Sponser

Search

Tuesday, September 18, 2018

पुलिस लाठी ड्रिल- पुलिस लाठी का परिचय

पिछले पोस्ट में हमने मोब से बचाव के 4 तरीके के बारे में जानकारी प्राप्त की और आब इस पोस्ट में हम जानेगे की रायट कण्ट्रोल के दौरान पुलिस के द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली लाठी के बारे में जानकरी(Lathi ka parichay) प्राप्त  करेंगे !


जैसे की आप पहले देखते थे की पुलिसमैन बेत की लाठी लेकर ड्यूटी करते थे जो की अभी फाइबर की लाठी लेकर करते है है ड्यूटी ! बेत की लाठी और फाइबर की लाठी के शेप और साइज़ में कोई खास फर्क नहीं है!

 लेकिंग बेत (Cane ki lathi)और फाइबर(Fiber ki lathi) दोनों लाठियो की मार में बहुत ही फर्क पड़ता है जहा फाइबर की लाठी से मारने से ज्यादा चोट भी नहीं लगता और चोट की निशान भी नहीं पड़ता है जबकि बेत की लाठी से अगर जोर से मार  दिया जाय तो  व्यक्ति की हड्डिया  टूट सकती है और धीरे से भी मारने  पर  मार के निशान पद जाते है !




इस पोस्ट में हम लाठी से सम्बंधित निम्न विषयों के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे :

Lathi
1. पुलिस के द्वारा इस्तेमाल की जानेवाली लाठियो की आम जानकारी (Police lathi ki aam jankari)
2. लाठी को लेते/खरीदते  समय ध्यान में रखने वाली बाते (Lathi khardte samay dhyan me rakhne wali baate )
3. लाठी को हिफाजत (Lathi ki hifajat)

1. पुलिस के द्वारा इस्तेमाल की जानेवाली लाठियो की आम जानकारी (Police lathi ki aam jankari)

पुलिस द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली लाठी का आम जानकारी इस प्रकार से है :
  • इसकी लम्बाई  3 फीट और 6 इंच होता है 
  • लाठी की आम गोलाई 4 इंच 
  • लाठी की उपरी घेरा जिसे मुठिया बोलते है की गोलाई 6 इंच होती है 
  • और लाठी का निचे का टो 4.5 इंच होता है !
  • इसके दोनों सिरे पे चमड़ा लगा रहता है !

बेत या फाइबर के बने लाठियो को दोनों सिरों पर चमड़ा इस लिये लगा होता है की इसके कारण लाठी फटेगा नहीं और हाथ में खरोच भी नहीं आएगा !और  लाठी के ऊपर मजबूत पकड़ बनने में आसानी होती है!

 जिसके कारण इसे कोई आसानी से नहीं छीन सकता है ! ऊपर के चमड़ा के सिरा के साथ एक स्ट्राप भी लगा रहता है जिस के सहायता से हाथ में डाल के लाठी को मजबूत पकड़ बना सकते है !

2. लाठी को लेते/खरीदते  समय ध्यान में रखने वाली बाते (Lathi khardte samay dhyan me rakhne wali baate )

आज कल लाठिया ठेकेदार या Government e_Marketing पोर्टल Gem.gov.in के द्वारा किया जाता है ! इस लिए लाठी करते समय इन बातो का ख्य रखना चाहिए :
  • अगर बेत की लाठी खरीदी जा रही हो तो निश्चित करना चाहिए की लाठिय पकी बेत की हो !
  • अगर लाठी फाइबर की खरीदी जा रही हो तो निश्चित करना चाहिए की लाठी का फाइबर सही और सख्त हो!
  • लाठिय ऊपर बताई गई शेप और साइज़ की हो !
  • लाठी टेढ़ी नहीं होनी चाहिए !
  • फाइबर लाठी के अन्दर यह निश्चित करना चाहिए की कोई क्रैक या टूटने का निशान नहीं होना चाहिए !
  • फाइबर की लाठी में चमड़े का जो मुठिया और टो लगा होता है वह काफी कमजोर होता है उसे सही से स्क्रू के द्वारा फिट करा लेने के बाद ही खरीदना चाहिए !
  • फाइबर की लाठी ज्यादा हलकी नहीं होनी चाहिए नहीं तो उसका मार ज्यादा नहीं होता है बल्कि लाठी मारने  वाले के हाथ में ही चोट लगता है !
 जरुर पढ़े:2 स्टेप्स में खड़े खड़े बाएँ सलूट की करवाई का तरीका

3. लाठी को हिफाजत (Lathi ki hifajat)

लाठी को हिफाजत के साथ रखना बहुत ही जरुरी होता है नहीं तो यह काफी समय तक काम नहीं करेर्न्गी और मौका पड़ने पर धोका दे सकती है !
इसीलिए इसके हिफाजत के लिए निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए :
  • सप्ताह में लाठी को एक बार साफ जरुर करना चाहिए !
  • महीने में बेत के लाठी को तेल जरुर लगान चाहिए !
  • लाठी को खास किस्म के रैक में रखना चाहिए जिससे की लाठी टेडी न हो !
  • बेत की लाठी को नमी वाली जगहों पर ज्यादा समय के लिए नहीं रखना चाहिए!
  • फाइबर के लाठी को गर्म या आग के सीधे संपर्क में नहीं रखना चाहिए !
  • फाइबर के लाठी को ड्यूटी से आने के बाद यह जरुर चेक कर लेना चाहिए की कही क्रैक तो नहीं है !
इस प्रकार से अगर लाठी का हिफह्जत किया जाय तो इसमें कोई शक नहीं की लाठी ज्यादा दिन काम न करे !


इस प्रकार से पुलिसमैन लाठी की आम जानकारी से सम्बंधिप एक छोटा सा पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की यह आपको पसंद आएगा !अगर कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी पढ़े :
  1. म़ोब कण्ट्रोल कमांडर की ड्यूटी पे जाने से पहले की तैयारी
  2. लाठी चार्ज के दौरान लाठी मरते समय ध्यान में रखने वाली बाते !.
  3. 4 तरीके म़ोब से अपनी बचाव का ऐसे करे !
  4. आश्रू गैस फायर करते समय सावधानिया तथा आश्रू गैस फायर के फायदे
  5. आंसू गैस को इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाली कुछ बाते इस प्रकार से है
  6. म़ोब /मज्मा कण्ट्रोल के सिद्धांत
  7. रायट कण्ट्रोल ड्रिल में गैस पार्टी का काम
  8. लाठी पार्टी का काम और लाठी इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाली बातें

2 comments:

  1. Yeah bookmaking this wasn't a risky decision outstanding post!

    ReplyDelete
  2. पुलिस लाठी ड्रिल पुलिस-लाठी का परिचय की पीडीएस सेन्ड करो सर

    ReplyDelete