Search

Featured Post

इंसास राइफल Vs AK-203 राइफल

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने RPG-7 राकेट लांचर के बारे में जानकारी प्राप्त किया था और अब इस नई ब्लॉग पोस्ट में हम हिंदी में  इंसास और AK-203 र...

29 July 2022

5.56 mm इंसास राइफल ट्रिगर मैकेनिज्म का IWT सरल भाषा में

 पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने इंसास राइफल के चाल और फायर करना  आदि के बारे जानकारी प्राप्त की  और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के छठे   लेसन में हम 5. 56 राइफल के थ्री राउंड  ट्रिगर मैकेनिज्म  के  IWT सरल भाषा    में जानेगे(5.56 mm INSAS Rifle ke Three Round Brust TRB  trigger mechanism ke Integrated Weapon Training Module saral bhasha me  IWT) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे !

1. शुरू-शुरू का काम:-

  • (क) क्लास की गिनती और ग्रुपों में बॉट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्यवाही

2. दोहराई : दोहराई पिछले पाठ से (चाल और रोकों से ले)

3. पहुँच - इन्सास राइफल की बनावट में चंद आधुनिक तब्दीलियों की गई हैं, जिससे इस राइफल की

एक्यूरेसी बढ़ जाती है. इसलिए यह निहायत जरूरी है कि आप सभी इस राइफल के ट्रिगर मैकेनिज्म

के बारे में जानकारी रखें, ताकि जरूरत पड़ने पर इसे आसानी से इस्तेमाल कर सकें।

4. उद्देश्य-5.5 एमएम. राइफल के ट्रिगर मैकेनिज्म के बारे में जानकारी देना है ।

5. सामान-राइफल, मैगजीन, स्काइव, इजल, ब्लैकबोर्ड, चौक डस्टर, ट्रिगर मैकेनिज्म का चार्ट और

ग्राउण्डशीट।

6. भागों में बॉट:-

  • भाग 1-ट्रिगर मैकेनिज्म

  • भाग 2-टी०आर०बी० मैकेनिज्म

भाग 1

ट्रिगर मैकेनिज्म

ट्रिगर मैकेनिज्म :- ट्रिगर की चाल में आनेवाले हिस्से पुर्जे इस प्रकार हैं ।

  • a) सेफ्टी सियर असेम्बली - सेफ्टी सियर, स्प्रिंग सेफ्टी सियर, पिन सेफ्टी सियर, हैमर,सिंग हैमर, पॉल हैमर, सिंग पॉल हैमर, पिन एक्सीस हैमर,ट्रिगर, सियर, स्प्रिंग सियर। 
  • (b) हैमर असेम्बली - हैमर रीसेस फॉर सेफ्टी सियर, प्लेटफार्म, हैमर रिटर्न स्प्रिंग। 
  • (c) ट्रिगर असेम्बली - ट्रिगर सियर, क्लों, टेल। 
  • (d) व्हील असेम्बली- स्प्रिंग हैमर, पॉल हैमर, सिंग पॉल हैमर, स्लेक्टर प्लेट। 
  • (e) चेंज लीवर असेम्बली - चेंज लीवर, स्टेम, रिसेस फॉर स्लेक्टर प्लेट, लग । 

भाग 2 
टी०आर०बी० मैकेनिज्म

टी०आर०बी० मैकेनिज्म - टी०आर०बी० असेम्बली के हिस्से-पूर्जे इस प्रकार हैं:

  • (a) बॉक्स 
  • (b) एक्सिस पिन 
  • (c) प्लेट स्लेक्टर 
  • (d) रिचट व्हील 
  • (e) रिचेट प्लेट (ट्रिपिंग प्लेट)

  • (f) सिंग

टी०आर०बी० मैकेनिज्म
टी०आर०बी० मैकेनिज्म
  • तीन राउण्ड कन्ट्रोल बट मैकेनिज्म को चेंज लीवर और हैमर के बीच में फिट किया गया है, जब चेंज लीवर का पोजीशन बी पर करते हैं, तो उसका लग प्लेट स्लेक्टर को नीचे दबा देता है, जिससे रिचेट व्हील पॉल के रेडियल पाथ में आ जाता है । ट्रिगर दबता है, तो हैमर सियर से आजाद हो जाता है और फायरिंग पिन पर ठोकर मारता है, जिससे पहला राउण्ड फायर हो जाता है। पॉल रिचेट के ऊपर वाले दाँत में फंस जाता है।
  • जब रोटेटिंग बोल्ट और पिस्टन एक्सटेन्शन पीछे को हरकत करते हैं तो रिचेट व्हील अपनी जगह पर बरकरार रहता है. पॉल सिंग के बरखिलाफ दब जाता है और हैमर पीछे दब जाता है । इस समय ट्रिगर दबे होने के कारण हैमर को ट्रिगर सियर नहीं रोक पाता है. इससे दूसरा राउण्ड फायर हो जाता है । इस समय रॉकेट व्हील का दूसरा दाँत पॉल के साथ फंस जाता है । रॉकेट व्हील का पिछला, ऊपर वाला दाँत एजीलरी सियर को पीछे दबा देता है ।
  • जब चाल वाले पुर्जे पीछे का हरकत करते हैं, तो हैमर को नही ट्रिगर सियर और न ही एग्जीलरी सियर रोक पाता है। इस प्रकार तीसरा राउण्ड फायर हो जाता है। जब तीसरा राउण्ड फायर हो जाता है, तो पॉल रिचेट के सबसे नीचे तीसरे दाँत में फंस जाता है । ट्रिपिंग प्लेट नीचे बने प्रोजेक्शन को नीचे दबा देता है । पुर्ज पीछे आते हैं. पॉल भी हैमर के साथ पूरा पीछे घूम जाता है। इस समय पॉल और रिचेट व्हील का मिलाप टूट जाता है । ट्रिपिंग प्लेट से रिचेट व्हील का दबाव उठ जाता है और एग्जीलरी सियर आजाद हो जाता है। जब हमर पीछे आता है तो एग्जीलरी सियर हैमर पर सवार हो जाता है और हैमर रुक जाता है। इस प्रकार तीन राउण्ड फायर होने के बाद तबतक फायर नहीं होगा जबतक ट्रिगर को रीलिज करके दोबारा प्रेस नहीं किया जाय ।

टी०आर०बी० मैकेनिज्म इस हथियार की विशेषता है । चेन्ज लीवर का पोजीशन आर पर होने से इन्सास राइफल सिंगल शॉट फायर करती है । चेन्ज लीवर का पोजीशन एस पर हो तो राइफल फायर नहीं

इस प्रकार से टी०आर०बी० मैकेनिज्म का ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुवा !

इसके साथ ही 5.56 mm इंसास राइफल के टी०आर०बी० मैकेनिज्म से सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!

इसे भी  पढ़े :
  1. भारतीय पुलिस ड्रिल ट्रेनिंग में इस्तेमाल होने वाले परेड कमांड का हिंदी -इंग्लिश रूपांतरण
  2. ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है
  3. ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते
  4. VIP गार्ड ऑफ़ ऑनर के नफरी और बनावट
  5. विश्राम और आराम से इसमें देखने वाली बाते !
  6. सावधान पोजीशन से दाहिने, बाएं और पीछे मुड की करवाई
  7. आधा दाहिने मुड , आधा बाएं मुड की करवाई और उसमे देखने वाली बाते !
  8. 4 स्टेप्स में तेज चल और थम की करवा



No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Add