Sponser

Search

Winter Clothing

Sunday, September 30, 2018

SSG-69 राइफल के टेलेस्कोप से एम लेने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने SSG-69 राइफल के पोजीशन तथा मजबूत पकड़ बनाने के तरीका के बारे में जानकारी प्राप्त की अब इस पोस्ट में हम SSG-69 स्नाइपर राइफल के टेलीस्कोप साईट से शिस्त लेने के तरीका(SSG-69 sniper rifle ke telescopic sight se shist lene ka tarika) के बारे में जानेगे !


जैसे की हम जानते है की एक स्नाइपर को टेलेस्कोप से सही शिस्त लेने का तरीका मालूम होना चाहिए , ताकि जरुरत पड़ने पर फायरिंग से अच्छा नतीजा हासिल कर सके ! लेकिन शिस्त के दौरान फ्लोटिंग अप्रेचरया धब्बा का असर पड़ता है इसलिए स्नाइपर को इन धब्बो या शेडो से वाकफियत होना चाहिए और कैसे सही शिस्त हासिल की जाए इन सब बातो को मालूम होना चाहिए !
इस पोस्ट में हम निम्न विषयों पे जानकारी प्राप्त करेंगे :

1.SSG-69 राइफल के टेलेस्कोप के फ्लोटिंग अप्रेचर की जानकारी (SSG-69 Rifle ke telescopi ke floating appreture ki jankari)
2.SSG-69 राइफल के टेलिस्कोप  से शिस्त लेने का तरीका (SSG-69 rifle ke telescop se shist lene ka tarika)
3.SSG-69 राइफल के टेलिस्कोप  से रेंज लगाने  का तरीका (SSG-69 rifle ke telescop serange lagane  ka tarika)
4.SSG-69 राइफल के टेलिस्कोप  से विन्डेज लगाने  का तरीका (SSG-69 rifle ke telescop se windage lagane ka tarika)

1. SSG-69 राइफल ke टेलेस्कोप के फ्लोटिंग अप्रेचर की जानकारी (SSG-69 Rifle ke telescopi ke floating appreture ki jankari)

जब हम टेलेस्कोप को उठाके और एलिवेशन ड्रम को ऊपर रखते हुए ऑय ग्लास के अन्दर देखते है  तो अन्दर पड़ी रेटिकल(Horizontal Retical) और पॉइंटर (Vertical Retical) दिखाई देता है !दोनों होरिजेंटल रेटिकल को मिलाने वाली एक हेयर लाइन या पतली रेखा  दिखाई देती है !

अगर आँख को ऑय लेंस से सही दुरी यानि 6-8 सेमी पर और ठीक बिच में नहीं रखेंगे तो एक कला धब्बा या शाडो शीशे के अन्दर नजर आएगा जिसे फ्लोटिंग अप्रेचर कहते है !
  • बाए से देखने पर :
    स्नाइपर जब टेलेस्कोप से शिस्त लेता है और उसके आँख ऑय लेन्से के सही सेंटर में न रहकर थोड़ी बाये रहती है उस समय शीशे के बाए किनारे में एक शाडो या धब्बा नजर आएगा जिससे फील्ड ऑफ़ व्यू सही नहीं मिलेगा !

  • दाहिने से देखने पर :
    स्नाइपर जब टेलेस्कोप से शिस्त लेता है और उसके आँख ऑय लेन्से के सही सेंटर में न रहकर थोड़ी दाहिने  रहती है उस समय शीशे के दाहिने  किनारे में एक शाडो या धब्बा नजर आएगा जिससे फील्ड ऑफ़ व्यू सही नहीं मिलेगा !
  • ऊपर या निचे से देखने पर :
    अगर स्नाइपर टेलेस्कोप से शिस्त लेते वक्त ऊपर या निचे से देखता है तो पहले की तरह धब्बा या शाडो ऊपर या निचे दिखाई देगा और जिससे फील्ड ऑफ़ व्यू साफ़ नहीं देगा !
  • ज्यादा दुरी से देखने पर : अगर टेलेस्कोप को आँख से ज्यादा दूर रखा जाए तो एक गोला धब्बा पुरे शिसे को घेर लेता है जिससे फील्ड ऑफ़ व्यू  बहुत ही कम हो जाता है और ठीक शिस्त लेने में दिक्कत आती है !

2.SSG-69 राइफल के टेलिस्कोप  से शिस्त लेने का तरीका (SSG-69 rifle ke telescop se shist lene ka tarika)

टेलेस्कोप से शिस्त लेने के तरीके निम्न है :
  • राइफल को सीधा पकडे 
  • बाई आँख को बंद करे 
  • दुरुस्त ए क्लेअरेंस हासिल करे 
  • ऑय ग्लास के सामने का इलाका को देखे जिससे होरिजेंटल लाइन , पॉइंटर और टारगेट साफ दिखाई देगा 
  • अगर टारगेट साफ न दिखाई दे तो डियाअप्टर को घुमाव और आँख के लिहाज से सेट करो 
  • होरिजेंटल हेयर लाइन को जमीन के समनांतर रखते हुए पॉइंटर को टारगेट के बिच में मिलाओ !

3..SSG-69 राइफल के टेलिस्कोप  से रेंज लगाने  का तरीका (SSG-69 rifle ke telescop serange lagane  ka tarika)

रेंज के हुकुम पे करवाई इस प्रकार से करे 
  • एलिवेशन ड्रम को घुमाव 
  • अपनी आँख को इंडिकेशन मार्क या एरो के सामने लाये 
  • जैसे की हम जानते है फिगर 1 100 मीटर का गुणक तक रेंज जाहिर करता है 
  • 300 मीटर से ऊपर , 50 मीटर  के लिए बिच में एक लकीर होता है !
  • एलिवेशन व्हील ड्रम को एक ही बार न घुमाये बल्कि धीरे धीरे घुमाये !
  • जरुरत के अनुसार रेंज लग जाने पर आदेश के अनुसार फायर करें !

4.SSG-69 राइफल के टेलिस्कोप  से विन्डेज लगाने  का तरीका (SSG-69 rifle ke telescop se windage lagane ka tarika)

डिफ्लेक्शन ड्रम से दाहिने और बाए की गलती को दूर किया जाता है ! हवा का असर या ज़ेरोइंग के दौरान इसका इस्तेमाल किया जाता है ! डिफ्लेक्शन ड्रम में जीरो से 16 क्लिक बाये और  जीरो से 18 क्लिक दाहिने लगाये जा सकते है !

हर एक क्लिक या डीटेंट 100 मीटर के रेंज पर टारगेट में 1 सेमी का दाहिने या बाए का फर्क डालता है !जो की 0.1 मिल के एंगल के बराबर होता है ! बाए का डीटेंट लगाने पर गोली की एम् पी  आई बाये और दाहिने का लगाने पर गोली की एम् पी आई दाहिने जाएगी !

डिफ्लेक्शन ड्रम के एक साथ नहीं घुमाना चाहिए बल्कि एक एक क्लिक करके लगाये जाए !

प्रैक्टिस के दौरान स्नाइपर को चाहिए की अलग रेंज पर टारगेट का श्सिस्त लेने का प्रैक्टिस करना चाहिए !

जरुर पढ़े:SSG-69 स्नाइपर राइफल का बेसिक टेक्निकल डाटा

इस प्रकार से यहाँ SSG-69  राइफल के टेलेस्कोप से एम लेने के तरीका से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की यह छोटा पोस्ट आप को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित करे !
इसे भी पढ़े :
  1. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  2. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  3. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  4. .303 LE राइफल का इतिहास
  5. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  6. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  7. SSG-69 राइफल का इस्तेमाल और रख रखाव में ध्यान में ...
  8. SSG-69 राइफल की रख रखाव और सफाई का तरीका
  9. SSG-69 राइफल को भरना और खाली करने का तरीका
  10. SSG-69 राइफल को रेडी, मेक सेफ और खाली कर का तरीक...

Saturday, September 29, 2018

SSG-69 राइफल की फायरिंग और पकड़ का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने इंसास राइफल और इंसास एल एम् जी के पाउच अम्मुनिसन के बारे  में जानकारी प्राप्त किया और अब इस पोस्ट में हम SSG-69 राइफल के फायरिंग पोजीशन तथा पकड़ के बारे में जानकारी प्राप्त कर्रेंगे !


जैसे की हम जानते है की स्नाइपर राइफल की फायरिंग में पकड़ और ऐमिंग का एक बड़ा ही अहम् रोल होता है अगर स्नाइपर  का फायरिंग और पकड़ उम्दा नहीं होगा तो वह स्नाइपर राइफल SSG-69 से वाजिब फायदा नहीं ले सकता है ! 

इस पोस्ट में हम SSG-69 राइफल के निम्न विषयों के बारे मे जानकारी प्राप्त करेंगे :
SSG-69 rifle ki firing position
SSG-69 rifle
1.मार्क मैन शिप के बुनियादी उसूल क्या क्या होता है ?(Marksman ship ki buniyadi usul kya hota hai)
2.SSG-69 राइफल के  लायिंग  पोजीशन सपोर्टेड  की जानकारी (SSG-69 rifle ke laying position supported)
3 SSG-69 राइफल की सिटिंग पोजीशन की जानकारी (SSG-69 rifle ki siting position)
4.SSG-69 की मजबूत पकड़ की जानकारी (SSG-69 ki majbut pakad)
5.SSG-69 राइफल के ट्रिगर ऑपरेशन की जानकारी (SSG-69 rifle ki trigger operation)
6.SSG-69 राइफल के बाई पोड का इस्तेमाल (SSG-69 rifle ki Bipod ka istemal)

जरुर पढ़े: इंसास राइफल का बेसिक डट और खूबिया 

1.मार्क मैन शिप के बुनियादी उसूल क्या क्या होता है ?(Marksman ship ki buniyadi usul kya hota hai)

मार्क्स मैन शिप के निम्न पांच बुनियादी उसूल है :

  • पकड़ और पोजीशन(Pakad aur position) : दुरुस्त पकड़ और दुरुस्त फायरिंग पोजीशन को शुरू से शिखर तक मद्दे नजर रखा जाए !
  • कुदरती सिधाई(Kudrati Sidhai) :- पोजीशन लेने के बाद हथियार कुदरती तोर पर टारगेट के ऐमिंग मार्क के सिद्ध में आना चाहिए ! अगर नहीं आता और  उसको जबरदस्ती जाने की कोशिस किया जाय तो शिस्त भले ही मिल जाये , लेकिन गोली टारगेट के पॉइंट ओफ एम पर नहीं लगेगी ! कुदरती सिधाई पाने के लिए बदन में हरकत देकर हथियार को टारगेट के सिद्ध में लाया जाए !
  • दुरुस्त साईट एलाईमेंट और पिक्चर(Durust sight aliangment and Picture) : दुरुस्त साईट एलाईमेंट को मद्दे नजर रखते हुए सही साईट पिक्चर हासिल करे !
  • दुरुस्त  ट्रिगर ऑपरेशन(Durust Trigger Operation) :- ट्रिगर को झटके से न दबाये बल्कि एक ही दबाव को बरक़रार  रखते हुए ऊँगली को धीरे धीरे क्लोज करे ! ट्रिगर  अपने आप दब जायेगा !
  • गोली को पीछा करना(Goli ki pichha karna) : फायर के तुरंत बाद , आँख को शिस्त की जगह से नहीं हिलाना चाहिए, बल्कि बैरल से निकली हुई गोली की मार को उसी शिस्त से देखते रहना चाहिए ! इसे गोली का पीछा करना या अंग्रेजी में शॉट रिलीज  एंड फॉलो थ्रू कहते है !
अगर एक स्नाइपर मार्कमैन शिप के इन पांच बातो को मद्दे नजर रखते हुए किसी भी पोजीशन से फायर करे तो उसकी पहली गोली दुश्मन को मार डालेगी और शूट टू  किल का मुद्दा हासिल होगा !
जरुर पढ़ेइंसास राइफल की रोके 

2.SSG-69 राइफल के  लायिंग  पोजीशन सपोर्टेड  की जानकारी (SSG-69 rifle ke laying position supported)

जैसे की हम जानते है की स्नाइपर को ज्यादा से ज्याद 2 या 3 राउंड्स ही फायर करना पड़ता है और इसी के दौरान उन्हें टारगेट को हिट करना होता  है इसी लिए फायरर को चाहिए की राइफल ठीक तरफ सपोर्टेड हो , ताकि निशाना लेने में किसी किस्म की कठिनाई न हो और वह एक से दो राउंड में ही टारगेट को बर्बाद कर सके !

लायिंग पोजीशन की करवाई : जैसे ही हुकुम मिलता है लेटकर पोजीशन , तो करवाई इसप्रकार से करे : 
  • दाहिने हाथ से राइफल को उछाले और बाए हाथ से तोलवाली जगह से पकडे !
  • दाहिने हाथ को टेक बनाते हुए जमीन पर लेट जाए , साथ ही राइफल को सैंड बैग  पर रखे !
  • राइफल को सैंड बैग पर इतना आगे करे की ट्रिगर गार्ड सैंड बैग के साथ लग जाए !
  • बाए हाथ से राइफल के स्माल बट के निचे से गोल मुट्ठी से पकडे और दाहिने हाथ से स्माल बट के ऊपर कलम वाली ऊँगली ट्रिगर गार्ड के आरपार !
  • राइफल के बट को कंधे में जाए और सर को बट के ऊपर रखे !
इस पोजीशन में देखने वाली बाते :
  • टांग खुली हुई और बदन के दोनों तरफ फैली हुई हो 
  • टारगेट , राइफल और बदन एक सीध में 
  • राइफल इतनी आगे हो की आसानी से कंधे में लाया जा सके ! खड़े होने के लिए राइफल को बाए हाथ से पकडे और दाहिने हाथ से सहारे लेते खड़े हो जाये !

3 SSG-69 राइफल की सिटिंग पोजीशन की जानकारी (SSG-69 rifle ki siting position)

कभी कभी स्नाइपर को ऊँची /ऊपर से या मोर्चा हाईड से फायर  करना पड़ सकता है ऐसी हालत में बैठ कर फायर करना पड़ेगा !
सिटिंग पोजीशन की करवाई :
  • आसानी से जमीन पर बैठ जाए 
  • राइफल को सैंड बैग पर रखे 
  • ट्रिगर को सैंड बैग के साथ मिलाये 
  • पकड़ पहले की तरह 
  • कोहनी को बैच पर टिकाये जिससे सपोर्ट मिलेगा 
  • टाँगे खुली और पोजीशन आरामदेह 

4.SSG-69 की मजबूत पकड़ की जानकारी (SSG-69 ki majbut pakad)

जैसे की फायरिंग पोजीशन देने के बाद आदेश मिलता है मजबूत पकड़ बनाना तो मजबूत पकड़ बनने के लिए करवाई इस प्रकार से करे :
  • बाए हाथ की पकड़ : राइफल को निचे सपोर्ट देना 
  • दाहिने हाथ की पकड़ : राइफल को मजबूती से पकड़ना और फायर  करना और अंगूठा  बाए की तरफ  , तीन अंगुलिया दाहिने से निचे और कलम वाली उंगली ट्रिगर पर ! इस हाथ से राइफल को कंधे के साथ जमाने में मदद मिलती है !
  • कंधे का काम : बट को दाहिने कंधे की गद्दी में मजबूती से जमाये ! इस प्रकार मजबूती से दबाने पर पीछे का धक्का कम होगा और राइफल कंधे से नहीं फिसलेगा !
  • सिर का काम : सिर से राइफल को ऊपर से लॉक किया जाता है ! गाल बट के साथ लगाओ ! टेलेस्कोप चढ़ी हुई राइफल से सही शिस्त पाने के लिए आँख को 6 से 8 सेमी दूर रखे !
  • सांस  को रोकना : फायर करने से पहले लम्बी सांस ले कुछ सांस को छोड़े और बाकी साँस को काबू रखते हुए निशाना ले और फायर करे ! सांस को ज्यादा देर तक न रोके नहीं तो थरथराहट शुरू हो जाएगी !

5.SSG-69 राइफल के ट्रिगर ऑपरेशन की जानकारी (SSG-69 rifle ki trigger operation)

ट्रिगर  ऑपरेशन की सही करवाई अच्छी फायरिंग का चौथा बुनियादी उसूल ! ट्रिगर दबाने का काम कलम वाली ऊँगली करती है ! पहला पुलाव लिया जाय और फिर आहिस्ता आहिस्ता ट्रिगर को एक ही दबाव के साथ खिचे ! गलत ट्रिगर दबाने से गोली दुरुस्त जगह पर नहीं लगेगी ! अगर ट्रिगर को झटके से या घबराहट से दबायेंगे तो बैरल हरकत करेगी !

6.SSG-69 राइफल के बाई पोड का इस्तेमाल (SSG-69 rifle ki Bipod ka istemal)

इस राइफल के साथ एक बाई पोड होता है ! यह बाई पोड अमेरिका की एक कंपनी ने बनाया है ! बाई पोड का वजन 300 ग्राम है ! बाई पोड लेग की जरुरत के मुताबिक लम्बा या छोटा किया जा सकता है ! लेग के अन्दर लगी हुई स्प्रिंग काफी ताकतवर होती है जो की आसानी से बाई पोड लेग को अन्दर खीच लेता है !

बाई पोड को चढाने का तरीका 

बाई पोड के ले और फिक्सिंग स्क्रू को ढीला करे , लेग को मगज़ीन की तरफ रखते हुए फिक्सिंग स्क्रू के निचे स्टफ स्कायर को राइफल के बॉडी के निचे बनी हुई रेसेज की सिद्ध में लाये और काबू रखते हुए बाई पोड को चढ़ा दे !

जरुरत के मुताबिक बाई पोड को कही भी फिट करे और फिक्सिंग स्क्रू को कस दे  ! बाई पोड के लेग को बारी बारी बहार की तरफ खिचे ! राइफल को बाई पोड की हाईट के मुताबिक ऊँचा करने के लिए लेग  को खींचे और वापस करने के लिए स्टोपिंग कैच को दबाके ! अगर बाई पोड लेग को बीचो बिच करना होतो लेग जरुरत के मुताबिक खिचे और लेग फिक्सिंग नट दाहिने तरफ मोड बाई पोड बीचो बिच रुक जायेगा ! अन्दर करने के लिए फिक्सिंग नट को ही ढीला करना पड़ेगा !

बाई पोड को उतारने का तरीका 

बाई पोड को उतारने के लिए सीखे हुए तरीके से फिक्सिंग स्क्रू को ढीला करे और स्टफ स्कायर को रेसेज में से बहार निकले ! बाई पोड चढ़ा कर अगले गोली फायर करनी पड़े तो सुझाव के तौर पर हर गोली फिरेर के बाद फिक्सिंग  स्क्रू को कस देना चाहिए ! इस काम के लिए स्क्रू को क्स देना चाहिए ! इस काम के लिए स्क्रू ड्राईवर या किसी नुकीली चीज की मदद ली जा सकती है !
पुरे ड्रिल को करने के बाद एक बात तो साफ हो गई की फायरिंग पोजीशन कोई भी हो लेकिंग हाथो का काम एक ही रहता है और दुरुस्त फायर के लिए फायरिंग के बुनियादी उसूलो के ऊपर ज्यदा ध्यान देना चाहिए !

इसके साथ ही SSG-69 राइफल के फायरिंग पोजीशन और पकड़ से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की यह छोटा पोस्ट आप को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित करे !
इसे भी पढ़े :
  1. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  2. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  3. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  4. .303 LE राइफल का इतिहास
  5. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  6. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  7. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  8. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I

Monday, September 24, 2018

आर्म्ड पुलिस बटालियन के एक प्लाटून की बनावट

पिछले पोस्ट में हमने व्यू पॉइंट ब्रीफिंग के बारे में जनकारी प्राप्त की आप इस पोस्ट में हम यह जानेगे की एक स्टैण्डर्ड सर्विस कंपनी,प्लाटून तथा सेक्शन का बनावट क्या होता है ?


जैसे आप जानते है की पहले एक बटालियन में 6 सर्विस कंपनी होती थी और बटालियन की पूरी नफरी उसी के अनुसार बिभाजित होती थी ! लेकिन सरकार ने यह सोचा की कम से कम खर्च में आर्म्ड फाॅर्स की नफरी कैसे बढाई जा सकती है और उसी की खोज में यह निर्णय लिया गया की अतरिक्त बटालियन खड़ा करने से अच्छा है की अतरिक्त कंपनी सभी बटालियन के अन्दर अगर जोड़ दिया जाय  तो वितीय  खर्च भी कम  होगा और नफरी भी बढ़ जाएगी ! 

जरुरपढ़े:सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें

शायद इसी धेय से बहुत से आर्गेनाईजेशन के बटालियन में 6 कंपनी के जगह 7 कंपनी कर दिया गया !

आज मै जब अपनी डैशबोर्ड चेक कर रहा तो मैंने देखा की किसी ने सवाल किया था की प्लाटून के बनावट क्या होती है  तो मैंने सोचा की क्यों न इस  विषय पे कुछ लिखा जाय !

 इस पोस्ट के माध्यम से हम निम्न बातो की जानकारी प्राप्त करेंगे :

Platoon ki banawat
प्लाटून फार्मेशन 
1. बटालियन की बनावट क्या होती है (Armed Battalion ki banawat)
2. एक बटालियन की कंपनी की बनावट क्या होती है ?(Company ki banwat)
3. एक कंपनी की प्लाटून की बनावट क्या होती है ?(Platoon ki banawat)
4. एक प्लाटून के सेक्शन का बनावट क्या होता है ?(Section ki banawat)
5. एक एम् टी प्लाटून की बनावट क्या होता है ?(MT Platoon ki banawat)

1. बटालियन की बनावट क्या होती है (Armed Battalion ki banawat)

एक आर्म्ड  बटालियन के अन्दर 7 सर्विस कंपनी है और कुल नफरी 1172 अगर 6 कंपनी है तो नफरी 1007  की होती है और उसका रैंक वाइज  बनावट इस प्रकार से होता है :
  •  कमांडेंट 
  • 2 i/c 
  • डिप्टी कमांडेंट
  • असिस्टेंट कमांडेंट
  • इंस्पेक्टर 
  • सब इंस्पेक्टर 
  • असिस्टेंट सब इंस्पेकटर 
  • हेड कांस्टेबल 
  • कांस्टेबल 
  • एम् एस ई (फोल्लोवेर्स )
  • ट्रैड मेन 
  • मिनिस्टीरियल स्टाफ 
  • वायरलेस स्टाफ 
  • मेडिकल स्टाफ 

2. एक बटालियन की सर्विस  कंपनी की बनावट क्या होती है ?(Company ki banwat)

एकआर्म्ड पुलिस  बटालियन में 7(किसी किसी में 6 ) सर्विस कंपनी होते है और हर एक सर्विस कंपनी में 137 की नफरी होती है !जिसका डिटेल्स इसप्रकार से है :
  • असिस्टेंट कमांडेंट -01
  • इंस्पेक्टर -1
  • सब इंस्पेक्टर -03
  • हेड कांस्टेबल -22 
  • कांस्टेबल-99 
  • MSE(क्लास-IV)-11 

3. एक सर्विस  कंपनी की प्लाटून की बनावट क्या होती है ?(Platoon ki banawat)

एकआर्म्ड पुलिस  कंपनी  में 3प्लाटून होते है और हर एक प्लाटून  में 37  की नफरी होती है !जिसका डिटेल्स इसप्रकार से है :
  • सब इंस्पेक्टर -01
  • हेड कांस्टेबल -06  
  • कांस्टेबल-30  

4. एक प्लाटून के सेक्शन का बनावट क्या होता है ?(Section ki banawat)

एकआर्म्ड पुलिस  प्लाटून   में 3सेक्शन  होते है और हर एक सेक्शन   में 11  की नफरी होती है !जिसका डिटेल्स इसप्रकार से है :
  • हेड कांस्टेबल -02 
  • कांस्टेबल-09 

5. एक एम् टी प्लाटून की बनावट क्या होता है ?(MT Platoon ki banawat)

एम् टी प्लाटून की कुल नफरी 48 की होती है और उस  की बनावट रैंक वाइज इस प्रकार से होती है :
  • एस आई - 02
  • हेड कांस्टेबल -09
  • कांस्टेबल -37 

इस प्रकार से हम सर्विस कंपनी और प्लाटून की बनावट से सम्बंधित जानकारी प्राप्त किये !उम्मीद है की यह आपको पसंद आएगा !अगर कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे !
 इन्हें भी पढ़े :
  1. पेट्रोलिंग और नाईट पेट्रोलिंग और उसके टास्क और नफरी
  2. अम्बुश और काउंटर अम्बुश, अम्बुश का उद्देश्य , अम्बुश का पार्टिया , अम्बुश का टारगेट
  3. सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान
  4. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -II
  5. टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I
  6. कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी
  7. पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार
  8. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  9. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  10. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका

Saturday, September 22, 2018

पुलिसवाले भी आयुष्मान भारत स्कीम में सामिल है क्या ?

आयुष्मान भारत योजना का आज कल बहुत चर्चा है ! वर्तमान सरकार की बहुत सारी महत्वकांक्षी योजनाओ में से एक यह योजना का शुभारम्भ 23 सितम्बर 2018 को होने जा रहा है ! इस योजना ने आज कल पूरा माडिया जगत में एक बुज़ पैदा किया है! और सभी जानना  चाहते है की यह स्कीम है क्या ?  और कौन कौन इस योजना के फ़ायदा ले सकते है ! क्या पुलिसवाले के परिवार भी इस योजना में सामिल हो सकती है ?


इस पोस्ट के माध्यम से हम आयुष्मान भारत से सम्बंधित निम्न बातो को जानेगे :
1.आयुष्मान भारत  योजना के मुख्य बाते  
2.आयुष्मान भारत योजना  मुख्यतः लक्षित लोग कौन कौन से  है ?
3. क्या आयुष्मान भारत योजना में आपका भी नाम सामिल है ?

1.आयुष्मान भारत  योजना के मुख्य बाते 

आयुष्मान भारत योजना को पुरे देश में लागु 23 सितम्बर 2018 से किया जाएगा और मानिया प्रधानमंत्री इस योजना को झारखण्ड राज्य से एक प्रोग्राम में सामिल होकर इसका शुभारम्भ करेंगे !

इस योजना को मुख्या बाते कुछ इसप्रकार से है :
  • इस योजना से सालाना बेनिफिट कवर 5 लाख रुपया प्रति परिवार प्रति वर्ष  मिलेगा इस स्कीम के तहत पूरा चिकित्सा खर्च कैशलेस और पेपर लेस  मोड में होगा !
  • इस योजना में सामिल होने के लिए कोई परिवार की साइज़ तय नहीं की गई है यनी परिवार छोटा हो या बड़ा सभी इस योजना के फायदा उठा सकते है ! 
  • इसका पैसा का पेमेंट अस्पताल को ESCROW अकाउंट के तहत की जाएगी !
  • इस योजना को बीमा या ट्रस्ट या दोनों के मिश्रित रूप से लागु किया जायेगा 
  • इस योजना को केंद्र तथा राज्य सरकार के पहले से चल रहे हेल्थ स्कीम के मिला कर लागु किया जायेगा !


2.आयुष्मान भारत योजना  मुख्यतः लक्षित लोग कौन कौन से  है ?


वर्तमान में आयुष्मान भारत योजना के लिए लक्षित ग्रुप भारत  सरकार  के वेबसाइट के अनुसार  के  निम्न है 

आयुष्मान भारत के लिए ग्रामीण क्षेत्र लक्षित ग्रुप 

इस योजना के लिए पूरा ग्रामीण क्षेत्र के आबादी को निम्न 6  बंचित ग्रुप में  बंटा गया है और वो लोग इस योजना के लिए योग्य है सामिल होने के लिए !
  • D1- एक रूम के कच्चा माकन में रहने वाले लोग 
  • D2-वह परिवार जिनके घर के किसी भी मेम्बर का आयु 16 से 59 साल तक नहीं है !
  • D3- वैसा  परिवार जिसमे कोई पुरुष नहीं है जिसका उम्र 16 से 59 के बिच हो केवल महिलाये ही है या पुरुष है भी तो 59 साल से बड़ा है या बचे है जिनकी उम्र 16 से काम है !
  • D4-वैसा व्यक्ति जो विकलांग है जो शारीरिक रूप से अपने कुछ नहीं कर सकता 
  • D5- SC/ST परिवार के लोग 
  • D7-वैसा भूमिहीन परिवार जो अपना भरण पोषण दैनिक आमदनी कमाकर होने वाली आय से चलता है
इसके अलवा निम्न ग्रामीण व्यक्तिओ को भी इस योजना में सामिल किया गया है :
  • गृह विहीन लोग 
  • आनाथ और गरीब लोग 
  • सफाई करने वाले  (Manual scavenger families)
  • आदिवासी जनजाति परिवार 
  • बंधुवा मजदुर परिवार

आयुष्मान भारत के लिए शहरी  क्षेत्र लक्षित ग्रुप 

शहरी क्षेत्र में रहने वाले निम्न ग्रुप लोगो को इस योजना में शामिल करने के लिए चिन्हित किया गया है :
  • कचड़ा उठाने वाला 
  • भीख मांगने  वाला 
  • घरेलु काम करने वाले वर्कर 
  • फुटपाथ पर छोटे छोटे सामान बेचने वाले /मोची/हॉकर/और कोई भी काम सस्ट्रीट पर रह कर करता हो 
  • कांस्टकसन वर्कर /प्लम्बर /राज्यमिस्त्री /लेबरर /पेंटर /वेल्डर /सिक्यूरिटी गार्ड/कुली और दूसरा कोई ढुलाई करने वाला वर्कर 
  • स्वीपर /सैनिटेशन वर्कर /माली 
  • होम बेस्ड वर्कर /हस्तकरघा वर्कर /टेलर 
  • ट्रांसपोर्ट वर्कर /ड्राईवर/कंडक्टर /हेल्पर /कार्ट पुलर /रिक्शाव  चलने वाला 
  • दुकान पर काम करने वाला वर्कर /सहायक /चपरासी किसी छोटे उद्यम में / डिलीवरी असिस्टेंट /अटेंडेंट /वेटर 
  • एलेक्ट्रियन /मैकेनिक/असेम्बलर /रिपेयर वर्कर 
  • धोबी /चौकीदार  

अभी तक के उपलब्ध ग्रुप के अनुसार उपरोक्त ग्रुप के व्यक्ति और उसका परिवार इस आयुष्मान भारत के लिए योग्य है और उनलोगों का नाम इस योजना में सामिल किया गया है !

3. क्या आयुष्मान भारत योजना में आपका भी नाम सामिल है ?


इस योजना का आज कल इतना चर्चा है की यह योजना आने के बाद सभी परिवार को सालाना 5 लाख तक मेडिकल बीमा हो जायेगा और बीमार होने पर प्राइवेट अस्पताल में भी फ्री में चेक अप करा सकते है ! यह सब सुनकर हर कोई के मन में तरह तरह के सवाल आ रहे है जैसे 
  •  जानना चाहता है की क्या उसका भी नाम इस योजना के लिए योग्य है 
  • क्या पुलिस /सेट्रल पैरामिलिटरी  वाले भी इस योजना के लिए योग्य है ?

उपरोक्त  सवालो के बारेमे में हम यही कह सकते है की अभी तक के उपलब्ध डिटेल्स के अनुसार इस योजना के अंतर्गत कुल करीब 10 करोड़ गरीब परिवार   की ग्रामीण  और शहरी क्षेत्रो से चिन्हित किये गए है ! इन सभी परिवारों का लिस्ट उनके एरिया के ANM/BMO/BDO के पास उपलब्ध है और उस लिस्ट में जिन लोगो का नाम है वही इस स्कीम का फ़ायदा उठा सकते है !  कुछ लोगो के पास प्रधानमंत्री के द्वारा खुद लैटर भेज कर भी आवगत कराया जायेगा !

और ऊपर बताये गए वोर्किंग ग्रुप के अनुसार पुलिसमैन या कोई सरकारी कर्मचारी इस स्कीम में सामिल नहीं है इस लिए आप उसका फायदा नहीं उठा सकते है ! 

अगर आप अपना नाम चेक करना चाहए है की आप इस स्कीम में सामील है की नहीं तो आप ऑनलाइन भी कर सकते है जिसके लिए नेशनल हेल्थ  एजेंसी के वेबसाइट  पर जेक आप निम्न डिटेल्स इंटर कर के जन सकते i की प का नाम इस स्कीम में सामिल है की नहीं !

https://mera.pmjay.gov.in/search/login
https://mera.pmjay.gov.in/search/login
  • मोबाइल नंबर 
  • कैच अप कोड
  • ओ टी पी 
  • आपना राज्य का नाम 
  • और अपना नाम / मोबाइल नम्बर/राशन कार्ड नम्बर यदि 
इस प्रकार से आप आयुष्मान भारत से सम्बंधित एक छोटा सा ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई जिसके द्वारा मैंने लोगो की कुछ जिज्ञासाए इस आयुष्मान भारत स्कीम के बारे में था उसे दूर करने का कोशिस किया हु और सब जानकारी आप आयुष्मान भारत के हेल्प लाइन नम्बर डायल कर के भी जन सकते है आयुष्मान भारत का टोल फ्री  हेल्प लाइन नम्बर है(Ayshman Bharat scheme help line number) -14555/ 1800111565.उम्मीद है की यह आपको पसंद आएगा !अगर कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे !
इसे भी पढ़े :


  1. बीट और बीट पेट्रोलिंग क्या होता है ?एक बीट पट्रोलर का ड्यूटी
  2. पुलिस नाकाबंदी या रेड् क्या होता है ?नाकाबंदी और रेड के समय ध्यान में रखनेवाली बाते 
  3. निगरानी और शाडोविंग क्या होता है ? किसी के ऊपर निगरानी कब रखी जाती है ?
  4. अपराधिक सूचना कलेक्ट करने का स्त्रोत और सूचना कलेक्ट करने का तरीका
  5. चुनाव के दौरान पुलिस का कर्तव्य
  6. थाना इंचार्ज के चुनाव ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट
  7. पुलिस फाॅर्स के जवानों लिए इलेक्शन ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट
  8. V.I.P. सिक्यूरिटी बंदोबस्त ड्यूटी में पुलिस की भूमिका
  9. पुलिस की छवि और छवि का पुलिस के ड्यूटी पे पड़ने वाले असर कौन कौन से है
  10. पुलिस यूनिफार्म पहनते समय ध्यान में रखने वाली बाते