Sponser


Saturday, March 17, 2018

रायट कण्ट्रोल ड्यूटी के दौरान राइफल पार्टी का काम

पिछले पोस्ट में हमने गैस गन पार्टी का काम  के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम रायट कण्ट्रोल ड्यूटी के दौरान लाठी  पार्टी का क्या काम होता है(Riot contro duty ke dauraan Lathi party ka kaam) उसके बारेमे जानेगे !


जैसे की हम जानते है की रायट कण्ट्रोल ड्यूटी के लिए त्वरित और प्रभाविक करवाई करने के लिए पुलिस पार्टी को बहुत से ग्रुप्स  में बंटा  जाता है !

जरुर  पढ़े :लाठी चार्ज के दौरान लाठी मरते समय ध्यान में रखने वाली बाते !

 सभी ग्रुप को अलग अलग काम दे दिया जाता है ताकि सभी को मालूम रहे की कब और क्या करवाई करनी है और उसी के अनुसार वो लोग तैयार  रहे और अपने साथ उसी के अनुसार साजो सामान ले और चले  करे !


वैसे तो रायट कण्ट्रोल की बहुत से पार्टी होती है लेकिंग जो मुख्य  पार्टिया होती  है जैसे की :गैस गन पार्टी,लाठी पार्टी,राइफल पार्टी यदि!

जरुर  पढ़े : आश्रू गैस फायर करते समय सावधानिया तथा आश्रू गैस फायर के फायदे 

 इस पोस्ट में हम निम्न विषयके बारे में जानेगे :

1. राइफल पार्टी काम (Rifle party ka kam)
2. राइफल पार्टी कमांडर को ब्रीफिंग में सामिल होनेवाले कुछ मुख्य  बाते  (Rifle  party ke commander ko  breifing me samil honewali kuch mukhy baten)
3.राइफल फायरिंग के बाद पार्टी कमांडर की कार्वाही (Rifle firing ke bad party commander ki karwahi)

1. राइफल पार्टी का काम (Rifle party ka kam):यदि लाठी प्रयोग के बाद भी मजमा तितर बितर नहीं  होता है और उग्र रूप धारण करके तोड़ फोड़ या आगजनी की करवाई सुरु करता हो या कर रहा होतो ऐसे हालत में गोली चलाकर मजमे को तितर बितर किया जाता है ! 


जरुर  पढ़े : 4 तरीके म़ोब से अपनी बचाव का ऐसे करे !

मौके पर उपस्थित मजिस्ट्रेट या उच्च अधिकारी का आदेश लिखित रूप में मिलने पे जिसे हम मजिस्ट्रेट आर्डर कहते है ! ऐसे लिखित आदेश मिलने पर कम से कम ताक़त का इस्तेमाल  करते हुए मजमे को तितर इतर किया जाये ! 

जरुर  पढ़े : पेट्रोलिंग और नाईट पेट्रोलिंग और उसके टास्क और नफरी

मजिस्ट्रेट लिखित आदेश देते समय गोलिओ की संख्या नहीं बता सकते की कितनी गोली फायर किया जायेगा !

रायट कण्ट्रोल के दौरान गोली चलाना अंतिम उपाय है रायट कण्ट्रोल का! इसी लिए इसे बहुत सोच विचार करके ही इसे अमल में लाया जाये ! क्यों की बहुत बार देखा गया है की फायरिंग के बाद मजमा और विकराल रूप धारण कर लेता है और बहुत से कस्बो और शहरो में फ़ैल जाता है !


जरुर  पढ़े : रायट कण्ट्रोल ड्रिल की पार्टी तथा रायट कण्ट्रोल ड्रिल पार्टी का बनावट

जहा तक हो सके गोली चलने से पहले मजमे को चेतावनी दे दी जाये! जो कुछ  इस प्रकार  से होनी चाहिए :

" आप को दुबारा हुकुम दिया जाता है की आप यहाँ से जल्दी तितर -बितर हो जाएँ वर्ना आप पर गोली चलाई जाएगी !" 


 यह चेतावनी बिगुल बजा के दी जाये साथ में समय बता के यनी 10 मिनट में तितर बितर हो जाये नहीं तो करवाई की जाएगी! हालत के अनुसार समय दिया जाए  और करवाई की जाय !


जरुर  पढ़े : टेक्टिकल वर्ड्स और उसका मतलब हिंदी में -I

चेतावनी  के बाद भी मजमा अगर तितर बितर नहीं होता है और तोड़ फोड़ या आग जनि की करवाई करता है तो पार्टी कमांडर, राइफल पार्टी कमांडर को गोली चलने का आदेश देता है ! जो इस प्रकार से होगा :

"राइफल  पार्टी कमांडर करवाई शुरू कर "


यह आदेश मिलते ही राइफल पार्टी  कमांडर फायरिंग पार्टी को फुल फायरिंग आर्डर देगा जो इस प्रकार से होगा 


जरुर  पढ़े :  रायट कण्ट्रोल ड्यूटी पे जाने वक्त इन सामानों को ले जाना चाहिए

"राइफल पार्टी सावधान ,  सामने / दाहिने /बाएं मजमा टेक पोजीशन " - इस आदेश पर राइफल पार्टी सावधान होगी और राइफल के मग्जिन में पहले से ही राउंड भरे रहते! अगर नहीं भरे है तो भरे है तो मग्जिन में राउंड भरेगे और स्टैंडिंग पोजीशन अख्तियार करते हुए  राइफल को रेडी  पोजीशन लेलेंगे !
जरुर  पढ़े :  एक मिनट ड्रिल का क्लासिफिकेशन
मजमे पर कभी भी अँधा धुंध फायरिंग नहीं किया जाता है इस लिए यह फायरिंग पार्टी कमांडर की जिम्मेवारी है की फायरिंग को कण्ट्रोल में रखते हुए कम से कम जन माल का नुकशान हो इसका ख्याल रखते हुए फायर खोलने का आदेश देगा !

सिखलाई  के दौरान यह कभी भी नहीं बताया जाता है की मजमे को कण्ट्रोल करने के लिए हवाई फायर किया जाय ! लेकिन आज कल देखा गया है की हवाई फायर भी किया जाता है मजमे को डरा ने के लिए ! यह फायरिंग पार्टी और मौके पे उपस्तिथ कमांडर के ऊपर निर्भर है की मजमे को शांत करने और कम से कम नुकशान  के लिए कैसी करवाई करनी है वह परिस्थित  और अपने ताज्बिच के अनुसार  करवाई  करेंगे !


जरुर  पढ़े :लाठी चार्ज के दौरान लाठी मरते समय ध्यान में रखने वाली बाते !

फायरिंग शूरु  करते समय फायरिंग पार्टी कमांडर को फायरिंग उस ग्रुप या आदमी के ऊपर सबसे पहले करनी चाहिए जो मजमे को भड़का राह हो या जिसके आदेश पे मजमा उग्र हो रहा हो  !इस लिए पॉइंटेड फायरिंग आर्डर देकर  उस पार्टी या व्यक्ति को फायर से  निष्क्रिय करे !
जरुर  पढ़े : रायट कण्ट्रोल ड्रिल में गैस पार्टी का काम
2. राइफल पार्टी कमांडर को ब्रीफिंग में सामिल होनेवाले कुछ मुख्य  बाते  (Rifle  party ke commander ko  breifing me samil honewali kuch mukhy baten) फायरिंग पार्टी को ड्यूटी पे जाने से पहले निम्न पॉइंट पे ब्रीफिंग देनी चाहिए :

जरुर  पढ़े : लाठी पार्टी का काम और लाठी इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाली बातें
  • अँधा धुंध फायर नहीं किया जाए गा 
  • फायरिंग टोली के सभी फायरर का नम्बर दे दिया जाना चाहिए 
  • फायरिंग पोजीशन सभी लेंगे लेकिन जिसे फायरर को बला जाये  वही बताये हुए संख्या में ही गोली फायर करे !
  • भागते हुए लोगो पे गोली नहीं चलाई जाएगी 
  • जब तक अपने खुद या किस और के  जान  का खतरा ना हो तब तक गोली किसी को मरने के इरादे से नहीं  चलाया जाये बल्कि घायल करने के इरादे से चलाया  जाय !
  • मजमे के भागने के रस्ते बंद करके गोली नहीं चलाया जाय 
  • ब्रीफिंग में यह भी बाते जाय  की फायरिंग बंद करने आदेश या सिग्नल क्या होगा !
  • और फायरिंग बंद होने के बाद की क्या करवाई होगी ! 
 जरुर  पढ़े :म़ोब /मज्मा कण्ट्रोल के सिद्धांत
3.राइफल फायरिंग के बाद पार्टी कमांडर की कार्वाही (Rifle firing ke bad party commander ki karwahi): फायरिंग के बाद मजमे को तितर बितर हो गया हो और फायरिंग बंद कर डी गई हो यनी फायरिंग के बाद फायरिंग कमांडर को  एक छोटी सी रिपोर्ट तैयार कर लेनी चाहिए और कुछ निम्न बातो सुनिस्चित्कर लेनी चाहिए:

जरुर  पढ़े :आंसू गैस को इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाली कुछ बाते इस प्रकार से है
  •  मजिस्ट्रेट का नाम और रैंक जिसने मजमे को विधि विरुद्ध घोषित किया और फायरिंग का आदेस दिया !
  • कौन से हालत थे जिसके कारन मजमा गैर क़ानूनी घोषित किया गया !
  • यह सुनिश्चित करे की मजिस्ट्रेट ने फायरिंग का जो आदेश दिया था वह लिखित में है की नहीं अगर नहीं हो तो मजिस्ट्रेट के वह से जाने पे पहले उस आदेश को लिखित में ले और उसपर मजिस्ट्रेट का हस्ताक्षर सुनिश्चित कर ले !
  • मजमे का रवैया कैसा था कमांडर अपना सोच विचार से लिखे !
  • अगर विधि विरुद्ध मजमे ने किसी सरकारी या निजी  सम्पति का नुकशान किया हो तो उसका भी संक्षिप्त विवरण लिखे !
  • अगर गोली चलने से पहले किसी और ताकत का इस्तेमाल किया गया तो उसका क्या असर रहा उसके बारे में लिखे !
  • किन वजह से फायर करने की जरुरत पड़ी !
  • फायर करने की जरुरत पे कितनी राउंड फायर किये गए गोलिओ की संख्या लिखे  !
  • अगर कुछ चास्मदिद  मिले तो उनकी बयाँ भी नोट करले जो आप की करवाई के बारे में अपना समर्थन और बक्तव्य देता हो !
  • जनता , पुलिस या किसी सरकारी कर्मचारी को कोई नुकशान हुवा हो उसका विवरण लिखले !
  • अगर फायर नहीकिया जाता तो क्या हो जाता इसके बारे में भी अपना विचार लिख ले !

इस प्रकार से यहाँ रायट कण्ट्रोल के दौरान राइफल पार्टी का काम क्या होता है से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की यह आपको पसंद आएगा !अगर कोई सुझाव हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे ! 
इन्हें भी पढ़े :
  1. पुलिस और क्राउड तथा पुलिस का क्राउड के साथ ब्यवहार
  2. पुलिस को क्राउड के साथ कैसे ब्यवहार करना चाहिए ?
  3. रायट कण्ट्रोल ड्रिल की पार्टी तथा रायट कण्ट्रोल ड्रिल पार्टी का बनावट
  4. टियर स्मोक गैस का सिद्धांत और इसके इस्तेमाल करते समय ध्यान में रखने वाली बाते !
  5. आश्रू गैस को स्टोर करते समय ध्यान में रखने वाली बाते
  6. टियर स्मोक स्क्वाड पार्टी के लिए करने और न करने वाली बाते और सावधानिया
  7. टियर स्मोक ग्रेनेड के भूषण तथा सिंगल वे टियर स्मोक ग्रेनेड के चाल और पार्ट्स का नाम
  8. आश्रू गैस का इतिहास और इसका इस्तेमाल
  9. आश्रू गैस के प्रकार तथा उपयोग
  10. आसू गैस के फायर के ऊपर असर डालने वाले तत्व और उसका निदान

New Contents