Sponser


Thursday, September 22, 2016

टियर स्मोक ग्रेनेड के भूषण तथा सिंगल वे टियर स्मोक ग्रेनेड के चाल और पार्ट्स का नाम

पिछले पोस्ट में हमने टियर स्मोक पार्टी के करने और न करने वाली बाते के बारे में जिक्र किया और  इस पोस्ट में मै टियर स्मोक के भूषण के पार्ट्स तथा चाल और  सिग्नल वे टियर स्मोक ग्रेनेड के चाल  (Tear smoke ke bhushan aur signle way grenade ki chal) और पार्ट्स के नाम के बारे में बात करेंगे !




टियर स्मोक में मुख्य दो भाग होते है(tear smoke grenade ke bhag) :
  1. भूषण (Bhushan)
  2. बॉडी (Body)
1. भूषण (Bhushan): भूषण भी दो प्रकार के होते है : (a)एक सेकंड का भूषण(one secon bhushan) - जल्दी जलने वाला  (b)दो सेकंड का भूषण(DO second ka bhushan) - डिले टाइप !
जल्दी जलने वाला भूषण को सिंगल वे ग्रेनेड में तथा डिले टाइप भूषण को थ्री वे ग्रेनेड  (three way grenade)में  इस्तेमाल किआ जाता है ! जल्दी जलने वाले भूषण का पहचान है की उसके ऊपर एक सेकंड लिखा रहता है तथा डिले टाइप भूषण के लीवर पर दो सेकंड लिखा रहता है ! लेकिंग आज कल  जो जल्दी टाइप भूषण मिल रहा है उसके ऊपर कुछ नहीं लिखा रहता है यानि जिस भूषण पे एक सेकंड या कुछ नहीं लिखा हुवा हो उसे हमे जल्दी टाइप भूषण ही समझना चाहिए !


भूषण के हिस्से पुरजो का नाम 
  • लीवर (lever)
  • स्प्लिट पिन (Split pin)
  • रिंग(Rig)
  • हैमर (स्टीकर )(Hamer sticker)
  • प्रीकुसन कैप (Precuation cap)
  • .32 ब्लैक कार्ट्रिज (.32 black cartridge)
  • स्पेशल स्प्रिंग (Special spiral spring)
चाहे भूषण  एक सेकंड वाला हो या दो सेकंड वाला इसकी चाल सिंगल वे या थ्री वे ग्रेनेड में एक जैसा ही है ! जब ये एक्शन में नहीं होता है तो इसके हिस्सेपुर्जो की पोजीशन इस प्रकार होती है -


 हैमर, लीवर के निचे सुरक्षित दबा होता है तथा लीवर को अपनी जगह पर ठीक रखने के लिए भूषण के शोल्डर के सुराख़ में स्प्लिट पिन को डाला होता है ताकि लीवर अपनी जगह बनाये रहे और लीवर के निचे हैमर सुरक्षित रहता है !

स्प्लिट पिन के दोनों किनारे बहार को खुले रहते है ताकि पिन अपनी जगह से हिल न पाए और हादसों से बचा जा सके !

ग्रेनेड के भूषण का चाल (Tear smoke Grenade ke bhashan ka chaal)- जब स्प्लिट पिन को निकल कर ग्रेनेड को हवा में फेंकते है तो लीवर आजाद होता है जिसकी वजह से लीवर के निचे दब हुवा हमेर अपने स्पाइरल स्प्रिंग की तकाद से अपने पाइवोट पर ऊपर को हरकत करता है और जोर से पेर्कुसन कैप पर ठोकर मरता है , जिससे आग का शोला पैदा होता है !
ये शोला .32 ब्लैक  कार्ट्रिजको आग लगा देता है ! .32 ब्लैक कार्ट्रिज में आग लगने से इसकी आग तेजी से ग्रेनेड में भरे  हुए इग्निसन पेस्ट(Iginiation paste) को आग लगा देता है !यहाँ पे भूषण की चल समाप्त हो जाती है 


2. बॉडी(TS Grenade ke body ka parts ka naame) :ग्रेनेड की बॉडी में निम्न हिस्से पुर्जे होते है :
  • प्रेशर चम्मेर(pressure chamber) 
  • बॉडी (body)
  • गैस इमिसन होल्स (Gas Emission holes)
  • इग्निशन पेस्ट (Iginiation paste)
  • मिक्सर ऑफ़ गैस (Mixture of gas)
सिंगल वे ग्रेनेड का चाल(Single way TS granade ka chaal) :जब भूषण .32 कार्ट्रिज  से  आग का शोला निकलता है तो वह ग्रेनेड के प्रेशर चैम्बर से होते हुए इगिनिसन पेस्ट को आग लगा देता है ! इसपर आग लगने से ग्रेनेड में भरे गैस मिश्रण को भी आग लग जाती है , इस प्रकार ग्रेनेड के अन्दर आग लगने  से गैस इतने दबाव के साथ बहार आ जाती है की वह चिपकाने वाले फीते को फाड़(Blast in adhensive tape) कर गैस,टियर स्मोक गैस इमिसन होल से बड़े दवाव के साथ बहार आने लगता है ! 

इस हालत में इसके ऊपर पानी भी डाला जाय तो भी इसके ऊपर कोई असर नहीं पड़ेगा और इसका बॉडी इतना गर्म  हो जाता है की इसको उठा कर नहीं फेका जा सकता है और आश्रू गैस करीबन 25 से 35 सेकंड तक निकलते रहता है ! और यहाँ पर सिग्ने वे टियर स्मोक ग्रेनेड का चाल पूरा हो जाता है ! 
इसप्रकार से यहाँ ग्रेनेड के हिस्से पुर्जे, ग्रेनेड के भूषण की चाल और सिंगल वे ग्रेनेड की चल से स्मपधित संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई !और उम्मीद  है की ये पोस्ट पसंद आएगा! अगर की कमेंट होतो निचे कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे !ब्लॉग को  सब्सक्राइब और अपने दोस्तों के बिच भी फेसबुक के ऊपर शेयर  कर हमलोगों को सपोर्ट  करे 


इस ब्लॉग से कोई भी पोस्ट रिलेटेड पीडीऍफ़ डाउनलोड(PDF version ) करना होतो आप डाउनलोड सेक्शन में जा कर कर सकते है !
इन्हें भी पढ़े :
  1. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  2. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  3. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  4. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  5. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  6. .303 LE राइफल का इतिहास
  7. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  8. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  10. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...