Advertisement

Search

Sunday, September 9, 2018

विआइपी इंस्पेक्शन के दौरान व्यू पॉइंट ब्रीफिंग

पिछले पोस्ट में हमने मोबाइल चेक पोस्ट के बारे में जानकारी प्राप्त की और अब इस पोस्ट में हम जानेगे व्यू पॉइंट /सैंड मॉडल ब्रीफिंग कैसे दी(View Point/Sand Model Briefing kaise di jati hai) जाती है और  उसके साथ एक सैंपल ब्रीफिंग  भी देखेंगे !


जैसे की हम जानते है की व्यू पॉइंट ब्रीफिंग (View Point Briefing) या सैंड मॉडल ब्रीफिंग की ज्यादा तौर जरुरत उस समय पड़ती है जब किसी ऑपरेशन की तयारी या  कोई सीनियर अधिकारी या किसी वी आई पी(VIP) के आने पे उसे अपने पोस्ट या यूनिट के बारे में ब्रीफिंग करते है अगर ब्रीफिंग देने के लिए सैंड मॉडल का इस्तेमाल किया गया तो सैंड मॉडल ब्रीफिंग कहते है ! यदि अगर इनलार्जमेंट  का इस्तेमाल किया गया तो इनलार्जमेंट ब्रीफिंग कहते है !

जरुर पढ़े:सेक्शन फार्मेशन एंड प्लाटून फार्मेशन के फायदे और नुकशान

बहुत बार ऐसा होता है की पोस्ट या यूनिट के अन्दर एक ऐसा हाई ग्राउंड या हाई मोर्चा बनाया गया रहता है जहा से उस यूनिट का जिम्मेवारी के इलाके अच्छी तरह से दिखाई(View) देरहे हो और वहा  पर लेजा कर वी आई पी(VIP) को ब्रीफिंग दी जाए तो उसे व्यू पॉइंट ब्रीफिंग(View Point Briefing) कहते है !

इस पोस्ट को पढने के बाद आप व्यू पॉइंट ब्रीफिंग(View Point Briefing) से सम्बंधित  निम्न सवालो का जवाब जान पाएंगे !
सैंड मॉडल ब्रीफिंग
सैंड मॉडल ब्रीफिंग 
1.व्यू पॉइंट ब्रीफिंग(View Point Briefing)/सैंड मॉडल ब्रीफिंग में इन बातो को सामिल करना चाहिए (View Point Briefing me samil karne wali jaruri aur aham baate)
2.आउट पोस्ट का  वी आई पी (VIP) ब्रीफिंग  का एक नमूना (Example of unit's VIP briefing )

1.व्यू पॉइंट ब्रीफिंग(View Point Briefing)/सैंड मॉडल ब्रीफिंग में इन बातो को सामिल करना चाहिए (View Point Briefing me samil karne wali jaruri aur aham baate)

निरिक्षण के लिए आने वाले VIP अथवा उच्च अधिकारी को व्यू पॉइंट या सैंड मॉडल पर ब्रीफिंग के दौरान निम्न बातो को शामिल करना चाहिए !
  • जमीनी निशान 
  • सीमा रेखा जमीन पर कहा से गुजरती है 
  • आउट पोस्ट का काम 
  • जिम्मेवारी के इलाके में कोई डिस्प्यूटेड इलाका होतो उसकी जानकरी 
  • यूनिट का जिम्मेवारी का इलाका 
  • अपने सामने के इलाके(दुश्मन के इलाके ) के गाँव तथा उनका जनसख्या 
  • दुशमन का यूनिट और उनके नफरी और हथियार का ब्यौरा 
  • अपनी दाहिने और बाये का अपनी यूनिट 
  • अपनी तरफ के गाँव और उनके जनसख्या 
  • अपने एरिया में  होने वाले अपराध 
  • तस्करी बहार से आने और जाने वाली चीजे 
  • पेट्रोलिंग तथा अम्बुश नका के लिए यूनिट का टास्क 
  • अपने इलाके के पुलिस स्टेशन ,  कस्टम ऑफिस का डिटेल्स 
  • और कोई मुख्य बाते हो जिसे आप ब्रीफिंग में बताना चाहते हो !

2.आउट पोस्ट का  वी आई पी (VIP) का एक नमूना (Example of unit's VIP briefing )

  व्यू पॉइंट ब्रीफिंग नमूना 

मैं नम्बर 123456 , आर पी सिंह कंपनी कमांडर हु ! C कंपनी 21 Bn, CI पोस्ट बीरपुर  आपके निरिक्षण के लिए हाजिर है  इलाके का जानकारी व्यू पॉइंट से दूंगा  !

ब्रीफिंग शुरू करने का अनुमति चाहता हु श्री मान 

इनलार्जमेंट की जानकारी : यह इनलार्जमेंट CI पोस्ट बीरपुर के जिमेवारी तथा उसके आस पास के इलाके को जाहिर करता है जो इस प्रकार से है !

इसकी एक वर्ग भुजा जमीन पर दो किलोमीटर को दर्शाता है ! लालरंग के तीर के निशान से उतर दिशा को दिखाया गया है जो वास्तविक उत्तार के जाहिर करता है !

आम जानकारी : 

जमीनी हालत : यह इलाका मणिपुर राज्य के थोबल जिला में अंतर्गत आता है ! यह इलाका कही कही समतल जिसमे खेती बड़ी होती है कुछ इलाके पहाड़ी है जिसमे कुछ छोटी बड़ी पहाड़िया है !

स्थानीय लोगो के बारे में जानकारी : इस इलाके में मिली जुली जाती के लोग रहते है जिसमे 70% हिन्दू 20% क्रिस्चियन तथा 10% मुस्लिम है ! लोगो का मुख्या पेशा खेती वाड़ी , हाथ करघा , उद्योग तथा कुछ लोग नौकरी भी करते है तथा भाषा मणिपुरी है !
मुख्या गाँव : येरिपोक , केक्रण, सिक्मैई खैयाम , सिंगा , वान्खेम , तुलिहल , बामन लेखे , टॉप चीन 

रास्ता : यह पर सभी गाँव कच्ची तथा पक्की सडको से जुड़े हुए है !यह के एक पक्की सड़क जाती है जो थोबल में जाकर NH-39 से मिल जाती है तथा एक रोड करिपोक से आँगाक होते हुए इम्फाल को जाती है ! यहाँ एक बड़ी नदी है जो थोबल कैनाल के नाम से जाना जाता है और एक छोटा नाला है जिसे केकारू नाले के नाम से जानते है ! 

आम हालात: यह इलाका शुरू से ही उग्रवाद प्रभावित है !यह पर लगभग 32 उग्रवादी संगठन है  जिनमे से मुख्य: हमारे इलाके में सक्रीय है PLA, UNLF, PULF, KYKL और NSCN(K) यदि ! इनका मकशद न धार्मिक है न राजनैतिक बल्कि केवल इनका उद्देश्य लोगो से पैसा इकट्ठा करना तथा प्रताड़ित करना !

हमारा टास्क :
  • यह पर हमारा मकशद है उग्रवाद को रोकना 
  • स्थानीय लोगो के दिलो में सुरक्षा का भावना पैदा करना 
  • कानून  व्यवस्था को बनाये रखना 
  • स्थानीय प्रशाशनिक सन्सथानो के संपर्क में रहना 

टास्क को पूरा करने के लिए कार्यवाही :
  • पेट्रोलिंग : एरिया में दिन और रात को एरिया डोमिनेशन पट्रोल इलाके के अलग अलग पेट्रोलिंग के द्वारा एरिया मो डोमिनेंट किया जाता है !
  • अम्बुश : रात के समय में शाकीय स्थानों पर जहा पर उग्रवादियो के आने जाने के रस्ते है वह अम्बुश लगा कर उग्रवादियो को मरना या पकड़ना !
  • MCP- अलग अलग रास्तो पर थोड़े समय के लिए गाडियो तथा छोटे वाहनों को चेकिंग 
हमारी  बटालियन का डिप्लॉयमेंट इस प्रकार से है :
  • हमारा बटालियन हेड क्वार्टर - कुरंगी में है 
  • डी कंपनी - वान्ग्लिंग में 
  • ई कंपनी - सिकमई 
  • ऍफ़ कंपनी  - खेत्री 
  • जी कंपनी - हीरोक में 
  • तथा बी कंपनी येरिपोक में है 
हमारे दाहिने तरफ लगभग 200 गज पर आसाम राइफल की एक कंपनी है और  7 किलोमीटर दूर असम राइफल की दूसरी कंपनी है !

जरुर पढ़े:पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार

हमारे इलाके में आतंकवादी गतिविधिया :
  • हमारे इलाके में उग्रवादियो द्वारा  IED ब्लास्ट के कारण 5 सिविलियन मारे गए 
हमारा अचीवमेंट 
  • हमारे साधन एरिया पेट्रोलिंग के कारण हमने अभी तक करीब 10 उग्रवादियो को मार गिराया और करीब इतने ही पकडे गए !
  • हमारे नाईट नका पार्टी ने कैटल स्मुग्लेर्स को पकड़ा 
संचार के साधन : हमारे पास कंपनी से बटालियन हेड क्वार्टर और कंपनी से कंपनी  से मिलाप के लिए VHF, UHF तथा SMARTहै ! कंपनी से बहार  ड्यूटी जाने के लिए ट्रूप्स के साथ मिलाफ के लिए मोटोरोला हैण्ड सेट देते है !

स्थानीय लोगो से संपर्क :
  • हमारा असम राइफल तथा लोकल पुलिस के साथ अच्छा सम्बन्ध है 
  • स्थानीय लोगो तथा सिविल अथॉरिटी से हमारा सम्बन्ध अच्छे है ! शुरू शुरू में हमरे कैंप लगा तो लोग हमारे पास आने से दूर भागते थे लेकिन हमारे व्यवहार के कारण सिविल लोग हमारी फाॅर्स को बहुत अच्छा मानते है !
संदिग्ध इलाका : तोप्चिन ,पेची , खैरम  इन गाँव में उग्रवादियो का आना जाना है तथा अपनी मांग पूरी करके वापिस चले जाते है !

पाठ सिखा :  अपने डिप्लॉयमेंट के दौरान हमने जो अनुभव प्राप्त किया :
  • यह देखा गया है की मणिपुर में उग्रवादी सुबह या साम के समय फायर करते है इसीलिए इसी समय पर पेट्रोलिंग तथा अम्बुश बहार भेजा जाता है लेकिन अभी देखा गया है की उग्रवादी सुरक्षा बल पर किसी भी समय फायर कर सकते है !
  • जब उग्रवादी हामारे ऊपर फायर करते है तो LMG से उसी दिशा में फायर करके उग्रवादी को नुकशान पहुचाया जाता है !
  • रात के समय फायर आने पर एक या दो परा बम फायर किया जाता है !
  • CI रोल में फायर करते समय लोकल पब्लिक की सुरक्षा का ध्यान रखा जाता है !
नोट:- यह पर कैंप के चारो तरफ आबादी होने के कारण आवागमन तक़रीबन देर रात तक रहता है ! जिसके कारण हम जल्दी पता नहीं लगा पाते है की उग्रवादी कौन है और कौन नहीं !
  • अचानक पोस्ट पर फायर आने पर बहुत सोच समझदारी से काम लेना पड़ता है ताकि सिविल पब्लिक को नुकशान न हो !
यहाँ पर मेरी ब्रीफिंग संपत हुई ! 

नोट: इस ब्रीफिंग में इस्तेमाल किया गया सभी नाम, लोकेशन, बटालियन  और कंपनी का नाम काल्पनिक है इसे वास्तविकता से कुछ भी लेना देना नहीं है !
उदहारण में बताया गया ब्रीफिंग एक रूप रेखा है इसे स्थान और डिप्लॉयमेंट के अनुसार बदलवा किया जा सकता है !

यहा पर वीआई पी  इंस्पेक्शन के दौरान व्यू पॉइंट ब्रीफिंग से सम्बंधित ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !
इन्हें  भी  पढ़े :
  1. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  2. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  3. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  4. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
  5. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
  6. फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
  7. अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
  8. रोड ओपनिंग पार्टी/पट्रोल और उसके महत्व के बारे
  9. कॉन्वॉय कितने प्रकार का होता है ? कॉन्वॉय प्रोटेक्शन की पार्टिया कौन कौन सी होती ?
  10. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें

2 comments:

  1. Good job!! can i share this in my blog ?

    ReplyDelete
  2. Outstanding post once again. I am looking forward for your next post.

    ReplyDelete