Advertisement

Search

Wednesday, June 20, 2018

ड्राइव & हंट ऑपरेशन स्टेज-3 की करवाई और सफलता के लिए जरुरी बाते

पिछले दो पोस्ट्स में हमने ड्राइव & हंट के स्टेज-1 और स्टेज -2 के बारे में जानकारी प्राप्त किये ! इस पोस्ट में हम ड्राइव & हंट स्टेज-3 के बारे में जानेगे !


जैसे की हमने पिछले पोस्ट्स से जान चुके है की  ड्राइव एंड हंट के स्टेज -1 में एरिया रैकी तथा खबरे अपने और विद्रोहियों के बारे में हासिल की  जाती है वही स्टेज-2 में सैंड मॉडल और माप पे ब्रीफिंग तथा पार्टियो की बाँट की जाता है !


जरुर पढ़े :पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का असान तरीका ?

इस ऑपरेशन का सबसे अहम् स्टेज है  वह स्टेज -3 है वैसे तो किसी ऑपरेशन के हरेक एक्टिविटीज ही अहम् होता है उस ऑपरेशन को सफल और विफल बनाने के लिए लेकिन फिर भी कुछ एक समय होता है जहा से हम उस ऑपरेशन को सही मायने में इम्प्लेमेंट करते है यानि हकीकत में जमीनी जमा पहनते है !

ड्राइव & हंट ऑपरेशन का स्टेज-3 इसीलिए अहम् माना जाता है क्यों की बाकि स्टेज में हम जो  खबर हासिल करते है या प्लानिंग बनांते है उन सब को इस स्टेज में इस्तेमाल करते हुए करवाई कर ऑपरेशन को सफल बनाते है !


जरुर पढ़े :काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग और कन्वेंशनल पेट्रोलिंग में मुख्य अंतर

ड्राइव & हंट ऑपरेशन का स्टेज-3 के अन्दर भी 3 स्टेज होते है  जो निम्न है :
1. तैयारी का दर्जा (Prepratory stage)
2. धावा का दर्जा (Assault Stage)
3.री-ग्रुपिंग का दर्जा (Re-grouping स्टेज)

1. तैयारी का दर्जा (Prepratory stage):इस स्टेज के अन्दर निम्न करवाई की जाती है :

  • इसमें खबर मिलने से लेकर तमाम पार्टियो के अपनी अपनी जगह पर लग जाने तक की सभी करवाई शामिल होती है !
  • कमांडर को विद्रोही की सूचना मिलना !
  • कमांडर द्वारा अपने सेकंड इन कमांड को वार्निंग आर्डर देना !और उस वार्निंग आर्डर में ऑपरेशन का नाम तथा टास्क , एन एम् बी , ओ, आर, एवं ऍफ़ ग्रुप के लिए आर वि और बंदोबस्त की करवाई और दूसरी कोई विशेष निर्देश  यदि 
  • ऑपरेशन वाले इलाके की जमीनी और माप पर रैकी करना 
  • और योजना बनाना :
(क) अभियान के लिए पार्टियो की बाँट और उनकी जिम्मेवारी  का इलाका 
(ख) जाने व आने के रस्ते व साधन 
(ग) असेंबली एरिया , और ऍफ़ यु पी का चुनाव 
(घ)समय की बाँट 
(च) बंदोबस्ती की कार्यवाही 
(छ)मिलाप के साधन 
(ज)सफलता का इशारा 
(झ)ड्राइव पार्टी के साथ नेविगेशन पार्टी नियुक्त किया जाय 
(ट) ऑपरेशन समाप्ति के बाद आर वी कहा होगी !
जरुर पढ़े :कामौफ्लाज और कांसिल्मेंट के ऊपर एक मुख्य बातो की जानकारी
2. धावा का दर्जा (Assault Stage): इस स्टेज में निम्न करवाई की जाती है :
  • ड्राइव पार्टी ऍफ़ यु पी लाइन के ऊपर एक्सटेंडेड लाइन में बाये और दाहिने खुल जाती है !
  • इस पार्टी से सबसे बाये वाले जवान के बाये हाथ पर और दाहिने वाले जन के दाहिने हाथ पर पहचान के लिए एक सफ़ेद पट्टी बंधी जाए ताकि दाहिने और बाए लगी स्टॉप परी के जवान ये मालूम कर सके की ये जवान ड्राइव पार्टी का सबसे बाया या दाहिना जवान है !
  • एच  ऑवर पर ड्राइव पार्टी तान शास्त्र पोजीशन में स्टार्ट लाइन से ड्राइव शुरू करेगी !
  • नेविगेशन पार्टी पूरी ड्राइव के दौरान ड्राइव पार्टी को सही दिशा कायम रखने में मदद करेगी !
  • अपने सामने के इलाके को ड्राइव पार्टी दुरुस्त तरीके से तलाश करते हुए आगे बढ़ेगी !
  • रास्ते  में कोई रुकावट आती है जैसे नदी , नाले खाई , पहाड़ इत्यादि होतो तो फायर एंड मूव से पार करेंगे 
  • विद्रोहियो का फायर अत है तो "चांस एनकाउंटर " ड्रिल की कारवाही की जाये ! और फिर उसके बाद ड्राइव को जरी रखा जाये !
  • दाहिने या बाये  स्टॉप्स का वही जवान फायर करेंगा जिसके सामने और नजदीक विद्रोही आ गए हो !
  • ड्राइव के दौरान जब ड्राइव पार्टी के जवान आगे बढ़ जाती है तो दाहिने और बाये में लगे हुए जवान जिनके सामने से ड्राइव पार्टी गुजरती है रियर कार्डोंन  बनाने की कार्यवाही करते जायेगे !
  • अगर ड्राइव करते हुए ड्राइव पार्टी के सामने का इलाका ज्यादा घना  व चौड़ा आ जाये जिसमे ड्राइव पार्टी पुरे इलाके को कवर न कर पा रही हो तो ऑपरेशन कमांडर रियर करडान से कुछ आदमी ड्राइव पार्टी के साथ बिच में मिला सकता है और बचे स्टॉप से रियर करडान बनाया जायेगा ताकि विद्रोही अगर ड्राइव पार्टी से बचकर निकाल जाता है तो वह रियर करडान द्वारा पकड़ा या मारा जा सके !

  • विद्रोहिओके किलिंग ग्राउंड में पहुचते ही ड्राइव पार्टी रुक जाएगी और पहले से निश्चित की हुई पोजीशन पर लग जाएगी ! ऑपरेशन कमांडर विद्रोहियो को आत्म समर्पण करने के लिए चेतावनी देगा !
  • अगर विद्रोही दिए हुए समय में आत्म  समर्पण नहीं करते तो ऑपरेशन कमांडर " कट ऑफ ग्रुप " कमांडर को विद्रोहियो को किलिंग ग्राउंड में बर्बाद करने का हुक्म देगा !
  • ऑपरेशन कमांडर ड्राइव पार्टी की पोजीशन से ही "कट ऑफ़ ग्रुप" कमांडर से रिपोर्ट लेगा की क्या उसकी फायर  की करवाई पूरी हो चुकी है! रिपोर्ट मिलने के बाद ऑपरेशन कमांडर ड्राइव पार्टी को किलिंग एरिया की तलाशी के लिए  कहेगा ! तलाशी के दौरान कोई विद्रोही छिपा है तो उसे पकड़ा या बर्बाद किया जायेगा !
  • इस ऑपरेशन के दौरान दाहिने या बाये स्टॉप से या "कट ऑफ ग्रुप " से विद्रोही बच  कर यदि निकाल भागता है तो ऐसी हालत में ऑपरेशन  या सम्बंधित  पार्टी कमांडर   वायर लेस या वि एल पि के फायर द्वारा भागते हुए विद्रोही की नफरी व भागने की दिशा के बारे में बताएगा! ऑपरेशन कमांडर यदि जरुरत समझता है तो रिज़र्व पार्टी को भागे विद्रोहियो को पकड़ने या बर्बाद करने में लगा सकता है !
  • ऑपरेशन कमांडर तमाम पार्टियो से रिपोर्ट लेगा और पकडे हुए विद्रोही पर गार्ड लगाएगा और सफलता का दोहरा इशारा देगा !

3.री-ग्रुपिंग का दर्जा (Re-grouping स्टेज): इसके दौरान निम्न करवाई की जाती है :
  • जैसे ही सफलता का इशारा मिलता है ड्राइव पार्टी और दोनों स्टॉप पार्टी के जवान या रियर कार्डोंन  के जवान मिलकर तान  शास्त्र पोजीशन में अपने अपने सामने वाले इलाके की तलाशी करते हुए आगे बढ़ेंगे और "कट ऑफ पार्टी " के पीछे तक जायेंगे व पोजीशन ले लेंगे !
  • छिपे हुए या पकडे हुए विद्रोहियो के साथ करवाई 
  • ऑपरेशन कमांडर पुरे ऑपरेशन का रिपोर्ट लेगा !
  • घायल , कैदियो व मृतक का नितरा 
  • हथियार अमुनिसन की जाँच तथा जरुरत के मुताबिक कमियों को पूरा करना !
  • कैदियो की तलाशी , पूछ ताछ करना तथा उन्हें हेड क्वार्टर भेजना !
  • यदि एनी कोई ऑपरेशन करना हो तो उसकी तैयारी करा !

(4) ड्राइव & हंट ऑपरेशन की सफलता के लिए जरुरी बाते  कुछ निम्न है :
  • इस ऑपरेशन की पूर्ण सफलता सरप्राइज पर निर्भर करती है !
  • समझ और होशियारी के साथ पर्त्यो का ले आउट साईटिंग और छुपाव !
  • खामोशी 
  • होशियारी के साथ पोजीशन चुनना , जिस पर विद्रोहियो को शंका न हो !
  • रिज़र्व का होना !
  • रिज़र्व को सही जगह पर रखना और उसका दुरुस्त इस्तेमाल !
  • कमांड व कण्ट्रोल हर स्तर पर ऊँचे दर्जे का होना चाहिए !
  • फायरिंग करते समय पने जवानों की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाये !
  • वायरलेस सेट्स को ऑपरेशन शुरू होने से लेकर समाप्त होने तक लिसनिंग वाच पर रखा जाय ! वायरलेस सेट्स पर अनावश्यक बातचीत न की जाय !
  • पार्टियो के पोजीशन में लगने के समय तक रेडियो साइलेंस ब्रेक न की जाय !
  • इशारे पहले से मुकर्र हो 
  • पार्टिया रात के अँधेरे में ही लग जाए !
यह ऑपरेशन बड़े स्तर पर होता है ! इसलिए यह जरुरी है की ऐसे अभियान की प्लानिंग तथा तैयारी सही तथा विस्तृत रूप से होनी चाहिए ! जवानों का ट्रेनिंग आला दर्जे का होना चाहिए जिसमे हर एक जवान यह समझ सके की उसे करना क्या है कमांडर के आदेश सादे और स्पस्ट होने चाहिए ! ऑपरेशन की सफलता के लिए यह जूनियर लीडर्स की भूमिका को नजर अंदाज नहीं किया जाए , यदि मुमकिन हो तो ट्रूप्स का ऑपरेशन की रेहेर्सल पहले करा ली जाये !


इस प्रकार से यहाँ ड्राइव & हंट ऑपरेशन का स्टेज -3 की करवाई और सफलता से सम्बंधित और इसके साथ ही ड्राइव & हंट के स्टेज-1 और स्टेज- 2 के साथ पूरी ड्राइव & हंट ऑपरेशन की  एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की पोस्ट आपको पसंद आएगा ! अगर कोई  या ब्लॉग के बारेमे हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरूर लिखे ! और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक शेयर तहत लिखे करके हमलोगों को प्रोतसाहित करे और अच्छा करने के लिए 
इन्हें भी पढ़े :
  1. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें
  2. रोड ओपनिंग पार्टी की तैनाती करने का तरीका तथा ROP ड्यूटी के दौरान IED से बचा के लिए ध्यान में रखनेवाली बाते
  3. ROP लगाते समय एक कमांडर को ध्यान में रखनेवाली बाते !
  4. सैंड मॉडल का परिचय तथा सैंड मॉडल ब्रीफिंग की विधि
  5. किसि ऑपरेशन का मूल्यांकन करने का तरीका
  6. ऑपरेशनलन आर्डर क्या होता है और ऑपरेशनल आर्डर पास करने के तरीके
  7. वर्बल आर्डर देनेका तरतीब और तरीका क्या होता है ?
  8. वर्बल आर्डर में जमीनी निशान देने का तरीका क्या होना चाहिए ?
  9. फौजी टैक्टिकल वर्ड गुरिल्ला बैंड और गुरिल्ला बेस क्या होता है ?
  10. काउंटर इन्सेर्जेंसी पेट्रोलिंग और कन्वेंशनल पेट्रोलिंग में अंतर

No comments:

Post a Comment