Search

02 April 2021

फायर और फायरिंग का उसूल क्या होता है

 पिछले पोस्ट में हमने 303 राइफल  उत्पत्ति तथा विशेषता के बारेमे जानकारी प्राप्त किये और इस ब्लॉग पोस्ट में मै अपने एक पाठक द्वारा पूछे गए सवाल का उत्तर दे कर बताऊंगा और पाठक का सवाल है की फायर और फायरिंग  का उसूल क्या होता है(Fire ke usul) !

जैसे की हम जानते है की किसी भी काम को अच्छी रिजल्ट पैन के लिए उस काम का जो उसूल है उसे हमे नहीं छोड़ना चाहिए अगर हम उस काम के उसूल को सही से  तो रिजल्ट हमेशा साधारण या उससे निचे का  रिजल्ट िलेगा इस लिए अच्छा रेसुत के लिए उसूल को नहीं छोड़ना चाहिए ! उसी प्रकार से फायरिंग के अच्छे रिजल्ट के लिए सभी फायरर को फायर की उसूल (Fire ke asul)को काफी नहीं छोड़ना चाहिए !

जरुर पढ़े  7.62 mm MMG के प्रकार तथा टेक्निकल डाटा 7.62 mm MMG के ?

फायरिंग का बेसिक उसूल(Fire ke asol) को हम पांच भाग में अच्छी तरह से समझ सकते है :

sight alignment
sight alignment 

  1. अच्छी फायरिंग पोजीशन (Firing Position):अच्छा फायरिंग रिजल्ट प्राप्त करने के लिए फायरिंग पोजीशन (stance ) अच्छा होना चाहिए ! बॉडी अच्छी तरह से टारगेट  अलाइन होना चाहिए !
  2. पकड़ (Grip )(Grip of weapon):गन के ऊपर V  फोर्मेड में अंगूठा तथा इंडेक्स फिंगर सूटिंग हैंड (Shooting )के द्वारा हथियार के ऊपर अच्छी पकड़ बनाना चाहिए ! पकड़ ऐसी होनी चाहिए की सूटिंग हैंड (Shooting ) का  रिस्ट (Wrist ) और राइट थम्प टारगेट को पॉइंट करता हो !
  3. साँस पर कण्ट्रोल(Breathing Control) : साँस पर कण्ट्रोल इसलिए जरुरी है की इससे बॉडी का मूवमेंट काम हो जाता है शूटिंग के दौरान !इसलिए लिए यह रेकमेंड (Recommend) किया जाता है की शॉट फायर करने के बाद ही साँस लिनी चाहिए यानि दो राउंड फायर करना हो तो एक राउंड फायर करने का बाद ही सांस  लेनी चाहिए !
  4. साइट अलाइनमेन्ट(Sight Alignment) : साइट अलाइनमेन्ट में फोरेसाइट ुर बैक साइट  ही ख़ास रिस्ता है इसिलए दुरुस्त रिजल्ट के लिए अच्छी साइट अलाइनमेन्ट होनी चाहिए !
  5. दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन(Trigger Operation) : अच्छी फायरिंग रिजल्ट के लिए दुरुस्त ट्रिगर ऑपरेशन की  अहम् रोल होता है यानि ट्रिगर को झटके से नहीं दबाना चाहिए बल्कि धीरे धीरे (Gradually ) दबाना चाहिए !

दूसरे शब्दों में कहे तो फायरिंग के बेसिक उसूल(Fire aur Fire ke usul) है :
  • मजबूत एवं दुरुस्त पकड़
  • दुरुस्त शिस्त
  • दुरुस्त ट्रिगेर ऑपरेशन

    इस प्रकार  कह सकते है की फायरिंग से अच्छा रिजल्ट प्राप्त करने के लिए फायरिंग पोजीशन , राइफल के ऊपर पकड़ तथा ट्रिगर ऑपरेशन का एक बहुत ही अहम् रोले होता है इसीलिए एक फायरिंग के मुख्य उसूल इसे कहते है ! इस प्रकार से यह एक छोट सा  जो की  उसूल से सम्बंधित समाप्त हुवा !उम्मीद है की यह पोस्ट पसंद आया होगा और कुछ लाभप्रद जानकारी प्रदान हुई होगी  !इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!
इसे भी पढ़े : 
  1. SSG-69 राइफल को भरना और खाली करने का तरीका
  2. SSG-69 राइफल को रेडी, मेक सेफ और खाली कर का तरीक...
  3. 7.62 mm MMG के माउंट ट्राई पोड की करवाई के समय ध्...
  4. 7.62 mm MMG के फायर आर्डर का क्रम और वक्फा के दौरा
  5. 7.62 mm MMG के टारगेट का नाम और MMG में पडनेवाले र...
  6. 7.62 mm MMG को फायर के लिए तैयार करते समय ध्यान मे...
  7. 6 महत्वपूर्ण बाते 84 mm मोर्टार के बारे में
  8. 5 जरुर जाननेवाली बाते 81 mm मोर्टार के बारे में ?...
  9. 81 mm मोर्टार के 10 छोटी छोटी बेसिक बाते
  10. 5 मुख्य बाते 81 mm मोर्टार के फायर कण्ट्रोल से सम


No comments:

Post a Comment