Sponser

Search

Sunday, September 16, 2018

सुसाइड अटैक से निपटने के लिए सिक्यूरिटी अरेंजमेंट

पिछले पोस्ट में हमने आतंकवादी संगठन सुसाइड अटैक के लिए कब उतारू होते  है उनके बारे में जानकारी प्राप्त की और अब इस पोस्ट में हम जानेगे  की सुसाइड अटैक से निपटने के लिए सिक्यूरिटी अरेंजमेंट कैसे किया जाय (Suicide attack se niptne ke lie security arrangement kaise kiya jaay) की सुसाइड अटैक को बिफल किया जा सके !


जैसे की हम जानते है की वर्तमान सुरक्षा के बातावरण में सुरक्षा बालो के सब तरह के खतरे निपटने के लिए अपने आप को तैयार रखना पड़ता है  क्यों की आतंकवादी आज कल मल्टी डायमेंशनल हो गए है और ओ किसी भी रूप और किसी भी नई रणनीति के रूप में आकर सुरक्षा बालो के ऊपर हमला कर सकते है !

जरुर पढ़े:टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I

और आतंकवादियो के रणनीति के ध्यान में रखते हुए सुरक्षा बल भी अपनी ट्रेनिंग और तैयारी करते रहते है ताकि  आतंकवादी के हर एक मनसूबे को बिफल किया जाय सके !

पोस्ट पर होने वाले खतरों के अनुसार तीन से लेकर पांच प्रकार की सुरक्षा व्यवस्था फिदायीन हमला को रोकने के लिए  की जा सकती है और इस ब्लॉग पोस्ट में हम उन पांच प्रकार के सिक्यूरिटी अरेंजमेंट के बारे में जानेगे :
Suicide Attack Security Arrangement
Suicide Attack Security Arrangement
1.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का पहला घेरा (Suicide attack ke security arrangement ka pahla tier )
2.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का दूसरा  घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka second tier )
3.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का तीसरा घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka third tier )
4.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का चौथा  घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka fourth tier )
5.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का पाचवा  घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka fifth tier )

जरुर पढ़े:कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी

1.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का पहला घेरा (Suicide attack ke security arrangement ka pahla tier )

इस घेरा के अन्दर हम कुछ एक  निम्नलिखित सिक्यूरिटी अरेंजमेंट करते है :
  • पोस्ट के चारो ओर दोहरी तारबंदी और उनके बीच में ट्रिप फ्लारे, क्ले मोरे माइन , धोखे  का फंदा कॉन्सरटीना वायर तथा स्टन ग्रेनेड लगाये जा सकते है !
  • पोस्ट के अन्दर आने जाने का रास्ता कम से कम (एक या दो ) अच्छा होना चाहिए यदि एक ही रास्ता हो और दूसरा आपातकालीन !
  • पोस्ट के चारो तरफ किलाबंदी को इस प्रकार लगाये की चारो तरफ की एरिया को देखभाल और असरदार फायर से कवर किया जा सके !
  • गेट पर मजबूत बैरियर लगाये !
  • गेट पे बैरियर से हट कर मजबूत सन्तरी पोस्ट बनाये !
  • गेट पर संतरी जोड़े में लगाये , पहला संतरी चेकिंग कर रहा हो तो दूसरा संतरी उसे कवर कर के रखे !
  • पोस्ट का इलाका बडा होने पर पैरामीटर के चारो तरफ पेट्रोलिंग करने की व्यवस्था कर उसे इलाके में एरिया डोमिनेंट करने के लिए दुसरे ट्रूप्स से मिलाप रखे !

2.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का दूसरा  घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka second tier )

इस घेरा के अन्दर हम कुछ एक  निम्नलिखित सिक्यूरिटी अरेंजमेंट करते है :
  • गेट पर पहले संत्री पोस्ट के पीछे थोड़ी दूर पर दूसरा संतरी पोस्ट ऐसा बनाये जहा से पहले संतरी को असरदार फायर से मदद दी जा सके !
  • रहने की बैरक , बिल्डिंग , टेंट के चारो तरफ सैंड बैग की छोटी दिवार अर्थात बैरिकेड अवश्य बनाये ! ताकि फायर से बचने तथा जरुरत पड़ने पर उसके पीछे से  कवर लेकर फायर डाला जा सके !
  • ग्रेनेड फायरिंग से बचने के लिए मजबूत ओवर हेड कवर बनाये !
  • सभी संतरी बुलेट प्रूफ जैकेट तथा स्टील हेलमेट अवश्य पहने !
  • सभी जवान एक जगह नहीं बल्कि पोस्ट के अन्दर ही अलग अलग जगह पे रहे !

3.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का तीसरा घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka third tier )

    इस घेरा के अन्दर हम कुछ एक  निम्नलिखित सिक्यूरिटी अरेंजमेंट करते है :
    • पोस्ट के अन्दर इलाका छोटा होने पर एक और बड़ा होने पर दो या दो से ज्यादा सेंट्रल सिक्यूरिटी कमांड पोस्ट(Central Security Command Post) को हर हाल में स्थापित करे ! ये जगह उच्ची और ऐसी होनी चाहिए जहा से पोस्ट के अंदर और पोस्ट के बहार भी देखभाल तथा फायर से डोमिनेंट किया जा सके तथा जहा फिदायीन का पहुच थोडा मुस्किल  हो !
    • मैंन  गेट पर डबल बैरियर लगाये,जिनके बिच 10 से 15 मीटर दुरी होनी चाहिए !
    • दोनों बैरियर के बिच कटीले बोर्ड का प्रयोग में लाये ताकि घुसपैठिये की गाड़ी को पंचर किया जा सके !
    • मेन  गेट पर पहले बैरियर के आगे दोहरा स्पीड ब्रेकर  लगाये !

    4.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का चौथा  घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka fourth tier )

     इस घेरा के अन्दर हम कुछ एक  निम्नलिखित सिक्यूरिटी अरेंजमेंट करते है :
    • पोस्ट ज्यदा सेंसेटिव होने पर रहने वाली जगहों पर संतरी अवश्य लगाये ख़ास तौर में रात में !
    • यकीं करे की जवानों के रहने की बैरक के अन्दर जाने का रास्ता एक हो लेकिन निकलने के लिए दो या दो से ज्यादा आपातकालीन रस्ते हो !
    • QRT अवश्य बनाये और उसे अच्छी तरह से अभ्यास कराये !

    5.फिदायीन हमला के सिक्यूरिटी आरंगेमेंट का पाचवा  घेरा  (Suicide attack ke security arrangement ka fifth tier )

     इस घेरा के अन्दर हम कुछ एक  निम्नलिखित सिक्यूरिटी अरेंजमेंट करते है :
    • असरदार अर्ली वार्निंग सिस्टम  का प्रयोग करे ताकि आराम करते हुए ट्रूप्स के पास फिदायीन के पहुचने से पहले, ट्रूप्स अलर्ट हो जाये और कवर के पीछे पोजीशन लेले और फिदायीन के आते ही उसे मार गिराए !
    • पोस्ट के चारो तरफ एक असरदार और मजबूत ख़ुफ़िया नेटवर्क स्थापित करे ! जिससे की फिदायीन द्वारा पोस्ट के देखभाल को रोका जाय !
    • आस पास के पोस्ट /यूनिट के साथ दोहरी संचार व्यवस्था स्थापित करे 
    • पोस्ट पर हर समय ट्रांसपोर्ट की सुविधा अवश्य होना चाहिए !
    • फाॅर्स जैसी यूनिफार्म पहन कर अन्दर आने वाले को चेक करने से पहले कोड वर्ड  , पासवर्ड और दुसरे चेक पॉइंट का प्रयोग में लाये !
    • अगर संभव होतो इमरजेंसी सर्च लाइट और नाईट विज़न इक्विपमेंट का प्रयोग में लाये !
    • आवश्यकता के अनुसार जानकारी (Need to know basis) को मध्य नजर रखते हुए ही सीनियर ऑफिसर /VIP के आने जाने का प्रोग्राम छोटे कमांडर को बताये सब को नहीं !
    • ज्याद सेंसिटिव पोस्ट होने पर सिविल कपडे में पोस्ट के बहार लुक आउट पर भी अपने लोगो को लगा देना चाहिए !
    • कण्ट्रोल में रखते हुए ट्रूप्स में टारगेट ओरिएंटेड फायर करने की क्षमता अवश्य पैदा करना चाहिए !
    • मेन  गेट पर कांस्टेबल के साथ साथ NCO रैंक का आदमी भी अवश्य लगाये !

    सिक्यूरिटी प्रोन एरिया में रहते हुए जानने वाली कुछ बाते :

    • सभी पांचो तरह की सिक्यूरिटी व्यवस्था का समय समय पर रिहर्सल किया जाये जिससे की ट्रूप्स इन सिस्टम को अच्छी से समझले और उनमे अलर्टनेस की क्षमता पैदा हो जाये !
    • यकीं  करे की सभी सेंसिटिव पोस्ट पर हर वक्त गाडिया मौजूद हो इससे जवानों में कॉन्फिडेंस पैदा होता है !
    • स्ट्रोम इन ड्रिल (Strom in drill) का लगतार अभ्यास करते रहे !!
    • QRT को किसी भी परिस्थिति में कार्यवाही से निपटने के लिए अपने रोल और टास्क की पूरी जानकारी होनी चाहिए! साथ ही अभ्यास भी कराये !
    • आतंकवादियो की कार्यवाही तथा मिलने वाली इंटेलजेन्स रिपोर्ट से ट्रूप्स को लगातार आवगत कराते रहे !
    • जिम्मेवारी के इलाके में हमेशा छाये रहे !
    • लोकल पुलिस , एडमिनिस्ट्रेशन और सिलेक्टेड लोकल सिविलियन के साथ अच्छा मिलाप बनाकर रखे !
    • लोकल नोटोरिअस(Notorius) और मिलिटेंट माइंडेड सिविलियन(Militant minded Civilian) के ऊपर कड़ी नजर रखे !
    • ट्रूप्स को लोकल सिविलियन , खासकर दुकानदार सप्लायर और पोस्टमैन के साथ ज्यादा घुलने मिलने नहीं दे !
    • यकीं करे की जवान जब पोस्ट के अन्दर होतो अपने आपको पूरी तरह से सुरक्षित समझे जिससे उनमे तनाव कम होगा और अनजाने भय की भावना पैदा नहीं होगी ! लेकिंग इसमें ट्रूप्स सेल्फ कोम्प्लेसमेंट(Complacement) नहीं होना चाहिए ! बल्कि उनमे सतर्कता उच्चे दर्जे की बनी रहनी चाहिए!
    • पोस्ट पर बनाई गई सिक्यूरिटी व्यवस्था का रख रखाव लगतार करते रहना चाहिये !
    • कमांडर अपने ट्रूप्स पर भी क्लोज वाच रखे की किसी आतंकवादियो ने विन ओवर(Win Over) तो नहीं कर लिया या अपना आदमी प्लांट तो नहीं कर दिया !
    • सोर्स/इन्फोरमर से मिलाप के लिए छुपे तरीके का हो प्रयोग में लावे !
    • सिविल एक्शन करते समय विशेस सावधानी बरते ! यह कार्य पोस्ट से थोड़ी दूर पर ही करे अन्दर से नहीं !
    • कामोफ्लाज कांसाल्मेंट की अच्छी तकनीक का प्रयोग करके पोस्ट के सिक्यूरिटी अरेंजमेंट को इतना (Deceptive)छुपाव बनाया जाय जिससे पोस्ट पर एक अच्छी सिक्यूरिटी अरेंजमेंट होने का पता ही न चले इस तरीके से फिदायीन को पोस्ट पर हमला करने के लिए इनभाइट किया जाय ताकि उन्हें ट्रैप किया जाय !
    • पोस्ट के अन्दर सख्ती से IFF(Identification of Friend and Foe) प्रोसीजर का इस्तेमाल किया जाय और रेस्पेक्ट आल एंड सस्पेक्ट आल (Respect all and suspect all )का सिद्धांत अमल में लाना चाहिए !
    जरुर पढ़े:3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
    • किसी गाडी के चारो होने या फिदायीन हरकत के बारे में खबर मिलने पर पोस्ट के सभी लोगो को तुरंत बता देना चाहिए और चौकसी बढ़ा देनी चाहिए !
    • जवानों को साफ़ साफ़ बताये की फिदायीन के पोस्ट के अन्दर घुसने पर कोई भी अपनी जगह छोड़ेगा नहीं जब तक की उसको कमांडर द्वारा हुकुम नहीं देगा !
    • रेंफोर्समेंट ट्रूप्स को कण्ट्रोल तरीके से प्रयोग में लाये क्राउड नहीं होने दे ताकि मिलिटेंट को दुसरे ब्लास्ट या ग्रेनेड फायर से बचा जा सके !
    • हमला किये गए पोस्ट को चारो तरफ से तुरंत घेर ले ताकि बहार से कोई दूसरा फिदायीन हमला न कर सके और नहीं अन्दर वाले फिदायीन को किसी प्रकार से मदद मिल सके !
    • सीनियर ऑफिसर हमला किए गए पोस्ट के अन्दर घुसते समय कम से कम आदमी रखे ताकि फिदायीन के फायर  के लिए बड़ा टारगेट न बन सके !
    • फिदायीन हमला होने पर बचाव और फ्लशिंग आउट ऑपरेशन(Flushing out operation) बहुत ही कोऑर्डिनेटेड और ध्यानपूर्वक तरीके से वहा पे मौजूद सीनियर ऑफिसर की कमांड में ही किया जाय !
    • फिदायीन हमला होने पर रेस्क्यू और जवानों का मूवमेंट के लिए बुलेट प्रूफ बंकर या बुलेट जिप्सी का प्रयोग करना लाभदायक होगा !
    • फिदायीन हमला होने पर फायर ब्रिगेड और नजदीकी हॉस्पिटल को तुरंत लोकल पुलिस कण्ट्रोल रम द्वारा खबर देकर अलीर्ट करा दे !
    • जिस जगह पर आवश्यकता के अनुसार सिक्यूरिटी अरेंजमेंट  करना संभव नहीं हो पता तो वहा पर पोस्ट कभी भी स्थापित न करे बल्कि थोडा हटा कर स्थापित करे !

    इस प्रकार से आप सुसाइड प्रोन एरिया में सिक्यूरिटी अरेंजमेंट  कर सकते है और साथ में अपने जवानों को इतना सुसाइड हमले के बारे में सचेत  कर सके!उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !   
    इन्हें  भी  पढ़े :
    1. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
    2. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
    3. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
    4. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
    5. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
    6. फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
    7. अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
    8. रोड ओपनिंग पार्टी/पट्रोल और उसके महत्व के बारे
    9. कॉन्वॉय कितने प्रकार का होता है ? कॉन्वॉय प्रोटेक्शन की पार्टिया कौन कौन सी होती ?
    10. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें

    2 comments:

    1. Aw, this was an incredibly good post. Taking a few minutes and
      actual effort to produce a good article? but what can I say?
      I put things off a whole lot and never seem to get nearly anything done.

      ReplyDelete
    2. Very interesting topic, thanks for posting.

      ReplyDelete