Sponser

Search

Saturday, September 15, 2018

सुसाइड अटैक के खतरे और उससे बचाव के तरीके

पिछले पोस्ट में हमने सुसाइड बॉम्बर के मोडस ओपेरंडी या काम करने के तरीका के बारे में जानकारी प्राप्त की और अब इस पोस्ट में हम जानने  की  कोसिस  करेगे की  सुसाइड बॉम्बर से कौन कौन से  तरह के खतरे हो सकते है(suicide attack ke kaun kaun khatre ho sakte hai) और उसे कैसे निपटे की कम से कम नुकशान हो !


सुसाइड अटैक आज के के सुरक्षा वातावरण में एक  रियलिटी हो गया है  और कुछ देशो में तो सुसाइड अटैक इतना सामान्य सा इंसिडेंट हो गया है की आज कल समाचार पत्रों  में भी उसे जगह नहीं मिल पा रही है !

एक सुरक्षा बल के सदस्य होने के नाते अब हमे खुद को उस समस्य से लड़ने के लिए तैयार रखना पड़ेगा जिससे की सुसाइड अटैक से होने वाला क्षति को रोका जाय और कम से कम  किया जा सके और अपनी बचाव के साथ आम जनता का बचाव किया जा सके !

जरुर पढ़े:आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान

इस पोस्ट में हम सुसाइड अटैक का कोई सामाजिक कारण और निबरण या मनोवैज्ञानिक विश्लेषण  के बारे में बाते  नहीं करेंगे बल्कि एक सुरक्षा बल के ड्यूटी और बचाव के  पॉइंट ऑफ़ व्यू से बात करेंगे और जानेगे की फिदायीन हमला के  निम्न तरह के खतरे आये तो उसे कैसे निपटना चाहिए  :
Suicide Attack se Bachaw
Suicide Attack se Bachaw
1.पोस्ट के अन्दर धोखे से  घुसना तथा ग्रनेड  और एक्स्प्लोसिवे का इस्तेमाल कर के कंफ्यूजन पैदा करना और अंधाधुंध गोलीबारी करना (Suicide attacker ko dhokhe se camp me ghusna aur granade fekna)
2.एक्सप्लोसिव से भरी गाड़ी को पोस्ट के गेट से टकराना और एक्सप्लोड करना (Explosive se bhari gadi ko post ke gate se takranaaur explode karna)
3.सुरक्षा बलों को धोखा देने के लिए उनके जैसे वर्दी, गाडी और इक्विपमेंट का इस्तेमाल करना (Security forcer ke wardi pahan kar dhokha dena)
4.गेट पर लगे संत्री के ऊपर अचानक हमला  करना (Gate ke santry ke upar sudden attack karna)
5. मेन  गेट , लिविंग एरिया तक फिदायीन का बिना रुकावट के पहुचना (Main gate, living area tak bina rukawat pahuchna)
6.अचानक रहने वाले बैरक या टेंट में घुस कर आराम करते हुए जवानों को ज्यादा से ज्याद नुकसान पहुचना (Achanak rahne wale barrack ya tent me ghus aaram karte hue jawano par hamla karna)
7.फिदायीन द्वारा चुने गए टारगेट के नजदीक से नजदीक आ कर खबरे हासिल करना (Attack ke lie chune hue target ke najdik aana aur khabar hasil karna)
8.पोस्ट के अन्दर रहने वाले जवानों की दिनचर्या उनकी आदते तथा वरिष्ट अधिकारी के आने जाने का इनफार्मेशन लीक हो जाना (Post ke andar ke jawano ka daily rountine aur unki aadato ko janne ka koshi kanra)
9.सुसाइड हमलवार  द्वारा ग्रनेड फायरिंग करना (Granade firing karna)
10.तरह तरह तरीके से IED लगाना (Tarah tarah tarika se IED lagana)
11.पोस्ट के चारो तरफ फिदायीन का आना जाना (Post ke charo or suicide attacker ka aana jaana)
जरुर पढ़े:रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है

1.पोस्ट के अन्दर धोखे से  घुसना तथा ग्रनेड  और एक्स्प्लोसिवे का इस्तेमाल कर के कंफ्यूजन पैदा करना और अंधाधुंध गोलीबारी करना (Suicide attacker ko dhokhe se camp me ghusna aur granade fekna) 

ऐसी घटनाये रोकने के लिए पोस्ट के पास निम्न  कार्यवाही करे :
  • पोस्ट के चारो तरफ दोहरी तारबंदी लगाये और बिच में ट्रिप फ्लार, क्ले मोरे माइन, बूबी ट्रैप , कंसेरटीना वायर और स्टन ग्रेनेड भी लगाये 
  • पोस्ट के साथ साथ बाउंड्री लाइट भी बाहर  को मुह  कर के लगाये 
  • प्रक्षिक्षित कुतो को अर्ली वार्निंग(Early warning) के तौर पर इस्तेमाल करे 
  • सभी संत्री बुलेट प्रूफ और स्टील हेलमेट जरुर पहने 
  • अंदरवाले बैरियर पर CGI शीट या ऐसा इन्तेजाम हो की नजर की आड़ कम से कम मिल पाए ताकि कोई बहार खड़ा  होकर अन्दर  का न देख पाए !
ये कुछ इन्तेजाम है जिसे करने से धोखे से अन्दर गुसना और ग्रेनेड और एक्सप्लोसिव का इस्तेमाल की घटनाओ को कुछ हद तक रोका जा सकता है !

2.एक्सप्लोसिव से भरी गाड़ी को पोस्ट के गेट से टकराना और एक्सप्लोड करना (Explosive se bhari gadi ko post ke gate se takranaaur explode karna)

सिक्यूरिटी पोस्ट के गेट पर निम्नलिखित रुकवाते बनाये:
  • डबल स्पीड ब्रेकर 
  • डबल बैरियर 10 से 15 गज की दुरी पर लगाये !
  • दोनों बैरियर के बिच किल वाले बोर्ड लगाये 
  • अपने फाॅर्स के अलावा किसी दुसरे की गाडी को अन्दर आने पर पूरी रोक लागा दे 
  • अपनी गाडी को भी अन्दर आते समय पूरी तरह से चेक करे 
  • एक समय पर एक ही बैरियर खोले 
  • पहली संत्री पोस्ट दुसरे बैरियर  से थोडा हट कर लगाये 
  • पोस्ट के अन्दर पैदल आने वालो के लिए बड़े गेट के साथ छोटा गेट भी बनवाए 
  • यह गेट जिग जाग किस्म का हो ताकि की दौड़ कर अन्दर न आ सके 
उपरोक्त करवाई करने से गाडी को पोस्ट के गेट से टकराने से काफी हद तक रोका जा सकता है !
जरुर पढ़े:फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब

3.सुरक्षा बलों को धोखा देने के लिए उनके जैसे वर्दी, गाडी और इक्विपमेंट का इस्तेमाल करना(Security forcer ke wardi pahan kar dhokha dena) 

ऐसी हमला रोकने के लिए निम्न प्रकार की करवाई करे :
  • पोस्ट के पास व अन्दर आने वालो को चैलेंज तथा चेक करने की सही व पूरी ड्रिल  को अमल में लाये ! चाहे आने वाला किसी भी फाॅर्स का आदमी या क्यों न अपने फाॅर्स का आदमी हो !
  • पोस्ट के अन्दर आने वालो को हमेशा आदर व सभी को शक के निगाह से देखे भले ही ओ किसी भी सुरक्षा फाॅर्स का या अपने फाॅर्स का ही आदमी हो 

4.गेट पर लगे संत्री के ऊपर अचानक हमला  करना (Gate ke santry ke upar sudden attack karna)

ऐसे हमले से बचने के लिए निम्न तरीका अपनाये :
  • चेकिंग करने वाले संत्री को कवर करने के लिए दोहरे संत्री का तरीका पहल में लाये 
  • चेकिंग करने वाला संत्री भी अपने आप को सतर्क तथा रेडी पोजीशन में रहे ताकि अगर हमला होने पे ओ अपना अचव कर सके !

5. मेन  गेट , लिविंग एरिया तक फिदायीन का बिना रुकावट के पहुचना(Main gate, living area tak bina rukawat pahuchna)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :

  • पोस्ट के इलाका छोटा होने और एक और बड़ा होने पर दो या दो से ज्यादा सेंट्रल सिक्यूरिटी कमांड पोस्ट(Central Security Command Post)  थोड़ी उची और ऐसी जगह लगाये की जहा से पुरे पोस्ट को असरदार तरीके से देखभाल और फायर से डोमिनेंट किया जा सके ! खास कर फिदायीन के मुमकिन रास्तो पर जहा फिदायीन आसानी से न पहुच सके !
  • लिविंग बैरक /टेंट के चारो तरफ सैंड बैग की छोटी दिवार से बैरिकेड बना दे जो फायर से जवानों को बचाव दे सके और जरुरत पड़ने पर उसके पीछे आड़ लेकर फायर डाल सके !
  • पोस्ट पर होने वाले खतरे के लिहाज से तीन या पांच प्रकार से सिक्यूरिटी व्यवस्था को अपनाये !
जरुर पढ़े:फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब

6.अचानक रहने वाले बैरक या टेंट में घुस कर आराम करते हुए जवानों को ज्यादा से ज्याद नुकसान पहुचना (Achanak rahne wale barrack ya tent me ghus aaram karte hue jawano par hamla karna)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :
  • असरदार अर्ली वार्निंग  सिस्टम (Early Warning System)का प्रयोग करे ताकि आराम करते हुए ट्रूप्स ,फिदायीन के उनके पास पहुचने से पहले अलर्ट हो जाये और बैरिकेड के पीछे हो कर आने वाले फिदायीन को ही मार गिराए !
  • यकीन करे की जवानों के रहने वाले बैरक/टेंट बंकर  के अन्दर आने के लिए एक ही रास्ता हो लेकिन निकलने के लिए इमरजेंसी एग्जिट दो या दो से ज्यादा हो !
  • सभी जवानों को एक ही जगह न रखे बल्कि पोस्ट के अन्दर अलग अलग जगहों पर रखे !
  • ज्यादा सेंसिटिव पोस्ट होने  पर जवानों की बैरक को डबल सन्तरी से गार्ड करे खासतौर से रात्रि के समय !
  • सभी अधिकारी/जवान अपने पर्सनल हथियार हमेशा अपने पास रखे !

7.फिदायीन द्वारा चुने गए टारगेट के नजदीक से नजदीक आकर खबरे हासिल करना (Attack ke lie chune hue target ke najdik aana aur khabar hasil karna)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :
  • पोस्ट के चारो तरफ एक अच्छा और मजबूत ख़ुफ़िया तंत्र स्थापित करे 
  • भरोसेमंद लोकल सोर्स , इन्फोर्मेर्स और कांटेक्ट बनाये 
  • लोकल पुलिस से अच्छा मिलाप रखना 
  • समय पर खबर हासिल करने और अच्छा मेल मिलाप रखने के लिए दोहरी संचार व्यवस्था रखे !
  • पोस्ट के अन्दर किसी भी जगह पर कोई भी सिग्न बोर्ड न लगाये !
  • अपने ट्रूप्स को पोस्ट के अन्दर आते समय एक एक को पहचान कर के ही अन्दर आने दे खासतौर पे रात के समय !
  • इन्टरसेपटेड मेसेज को लगतार विश्लेषण करते रहे !

8.पोस्ट के अन्दर रहने वाले जवानों की दिनचर्या उनकी आदते तथा वरिष्ट अधिकारी के आने जाने का इनफार्मेशन लीक हो जाना (Post ke andar ke jawano ka daily rountine aur unki aadato ko janne ka koshi kanra)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :
  • दिनचर्या (Daily routine) के टाइम को बदलते रहे !
  • जरुरत के अनुसार (Need to Know) को मुख्य नजर रखते हुए सीनियर ऑफिसर/VIP के आने जाने के प्रोग्राम को छोटे कमांडर्स को बताये सबको नहीं !
  • पोस्ट के पूरी नफरी को छोटे छोटे ग्रुप में अलग अलग जगह और अलग अलग समय पर फैलिन करे , एक ही जगह और एक ही समयपर नहीं !
  • खाना एक जगह इकठ्ठा बैठ का न खाए !
  • पोस्ट के अन्दर जवानों का हरकत कम से कम  किया जाय !

9.सुसाइड हमलवार  द्वारा ग्रनेड फायरिंग करना (Granade firing karna)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :
  • संतरी पोस्ट या बंकर सेंट्रल सिक्यूरिटी कमांड पोस्ट तथा लंगर इत्यादि के ऊपर मजबूत  ओवर हेड कवर अवश्य लगाये 
  • ग्रेनेड फायरिंग के ज्यादा खतरेवाली जगह पर डिग-इन-पोजीशन (Dig-in-position)को प्रयोग में लाये , न की जमीन के ऊपर बनी टेम्पररी बैरक या बिल्डिंग इत्यादि का !
  • संतरी पोस्ट तथा बंकर के ऊपर कैमोफ्लाज नेट का इस्तेमाल करे !

10.तरह तरह तरीके से IED लगाना (Tarah tarah tarika IED lagana)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :
  • साईकिल,मोटर साईकिल , स्कूटर या कोई गाडी पोस्ट के चारो तरफ या गेट के पास खड़ा न होने दे 
  • ताज़ी  खुदी हुई मिटटी/जगह को शक के निगाह से देखे और चेक करे 
  • कोई भी लावारिस बस्तु कैंप के पास हो तो उसे शक के निगाह से देखे और तुरंत हटाने की व्यवस्था करे !
  • पोस्ट के चारो तरफ पेट्रोलिंग की व्यवस्था करे संभव हो तो ट्रेनड डॉग का इस्तेमाल करे !
  • किसी जानवर/परिंदा जैसे घोडा , गधा, गाय , बकरा , मुर्गी को शक के निगाह से देखे और उसे कैंप के अन्दर न आने दे  और पोस्ट के नजदीक देखे तो उसे तुरंत हटाने का व्यवस्था करे !

11.पोस्ट के चारो तरफ फिदायीन का आना जाना (Post ke charo or suicide attacker ka aana jaana)

ऐसे हमले से बचने के लिए कुछ निम्न करवाई किया जा सकता है :
  • पोस्ट के आस पास काउंटर सुर्वेलेंस सिस्टम का प्रयोग करे इसके लिए लोकल पुलिस अपने सोर्स, इन्फोर्मेरऔर कांटेक्ट का इस्तेमाल करे ताकि इलाके में आने जाने वाले अंजान लोगो की हरकत पर नजर रखे !
  • लोकल सिविलिन को पहले से आगाह कर दे की किसी अंजन व्यक्ति या वह के किसी आतंकवादी को छुपने या रहने के लिए जगह न दे नहीं किसी प्रकार की मदद दे यहाँ तक की पोस्ट के बारे में जानकारी इत्यादि !
जरुर पढ़े:4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए

ये कुछ हिदायते  है जिसे अगर कोई पोस्ट कमांडर अपनाये तो काफी हद तक अपने पोस्ट और अपने जवान को फिदायीन अटैक  से बचा सकता है और फिदायीन को मार कर हमला को बिफल कर सकता है !अगले पोस्ट में हम फिदायीन हमले  के बचाव के लिए एक पोस्ट का सिक्यूरिटी अरेंजमेंट के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !
इन्हें  भी  पढ़े :

  1. कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी
  2. पेट्रोलिंग के परिभाषा और पेट्रोलिंग के प्रकार
  3. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  4. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  5. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका
  6. फायर कण्ट्रोल आर्डर और फायर डिसिप्लिन क्या है ?
  7. सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें
  8. 4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए
  9. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  10. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट

No comments:

Post a Comment