Sponser


Sunday, March 13, 2016

इंसास राइफल का पार्ट्स का नाम और खोलना जोड़ना

इस ब्लॉग पोस्ट में मै 5.56 mm  इंसास राइफल को string& assembling और पार्ट्स नाम और फंक्शन को बताएँगे ! किसी भी हथियार के खोलने के लिए एक सीक्वेंस होता है और उसी सीक्वेंस में हथियार को खोला जाय तो हथियार आसानी से खुल भी जायेंगा और पार्ट्स -पुर्जो की  टूटने का भी सम्भानाये बहुत कम रहती है !



इसी लिए कभी भी ओ चाहे ट्रेनिंग के दौरान या समान्य ड्यूटी के दौरान हमेश हथियार को सिखाये हु तरीके और सीक्वेंस में खोलना चाहिए !
5.56 mm इंसास को खोलने का तरीका और सीक्वेंस :(Striping & Assembling of 5.56 mm INSAS Rifle)
forpoliceman-इंसास राइफल को खोलन जोड़ना
इंसास राइफल को खोलन जोड़ना - इमेज सोर्स google 

  1. सबसे पहले मागज़ीने को उतारे और चेंज लीवर को R या B पर करे और राइफल को कॉक करे !
  2. बोयानेट कैच को आबैते हुवे बेनट को उतारे !
  3. स्लिंग को खोले 
  4. दहिनेहाथ की कलमे वाली ऊँगली से रातैनेर लॉकिंग लीवर को दबाते हुवे अंगूठे से रिटेनर को आगे करे आर रिसीवर कवर को खोले!
  5. पिस्टन एक्सटेंशन और रेकोइल स्प्रिंग को बहार निकाले!
  6. पिस्टन एक्सटेंशन से रोटेटिंग बोल्ट को अलग करे 
  7.  गैस टब लॉकिंग कैच को 90 डिग्री में खड़ा करते हुवे गैस तुबे को अलग करे !
  8. फायरिंग पिन और एक्सट्रैक्टर खोलने केलिए ड्रिफ्ट की मदद से पहले पिन फायरिंग अक्सिक्स पिन और बाद में एक्सट्रैक्टर एक्सिस पिन को खोले !
  9. मगज़ीन को खोलने के लिए स्टड को दबाते हुवे बॉटम प्लेट को खोले और स्प्रिंग को निकले !
5.56 mm इंसास को जोड़ने का तरीका और सीक्वेंस :  जिस सीक्वेंस में हम इंसास को खोते है ठीक उसके विपरीत सेकुंस में यानि जो पुर्जा सबसे लास्ट में खुला है उसे सबसे पहले जोड़ते है! और आखिर में कॉक कर के ट्रिगेर दबाते है !

5.56 mm इंसास राइफल के हिस्से पुर्जे और उनके काम : इंसास राइफल मोटे तौर पे 12 असेसोरिएज की बने होते है जो की निम्न है :
1.    बरेल असेंबली : (Barrel Assembly)
  1.  फ़्लैश एलिमिनाटर : फायर के दौरान पैदा होए वाले फ़्लैश को हाईड करता है जिससे की फरे का पोजीशन पता नहीं चलता है और ग्रेनेड प्रोजेक्टर का भी काम करता है !
  2. बरेल : गोली को सही दिश में जाने में मदद करता है ! इसमें ग्रूव्स और लैंड होते है जो गोली को स्पिन देता है जिससे गोल को स्थिरता मिलती है !
  3. लग बेनट : बेनट को फिट करनेका काम आता है !
  4.  गैस वेंट और गैस प्लग : गैस वेंट के ऊपर लगी पूरी एक्सेसरी को गैस ब्लाक कहते है इसी के द्वारा गैस गैस सिलिंडर में दाखिल होती है 
  5. गैस रेगुलेटर , गैस स्केप होल : ये गैस की मात्र को कण्ट्रोल करता है इसकी दो पोजीशन होता है : लो और हाई !
  6. लूप फ्रंट स्लिंग : स्लिंग लगाने का काम आता है !
2.    हैण्ड गार्ड : ये राइफल को पकड़ने का काम आता है जिसक कैप के द्वारा फिट किया जाता है ! इसके अन्दर एक रेफ्लेक्टोर होता है जो हैण्ड गार्ड को गरम होने से  बचाता है !

3.    कोककिंग हैंडल असेंबली : राइफल को कॉक करने में मदद करता है स्लाइड के पिछले हिस्से में लगा होता है  इसके पुरजो का नाम इसप्रकार है:
  1. कोच्किंग हैंडल 
  2. स्लाइड
  3. प्लंजर 
  4. पिन 
    4.   बॉडी हाउसिंग असेंबली . ये 1 mm सिट मेटल का बना होता है और इसके पार्ट्सहोते है  :
    1. लेफ्ट चैनल 
    2. राईट चैनल
    3. सेफ्टी सियर 
    4. एजेक्टोर
    5. स्पसर 
    6. रियर ब्लाक 
      5.  कवर असेंबली : और इसमें लगे पुर्जे होते है .
      1. हिन्ज
      2. मेल dovtail
      3. रियर साईट हाउसिंग 
      6. ट्रिगेर मेच अस्सेब्ली
      1. TRB
      2. हैमर 
      3. ट्रिगेर सियर 
      4. अक्सुलारी सियर 
      7.  पिस्तौल ग्रिप असेंबली .
        8.   बट असेंबली : इसमें जो पुर्जे होते है .
        1. बट प्लेट
        2.  बट ट्रैप 
        3.  स्लिंग लूप
        9   पिटन एक्सटेंशन असेंबली 
        1. पिस्टन 
        2. कैम वे 
        3. स्टेम 
        4. रेकोइल स्प्रिंग housing
        5. राईट लग 
        6. बटम सरफेस 
          10. रोटेटिंग बोल्ट असेंबली :और इनके अन्दर के पुर्जे .
          1. कैम 
          2. फायरिंग पिन 
          3. लॉकिंग लग 
          4. फीड पिस 
          5. एक्सट्रैक्टर 
              • .
            11.  रेकोइल स्प्रिंग असेंबली  और इनके पुर्जे है .
            1. Stopper.
            2. गाइड
            3. स्प्रिंग 
            12 . मग्जिन असेंबली  और इनके पुर्जे .

              1. लिप्स 
              2. प्लेटफार्म 
              3. बॉटम प्लेट 
              4. डिम्पल
              5. रिटेनर 
              6. स्प्रिंग 

              अगर आपको लगता है की इसके अलावा भी कुछ और इस पोस्ट में  लिखा जाना चाहिए तो  तो कृपया निचे कमेंट बॉक्स में लिखे  की दुसरे लोग पढ़ कर जानकारी हासिल कर सके और इस तरह से आप दुसरे को मदद कर सकते है.और अगर आप इस पोस्ट को लाइक करते है तो कृपया शेयर करे www.twitter.com , www.facebook.com या google plus पे और Email address enter कर सब्सक्राइब भी कर सकते , जिससे की आपको, मेरे हर नयी पोस्ट की जानकारी आपके ईमेल के द्वारा मिल जाएगी .

              इन्हें भी पढ़े :
              1. 7.62 mm एसएलआर का बेसिक डाटा -I
              2. 7.62 Self Loading Rifle basic data-II?
              3. 7.62 Self Loading Rifle basic data-III?
              4. अच्छे राइफल फायर कैसे बने ? 
              5. फायरिंग के दौरान फायरर द्वारा की जानेवाली कुछ गलतिया ? 
              6. 7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?
              7. 7.62mm LMG के बारे में कुछ जानकारिय
              8. 7.62mm ki chal. एस एल आर कैसे काम करता हा(एसएलआर की चाल). 
              9. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.

              3 comments:

              1. purpose of flash hider is to protect shooter from blinding in night firing...

                ReplyDelete
                Replies
                1. You are right Manesh, flash hider is for minimising the flash after bullet fired so in night time it will not disclose the location of firer.

                  Delete
              2. Insas राइफल का T.E.O.T. कितना हैं और कौन कौन ।
                बताये ।

                ReplyDelete

              Addwith

              Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...