Sponser


Thursday, August 18, 2016

ट्राईपोड़ और LMG को माउंट और डिसमाउंट करने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने 7.62 LMG के चाल और रोके के बारे में जानकारी हासिल की इस पोस्ट  में हम LMG को ट्राईपोड़ पर माउंट और डिस माउंट(LMG ko Tripod par mount ar dismount karne ka taarika) करने के बारे में जानकारी शेयर करेंगे !



ट्राईपोड़ की जरूरियात(Tripod ki jarurat) :  ट्राईपोड़ के सहायत से LMG को एक फिक्स्ड लाइन पर माउंट कर के अँधेरे तथा कम रौशनी के समय में ज्यादा तादाद में फिरे डाला जा सकता है और साथ ही दुरुस्ती के साथ लम्बे दुरी के टारगेट को भी फायर से बर्बाद कियाजा सकता है ! ट्राईपोड़ के इस्तेमाल से LMG 1000 यार्ड तक  के टारगेट को इंगेज कर सकती है !
LMG Tripod Mounting
Tripod Mounting- Source:CRPF precise
ट्राईपोड़ स्तेमाल के फायदे(Tripod ke istemal ke fayde) 
ट्राईपोड़  के इस्तेमाल से LMG को  मजबूती और स्थिरता मिलती है जिससे LMG फिक्स्ड लाइन पर या दी हुई हद के अन्दर  , अँधेरे या कम रौशनी में बचाओ(safety) का फायर दे सकते है !

LMG ग्रुप ट्राईपोड़ से फायर करते समय बहुत नजदीक तक फायर दे सकते है  और स्पेयर बैरल के साथ काफी देर तक और ज्यादा तादाद में फायर डाल सकते है !

अच्छी रौशनी में ट्राईपोड़ का इस्तेमाल नहीं करते है क्यों की हम बाईपोड़ से कफी मूवमेंट के साथ टारगेट को देख कर हिट कर सकते है! जब की ट्राईपोड़ से बहुत ही सिमित एरिया में ही घुमाके फायर किया जा सकता है

यह बहुत जरुरी है की ट्राईपोड़ का इस्तेमाल करते समय आड़ का पूरा इस्तेमाल किया जाय , इस लिए बेहतर होगा की इसे आड़ के पीछे माउंट किया जाए और केवल बैरल ही  आड़ से उप्पर होनी चाहिए !

जरुर पढ़े :AKM का चाल और उसका पार्ट्स का नाम

ट्राईपोड़ पर LMG को माउंट करने का तरीका (Tripod par LMG ko mount karne ka tarika): 

  1. LMG को ट्राईपोड़ के ऊपर माउंट करने के लिए फ्रंट और रियर मौन्टिंग पिन को निकले 
  2. दोनों मौन्टिंग हाउसिंग को मौन्टिंग के ऊपर रखे और पीन लगा दे !
  3. LMG को आड़ से थोडा सा ऊपर हो और सियार लेगों को इतना हरकत दे की LMG तक़रीबन टारगेट के सिद्ध में आ जाये !
  4. बाद में अगर  ज़रूरी हो तो आड़ थोडा तबदीली करते है और इस बात का यकीन करते है की :
  • सभी क्लैंप(Clamp)  कसे हुए है और ट्रेर्विसिंग एरिया(Treversing area) समतल है !
  • लेग्स (Legs)को ठोकर मार कर जमीन में मजबूत कर दे और अगर संभव हो तो लेग्स  पर सैंड बैग या कोई वज़न  दार  बस्तु रख दे जिससे की फायर के  समय कम से कम मूवमेंट हो !

ट्राईपोड़ पर LMG को माउंट के ऊपर शिस्त लेने का तरीका(Tripod par LMG ko mount ke upar shist lene ka tarika) :
  1. रेंज मिलने पर साईट लगाए!
  2. LMG को कॉक करे 
  3. टारगेट दिखाई देने पर  आँख को दुरुस्त ऐमिंग पोजीशन में रखते हुए टारगेट पर शिस्त ले !
  4. ट्रावेर्स क्लैम हैंडल को ढीला करके और टेर्वेर्सिंग स्लाइड को घुमा कर दिशा हासिल की जा सकती है ! घुमाने के बाद लम्पिंग हैंडल कास दे !
  5. एलिवेशन हासिल करने के लिए एलेवेटिंग नट क्लैंप को ढीला कर दे और एलेवेतिंग नट को घुमाये ! अगर ज्यादा तबदीली करने की जरुरत है तो एलेवेटिंग स्लीवे को दुबारा तरतीब देने की जरुरत पड़ेगी ! 

जरुर पढ़े : AKM राइफल का बेसिक टेक्नीकल डाटा

ट्राईपोड़ पर LMG को माउंट के ऊपर से फायर करने का तरीका(Tripod par mount karke fire karne ka tarika) : जब LMG  ट्राईपोड़ से फायर कर रही हो तो आमतौर पर 4-5 राउंड्स का ब्रस्ट फायर किया जाता है , लेकिंग कभी कभी से भी बड़े ब्रस्ट की भी फायर किया जा सकता है ! फायर करते वक्त ये जरुरी नहीं है की बट कंधे में हो , केवल शिस्त चेक करते समय बट कंधे में लगाया जा ता है !

ट्राईपोड़ और  LMG को डिसमाउंट करने का तरीका(Tripod se dismount karne ka tarika): LMG और ट्राईपोड़ को डिसमाउंट करते समय LMG और  ट्राईपोड़ को आड़ से पीछे लाये ! अगर LMG भरी हुई है तो खली करे ! फिर माउंट करने के तरतीब के उल्टा करवाई करते हुए LMG और ट्राईपोड़ को डिस माउंट करे !डिस माउंट के बाद सभी मौन्टिंग पिंस अपनी जगह पर लगा दे ! और सभी क्लाम्प्स को दुबारा कास देना चाहिए ! आखिर में LMG के ऊपर मगज़ीन चढ़ानी चाहिए !
इस प्रकार से ट्राईपोड़ पर LMG को माउंट और डिस माउंट की करवाई की जाती है ! आशा ही की पोस्ट पसंद आएगा और कोई कमेंट हो तो निचे कमेंट बॉक्स इ जरुर लिखे !ब्लॉग को सब्सक्राइब कर हमलोगों को सपोर्ट  करे !

इस ब्लॉग से कोई भी पोस्ट रिलेटेड पीडीऍफ़ डाउनलोड(PDF version ) करना होतो आप डाउनलोड सेक्शन में जा कर कर सकते है ! और इस पोस्ट के डॉक्यूमेंट वर्शन और पीडीऍफ़ वर्शन डाउनलोड  करने  के लिए ब्लॉग सबस्क्राइब  करे !
इसे भी जरुर पढ़े :
  1. अच्छे राइफल फायर कैसे बने ? 
  2. फायरिंग के दौरान फायरर द्वारा की जानेवाली कुछ गलतिया ? 
  3. 7. 62 mm राइफल में पड़ने वाले रोके कौन कौन से है ?
  4. 7.62mm LMG के बारे में कुछ जानकारिय
  5. 7.62mm ki chal. एस एल आर कैसे काम करता हा(एसएलआर की चाल). 
  6. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  7. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  8. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  9. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  10. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया

No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...