Sponser


Friday, May 19, 2017

सिंपल ब्लो बैक और ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है

पिछले पोस्ट में हमने ब्लो बैक के सिद्धांत पे चलने वाले हथियार तथा उनके विशेषताओ के बारे में जाना ! इस पोस्ट में हम सिम्पल ब्लो बैक तथा ब्लो बैक विथ एपीआई(Simple blow back ttha blow back with API) के बारे में जानकारी हासिल करेंगे !


एक जवान को हथियार के चाल और उसके मेच्निस्म की जानकारी होनी चाहिए ताकि उस हथियार में पड़नेवाली किसी भी रोक के कारन को अच्छे से समझ सके और उसे दूर कर सके क्यों की हम जानते है की ऑपरेशन के दौरान जवान को खुद अकेले ही सभी करवाई करनी पड़ती है वहा न तो अर्मोरेर होता है न ही कोई और बल्कि खुद ही उसे सभी प्रकार के रोको को दूर करके लड़ाई की लड़नी पड़ती है ! इस लिए जरुरी है की एक जवान अपने पर्सनल वेपन तथा जिस किसी भी हथियार को ओ इस्तेमाल कर रहा है उसके चाल और मैकेनिज्म के बार में जानकारी रखे !

जरुर पढ़े :7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?

इस पोस्ट में हम निम्न विषय के बारेमे जानकारी प्राप्त करेंगे :
  1. सिम्पल ब्लो बैक क्या है (Simple blow back kya hota hai?)
  2. ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है (Blow back with API kya hota hai)
1. सिम्पल ब्लो बैक क्या है (Simple blow back kya hota hai?):
Simple Blow Back
Simple Blow Back
इस सिद्धांत में फायर होने से पहले राउंड चैम्बर में ठीक से बैठा होता है और ब्रीच ब्लाक स्थिर होता है ! राउंड फायर होने के बाद भारी ब्रीच ब्लाक तथा ताकतवर रीटर्निंग स्प्रिंग के मिले जुले दवाब के कारन ब्रीच ब्लाक तब तक पीछे नहीं आता है जब तक की गोली बैरल को न छोड़ दे! और सभी विशेषताए इस पोस्ट में बताई गयी विशेषताए इन हथियारों में मेकनिकल सेफ्टी प्राप्त करने में मदद करती है ! सिंपल ब्लो बैक के सिद्धांत पे चलने वाले कुछ हथियार इस प्रकार से है :
  • 9 mm स्टेन
  • 7.65 mm स्कोर्पियन मशीन पिस्टल (चेकोस्लाविया )
  • 9 mm पिस्टल उजी (इजराइल) 

2.ब्लो बैक विथ एपीआई क्या होता है (Blow back with API kya hota hai):
Blow Back with API
Blow Back with API
ब्लो बैक विथ एपीआई(Blow Back with API)में API का फुल फॉर्म(Full form of API) होता है 
एडवांस प्राइमर इग्निशन(Advance Primer Ignition)! इस सिद्धांत से चलने  वाले हथियारों में ब्रीच ब्लाक का वज़न कम करने के लिए एडवांस प्राइमर इग्निशन सिद्धांत का प्रयोग किया जाता है !

इस सिद्धांत में राउंड के चैम्बर में पूरी तरह बैठने से पहले ही राउंड का .22 कैप (Primer cap) फिक्स टाइप फायरिंग पिन से सिद्ध में आ जाता है और फायर होजाता  है! राउंड फायर होते समय ब्रीच ब्लाक अभी आगे ही जा रहा होता है !ब्रीच ब्लोक को आगे जाने का ताकत उसके ताकतवर रीटर्निंग रॉड से प्राप्त होता है और रीटर्निंग रॉड के मज्बोती से इस हथियार में मैकेनिकल सेफ्टी बनती है ! जब की सिंपल ब्लो बेक में राउंड पूरी तरह से चैम्बर में बैठने के बाद फायर होता है !

राउंड फायर होने के बाद पैदा हुए गैस दो प्रकार के काम करती है 
  • आगे जाते हुए ब्रीच ब्लाक के चाल को धीमा करना और रोकना तथा 
  • ब्रीच ब्लाक को पीछे धकेलना 
इस प्रकार से पैदा हुई गैस की आधिताकत ब्रीच ब्लाक को पीछे धकेलने में इस्तेमाल होती है इस लिए सिंपल ब्लो बैक से चलने वाले हथियारों के मुकाबले इस सिद्धांत से चलने वाले हथियारों का ब्रीच ब्लाक का वजन आधा होता है ! इस सिद्धांत से चलने वाला हथियार है जैसे 9 mm कार्बाइन 1A/1A1!

जरुर पढ़े :9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I

इस प्रकार से यहाँ सिंपल ब्लो  ब्लाक तथा ब्लो बेक विथ एपीआई के अंतर और कैसे काम करते है के बारे में एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे और अच्छे करने के लिए !
इन्हें भी पढ़े :
  1. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  2. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
  3. 9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I
  4. 5.56 mm INSAS LMG का बेसिक डाटा और स्पेसिफिकेशन
  5. इंसास राइफल का पार्ट्स का नाम और खोलना जोड़ना
  6. इंसास राइफल के डेलाइट टेलीस्कोपिक और पैसिव साईट का डिटेल.
  7. AKM राइफल का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  8. 7.62mm SLR के पार्ट्स का नाम और 7.62 mm SLRराइफल का चाल
  9. 7.62 mm MMG को खोलना और जोड़ने का तरीका
  10. 7.62 mm MMG को भरना और खाली करने का तरीका
  11. 7.62 mm MMG से फायर करने का तरीका
  12. 30 mm AGL का इतिहास और बेसिक टेक्निकल डाटा
  13. 84 mm राकेट लांचर के पार्ट्स का नाम और बेसिक टेक्निकल डाटा तथा विशेषताए

No comments:

Post a Comment

.