Search

7.08.2021

कद्वार कितने प्रकार का होता है ,और कब कब किया जाता है?

 पिछले ड्रिल के ब्लॉग पोस्ट में हमने विश्राम और विश्राम पोजीशन में देखनेवाली बाते के बारे में जानकारी प्राप्त की थी और अब इस पोस्ट में हम फूट ड्रिल के एक और सबक कद्वार के बारे में जानेगे की कद्वार कितने प्रकार का होता है और कब कब किया जाता है !

सरमोनियल कद्वार –I जब समय अधिक हो

उद्देश्य: इस पोस्मेंट में  स्क्वाड ड्रिल का एक और सबक जिसमें काम होगा कद्वार कद्वार तीन प्रकार के होते हैं। जब समय काफी हो तो सेरेमोनियल  कद्वार नंबर 1 किया जाता है। जब समय कम हो तो सेरेमोनियल कद्वार -2 किया जाता है। नंबर -3 प्रकार का कद्वार, स्क्वाड कद्वार होता है।

सेरेमोनियल के द्वार नंबर -1

जरूरत: सेरेमोनियल कद्वार नंबर 1 की हुई परेड और स्क्वाड दूर से देखने में अच्छी और सुंदर लगती है। इस कार्रवाई का बयान और करवाई !

बयान: किसी भी फॉरमेशन में खड़े स्क्वाड को सेरेमोनियल कद्वार नंबर- 1 करने के लिए वर्ल्ड ऑफ कमांड मिलता है लंबा दाहिने छोटा बाय एक लाइन में कद्वार तो पूरा स्क्वाड लाइन तोड़कर के सबसे लंबा जवान दाहिने बाकी उसके बाय खड़े हो जाएंगे। वर्ल्ड ऑफ कमांड स्क्वाड  लंबा दाहिने छोटा बाय एक लाइन में कद्वार । वर्ल्ड ऑफ कमांड मिलता है गिनती कर तो एक दो तीन चार इस तरह गिनती करें। वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है विषम एक कदम आगे  और एक कदम पीछे चल ।वर्ड ऑफ़ कमांड मिलता है अगली लाइन नम्बर एक खड़ा रहे बाकि अगली लाइन दाहिने और पिछली लाइन बाये दाहिने बाये मुड  तेज चल तो बारी बारी से जवान नंबर एक के पीछे मिलेंगे और आगे मध्य और पिछले लाइन फायर अगली लाइन मध्य लाइन तथा पिछली लाइन बनाते जायेंगे ! उस्ताद जवान को बारी-बारी खड़ा करेंगे इस कार्रवाई का अभ्यास वर्ड ऑफ़ कमांड  से करेंगे

सेरेमोनियल कद्वार-2

उद्देश्य: सेरेमोनियल कद्वार जब समय कम हो !

बयान: किसी भी फॉरमेशन में खड़ी कॉय को वर्ल्ड ऑफ कमांड मिलता है परेड  लंबा दाहिने बाएं और छोटा मध्य में 3 लाइन बना! इस वर्ल्ड ऑफ कमांड पर परेड अपने आप कद्वार होकर 3 लाइन में खड़ी हो जाती है ! वर्ल्ड ऑफ कमांड लंबा दाहिने बाएं और छोटा मध्य में 3 लाइन बन ।

नोट: उस्ताद जवान की खूबियों से स्क्वाड  को एडजस्ट करें

जरूर पढ़े: परेड ड्रिल में आगे और पीछे कदम लेना !

भाग-3 स्क्वाड कद्वार

किसी भी फॉरमेशन में खड़े स्क्वाड को स्क्वाड  कद्वार करने के लिए वर्ड ऑफ़ कमांड  मिलता है लंबा दाहिने छोटा बाय एक लाइन में कद्वार  तो स्क्वायड एक लाइन में कद्वार खड़ा हो जाए ! फिर वर्ड ऑफ़  कमांड मिलता है नंबर एक खड़ा रहे बाकी दाहिने बाएं मुड़ तेज चल उस्ताद जवान को बारी-बारी मध्य पिछले और आगे करते जाएंगे! इस तरह स्क्वाड  का कद्वार फॉलिंग हो जाता है!

नोट: अगर हमें इन मेसे किसी स्क्वाड या  टोली को एक कदम से दूसरे एक स्थान ले जाना हो तो स्क्वायड कद्वार से ही ले जाते हैं! इसमें छोटे जवान आगे की तरफ और लंबे जवान पीछे की तरफ रखेंने चाहिए !

इस प्रकार से कद्वर  से सम्बंधित यह ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुवा उम्मीद है की यह ब्लॉग पोस्ट आपलोगों को पसंद आएगा !इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!

इसे भी  पढ़े :
  1. भारतीय पुलिस ड्रिल ट्रेनिंग में इस्तेमाल होने वाले परेड कमांड का हिंदी -इंग्लिश रूपांतरण
  2. ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है
  3. ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते
  4. VIP गार्ड ऑफ़ ऑनर के नफरी और बनावट
  5. विश्राम और आराम से इसमें देखने वाली बाते !
  6. सावधान पोजीशन से दाहिने, बाएं और पीछे मुड की करवाई
  7. आधा दाहिने मुड , आधा बाएं मुड की करवाई और उसमे देखने वाली बाते !
  8. 4 स्टेप्स में तेज चल और थम की करवाई
  9. फूट ड्रिल -धीरे चल और थम
  10. खुली लाइन और निकट लाइन चल



No comments:

Post a Comment