइफल अच्छी टार से जुड़ गया हो उसके बाद मजल कैप को लगाये ! मजल कैप को चढ़ने के लिए कते हुए भाग को फोर साईट की तरफ रखते हुए बैरल में चढ़ा दे ! कैप लग जायेगा ! अब राइफल को सेफ और फायर पर कर के चेक  कर ले !

इस प्रकार से यहाँ SSG-69 राइफल को खोलना और जोड़ने से सम्बंधित संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी  पढ़े :
  1. X-95 रेफिले में लगने वाले साईट की जानकारी
  2. X-95 राइफल से फायर करने का तरिका
  3. 7.62 mm LMG की खुबिया ,कमिया और डिप्लॉयमेंट के उसूल
  4. 84 mm राकेट लांचर 2"और 51 mm मोर्टार के खुबिया , खामिया और डिप्लॉय करने का उसुल
  5. 7.62mm एलेमजी का बेसिक डाटा और एलेमजी कि निरिक्षण करने का तरीका
  6. 7.62mm LMG के मगज़ीन के भरना , एलेमजी को भरना , खाली करना और साईट को लगाने का तरीका
  7. 7.62 mm एलेमजी को खोलना जोड़ना और सके होलडोल के साथ आने वाले सामान
  8. 7.62mm LMG का दुरुस्त शिस्त , दुरुस्त पकड़ और दुरुस्त फायर का तरीका
  9. 7.62mm LMG का दुरुस्त शिस्त , दुरुस्त पकड़ और दुरुस्त फायर का तरीका
  10. LMG के चाल तथा फौरी इलाज से दूर होने वाले 4 LMG के रोके l




Friday, April 20, 2018

SSG-69 राइफल की विशेषताए और सुरक्षित इस्तेमाल के लिए ध्यान में रखने वाली बाते

पिछले पोस्ट में हमने SSG-69 राइफल के बेसिक टेक्निकल डाटा की जानकारी हासिल की इस पोस्ट में हम SSG-69 राइफल की विशेषताए और इस्तिमाल के समय बर्तने वाली  सावधानिया !


जैसे की हमने पिछले पोस्ट में ही जान चुके है की SSG-69 स्नाइपर राइफल ऑस्ट्रिया का बना हुवा है ! यह राइफल सन 69 में बना और इस्तेमाल में लाया गया इसीलिए इसे नाम के साथ 69 जोड़ दिया गया ! 

जरुर पढ़े :राइफल ग्रेनेड फायर करने का तरीका और चाल

आज के समय  का यह एक बहुत ही बेहद कामयाब स्नाइपर  राइफल है जिसका इस्तेमाल विश्व के बहुत सारे  देशो  के आर्म फाॅर्स कर रही है और अपने यहाँ भी बहुत सारी सिक्योरिटीज फोर्सेज जैसे BSF और Cobra of CRPF यदि इसका इस्तेमाल करती है !

इस पोस्ट में हम निम्न बातो को जानेगे :
1. SSG-69 स्नाइपर राइफल की विशेषताए
2. SSG-69 राइफल के इस्तेमाल के समय ध्यान में रखने वाली  बाते 
3.SSG-69 राइफल  साथ हिफाजती करवाई 

जरुर पढ़े :ट्राईपोड़ और LMG को माउंट और डिसमाउंट करने का तरीका

1. SSG-69 स्नाइपर राइफल की विशेषताए: यह राइफल BSF और CRPF यदि में इस्तेमाल की जाती है  अनुभव के अनुसार इस राइफल की कुछ विशेषताए इस प्रकार से :

  • राइफल का वजन हल्का तहत कलर हल्का ग्रीन होने के कारन इसे लाना ले जाना  और छुपाना आसान है !
  • लम्बे रेंज तक कारगर है !
  • बैरल ऊपर से खुली होने के कारन हवा से ठंढी हो जाती है 
  • डेसर्ट और उचाई  वाले जगहों पे भी काफी कामयाब है !
  • मग्जिन के विन्डो गिलास से गोली की गिनती आसानी से की जा सकती है !
  • बैरल मजल कैप से बंद रहने के कारन धुल मिटटी आसानी से अन्दर नहीं जाते है बैरल में !
  • ट्रिगर प्रेशर और पुलाव को एडजस्ट किया जा सकता है !
  • बट की लम्बाई को स्पसर निकाल कर एडजस्ट किया जा सकता है !
  • पुरानी राइफल की उलना में इस राइफल का ज़ेरोइंग करना असान है !
  • टेलेस्कोप  के मदद से टारगेट की दुरी का स्टिक अनुमान लगाया जा सकता है !
  • बैरल और चैम्बर काफी मजबूत है !
  • सफाई करना असान  है 
  • 20000 राउंड्स फायर करने के बाद भी इस राइफल के अकुरेसी पे कोई फर्क नहीं पड़ता है !
जरुर पढ़े :7.62 LMG को फिक्स्ड लाइन पर लगाने और फायर करने का तरीका

2. SSG-69 राइफल के इस्तेमाल के समय ध्यान में रखने वाली  बाते :अगर राइफल और टेलीस्कोपिक साईट को शुरू से ही सावधानिय के साथ इस्तेमाल किया जाए तो यह राइफल हर समय लड़ाई के लिए फिट रहेगा !हर जवान जो स्नाइपर राइफल को इस्तेमाल करता है उसे मालूम होना चाहिए की  उसके राइफल की काबिलियत  लड़ाई में एक महत्वपूर्ण भूमिका टेलीस्कोपिक साईट को सह ढंग इस्तेमाल किया है ! रोजाना हैंडलिंग के बाद राइफल तथा इसके तेलेस्क्पिक साईट का निरिक्षण कर  चाहिए ! और निम्न बातो का ख्याल रखना  :

  • राइफल को गिरने तथा किसी चीज से टकराने से बचाना चाहिए !
  • किसी चीज के निचे राइफल को नहीं रखे और किसी चीज को इसके सहर देकर न रखे जो की गिरने से इस राइफल को नुकशान पहुचाये !
  • कोई इक्विपमेंट की इस राइफल से लटका कर ना रखे !
  • बैरल को हमेश धुल मिटटी व पानी से बचाए 
  • गाड़ी में कभी भी टेलीस्कोपिक साईट लगाके मूवमेंट न करे !लड़ाई के खास हालत में माउंट किया जा सकता है !
  • जहा तक संभव हो मजल पे मजल कवर को  लगा के रखे !

3.SSG-69 राइफल  साथ हिफाजती करवाई : फायरिंग के दौरान राइफल को ओवर हिटिंग से बचाना चाहिए !क्यों की बैरल जितना गर्म होगा गोली के मार उतना ही  फर्क पड़ेगा !इसलिए लगतार  10 राउंड फायर करना हो तो बोल्ट को पीछे खोल के रखना चाहिए जिससे बैरल के अन्दर ठंढी हवा जा सके ! फायरिंग के दौरान ऑय क्लीयरेंस हमेश 6 सेमी से 8 सेमी रखे !

इस प्रकार से SSG-69 राइफल को सही तरीके से इस्तेमाल करने पर लम्बे समय तक कारगर रहता है !

इस प्रकार से SSG-69 राइफल की विशेषता तथा इस्तेमाल किए ध्यान में रखने वाली बाते से सम्बंधित  संक्षिप्त पोस्ट समाप्त  हुई !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी  पढ़े :

  1. 51mm मोर्टार की साफ सफाई का तरीका
  2. 51mm मोर्टार के हाई एक्सप्लोसिव बम की चाल और पहचान
  3. स्मोक और इल्लू बम का चाल और बेसिक डाटा
  4. 30mm AGL के बेसिक टेक्नीकल डाटा , विशेषताए और पार्ट्स का नाम
  5. राइफल का ग्रुपिंग क्या होता है और उसका सिधांत
  6. आश्रू गैस का इतिहास और इसका इस्तेमाल
  7. आश्रू गैस के प्रकार तथा उपयोग
  8. आसू गैस के फायर के ऊपर असर डालने वाले तत्व और उसका निदान
  9. टियर स्मोक गैस का सिद्धांत और इसके इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाली बाते !
  10. आश्रू गैस को स्टोर करते समय ध्यान में रखने वाली बाते

Thursday, April 19, 2018

SSG-69 स्नाइपर राइफल का बेसिक टेक्निकल डाटा

पिछले पोस्ट में हमने स्नाइपर राइफल SSG-69 की खुबिओ के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम स्नाइपर राइफल SSG-69 के बेसिक टेक्निकल(SSG-69 Rifle ka technical data)जानकारी के बारे में जानेगे ! 


जैसे की हमने पिछले पोस्ट में ही जान चुके है की SSG-69 स्नाइपर राइफल ऑस्ट्रिया का बना हुवा है ! यह राइफल सन 69 में बना और इस्तेमाल में लाया गया इसीलिए इसे नाम के साथ 69 जोड़ दिया गया ! 

जरुर पढ़े :राइफल ग्रेनेड फायर करने का तरीका और चाल

आज के समय  का यह एक बहुत ही बेहद कामयाब स्नाइपर  राइफल है जिसका इस्तेमाल विश्व के बहुत सारे  देशो  के आर्म फाॅर्स कर रही है और अपने यहाँ भी बहुत सारी सिक्योरिटीज फोर्सेज इसका इस्तेमाल करती है !


SSG-69 राइफल का टेक्निकल डाटा :
SSG-69 स्नाइपर राइफल
SSG-69 स्नाइपर राइफल
  • पूरा नाम : 7.62 mm शार्प शूटिंग गन -69 
  • कैलिबर : 7.62 mm 
  • SSG-69 राइफल की लम्बाई : 110-113 से.मी.
  • SSG-69 बैरल की लम्बाई : 650 mm 
  • SSG-69 स्पसर की मोटाई: 1 से. मी पर स्पसर (कुल 3 स्पसर रहता है )
  • SSG-69 में कूल ग्रूवेस : 4 
  • SSG-69 ग्रूवेस का टर्न : दाई तरफ 
  • SSG-69 राइफल का पिच : एक टर्न 12 इंच में 
  • SSG-69 राइफल का वजन टेलीस्कोपिक साईट  ,खाली मग्जिन और  सीलिंग के साथ  : 4.56 किलो 
  • SSG-69 राइफल का वजन टेलीस्कोपिक साईट और खाली मग्जिन के साथ  : 4.50 किलो 
  • SSG-69 राइफल का वजन  खाली मग्जिन के साथ  : 3.90 किलो 
  • SSG-69 के सीलिंग का वजन : 60 ग्राम 
  • SSG-69 के खाली  मग्जिन का वजन : 65 ग्राम 
  • SSG-69 के भरी   मग्जिन का वजन : 190 ग्राम 
  • SSG-69  राइफल का कारगर रेंज : 800 मीटर (टेलीस्कोपिक साईट पे 
  • SSG-69  राइफल का कारगर रेंज : 300 मीटर (आयरन साईट  पे )
  • SSG-69  राइफल का कारगर रेंज इमरजेंसी साईट से  : 300 मीटर (आयरन  साईट पे )
  • SSG-69 लॉकिंग सिस्टम : रोटेटिंग बोल्ट द्वारा 
  • SSG-69 का ऑपरेशन सिस्टम : हाथ से सिंगल शॉट फायर होता है !
  • SSG-69 का नाईट साईट डिवाइस: स्मिथ एंड वासों कंपनी का स्टार ट्रैन , इमेज इन्तेंसिफियेर या इन्फ्रा रेड साईट इस्तेमाल किया जाता है !
  • SSG-69 के बईपोड का वजन : लगभग 300 ग्राम 
  • SSG-69 का मैक्सिम रेंज : 3700 मीटर 
  • SSG-69 राइफल के मग्जिन का टाइप : 5 राउंड्स और 10 राउंड्स कैपेसिटी 

टेलीस्कोपिक साईट का टेक्निकल डाटा 
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट (टी.एस.) का मग्निफीकेसन: 6 गुना 
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट पॉवर  : 49 
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट की ऑय क्लीयरेंस : 6 से 9 से.मी. दूर ऑय पिस 
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट फील्ड ऑफ़ व्यू : 72 मिल 
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट दैअप्टर का एडजस्टमेंट : +2 दैअप्टर 
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट की लम्बाई : 30 से.मी.
  • SSG-69 के टेलीस्कोपिक साईट का वजन : 600 ग्राम 

इस प्रकार से SSG 69 राइफल के टेक्निकल डाटा से सम्बंधित संक्षिप्त पोस्ट समाप्त  हुवा ! !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी  पढ़े :
  1. इंसास एलएमजी में पड़ने वाले रोके और फौरी इलाज से दूर करने का तरीका
  2. इंसास एलएमजी में पड़ने वाले शख्त खिचाव के रोक और उसे दूर करने का तरीका
  3. INSAS LMGमें पड़ने वाली गैस की कमी का रोक और उसे दूर करने का तरीका
  4. INSAS LMG में पड़ने वाले अन्य रोके तथा उसे दूर करने का तरीका
  5. 9mm पिस्तौल के चाल और चाल में सामिल होने वाले हिस्से पुर्जे
  6. 9 mm पिस्तौल में पड़ने वाले रोके और उसे दूर करने का तरीका
  7. 9mm कार्बाइन मचिन के रोके और उसे दूर करने का तरीका
  8. इंसास राइफल के थ्री ब्रस्ट मेचानिस्ज्म की चल और पुर्जे
  9. जनरल टेक्निकल डिटेल्स 5.56 mm इंसास राइफल के कार्ट्रिज के बारे में
  10. इंसास राइफल की दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन

Tuesday, April 17, 2018

स्नाइपर राइफल के अन्दर क्या क्या खूबिया होनी चाहिए

पिछले पोस्ट में हमने SSG-69 स्निपिंग राइफल का एक संक्षिप्त परिचय प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम एक स्निपिंग राइफल के अन्दर क्या क्या खूबिया  होनी चाहिए(Sniping Rifle ke andar kya kya  khubia honi chahiy)


ऐसे तो स्निपिंग राइफल का इस्तेमाल अमेरिकन सिविल वार  1776  से ही हेवी कैलिबर स्निपिंग राइफल के साथ  सुरु होगया था ! यह आमतौर पर .50 से .58 इंच कैलिबर तक हुवा करती थी ! उन राइफल्स का बैरल लम्बा तथा वजन  ज्यादा होने के कारन ज्यादा दिनों तक चला नहीं सकते !

जरुर पढ़े :9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I

हथियार में सुधर के साथ साथ बड़ी कैलिबर की गन को निकाल दिया गया और बदले में छोटे कैलिबर की राइफल को इस्तेमाल में ली गई !इस छोटी क्लिबेर की राइफल में सेमी आटोमेटिक और बोल्ट एक्शन  दोनों तरह के राइफल शामिल है !

एक अच्छी स्निपिंग राइफल में निम्न खुबिया होनी चाहिए! इन खुबिओ को हम LAWTEAM के शब्द से भी याद कर रखा  जा सकता है  जैसे;
1. Lethality (मरने की क्षमता )
2. Accuracy(स्टिक निशाना ) 
3. Weight (वजन)
4. Telescopic sight (टेलीस्कोपिक साईट )
5. Effective range(कारगर रेंज )
6. Ammunition (अम्मुनिसन )
7. Muzzle velocity (मजल वेलोसिटी )

जरुर पढ़े :5.56 mm INSAS LMG का बेसिक डाटा और स्पेसिफिकेशन

इन खुबिओ को हासिल करने के लिए निम्न करवाई की जाती है 

1.  जान लेने  की क्षमता (lethality) :हथियार की जान मरने की क्षमता बढ़ाने के लिए चंद इन बातो पे ध्यान रखा जाता है ! जैसे 

  • ऐसा अमुनिसन इस्तेमाल किया जाए जिसका बुलेट नर्म हो ! ऐसा बुलेट जब टकराता है  तब टूट कर टुकरे टुकरे हो जाता है और शारीर को ज्यादा नुकशान पहुचता है !
  • किसी किसी देशो में बुलेट के ऊपर जहर लगा दिया गया होता है जिस के कारन बुलेट लगते ही  आदमी मर जाता है !
2. सही हिट करने की कबिलियात (accurecy):राइफल की मार में सटीकता लाने के लिए कुछ निम्न बाते किया जाता है :

  • बैरल की लम्बाई को आम बैरल से लम्बा रखा जाता है !
  • कुछ हद तक बुलेट का वजन कम किया जाता है जिससे की बुलेट का फैलाव को कम किया जा सके !

3. वजन (weight): राइफल का वजन जितना कम होगा उतना  ही उसे लेन ले जाने में आसानी होगी ! इस काम के लिए राइफल में लकड़ी या लोहे के पुर्जे की जगह सिंथेटिक फाइबर ग्लास या प्लास्टिक जैसे चीजो का इस्तेमाल कियाजाता है !

लेकिंग इस बाट पे ध्यान रखना चाहिए की वजन घटाने से कही राइफल की मजबूती और बैरल पार असर नहीं पड़ना चाहिए ! इस से स्थिरता पर असर पड़ेगा !

4. टेलीस्कोपिक साईट (Telescopic sight): जरुरी है की स्नाइपर राइफल में इस्तेमाल होए वाली टेलीस्कोपिक साईट उच्चे दर्जे की हो ! इसका मग्निफीकैसन उच्चे दर्जे की हो ! इसका मग्निफीकैसन और रेंज जितना ज्यादा होगा राइफल उतना ही कामयाब होगी !

जरुर पढ़े :इंसास राइफल के डेलाइट टेलीस्कोपिक और पैसिव साईट का डिटेल.

5. कारगर रेंज (Effective Range):कारगर रेंज बढ़ने के लिए राउंड की अप्चुरेसं कि करवाई  दुरुस्त होनी चाहिए !इस काम के लिए बुलेट का का डैयमीटर बैरल के कैलिबर से थोडा ज्यादा होना चाहिए !

बुलेट के पिछले हिस्से को सरल और कारगर बनाया जाय !बुलेट के ऊपर स्ट्रीम लाइनिंग होने से जिससे बसे के ऊपर गैस का दबाव बराबर नहीं पड़ता है इससे बुलेट का अक्सिक्स और त्रजेक्टोरी की कोण कम होती है और बुलेट कम दुरी तय करता है जिससे कारगर रेंज कम हो जाता है !

6. अमुनिसन (Ammuniation): स्निपिंग राइफल में इस्तेमाल हने वाला अमुनिसन उचे दर्जे का होने चाहिए ! क्यों की लम्बे रेंज में कामयाबी के लिए अम्मुनिसं में किसी प्रकार की कमी नहीं होना चाहिए !

जरुर पढ़े :AKM राइफल का बेसिक टेक्नीकल डाटा

7. मजल वेलोसिटी (muzzle velocity): मजल वेलोसिटी को बढ़ने के लिए अमुनिसन में इस्तेमाल होने वाली बारूद में नाइत्रोसेलुलोस और नाइत्रो ग्लिसरीन का इस्तेमाल किया जाता है !

इस प्रकार से हम आने की स्नाइपर रिफ्ल के अन्दर क्या क्या खूबिय होनी चाहिए और उन खुबिओ के कैसे हासिल किया जाता है !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी  पढ़े :
  1. 7.62mm SLR के पार्ट्स का नाम और 7.62 mm SLRराइफल का चाल
  2. AKM का चाल और उसका पार्ट्स का नाम
  3. हरकती टारगेट पर पॉइंट ऑफ़ एम सेट करना !
  4. 2" मोर्टार का पार्ट्स और टेक्निकल डाटा
  5. AK-47 और INSAS Rifle में कौन बेहतर ?
  6. 5.56 mm INSAS राइफल के मग्जिन को भरना खाली करना और रेंज लगाना
  7. इंसास राइफल को भरना, खाली करना, रेडी और मेक सफे कैसे करते है
  8. INSAS राइफल के फायरिंग पोजीशन और मज़बूत पकड़ बनाने के तरीके -I
  9. इंसास राइफल में निलिंग पोजीशन के तरीके और इसमें देखनेवाली बाते !
  10. इंसास राइफल से स्टैंडिंग पोजीशन से फायर करने के तरीके और देखने वाली बातें !

Sunday, April 15, 2018

स्नाइपर राइफल SSG -69 का एक संक्षिप्त परिचय

पिछले पोस्ट में हमने एंगल ऑफ़ अटैक के बारे में जानकारी हासिल किये ! इस पोस्ट में हम SSG -69    संक्षिप्त परिचय करेंगे ! 


इस पोस्ट को पढने के बाद आप इन सवालों का जवाब के बारे में जान  सकेगे :
1. SSG-69 स्नाइपर राइफल का पूरा नाम क्या है ?(SSG-69 sniping rifle ka pura naam kya hai)
2. SSG-69 स्नाइपर  राइफल कहा का बना हुवा है ?(SSG-69 sniping rifle kaha ka bna huwa hai)
3. SSG-69 स्नाइपर  राइफल का डिज़ाइनर कौन थे?(SSG-69 sniping rifle ka designer kaun the)
4.SSG-69 स्नाइपर  राइफल में टेलेस्कोप कौन सा लगता है और कहा का बना हुवा है !(SSG-69 sniping rifle  me kaun sa telescope lagaya jata hai)
5. SSG-69 स्नाइपर  राइफल भारत में कब आया ?(SSG-69 sniping rifle bharat me kab aaya)
6. SSG-69 स्नाइपर  राइफल से पहले कौन सा स्नाइपर  राइफल  यूज़ होता था ?(SSG-69 sniping rifle  se pahle kaunsa sniper rifle use kiya jata tha)
जरुर पढ़े :9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
SSG-69 स्नाइपर  राइफल का परिचय 
SSG-69 sniping rifle
SSG-69 sniping rifle
जैसे की हमसब जानते है 7.62 mm SSG-69 स्नाइपर  राइफल से पहले  न.4 एम् के (टी) राइफल इस्तेमाल में ली जाती थी ! लेकिंन लम्बे समय इस्तेमाल होनेसे इसमें काफी नुक्स आने लगे और एक्यूरेसी पर फर्क पड़ने लगा ! और स्नाइपर  राइफल का मुख्य गुण होता है हाई एक्यूरेसी उस में अगर कमी आने लगी तो फिर शार्प शूटिंग गन का कोई मतलब नहीं रहा !  
न.4 एम् के (टी) राइफल के एक्यूरेसी में कमी आने के कारन उसके जगह पर दूसरी SSG की तलाश शुरू की गई और दिल्ली में इसे लिए 1984 में बहुत ट्राएल किया गया और इस ट्राएल के बाद स्टियर डायमलर-पुच (Steyr-Daimler-Puch) ए.जी . कम्पनी का SSG-69  स्नाइपर  राइफल का चुनाव किया गया !
जरुर पढ़े :.303 LE राइफल का इतिहास
स्टियर कंपनी के मि. मैनलिचार(Steyr Mannlicher) नाम के एक डिज़ाइनर ने इस SSG-69 स्नाइपर  राइफल को डिजाईन किया था ! इस राइफल को स्टियर डायमलर-पुच ए.जी कंपनी और ऑस्ट्रियन फेडरल आर्मी ने मिलकर कर बनया!यह राइफल सन 69 में ऑस्ट्रियन में बना इसलिए इसके नाम के साथ 69 जोड़ दिया गया !

मि मैनलिचार को  स्नाइपर  राइफल को डिजाईन करने के कारन हाईएस्ट डेकोरेशन फॉर स्माल आर्म्स डिज़ाइनर की उपाधि से सम्मानित किया गया !
जरुर पढ़े : Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
यह स्नाइपर  राइफल संसार के स्नाइपर  राइफल के बाज़ार में बहुत नाम कमाया और यह समझा जाता है SSG-69 राइफल संसार के बेस्ट स्नापिंग राइफल है !

ऑस्ट्रियन भाषा में SSG-69 का मतलब होता है SEHARFSECHUTZENE GEWHER-69 लेकिंग इसको अंग्रेजी में शार्प शूटर गन (Sharp Shooter Gun) मॉडल 69 के नाम से जाना जाता है ! 
जरुर पढ़े : Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
स्टियर डायमलर-पुच ए.जी कंपनी क्लेम  करती है की अगर बढ़िया अमुनिसन इस्तेमाल कर के फायर किया जाये तो इसका ग्रुप काफी उच्च  कोटि का बंटा है जैसे :

  • 5 गोली  का ग्रुप        100 मीटर से           15 mm
  • 10 गोली  का ग्रुप      300 मीटर से           90 mm 
  • 10 गोली  का ग्रुप      400 मीटर से           130 mm 
  • 10 गोली  का ग्रुप      600 मीटर से          200 mm 
  • 10 गोली  का ग्रुप      800 मीटर से          430 mm 
इस राइफल  के ऊपर ऑस्ट्रिया का ही स्वरवोस्विक ऑप्टिक्स कंपनी का टेलेस्कोप इस्तेमाल किया जाता है ! टेलेस्कोप के ऊपर जेड. ऍफ़ . एम् लिखा  होता है जिसका अंग्रेजी में मतलब टेलीस्कोपिक साईट फॉर मिलिट्री यूज़! यह टेलेस्कोप काफी अच्छा और उन्नत किस्म का है ! दुनिया के बहुत से देश अपनी स्नाइपर  राइफल के ऊपर स्वरवोस्विक  टेलेस्कोप  इस्तेमाल करते है ! 

टेलेस्कोप को राइफल के ऊपर V स्लॉट द्वारा माउंट किया जाता है ! इसके ऊपर 1 से 8 तक अंक लिखे होते है जो र एक 100 मीटर को जाहिर करते है !
इस स्नापिंग राइफल के साथ बाई पोड लगाया जाता है जो की अमेरिका का बना हुवा है बाई पोड की उचाई जरुरत के अनुसार ऊपर निचे की जा सकती है  और फोल्ड भी किया जा सकता है 

इसके साथ ही SSG-69 स्नाइपर  राइफल का संक्षिप्त परिचय समाप्त हुवा !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर ब्लॉग या पोस्ट से सम्बंधित कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी  पढ़े :

  1. 7.62 Self Loading Rifle basic data-II?
  2. 7.62 Self Loading Rifle basic data-III
  3. अच्छे राइफल फायर कैसे बने ? 
  4. फायरिंग के दौरान फायरर द्वारा की जानेवाली कुछ गलतिया ? 
  5. 7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?
  6. 7.62mm LMG के बारे में कुछ जानकारिय
  7. 7.62mm ki chal. एस एल आर कैसे काम करता हा(एसएलआर की चाल). 
  8. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  9. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  10. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  11. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया