Sponser


Friday, August 10, 2018

सेक्शन बैटल ड्रिल की स्टेज और करवाई

पिछले पोस्ट में हमने टैक्टिस के पोस्ट में हमने संतरी के ब्रीफिंग के बारेमे जानकारी प्राप्त किये और अब  इस पोस्ट में सेक्शन बैटल ड्रिल  के कितने स्टेज होते है(Section Battle Drill ke Stage) और उस दौरान क्या करवाई की जाती है उसके बारे में जानकारी प्राप्त करेगे !


हम आये दिन सुनते है की कही आतंकवादी  से तो कही नक्सालाइट से रोज ब रोज कही न कही आर्म्ड फाॅर्स से मुठभेड़ की खबरे आये दिन न्यूज़ पेपर्स या टीवी पे हम देखते और सुनते है तो कही खुद उस ऑपरेशन में सामिल भी हम  रहते है ! इसलिए हमे सेक्शन बैटल ड्रिल के बारे में अच्छी जानकारी होनी बहुत जरुरी है !

जरुर पढ़े:अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते

ऐसे ऑपरेशन में सेक्शन बैटल ड्रिल  की सिखलाई जो बेसिक ट्रेनिंग के दौरान दी जाती है वह काफी अहमियत रखती है! क्यों की एंटी नक्सालाइट या एंटी टेररिस्ट ज्यादातर ऑपरेशन हम पट्रोलिंग या एक जगह से दुसरे जगह पैदल चलकर ही करते है !और उस मूवमेंट के दौरान सेक्शन बैटल ड्रिल के दौरान सिखलाई गई फार्मेशन और हिदायते ही काम आती है !

इस पोस्ट को पढने के बाद  हम सेक्शन बैटल ड्रिल से सम्बंधित निम्न बातो को जान पाएंगे :
असाल्ट की करवाई
असाल्ट की करवाई 
1.सेक्शन बैटल ड्रिल के कौन कौन से स्टेज होते है ?(Section Battle Drill ke kaun kaun stage hote hai ?)
2.सेक्शन बैटल ड्रिल  के दौरान दुश्मन को कैसे पता लगा कर बर्बाद करते है ?(Section Battle drill ke dauran dusman ko kaise pta lagate aur barbad karte hai )
3.सेक्शन बैटल ड्रिल में हमला के दौरान किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ?(Section Battle Drill me attck ke dauran kin kin baato ka dhyan rakhna chahie)
4.सेक्शन बैटल ड्रिल में रि-ओरगानईज के दौरन क्या क्या करवाई की जाती है ?(Section Battle Drill me reorganise ke dauran kya kya karwai ki jaati hai?) 

जरुर पढ़े:अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
   
1.सेक्शन बैटल ड्रिल के कौन कौन से स्टेज होते है ?(Section Battle Drill ke kaun kaun stage hote hai ?): सेक्शन बैटल ड्रिल की पूरी करवाई चार भंगो में पूरी होती है :

  • प्रथम स्टेज - दुश्मन के कारगर फायर के अन्दर आने पर करवाई 
  • द्वितीय स्टेज- दुश्मन को पता लगा और बर्बाद करना !
  • तृतीय स्टेज - हमला 
  • चतुर्थ  स्टेज - पुनर्गठन(रि-ओर्ग नाईज)  की करवाई   

2.सेक्शन बैटल ड्रिल के दौरान दुश्मन को कैसे पता लगा कर बर्बाद करते है ?(Section Battle drill ke dauran dusman ko kaise pta lagate aur barbad karte hai ): जब हम सेक्शन फार्मेशन अख्तियार करके किसी ऑपरेशन के दौरान मूव करते है और दुश्मन की होने की अंदेशा होने पर दुशमन का पता लगाने और बर्बाद करने के लिए निम्न करवाई की जाती है :

  • देखभाल के द्वारा(By Observation) : फायर के आवाज सुनने के बाद सभी को अपने अपने जिम्मेवारी के एरिया में देखना चाहिए और जहा से फायर का शोला दिखाई दिया और फायर की आवाज़ सुनाई देने में लगा समय के अनुसार  दुश्मन का लोकेशन और दुरी का पता लगते है ! अगर आधा मिनट तक कुछ भी दिखाई नहीं दिया तो समझ लेना चाहिए की दुश्मन को हम देख कर नहीं पता लगा सकते!
  • फायर के द्वारा(By Fire) : अगर दुश्मन का पता देखकर नहीं लगाया जा सका तो सेक्शन कमांडर को चाहिए की अपने सेक्शन के दो राइफल मैन कवर में रहते हुए दो राउंड्स फायर करने का फायर कण्ट्रोल आर्डर देना चाहिए और सेक्शन के बाकि के जवान अपने अपने एरिया में दुश्मन के हरकत या फायर को देखना चाहिए ! क्यों की हो सकता है की दुश्मन हमारे फायर का जवाब अपने फायर से दे और उसका पोजीशन पता चल जाए !  यदि दुश्मन हमारे फायर का जवाब अपने फायर से नहीं दिया तो सेक्शन कमांडर को चाहिए की एक बार और कोशिस करे और अपने सेक्शन के दो दुसरे राइफल मैन को दो दो राउंड्स फायर करने के लिए फायर कण्ट्रोल आर्डर दे और अगर इस बार भी दुशमन ने हमारेर फायर का जबाब नहीं दिया तो समझ लेना चाहिए की दुश्मन या तो भाग गया है या बहुत अच्छा सिखाई प्राप्त किया हुवा है ! 
  • मूवमेंट के द्वारा(By Movement) : सेक्शन कमांडर अपने सेक्शन के दो जवानों को आर्डर देंगा की खड़े होगर दौड़ते हुए दुसरे किसी आड़ जो की 10 गज दूर हो उसको पकडे ! वो लोग को हो सकता है की ऐसी करवाई एक दो बार करनी पड़े और फिर भी दुश्मन का फायर नहीं आता है तो समझले की दुश्मन बहुत अच्छी तरह से ट्रेनिंग पाया हुवा है और ओ हमारे ऐसे ट्रिक्स में नहीं फसना चाहता है ! अगर इतना करने के बाद भी दुश्मन का फायर नही आता है तो सेक्शन कमांडर को चाहिए की अपना एडवांस की करवाई जारी रखे और आगे बढे !
इस प्रकार से दुश्मन को पता लगते और बर्बाद करते है !



3.सेक्शन बैटल ड्रिल में हमला के दौरान किन किन बातो का ध्यान रखना चाहिए ?(Section Battle Drill me attck ke dauran kin kin baato ka dhyan rakhna chahie):असाल्ट या हमला के दौरान केलिए निम्न महत्वपूर्ण बाते है जिसको अमल में लाना चाहिए :
  • सेक्शन कमांडर राइफल ग्रुप को लीड करेगा ! वह समानतः राइफल ग्रुप के बिच में रहता है !
  • सभी मूवमेंट के लिए कवरिंग फायर के द्वारा ही करना चाहिए ! कवरिंग फिरेर का एंगल जहा तक हो सके चौड़ा रखना चाहिए !
  • जब राइफल ग्रुप मूव करके दुसरे बाउंड पर फायर पोजीशन ले लेता है तो LMG ग्रुप को चाहिए की वह भी आगे बढ़कर दूसरी बाउंड के ऊपर अपना पोजीशन लेलेना चाहिए !एक फायर LMG ग्रुप अपना पोजीशन लेली और कवरिंग सपोर्ट फायर तो फिर राइफल ग्रुप को चाहिए के आगे को एडवांस की करवाई करे !यह करवाई तब तक करे जब तक की असाल्ट लाइन के पास न पहुच जाये !
  • समानतः हमाल दौते हुए कमर(Hip fire) के ऊपर राइफल रख के फायर करते हुए किया जाता है ! सेक्शन कमांडर जब आर्डर देता है चार्ज तो सेक्शन दौड़ते हुए हमला करती है ! यह समानतः 100 से 50 यार्ड के दुरी से की जाती है !
  • LMG नम्बर 1 और नम्बर 2 उचित मात्र में मग्जिन और अमुनिसन अपने साथ रखते है सेक्शन अटैक के लिए !
  • असाल्ट या हमला के दौरान LMG जहा तक संभव हो फायर कवर देता है यह निश्चित करते हुए की अपने राइफल ग्रुप फायर के अन्दर न आजाये !

4.सेक्शन बैटल ड्रिल में रि-ओरगानईज के दौरन क्या क्या करवाई की जाती है ?(Section Battle Drill me reorganise ke dauran kya kya karwai ki jaati hai?) रि-ओरगानईज की करवाई इस प्रकार से की जाती  है :
  • राइफल ग्रुप हमला के बाद जैसे ही ऑब्जेक्टिव पे कब्ज़ा कर अपना पोजीशन लेलेता है वैसे ही LMG ग्रुप दौड़ते हुए उनको ऑब्जेक्टिव के ऊपर ज्वाइन करता है !
  • सेक्शन कमांडर ऑब्जेक्टिव के एरिया को सर्च करवाता है की कोई दुश्मन कही घायल या छुपा हुवा तो नहीं है !सभी राइफल नम्बर सर्च में नहीं लगाये जाते है कुछ सर्च करते है और कुछ उनको कवर करते है !
  • उसके बाद सेक्शन कमांडर अपने ग्रुप को ऑब्जेक्टिव के ऊपर लगता है और राइफलमैन तथा LMG ग्रुप को अर्क ऑफ़ ऑब्जरवेशन बताता है तथा निशान बताता है !
  •  सेक्शन को ऑब्जेक्टिव पर लगाने के बाद निम्न बातो को खुद चेक करता है 1(i) कासुअलिटी (ii) अमुनिसन की स्टॉक को चेक्क करता है (iii) LMG के मगज़ीन को फिर से रेइफ़िल्लिन्ग करता है और अपने प्लाटून कमांडर को इन्फॉर्म करता है 
  • और अपने प्लाटून कमांडर के अगले आदेश का इतेंजर करता है !

इस प्रकार से सेक्शन बैटल ड्रिल के दौरान की करवाई सम्बंधित ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !

इन्हें  भी  पढ़े :
  1. वर्बल आर्डर में जमीनी निशान देने का तरीका क्या होना चाहिए ?
  2. फौजी टैक्टिकल वर्ड गुरिल्ला बैंड और गुरिल्ला बेस क्या होता है ?
  3. काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग और कन्वेंशनल पेट्रोलिंग में अंतर
  4. CI पेट्रोलिंग के प्रकार और CI पेट्रोलिंग के लिए जरुरी बाते
  5. CI ऑपरेशन के दौरान की पेट्रोलिंग करते समय ध्यान में रखनेवाली कुछ मुख्य बाते
  6. ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन क्या होता है ?
  7. ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन की पहले स्टेज में की जानेवाल...
  8. ड्राइव एंड हंट ऑपरेशन के स्टेज-2 की करवाई और पार्...
  9. ड्राइव & हंट ऑपरेशन स्टेज-3 की करवाई और सफलता के ...
  10. संतरी ड्यूटी के ब्रीफिंग में TEGOLAPPS कीवर्ड का म...      

No comments:

Post a Comment