Sponser


Monday, March 14, 2016

टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -II

अभी तक के जितने पोस्ट थे वो हथियारों से सम्बंधित थी , जैसे  एसएलआर की चाल, इंसास की चाल इत्यादी अभी मै एक दूसरा आयाम अपने ब्लॉग में जोड़ने जाता हु और डिफेन्स के कूटनीति से सम्बंधित शब्दो को उसके मीनिंग के साथ आने वाले अपने अगले पोस्टो में करूँगा ! इसे एक कोड़े वर्ड भी बोल सकते है और इसे आप आये दिन पुलिस की माडिया ब्रीफिंग या आर्म्ड फ़ोर्स के लोगो  द्वारा किये जाने वाले  मीडिया ब्रीफिंग या ऐसे अपने प्रेस बिग्यप्ती  में बहुत इस्तेमाल करते है ! कुछ टैक्टिस से रिलेटेड  वर्ड के  उसका मीनिंग के साथ इस प्रकार है 
  1. एडमिनिस्ट्रेटिव एरिया (Administrative Area):यह लडाई या ऑपरेशन के दौरान मुकरर किया हवाओ एरिया जहा  पर तमाम एडमिनिस्ट्रेटिव यूनिट और एडवांस एन्चोलों  इकट्ठा रह कर काम करते है!यहाँ गाडियो से सामान उतर दिया जाता है और स्टोर में डंप कर दिया जाता है ! उस एरिया क एडमिनिस्ट्रेटिव एरिया कहते है !
  2. एडवांस ड्रेसिंग स्टेशन (Advance Dressing Station(ADS)) :यह मेडिकल बटालियन द्वारा स्थापित किया हुवा एक डिटैचमेंट पोस्ट है जो की जख्मी/बीमार को बटालियन के आर ये पि से लता है , उसका इलाज करता है और जख्मियो/बिमारो के हालत के अनुसार उन्हें बड़े अस्पताल में भेजता है !
  3. एडवांस गार्ड (Advance Guard): हरकत करनेवाली फौजी दस्ते का वह हिस्सा जो की आगे एडवांस करता है और कालम की सामने से हिफाजत करता है ! इसका कम जमीं और दुश्मन के बारे में खबरे हासिल करना और पीछे अपने ऊपर के कमांडर को भेजना और दुश्मन की छोटी मोटी रूकावटो को दूर कारना ! अगर दुश्मन की रुकावट उसके ताकत से बहार हो तो अपने से बड़े फौजी दस्ते को डिप्लॉय होने में मदद देना है ! यह वान गार्ड और मेन गार्ड  में बता रहता है !
  4. एयर कण्ट्रोल टीम (Air Control Team):यह एक आर्मी ऑफिसर और एक एयरफोर्स ऑफिसर का हरकत करनेवाला दस्ता है जो की देखभाल से हवाई जहाज से फायर करता है !
  5. एयर ऑब्जरवेशन पोस्ट (Air Observation Post): यह बिना हथियार के एक जहाज होता है जो एरिया की रिक्की करने का कम करता है !
  6. अलार्म पोस्ट (Alarm Post): डिफेन्स में खुदाई के दौरान हरेक मोर्चे को जाहिर करता है ! कोई जमीनी खतरा होने पर इस जगह से जवान अपना टास्क पूरा कर सकते है ! यह अपने मोर्चे के आसपास होना चाहिए और हथियार तथा डाक्यूमेंट्स इस जगह पर रख दिया जाता है ! निलिंग पोजीशन तक खुदाई हो जाने के बाद अलार्म पोस्ट को इस्तेमाल नहीं करते है !खुदे हुवे मोर्चे का इस्तेमाल करते है !
  7. आल राउंड डिफेन्स (All Round Defence): जब कोई यूनिट या सब यूनिट जमीं पर इसप्रकार डिफेन्स ले की वह चारो तरफ से अपना बचाव का सके तो उसे हम आल राउंड डिफेन्स कहते है यह दो प्रकार के होते है (i) Organised for all rounddefence- ये यूनिट या सब यूनिट इस प्रकार अपना डिफेन्स  ले  की उसका ज्यादतर हथियार का फायर दुश्मन के मुमकिन आने वाले रास्तो पर किया जा सके उसे organised for all round defence कहते है (ii) साईटड फॉर आल राउंड (Sited for all round): ये यूनिट या सब यूनिट जब डिफेन्स में sited फॉर आल राउंड  के ढंग से लगायी जाती है  तो यह यूनिट चारो तरफ से आनेवाले  दुश्मन पर बराबर फायर डाल सकती है ! sited for all round फार्मेशन के लिए लागु नहीं है !
  8. अल्टरनेटिव पोजीशन (Alternative position): यह पीला से रैक्की और मुमकिन हो सके तो तैयार की हूई पोजीशन हॉट है जिसमे गन/मोर्टार जबाबी बम बरी, काउंटर फायर या बोम्बिंग से बचने के लिए की जाती है ! यह पोजीशन ऐसी हों चाहिए जहा से उसी टास्क को पूरा किया जा सकी जिसे पहली पोजीशन से किया जा रहा था!
  9. अम्बुश /घात (Ambush): य्हेक अचानक हमला है जो एक छुपी हूई जगह स संदेह रहित चलते हूए या थोड़े देर के लिए रुके हुए दुश्मन के टूकरी पे किया जाता है और फ़ौरन उस जगह को छोड़ दिया जाता है !
  10. अमुनिसन पॉइंट (Ammunition point): वह जगह जहा से यूनिट अपना अमुन्सं लेती है या जहा से गाइड  अमुनिसन से भरी हुई सेकंड लाइन गाड़ी को अपनी यूनिट के लिए ले जाता है !
  11. अर्क ऑफ़ फायर (Arc of Fire): यह वह इलाका है जिसका जिम्मेदारी किसी फायर यूनिट की होती है . इस इलाके में वह टारगेट पर  फायर  डालेगी ! अर्क ऑफ़ फायर और फील्ड ऑफ़ फायर में  में यह फर्क है की फील्ड ऑफ़ फायर वह इलाका होता है  जहा से किसी हथियार से कारगर फायर किसी भी दिशा में डाला जा सकता है !
  12. एरिया रेकांसेंस (Area Recognaisance): दिए हुवे एरिया से खबरों को हासिल करना !
  13. असेंबली एरिया (Assembly Area): यह वह एरिया है जिसमे हमला जिसमे हमला करने वाले ट्रूप्स  हमले से पहले इकट्ठा होकर मदद देनेवाली वाली यूनिट/सब यूनिट से मेल मिलाप करके हमले के लिए तैयार होते है ! यह जगह शत्रु के मुमकन आर्टिलरी टारगेट नहीं होना चाहिए!
  14. एक्सिस (Axis): एडवांस  के रुख को जाहिर करनेवाली ओ आम लाइन जिसके साथ कोई फार्मेशन या यूनिट हरकत करती है !
  15. बैक लोडिंग (Back loading):लडाई के दौरान किसी उनिटके टूटे फूटे सामान या गाडियों को पीछे भेजने को बैक लोडिंग कहते है !
  16. बम लाइन (Bomb line): वह फर्जी लाइन जो हो सके तो किसी मशुर जमीं निशान से जाहिर किये गए होते है जिसके आगे दुश्मन के इलाके में अपने एयरक्राफ्ट  बैगैर अपनी जमीनी फ़ौज को नुकशान किये फायर डाल सके! अपनी फ़ौज के हरकत के साथ साथ ये भी बदलती रहती है !
  17. बाउंड (Bound):टैक्टिकल अहमियत की  वह जमीं जहा पे पहुचने सब यूनिट या फार्मेशन अपने ऊपर के कमांडर को रिपोर्ट देता है ताकि कमांडर अपनी फ़ौज की हरकत पे काबू प् सके और उसे कोआर्डिनेट कर सके !यह आमतौर पे ओ जगह होती है जहा पे दुश्मन के होने की आशंका होती है !
  18. ब्रिज हेड (Bridge Head):दुश्मन के रुकावट के दूसरी तरफ की वह जमीनजिसपे अपनी फ़ौज का कब्ज़ा हो या होने वाली हो ताकि अपनी फ़ौज इस रुकावट को पर कर रही हो तो दुश्मन देखभाल से फायर न कर सके !
  19. कॉल साईन(Call Sign):एक शब्द या अंको का खास ग्रुप जो की एक रेडियो स्टेशन का पहचान करवाता है !
  20. सेन्टर लाइन (Center Line):वह रास्ता या फर्जी लाइन जो जमीनी निशानों से जाहिर किये जाते है और जिसके साथ किसी फार्मेशन या यूनिट का हेड क्वार्टर हरकत करते है !
  21. कोड साईन (Code Sign):एक शब्द या अंको का खास  ग्रुप जो की किसी यूनिट और फार्मेशन  के हेड क्वार्टर की सिक्यूरिटी को बरक़रार रहने के लिए इस्तेमाल की जाती है 
  22. कोड वर्ड (Code Word):यह पहले से चुना हुवा शब्द जो की किसी स्थान, ऑपरेशन या किसी प्लान की सिक्यूरिटी बनाये रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है !
  23. कमांडो बेस(Commando Base) : कमांडो बेस दुश्मन के डिफेन्स के पीछे या गुरिल्ला लोगो के भरे हूए इलाके में वह गुप्त स्थान है जिस पर कमांडो कुछ अरसे के लिए कब्ज़ा करते है ! आमतौर से यह अरसा 24 घंटो से ज्यादा नहीं होता है ! यह बेस दुश्मन के लिहाज से कभी मुश्किल स्थान में होना चाहिए !कमांडो बेस इ रहकर कमांडो  आराम, re-organise , और आगे वाले कम केलिए प्लान बनाते है.
  24. कमांडो ऑपरेशन (Commando Operation):कमांडो ऑपरेशन इस प्रकार से किया जानेवाला हमला होता है जो की उच्चे दर्जे के सिखलाई पाए हुवे यूनिट या सब यूनिट दुश्मन के लाइन के पीछे जाकर करते है !इस हमले का उद्देश्य छानबीन ,रैकी करना , रेड या छोटी तोलिया में अचानक हमला करना और दुश्मन की करवाई को नाकाम बना देना होता है ! एसी करवाई कितनी दुरी तक और कितने अरसे के लिए की जा सकती है यह हमारे बंदोबस्त ,inflitration के तरीके और दिए गए काम पे निर्भर होगा !
  25. Concentration Area: किसी ऑपरेशन में हिस्सा लेने वाले ट्रूप्स जहा इकट्ठा होते और ब्रीफिंग लेते है और हो सकता है तो रेहेर्सल की करवाई  है  उसे एरिया को कंसंट्रेशन एरिया कहते है! ये एरिया दुश्मन के आर्टिलरी फायर के रेंज से दूर होना चाहिए और इसमें छुपाव और फैलाव होना चाहिए!

No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...