Sponser


Thursday, May 31, 2018

7.62 mm MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान में रखनेवाली बाते

पिछले पोस्ट में हमने MMG में पड़नेवाली रोके के कारण के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान में रखने वाली बातो के बारे में जानकारी प्राप्त करे !


जैसे की हम जानते है की MMG एक लम्बी दुरी तक मारकर करने वाली हथियार है !जिसे हम ट्राई पोड पे माउंट करके फायर करते है ! इसके ट्राई पोड का पूरा नाम माउंटिंग  ट्राई पोड 7.62 mm L4आ है जिसका वजन 31 पौंड 3 औंस या 14.2 किलोग्राम होता है !

जरुर पढ़े : 7.62mm एलेमजी का बेसिक डाटा और एलेमजी कि निरिक्षण करने का तरीका

फायरिंग के समय 4 बेल्ट रैपिड फायर के बाद इसकी बैरल की बदली की जाती है और इसके रियर साईट पर 200 से लेकर 1800 मीटर का रेंज लिखा रहता है !

इसमें इस्तेमाल होने वाले ट्रेसर राउंड 1000 मीटर तक रौशनी देता है और एंटी एयरक्राफ्ट रोल  के समय इसके बेल्ट बॉक्स में 47 ट्रेसर राउंड रखे जाते है  और बेल्ट बॉक्स के ऊपर लाल रंग से A/A लिखा रहता है !

इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए इसे हम निम्न भागो में आबंट दिए है :
1. गन को फायर के लिए तैयार  करते समय ध्यान में रखने वाली बाते ?
2. दिशा की गलती का क्या कारण है MMG फायर में ?
3.MMG के रेंज मालूम करने की कौन कौन सी विधि है? 
4. फ्लान्किंग फायर की किस्मे क्या होती है ?
5.डिफेंस में MMG का क्या काम है ?
6. एंटी एयरक्राफ्ट रोल में लगी MMGको देखनेवाली बाते ?
7. फ्लान्किंग फायर समय ध्यान में रखनेवाली बाते  है
8. हरकती  टारगेट को मारते समय ध्यान में रखने वाली बाते

जरुर पढ़े : 7.62mm LMG के मगज़ीन के भरना , एलेमजी को भरना , खाली करना और साईट को लगाने का तरीका

1. गन को फायर के लिए तैयार  करते समय ध्यान में रखने वाली बाते ?(Gn ko fire ke lie taiyar karte samay dhyan me rakhnewali bate):गन को फायर के लिए तैयार  करते सम्ह हमे निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए 
  • यकीन करे की गैस रेगुलेटर ठीक जगह और मौसम के लिहाज से सेट किया गया है !
  • बैरल ठीक लगी हुई है !
  • तेल और सफाई के सामान उपलब्ध है !
  • साईट कसी  हुई हो 
  • बेल्ट के पुर्जे को बेक और बंद करे  
2. दिशा की गलती का क्या कारण है MMG फायर में ?(Disha ki galti ka kya karan hota hai MMG ke fire me): दिशा की निम्न गलतिय होती है :
  • पहलु की हवा 
  • शिस्त में मामूली गलती 
  • और ट्राई पोड की थरथराहट 

जरुर पढ़े : 7.62 mm एलेमजी को खोलना जोड़ना और सके होलडोल के साथ आने वाले सामान


3.MMG के रेंज मालूम करने की कौन कौन सी विधि है? (MMG ke range malum karne ki kaun kaun si vidhi hai) रेंज मालूम करने की निम्न विधि है :
  • रेंज फाइंडर से 
  • नक़्शे से
  • की  रेंज से 
  • गन फायर करके 
4. फ्लान्किंग फायर की किस्मे क्या होती है ?(Flanking fire ki kisme kya hoti hai): निम्न किस्मे होती है फ्लंकी फायर की :
  • टारगेट को उस समय तक मारना  जब तक की उसकी तरफ एडवांस  कर रही अपनी सेना  सुरक्षित रहे !
  • सुरक्षा का ध्यान रखते हुए अपनी सेना के नजदीक से नजदीक फायर का  पर्दा बनाना 

5.डिफेंस में MMG का क्या काम है ?(Defence me MMG ka kya role hai?): MMG का डिफेन्स में निम्न रोल है :
  • बटालियन के फ्रंट को कवर करना !
  • बटालियन के गैप को कवर करना 
  • किसी खाली  फ्लेंक को कवर करना 
  • एंटी एयरक्राफ्ट रोल 
  • दो बटालियन के बिच के गैप को कवर करना 
6. एंटी एयरक्राफ्ट रोल में लगी MMGको देखनेवाली बाते ?(Anti aircraft role me MMG ko dekhnewali bate):  एंटी एयरक्राफ्ट रोल में लगे MMG में देखनेवाली बाते निम्न है :
  • पोजीशन हवाई शत्रु के छुपाव में हो 
  • पोजीशन आरामदेह हो 
  • हवाई जहाज के आने वाले रस्ते  पे कारगर फायर डालने वाला हो 
  • अगर जरुरी हो तो जमीनी शत्रु के ऊपर भी फायर डालनेवाला हो

जरुर पढ़े :7.62mm LMG का दुरुस्त शिस्त , दुरुस्त पकड़ और दुरुस्त फायर का तरीका

7. फ्लान्किंग फायर समय ध्यान में रखनेवाली बाते  है ?(Flanking fire ke kya fayde hai): फ्लान्किंग फायर के निम्न फायदे है :
  • अपनी सेना के पोजीशन का पता हो या किसी टाइम प्रोग्राम के मुताबिक काम कर रही हो 
  • फ्लान्किंग फायर देते समय बचाव के बुनियाद का 60 मिल्स रखा जय 
  • टारगेट को मारने की विधि बुनियादी कोण में शामिल किया 
  • हवा का हक़ को ध्यान में रखा  जाय 
  • बचाव का हक किसी दुरुस्त विधि से नापा जाय न की हाथ से 
8. हरकती  टारगेट को मारते समय ध्यान में रखने वाली बाते (Harkati target ko marte samay dhyan me rakhnewali bate)हरकती टारगेट को मारते समय ध्यान में रखने वाली कुछ बाते निम्न है :
  • नजर की लाइन को खड़ी और पड़ी बदलते रहना चाहिए 
  • रेंज में तबदीली करते रहना चाहिए 
  • टारगेट के कितने आगे फायर करवाया  जाय यह टारगेट के गति और दिशा  देख कर फिक्स की जाय 

इस प्रकार से MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान में रखनेवाली बातो से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज को लाइक करे के हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !

इसे भी पढ़े :
  1. नॉ-36 ग्रेनेड का खोलना जोड़ना और ग्रेनेड की चाल
  2. ग्रेनेड के हमला से बचाव और ग्रेनेड फेकने का तरीका !
  3. ट्यूब लौन्चिंग MK-I का बेसिक डाटा और विशेषताए
  4. राइफल ग्रेनेड फायर करने का तरीका और चाल
  5. X-95 राइफल का परिचय और बेसिक स्पेसिफिकेशन डाटा
  6. X-95 राइफल को खोलना जोड़ना तथा हिस्से पुरजो का नाम और साफ सफाई करने का तरीका
  7. X-95 रेफिले में लगने वाले साईट की जानकारी
  8. X-95 राइफल से फायर करने का तरिका
  9. 7.62 mm LMG की खुबिया ,कमिया और डिप्लॉयमेंट के उसूल
  10. 84 mm राकेट लांचर 2"और 51 mm मोर्टार के खुबिया , खामिया और डिप्लॉय करने का उसुल

No comments:

Post a Comment