Sponser


Friday, June 3, 2016

5.56 mm INSAS LMG से सही फायर करने का तरीका

पिछले पोस्ट में हम जानकारी शेयर कीये एलेमजी की दुरुस्त शिस्त लेने के बारे में (INSAS LMG se drust shist lene ka tarika )और इस पोस्ट में हम जानकारी शेयर करेंगे 5.56 mm इंसास एलएमजी से दुरुस्त फायर करने का तरीका(INSAS LMG Se drust fire karne ka tarika) !
LMG Se fire karna
LMG Se fire karna 
फायर करने का तरीका (Fire karne ka tarika)
5.56 mm इंसास एलएमजी को अलग अलग हालातो में निकलने वाले अलग अलग तरह के टारगेट को कारगर तरीके से बर्बाद करने की काबिलियत है ! इसलिए जरुरी है की एलेमजी से फायर करने  की  पूरी जानकारी एक जवान  रखता हो जिसे की वह ऑपरेशन के दौरान एलेमजी का पूरा उपयोग करते हुए दुश्मन को बर्बाद कर सके और दिए हुए टास्क को सही तरीके से पूरा कर सके !

                    जरुर पढ़े : ओब्जेक्टी प्रस्नोतर एलेमजी के बारे में 

इंसास एलेमजी से दो तरह का फायर डाल सकते है :



  1. सिंगल शॉट(SIngle shot) 
  2. आटोमेटिक :(i) रैपिड(Rapid fire )  (ii) ब्रस्ट (Brust fire)
सिंगल शॉट फायर(Single shot fire)
  1. सही पोजीशन अख्तियार करे!
  2.  नेचुरल एलाइनमेंट को चेक करे!
  3.  LMG को भर और रेडी करे!
  4.  दिमागी तौर पर शारीर के उन अंगो को चेक करे जो LMG को  दुरुस्त शिस्त लेने  में मदद देतेहै जैसे बयां हाथ , दाहिना हाथ , कन्धा और सिर !
  5.  दुरुस्त साईट एलाइनमेंट और साईट पिक्चर हासिल करते हुए चंगे लेवीर को "R" पर करे !
  6.  साँस को चाँद सेकंड के लिए रोकें और दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन की करवाई करें.
  7.  इस प्रकार 1 मिनट में 60 राउंड के हिसाब से फायर किया जाता है !

फायरिंग के दौरान स्टॉप की करवाई(Firing ke dauran stop ki karwai) :
प्रैक्टिस फायर  करते समय टारगेट एरिया में कोई जानदार वास्तु आजाये या ट्रेनिंग के दौरान आदेश मिले "STOP" तो करवाई इस प्रकार करें :

  1. कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से बाहर निकले !
  2. LMG को कंधे से निचे लें और चेंज  लीवर की पोजीशन को "S" पर करें !
  3. इसका मागज़ीने पारदर्शी होने के कारन मगज़ीन का यकीं करने की जरुरत नहीं पड़ती है ! अगर मागज़ीन खाली होने वाला हो तो मागज़ीने की बदली करें और अगल हुक्म का इन्तेजार करे 

स्टॉप के बाद आदेश मिलता है "GO ON"(Go on ki karwai): अगर  टारगेट इलाके से जानदार वास्तु हट जाए या ट्रेनिंग के दौरान आदेश मिले "GO ON" तो चेंज  लीवर की पोजीशन को पहले वाली पोजीशन में करे और  LMG को कंधे पे ले जाये और फायर में सामिल करे !


आटोमेटिक फायर(Automatic fire) 
(i) ब्रस्ट फायर(INSAS LMG Se Brust fire)  : जब एक फायरर चेंज  लीवर की पोजीशन 'A' पर करके ट्रिगर दबाता है और 2 या 2 से अधिक राउंड्स फायर हो जाये तो उसे ब्रस्ट फायर कहते है !
  • ब्रस्ट कितना लम्बा हो यह टारगेट के रेंज किस्म और फायरर की काबिलियत पर निर्भर करता है !
  • 2 से 3 राउंड का ब्रस्ट सबसे अच्छा मन जाता है !
  • 4 से 4 राउंड का ब्रस्ट टारगेट पर फैलकर लगता है , जिससे फायरर अपनी मार को देखकर मुनासिब करेक्शन दे सकता है !
  • 6 से 8 राउंड का ब्रस्ट हरकती टारगेट को बर्बाद करने के लिए सबसे अच्छा मना गया  है !
(ii) रैपिड फायर(INSAS LMG Se rapid fire) :  रैपिड फायर में लगातार फायर किया जाता है. इसमें Stop और GO की करवाई सिंगल शॉट की तरह ही होती है ! लेकिन स्टॉप के आदेश पर LMG को कॉक करके HOD लगा दिया जाता है ताकि  बैरेल ठंढा हो जाए ! इसमें 1 मिनट में 150 राउंड के हिसाब से फायर किया जाता है !


लिम्बर उप की करवाई(Limber up ki karwai)  : फायरिंग से पहले फायरर को चाहिए की वोह दुरुस्त पोजीशन इख़्तियार करने के बाद टारगेट पर सही शिस्त लेते हुए LMG को आगे और पीछे की हरकत देकर अपनी पोजीशन चेक करे. अगर फ़ॉर साईट टिप 12 बजे और 6 बजे की लाइन में हरकत कर रही हो तो फायरर को अपनी पोजीशन दुरुस्त Maन लेनी चाहिए ! इस करवाई को लिम्बर उप की करवाई कहते है ! ये करवाई फायरिंग के दौरान भी मौका मिलते ही कर लेनी चाहिए !


यह रहा LMG के दो प्रकार के फायर  और  फायर करने का तारिका अगर पोस्ट पसंद आये या कोई सजेसन हो तो निचे कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे !

No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...