Sponser


Wednesday, February 15, 2017

फायर कण्ट्रोल आर्डर और फायर डिसिप्लिन क्या है ?

पिछले;इ पोस्ट में हमने अम्बुश की पार्टी को ब्रीफिंग देने के बारे मे जानकारी हासिल की और इस पोस्ट में हम फायर कण्ट्रोल आर्डर और फायर डिसिप्लिन का बारे(Fire Control Order aur Fire Discipline ki jankari) में जानकरी शेयर करेंगे !



1 . फायर कण्ट्रोल आर्डर क्या है ?(Fire Control Order kya hai?) फायर की ताकत का सही इस्तेमाल करने के लिए फायर कण्ट्रोल आर्डर का इस्तेमाल ज़रूरी है ! फायर पर कण्ट्रोल और सही फायर आर्डर देने की जिम्मेवारी फायर यूनिट कमांडर की होती है ! लेकिन इन आर्डर की सिखली सभी जवानों को देना चाहिए ताकि
Fire Control Order
फायर कण्ट्रोल आर्डर (प्रतीकात्मक)
  • फायर यूनिट कमांडर(Fire Unit Commander) की कैसुअलिटी(Casuality) होने पर कोई भी जवान उसकी जगह काम कर सके !
  • अगर ग्रुप कमांडर  की कमी हो तो जवानों को ही यह ड्यूटी करनी पड़ेगी !
2.  फायर कण्ट्रोल ऑर्डरों का फ़ायदा उठाने के लिए टारगेटों का सही बयान और उनको पहचानने की सिखलाई निहायत ऊँचे दर्जे की होनी चाहिए !

3. फायर कण्ट्रोल आर्डर में सामिल होने वाले  कुछ शब्द और  उनका मतलब 

  • फायर यूनिट क्या होता है (Fire Unit kya Hota hai?): उस हथियार बंद टोली को कहते है जो एक कमांडर के हुकुम से फायर करती है ! यह आमतौर पर एक सेक्शन की टोली होती है !
  • फायर यूनिट कमांडर (Fire Unit Commander kaun Hota Hai?): वह कमांडर जो फायर यूनिट को फायर का हुकुम देता है और उसके फायर पर कण्ट्रोल रखता है !
  • फायर डायरेक्शन आर्डर क्या होता है ?(Fire Direction order kya hota hai?) : यह वह आर्डर होते है जो फायर यूनिट कमांडर को अपने से ऊपर वाले कमांडर से मिलती है ! इन हुकमों में यह बताया जाता है किह किस वक्त किन किन टारगेट पर किस हथियार और कितने तादाद का फायर डाला जाए!सेक्शन कमांडर को फायर डायरेक्शन आर्डर अपने पलटन कमांडर से मिलता है !
  • फायर कण्ट्रोल ऑर्डर्स क्या होता है ?(Fire control order kya hota hai?):- यह वह हुकुम होता है जो एक फायर यूनिट कमांडर फायर डलवाने और उस पर काबू रखने के लिए फायर यूनिट को देता है !
  • आर्क ऑफ़ फायर क्या होता है ?(Arc of fire kya hota hai?):- यह वह इलाका होता है जिस के अंदर टारगेटों को बर्बाद करने की जिम्मेवारी एक फायर यूनिट को दी जाती है! यह इलाका बाएं और  दाहिने हदो से ज़ाहिर किया जाता है !
  • फील्ड ऑफ़ फायर क्या होता है ?(Field of fire kya hota hai?) उस इलाके को कहते है जिस पर किसी भी दिशा में किसी हथियार का कारगर फायर डाला जा सकता है !
4.  फायर कण्ट्रोल आर्डर के उसूल (Fire control order ke usul kya hote hai):
  • फायर हमेशा दुश्मन को मर डालने  खोल जाये नहीं उसको डराने के लिए 
  • अम्मुनिशन की बचत का ख्याल रखना चाहिए 
  • फायर डिसिप्लिन का खास ध्यान रखा जाए !

5.  फायर खोलने से पाहिले ध्यान में रखने वाली बातें (Fire kholne se pahle kin kin bate pe dhyan rakhna chahiye):  आर्डर देने से पहल;इ फायर यूनिट कमांडर को नींम बातो पर सोच विचार कर फायर का आर्डर देना चाहिए !
  • क्या रेंज और दिखाई और फायर डालने के लिए ठीक है !
  • क्या सरप्राइज हासिल करने के लिए और दुश्मन पर अचानक फायर से ज्यादा नुकशान पहुचने के लिए फायर को थोड़ी देर के बाद खोला जाए !
  • फायर की रफ़्तार क्या होनी चाहिए ? आमतौर पर रैपिड फायर सिर्फ इन मौकों पर खोल जाता है :
(i) जब दुश्मन पर अचानक सरप्राइज हासिल करना हो !
(ii) जब ऐसा टारगेट सामने आ जाए की फायरर रैपिड फायर से ज्यादा से ज्यादा नुकशान पंहुचा सकता हो
(iii) असाल्ट में कवरिंग फायर देते समय !
  • फायर पर खुद काबू रखा जाए , या की जिम्मेवारी ग्रुप कमांडर को दी जाए, या हर एक जवान को अपने पर काबू रखने का हुकुम दिया जाए !
6. फायर कण्ट्रोल आर्डर कैसे देने चाहिए ?(Fire control order kaise dena chahiye)
  • हुकुम साफ , धीरे और काम लफ्जो में देने चाहिए 
  • आवाज़ इतनी उची हो की आसानी से सुनाई दे 
  • हुकुम हुकुम के तौर पे देने चाहिए 
  • हुकुम ठहर ठहर के देनई चाहिए ताकि जवान उसपर साथ साथ अमल कर सके 

7 . फायर कण्ट्रोल ऑर्डर्स की तरतीब और फायर पर काबू रखने के तरीके(Firre control order ki taritib aur fire pe kabu rakhne ke tarike kaun kaun se hai) :हुकुम हमेशा मुकर्रर किये हुए तरतीब से दिए जाने चाहिए ताकीद कोई बात छूट न जाए और समझने में आसानी हो ! तरतीब को यद् रखने के लिए जो कोडवर्ड है उसे "GRIT " से जाहिर करते है 
  • G-ग्रुप (Group)
  • R- रेंज (Range)
  • I-इंडिकेशन ऑफ़ टारगेट(indication of Target 
  • T-टाइप ऑफ़ फायर (Type of fire)
फायर यूनिट कमांडर फायर के दौरान "स्टॉप" , "गो ऑन "वगैरह के द्वारा फायर पे काबू रख सकता है !

8.  फायर कण्ट्रोल आर्डर की किस्मे(Fire Control order kitne prakar ke hote hai) 
  • फुल फायर आर्डर :- इन आर्डर में पूरी तरतीब द्वारा आर्डर दी जाती है ! यह दो प्रकार की होती है (i) पॉइंट या नुक्ता टारगेट (ii) फैला हुवा टारगेट 
  • डिलेड फायर आर्डर : इन ऑर्डरों में और बातें बता दी जाती है लेकिंग फायर खोलने के लिए हुकुम का इन्तेजार करना होता है ! फायर यूनिट कमांडर बोलता है की फायर मेरे हुकुम से होगा !
  • अपॉरचुनिटी फायर आर्डर : इस किस्म से फायर आर्डर में जवानों को खुद फायर खोलने की ज़िम्मेवारी दी जाती है !
  • ब्रीफ फायर  आर्डर :यह फायर आर्डर उस वक्त दी जाती है जब टारगेट साफ और अचानक नज़दीक ही दिखलाई दे और एक डैम ही फायर करने की ज़रूरत हो ! जैसे फायर किसी टारगेट पर हो रहा है और नज़दीक किसी दूसरे दिशा से दुश्मन निकल आये !

9 . फायर डिसिप्लिन(Fire discipline kya hota hai?) : चाहे फायर कण्ट्रोल आर्डर कितने ही अच्छे हो लेकिन फायर डिसिप्लिन के बगैर कामयाबी नहीं मिलती है ! फायर डिसिप्लिन को मेन्टेन रखने के लिए निचे लिखी बातों का  ध्यान रखना चाहिए !
  • बगैर हुकुम के फायर न खोल जाए !
  • फायर दुश्मन को मर डालने के लिए ही खोल जाए !
  • अँधा धुंध फायर न किया जाए !
  • रात के वक्त फायर डिसिप्लिन काफी उचे दर्जे का होना चाहिए !
  • रात के वक्त दुश्मन हमारी पोजीशन और नफरी मालूम करने के लिए  तरह तरह के चालाकियां करेगा ! इस लिए रत के वक्त फायर तभी खोलना चाहिए जब तक यह यकीं न हो जाए की दुश्मन का कोई भी जवान बच कर नहीं जा सकेगा , दूसरे जब दुश्मन ने अपना काम कर लिया हो तो फायर बौछार के तरह करनी चाहिए !
जरुर पढ़े :पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार

इस प्रकार से फायर कण्ट्रोल आर्डर और फायर डिसिप्लिन से सम्बंधित एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पर लाइक  थक शेयर करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे !


इन्हें भी पढ़े :

  1. पुलिस ड्यूटी
  2. फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट में होनेवाली कुछ कॉमन गलतिया
  3. 6 कॉमन गलतिया अक्सर एक आई ओ सीन ऑफ़ क्राइम पे करता है
  4. क्राइम सीन पे सबसे पहले करनेवाले काम एक पुलिस ऑफिसर के द्वारा
  5. बीट और बीट पेट्रोलिंग क्या होता है ?एक बीट पट्रोलर का ड्यूटी
  6. पुलिस नाकाबंदी या रेड् क्या होता है ?नाकाबंदी और रेड के समय ध्यान में रखनेवाली बाते 
  7. निगरानी और शाडोविंग क्या होता है ? किसी के ऊपर निगरानी कब रखी जाती है ?
  8. अपराधिक सूचना कलेक्ट करने का स्त्रोत और सूचना कलेक्ट करने का तरीका
  9. पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार
  10. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  11. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  12. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका

No comments:

Post a Comment

.