Sponser


Saturday, February 20, 2016

.303 LE राइफल का इतिहास

आपने हथियारों की जानकारी की श्रृखला को आगे बढ़ाते हुए आज जिस हथियार के ऊपर मै अपना ब्लॉग पोस्ट कर ने जा रहा हु वो है .303 राइफल ऐसे तो .303 राइफल !

हम जब आर्म्ड फ़ोर्स ज्वाइन किये उस समय तो ये एक्टिव ड्यूटी से हट गया था लेकिंग ट्रेनिंग में बेसिक सिखालायी जैसे की .303 rifle parts name , .303 rifle weight  और उसका और सब बेसिक टेक्निकल डाटा बताया गया और हैंडलिंग ड्रिल इत्यादि सिखाई गयी थी लेकिंग जब हम पोस्टिंग पे गए तो बहुत जगह  पुलिस थानों में इस वेपन को देखने मिला जहा पुलिस जवान इसे परेड ड्रिल और सेकुरीटी ड्यूटी के दौरान उसे अच्छी तरह से हैंडल करने को मिला ! आज के पोस्ट को मै दो भागो में पूरा करूँगा !



(क) .303 राइफल का ओरिएंटेशन:ब्रिटिश सरकार आपने आर्मी के लिए एक अच्छी राइफल की खोज में थी और इसी दिशा में काम करते हुवे ब्रिटिश आर्मी ने 1880 में बहुत से राइफल सिस्टम पे काम किया और उसीके फलस्वरूप  एक कनाडियन नागरिक जिनका नाम  जेम्स पेरिस ली जो इनफील्ड कंपनी में कम करते थे उन्होंने  ने इस राइफल को इन्वेंट किया1 बाद में उन्ही के नाम पे इस राइफल का नाम पड़ा short मगज़ीन ली इनफिल्ड राइफल.
.303 राइफल बहुत से वैरिएंट में होते है और ओ इसप्रकार है :
  • राइफल .303 न.-1 मार्क -III
  • राइफल .303 न.-2 मार्क -IV(रिम फायर)
  • राइफल .303 न.-3 मार्क -I डबल स्टार (पी-14)
  • राइफल .303 न.-4 मार्क -I
  • राइफल .303 न.-4 मार्क -I(टी)
  • राइफल .303 न.-5 मार्क -I(पेरशुट)
  • राइफल .22 CZ ब्रोनो मॉडल -2
  • राइफल ७.62 MMSL
बनावट : राइफल .303 न.-1 मार्क -III  में लीफ बेक साईट है जिसके ऊपर 200 गज से 2000 गज तक साईट होता है ! राइफल .22 न.-2 मार्क I (रीम फायर)मार्क-III का परिवर्तित रूप है जो जवानों को शुरू शुरू में फायर की सिखलाई के लिए प्रोयोग में लायी जाती थी ! इसका बोर .303" से .22" कर दिया गया है!


Lee Enfield Rifle .303 Mark-1
Lee Enfield .303 mark-1
Image source : wikipedial
 राइफल .303 न-3 मार्क-१ डबल स्टार (पी-14) मस्कट राइफल कहलाती है ! इसके ऊपर  रेंज 200 गज से 1700 गज मार्क है !
Lee Enfield Rifle .303 Mark-3
Lee Enfield Rifle .303 Mark-3
image source: Wikipedia
राइफल .303 न-4 मार्क-1 tangant और ड्यूल अप्र्चेर साईट की होती है ! tangant साईट  200 गज से 1600 गज तक तथा दो लाइन कटी होती है जो 1700 और 1800 गज जाहिर करता है ! ड्यूल अप्रेचेर साईट में 300 से 600 गज की साईट होती है इसका बोल्ट आगे की तरफ खुलता है !
Lee Enfield Rifle .303 Mark-4
Lee Enfield Rifle .303 Mark-4
image source:Wikipedia
राइफल .303 न-4 मार्क-१(टी) ये राइफल .300न-4 मार्क-१ की तरह ही होता है इस में  टेलिस्कोप लगाने के लिए पेड लगा  रहता है !राइफल .303 न-5 मार्क-१(पैराशूट) यह साइज़ में छोटी तथा हलकी है यह परा ट्रूप्स द्वारा प्रोयोग में लायी जाती है इसे जंगले कार्बाइन भी कहा जाता है ! राइफल .22 cz ब्रोनो मॉडल का बोर .22" हा इसके ऊपर रेंज 25 गज से 200 गज तक होता है !
.22 rifle
.22 rifle

 राइफल 7.62 SL ये एसएलआर की तरह का राइफल है. .303 rifle parts name ,.303 rifle weight  और बाकि सब टेक्निकल स्पेसिफिकेशन भी अलग अलग है  जिसे अगले पोस्ट में देखेंगे !

ये ब्लॉग पोस्ट  मेरे तरफ से रहा अगर आपके पास कुछ और जानकारिय है और आपको लगता है की उसके इसमें सामिल करना चाहिए तो जरुर बताई  उसे कमेंट बॉक्स में लिखे जिससे की दुसरे लोग पढ़ कर जानकारी हासिल कर सके और इस तरह से आप दुसरे को मदद कर सकते है.और अगर आप इस पोस्ट को लाइक करते है तो कृपया शेयर करेwww. twitter.com या google plus पे जिससे की दुसरे भी इसे पढ़ सके.

No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...