Sponser


Sunday, May 15, 2016

पुलिस फिजिकल ट्रेनिंग के सिद्धांत, उसूल और हादसे रोकने के तरीका

पुलिस शारीरिक प्रशिक्षण पुलिस ट्रेनिंग का एक अहम् हिस्सा है और ये चाहे पुलिस रिक्रूट ट्रेनिगं (Police recruit physical training) हो या वेटेरन ट्रेनिंग(Police veteran training) हो, आर्मी ट्रेनिंग(Army physical training) या आर्म्ड पुलिस ट्रेनिंग(Armed police physical training) हो एक ट्रेनी का दिन का सुरुवात फिजिकल ट्रेनिंग(PT) से ही होता है

जरुर पढ़े : पीटी का इतिहास, सिस्टम, पीटी का उद्देश्य और पीटी का उसूल

 ! इसकी इम्पोर्टेन्ट को ध्यान में रखते हुवे इस पोस्ट में हम जानकारी शेयर करेगे पुलिस शारीरिक प्रशिक्षण का सिधांत, शारीरिक प्रशिक्षण के सिधांत के लिए जरुरी बाते ,शारीरिक प्रशिक्षण के दौरान हादसों के रोक थाम, शारीरिक प्रशिक्षण के दौरान फिटनेस हासिल करने से पहले ये बाते, और बाधाये!
Mass PT
Mass PT

पुलिस शारीरिक प्रशिक्षण का सिधांत एक ही होता है की  शारीरिक प्रशिक्षण के  उसूल को कायम रखते हुवे  ,  कम से कम हादसे हो या हादसों के बिना   जवानों के उंदर फिटनेस पैदा करना! या दुसरे शब्दों में कहे तो जवानों को शारीरिक और मानशिक तौर पे चुस्ती , स्पूर्ति और ततंदुरुस्त बनाना  जिससे ओ किसी भी कठिन से कठिन काम  या माहौल को सही तरीके से निपटारा कर सके !

शारीरिक प्रशिक्षण के सिधांत (Principle of Physical Training) :

  • सुडौल विकास 
  • सिल्सिल्वर प्रगति
  • निरंतरता 


शारीरिक प्रशिक्षण के सिधांत के लिए जरुरी बाते(Important points for principle of physical training) :

  • अच्छा वातावरण हो 
  • सही नींद मिले ट्रेनिंग में आने से पहले ,
  • कड़ी मेहनत 
  • मनोरंजन  
  • संतुष्टि   
शारीरिक प्रशिक्षण के दौरान हादसों के रोक थाम के लिए बाते(prevention of accident during physical training) :
  • धीरे धीरे प्रगति 
  • फिसलने वाली जगह से बचना ,
  • इस्तेमाल करने से पहले सामान की चेक करना ,
  • दीवारों और अन्य रूकावटो से दूर रहना  या बचना ,
  • जरुरत के मुताबित मदद देना 
  • अनुसाशित रहना 

                    जरुर पढ़े : क्लासिफिकेशन ऑफ़ एक मिनट ड्रिल

शारीरिक प्रशिक्षण के दौरान फिटनेस हासिल करने से पहले ये बाते तय कर लेनी चाहिए(Geting fitness from physical training) :

  • फ्रीक्वेंसी - एक सप्ताह में एक शारीरिक प्रशिक्षण का आइटम कितना बार करायी जाएगी !
  • इंटेंसिटी - शारीरिक प्रशिक्षण की तीब्रता कितनी रहेगी 
  • टाइप - एक्सरसाइज किस किस  टाइप की हो ,
  • टाइम - और शारीरिक प्रशिक्षण का सेशन कितने समय के हो 

 बाधाये दो प्रकार की होती है(Type of obstacles)

  • कुदरती - लेक, रेगिस्तान , पहाड़ , जलधारा , डिच ,पेड़, नदी , नाले  इत्यादि  
  • बनावटी- बैटल ओब्स्टकल  & असाल्ट कोर्स 

ये कुछ जानकारी योग्य बाते थी जो शारीरिक प्रशिक्षण के सिधांत से संबधित आसा करता हु की आप लोगो को पसंद आई होगी !

No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...