Search

19 November 2021

सांस्कृतिक समारोह एवं खेलों के दौरान पुलिस की ड्यूटी क्या होती है?

हमने अपने पिछले ब्लॉक पोस्ट में पुलिस का पॉलीटिकल रैली के समय क्या ड्यूटी होती है उसके बारे में जानकारी प्राप्त की और अब इस ब्लॉग पोस्ट में हम जानेंगे कि सांस्कृतिक समारोह(Cultural program and police duty) एवं खेलों के दौरान पुलिस की ड्यूटी क्या होती है। 

जैसे कि आप जानते हैं की पुलिस का मुख्य कर्तव्य लॉ & ऑर्डर को बनाए रखना तथा जनता के साथ होने वाले किसी भी अघात या परेशानी के समय उनको उन परेशानियों से निजात दिलाना होता है तो पुलिस का काम पॉलीटिकल रैली के दौरान तो होता ही होता है अगर जनता के द्वारा मनाए जाने वाले सांस्कृतिक समारोह एवं खेल के दौरान भी पुलिस की उतनी ही जिम्मेदारी होती है जितना कि किसी अन्य समारोह में होती है यानी कि लॉ & ऑर्डर को सुचारू बनाए रखना और सही तरीके से समारोह को होने में मदद करना।

इसे  भी  पढ़े :जनसम्पर्क अधिकारी की ड्यूटी करते समय एक सिपाही को ध्यान में रखने वाली बाते

 कभी-कभी स्थानीय जनता द्वारा सांस्कृतिक समारोह एवं खेलकूद आदि का आयोजन किया जाता है ऐसे समय में वहां के थाना प्रबंधन को इस बारे में सूचित किया जाता है और उसके सुरक्षा संबंधी तमाम प्रबंध का उत्तरदायित्व पुलिस का होता है । 

इस ब्लॉग कापोस्ट का मुख्य उद्देश्य  सांस्कृतिक समारोह एवं खेलों के दौरान सुरक्षा प्रबंध करते समय पुलिस के सिपाही को उसके कर्तव्य से अवगत कराना है !

Cultural Program gathering
Cultural Program gathering

कानूनी प्रावधान जब भी कोई नाटक , खेल , सिनेमा यदी  दिखाई जानी है तो थाना प्रबंधक है कि वह उस स्थान पर किए गए सभी प्रबंधो जैसे मुख्य  द्वार,  टेंट ,रसिया आदि  को जनता के लिए खोलने  से पहले निरीक्षण करें इसका डिटेल वर्णन 22.30 में दिया हुआ है। 

पुलिस के मुख्य कर्तव्य सांस्कृतिक समारोह एवं खेल के दौरान:

  • पुलिस को यह देखना चाहिए कि यदि आग लग जाए तो उसमें से भागने के लिए निकासी की व्यवस्था है या नहीं। 
  • पुलिस इस बात को देखें कि वहां पर कोई शीघ्र आग पकड़ने वाली वस्तु तो नहीं है। 
  • समारोह स्थल के आसपास यातायात नियंत्रण संबंधी आवश्यक उपाय करें 
  • यदि समारोह में कोई महत्वपूर्ण व्यक्ति आ रहा है तो सुरक्षा संबंधी व्यवस्था करें व तलाशी ले।
  •  ऐसे समारोह में भाग लेने वाली जनता के साथ पुलिस का व्यवहार बहुत ही अच्छा होना चाहिए।
  • असामाजिक तत्वों पर पूरी निगरानी रखनी चाहिए!
  • गाड़ियों की पार्किंग व्यवस्था को सुचारू रूप से करें। 
  • जहां अधिक संख्या में भीड़ हो वहां पर जनता की सुविधा के लिए (May I help you)/ हेल्प बुक आदि की व्यवस्था करनी चाहिए जिसमें  लाउडस्पीकर यदि लगा हो जिससे खोए हुए व्यक्ति का विवरण जनता को दिया जा सके। 
  • ऐसे समारोह में खासकर सीनियर ऑफिसर  को बहुत ही साफ-सुथरी वर्दी पहन कर जाना चाहिए 
  • वह चेहरे पर हास्य भाव होना चाहिए। 
  • अपने कर्तव्य का पालन में धैर्य  और अनुशासन में रहकर करना चाहिए।

उम्मीद है की उपरोक्त बताये गए पॉइंट आपको ड्यूटी के दौरान कुछ उपयोगी साबित होंगे !!उम्मीद है की यह  पोस्ट आप को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित !

इन्हें भी  पढ़े :
  1. पुलिस ड्यूटी
  2. फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट में होनेवाली कुछ कॉमन गलतिया
  3. 6 कॉमन गलतिया अक्सर एक आई ओ सीन ऑफ़ क्राइम पे करता है
  4. क्राइम सीन पे सबसे पहले करनेवाले काम एक पुलिस ऑफिसर के द्वारा
  5. बीट और बीट पेट्रोलिंग क्या होता है ?एक बीट पट्रोलर का ड्यूटी
  6. पुलिस नाकाबंदी या रेड् क्या होता है ?नाकाबंदी और रेड के समय ध्यान में रखनेवाली बाते 
  7. निगरानी और शाडोविंग क्या होता है ? किसी के ऊपर निगरानी कब रखी जाती है ?
  8. अपराधिक सूचना कलेक्ट करने का स्त्रोत और सूचना कलेक्ट करने का तरीका
  9. चुनाव के दौरान पुलिस का कर्तव्य
  10. थाना इंचार्ज के चुनाव ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट

No comments:

Post a Comment