Search

17 January 2022

फायरिंग रेंज पे सुरक्षित फायरिंग करने के लिए भी कुछ उसूल है

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने इंसास राइफल तथा AK-203 के बारे में जानकारी प्राप्त की और अब इस नई पोस्ट में हम फायरिंग रेंज पे सुरक्षित फायरिंग करने के लिए भी कुछ उसूल है उनके बारे में हम जानेगे !

जैसे की हम देखते है कभी एनुअल फायरिंग तो कभी डेमो फायरिंग के लिए हम बहुत बार फायरिंग रेंज पे फायरिंग के लिए जाते रहते है कभी हमे उचित समय मिलता है और पूरी तैयारी के साथ जाते है तो कभी बहुत ही कम समय मिलता है और उसी कम समय में तैयारी कर के फायरिंग के लिए जाता है ! और जैसे की हम जानते है की फायरिंग रेंज पे हम लाइव राउंड को फायर करते है और वह कोई एक्सीडेंट हो जाये तो जिंदगी और मौत के सामान होता है इसलिए फायरिंग रेंज पर हमेश ही उच्चतम दर्जे का अनुशाशन होना चाहिए ! ऐसे तो अनुशासन हर क्षेत्र में होनी चाहिए लेकिंग फायरिंग रेंज जहा की हम लाइव राउंड से फायर करते है इसलिए अनुशासन की काफी जरुरत होती है फायरिंग रेंज के ऊपर !

Firing Range ke Usul
Firing Range ke Usul 
1. फायरिंग रेंज के फायर का उद्देश्य( FIRING RANGE TRAINING MOTTO: 

फायरिंग रेंज की फायरिंग हम इसलिए करते है की हम अपने आप को रियल लाइफ ऑपरेशन के लिए तैयार रखे इस लिए हमे फायरिंग रेंज की फायरिंग को निम्न उद्देश्य से करनी चाहिए  :

  • वास्तविक ऑपरेशन  के दौरान उपयोगिता को ध्यान में रख करे फायरिंग करे !
  • वास्तविक ऑपरेशन और फायरिंग रेंज ट्रेनिंग को जितना क्लोज la सकते है लेन की कोसिस करे !
  • फायरिंग रेंज की दर्द और कठिनाइया छडिक है लेकिंग इसकी उपयोगिता पूरी सर्विस के दौरान रहती है इसीलिए छडिक दर्द से भागे न बल्कि सीखे !
2. फायर आर्म सेफ्टी रूल्स(FIRE ARM SAFETY RULES ): फायर आर्म्स सेफ्टी रूल कुछ  इस प्रकार से है जिन्हें हमेशा ध्यान में रखना चाहिए और फायरिंग रेंज पे तो इसे और ही ज्यादा ध्यान देना चाहिए :

  • फायर आर्म डिसिप्लिन(Fire arm discipline) : हमेशा सभी हथियार को लोडेड समझे (All guns are always loaded)
  • मजल डिसिप्लिन(Muzzle discipline): किसी भी हथियार के मजल किसी के ऊपर पॉइंट ना करे या  को कभी भी किशा दिशा में पॉइंट ना करे जब तक की आपको उसे शूट करके बर्बाद न करना हो(Never point your muzzle towards any one, any thing or in any direction if you do not want to destroy or shoot.) !
  • ट्रिगर डिसिप्लिन:अपने अंगुली को ट्रिगर से बहार रखे जब तक की टारगेट को बर्बाद करने का हुकुम न मिल गया हो (Keep your finger off the trigger on the frame until your muzzle is on the Target.)
  • टारगेट डिसिप्लिन: अपने टारगेट और उसके के बारे निश्चित हो ले (Be sure of your target and what is in front and behind it.)

3. रेंज रूल्स( FIRING RANGE RULES)

  • फायर आर्म्स  के साथ कभी भी छेड़ छड नहीं करना चाहिए अगर फायरिंग फिपर तैयारी चल रही हो तो(Never handle a fire arm if some present down range.)
  • फायरिंग रेंज पर आर्म्स का हैंडलिंग तब तक नहीं करनी चाहिए जब तक की उसके लिए बोला न जाए ! (Never handle a fire arm until instructed to do so.)

4. फायर अनुशासन से सम्बंधित चेतावनी(CAUTION):फायरिंग रेंज या ट्रेनिंग के दौरान बताई गई चेतानियो पर अगर ध्यान नहीं देने से यह पूरी तरह से संभव है की उसी गलतिय को वास्तविक ऑपरेशन में भी अनुसरण होगा और जहा की किखुद की और अपने साथियो के जान माल की भरी कीमत भी चुकानी पद सकती है ! इस लिए यह बहुत जरुरी है की ट्रेनिंग और फायरिंग रेंज पे जितनी भी निर्देश या ड्रिल बताई जाती है उसी को पूरी तन्मयता से पालन करना चाहिए !

5. स्वास्थ सम्बंधित हिदायते(HEALTH WARNING): फायरिंग रेंज पर फायर के दौरान बहुत ही मात्र में लीड बतारावरण में सामिल होता है जिससे कैंसर होने का खतरा रहता है  इसीलिए फायरिंग के बाद अपने हाथ को अच्छी तरह से धो लेना चाहिए !


6. फायरिंग के दौरान की डिसिप्लिन (FIRE DISCIPLINE) :

  •  सावधानी  और फोकस के साथ फायरिंग पे ध्यान देना चाहिए (Attention and focus of mind and body in the class.)
  • उच्चतम क्लास की सिंसेरिटी रखनी ची फायरिंग करते वक्त (Maximum sincerity as if you are in live fire.)
  • हमेशा फायरिंग के ऊपर फिर्निंग केलिए बताये गए ड्रेस पहने (Always proper uniforms)
  • फायरिंग के दौरान इधर उधर नहीं देखना चाहिए (No talking, looking and searching away.)
  • कोऑर्डिनेटेड फॉर्म में एक्कटरना चाहिए( Begin slowly and work on coordination first.)
  • अभ्यास के साथ स्पीड अपने आप आ जायेगा !
  • रेंज पे मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए(No cell phone.) !
  • कोई शक हो तो उस्ताद से ही पूछे (Ask questions to the trainer only.)
  • खुद ट्रेनर बनने  का कोशिस न करे (Do not try to play the role of trainer.)
  • फायरिंग के तरतीब को कभी ना तोड़े जब तक की उसके लिए परमिशन न मिल गया हो (Do not break the formation without permission of the trainer.)!

इसके साथ ही फायरिंग रेंज के सुरक्षात्मक करवाई  से सम्बंधित ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!

इसे भी  पढ़े :
  1. भारतीय पुलिस ड्रिल ट्रेनिंग में इस्तेमाल होने वाले परेड कमांड का हिंदी -इंग्लिश रूपांतरण
  2. ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है
  3. ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते
  4. VIP गार्ड ऑफ़ ऑनर के नफरी और बनावट
  5. विश्राम और आराम से इसमें देखने वाली बाते !
  6. सावधान पोजीशन से दाहिने, बाएं और पीछे मुड की करवाई
  7. आधा दाहिने मुड , आधा बाएं मुड की करवाई और उसमे देखने वाली बाते !
  8. 4 स्टेप्स में तेज चल और थम की करवाई
  9. फूट ड्रिल -धीरे चल और थम
  10. खुली लाइन और निकट लाइन चल




No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Add