Sponser

Search

Tuesday, March 27, 2018

CI पेट्रोलिंग के प्रकार और CI पेट्रोलिंग के लिए जरुरी बाते

पिछले पोस्ट में हमने काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग और कन्वेंशनल पेट्रोलिंग के अंतर के बारे में जानकारी प्राप्त की ! इस पोस्ट में हम जानेगे की काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग कितने प्रकार के होता है और काउंटर इन्सेर्जेंसी में सफल पेट्रोलिंग के लिए जरुरी बाते क्या है(CI Patrolling ke type aur CI Patrolling ke bate) !


जैसे कहा जाता है की " गस्ती पार्टी कितनी भी सिखलाई क्यों न पाई हो एक न एक दिन उसे सरप्राइज होना पड़ता है "! इस लिए पेट्रोलिंग पार्टी में ऐसे जवानों को भेजते है जो अपने काम में माहिर हो और फिजिकली पूरी तरह से फिट हो की अगर सरप्राइज हो भी गए तो भी वह दुश्मन  को अपने एक्शन से मार गिराए !

जरुर पढ़े :फायर कण्ट्रोल आर्डर और फायर डिसिप्लिन क्या है ?

कन्वेंशनल ऑपरेशन में पेट्रोलिंग का इस्तेमाल मुख्य रूप से खबरे हासिल करने तथा दुश्मन को अपनी खबर हासिल करने से रोकने के लिए किया जाता है जबकि एंटी इंसरजेंसी ऑपरेशन में पेट्रोलिंग आतंकवाद को रोकने का एक मुख्य तरीका है !

इस पोस्ट को अच्छी तरह से समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बाँट दिया है :
Patrolling in CI Ops
Patrolling in CI Ops
1. CI पेट्रोलिंग कितने प्रकार के होते है ?(CI Patrolling kitne prakar ke hote hai)!

2.CI पेट्रोलिंग को कामयाब बाने वाली बाते  (CI Patrolling ke kamyab bananewali bate)!

जरुर पढ़े :अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया

1. CI पेट्रोलिंग कितने प्रकार के होते है ?(CI Patrolling kitne prakar ke hote hai)!जैसे की हम जानते है की कन्वेंशनल पेट्रोलिंग दो प्रकार की होती है जैसे  की रेक्की पट्रोल और प्रोटेक्टिव पट्रोल उसी प्रकार से काउंटर इन्सेर्जेंसी की पट्रोल के तीन निम्न प्रकार होते है !
  • फूट पट्रोल 
  • मोबाइल पट्रोल 
  • एयर पट्रोल 

2.CI पेट्रोलिंग को कामयाब बाने वाली बाते  (CI Patrolling ke kamyab bananewali bate)!CI ऑपरेशन के पेट्रोलिंग के लिए निम्न बाते अति महत्वपूर्ण मानी जाती है और बहुत ही अहम रोल प्ले करती है CI पेट्रोलिंग को कामयाब बनाने में :
  • उच्चे दर्जे के जूनियर लीडरशिप 
  • जवानों का फिजिकल फिटनेस 
  • जमीन एवं निवासिओ के बारे में पूर्ण जानकारी 
  • लोकल जनता के साथ अच्छा एवं सद्भावपूर्ण व्यवहार 
  • ट्रूप्स की विस्तृत ब्रीफिंग 
  • सबी ट्रूप्स को पट्रोल के टास्क एवं तरीके के बारे में जानकारी होनी चाहिए !
  • पट्रोल निकलने से पहले किसी शक या सुभा के बारे में क्रोस्स्चेक कर ऐना चाहिए 
  • दिन और रत के समय क्रॉस कंट्री हरकत की काबिलियत होनी चाहिए !
  • उच्छे दर्जे की तेज और स्टिक शूटिंग की काबिलियत सभी जवानोमे होनी चाहिए !
  • अच्छा रेडियो मिलाप 
  • साधार एवं कुशल बंदोबस्त कार्वाही 
  • उच्चे दार्जे का मनोबल एवं स्तिथि क बारे में पूर्ण जानकारी होनी चाहिए !
  • किसी भ परिस्थिति से निपटने की क्षमता होनी चाहिए !
ये कुछ बाते है जिसका अगर ख्याल रखा गया तो CI ऑपरेशन के दौरान की पेट्रोलिंग काफी कामयाब रहेगी !
जरुर पढ़े :कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक संक्षिप्त जानकारी
इस प्रकार से यहाँ  CI ऑपरेशन के पेट्रोलिंग के प्रकार और उसे कामयाब बनाने वाली बातो से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 
इन्हें भी पढ़े :


  1. सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें
  2. 4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए
  3. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  4. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  5. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  6. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
  7. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
  8. फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
  9. अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
  10. रोड ओपनिंग पार्टी/पट्रोल और उसके महत्व के बारे

No comments:

Post a Comment