Sponser

Search

GIF

Wednesday, October 14, 2020

पुलिस को दुश्चरित्र व्यक्तिओ के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए

पुलिस के संपर्क में प्रतिदिन अनेक व्यक्ति आते है ! अतः: दुश्चरित्र  व्यक्तिओ का सामना करना कोई असाधारण बात नहीं यही !क्यों की समाज में सभी प्रकार के व्यक्ति रहते है ! जैसे के हमने पिछले पोस्ट में पुलिस को रायट /झगडे के दौरान कैसा व्यवहार करना चाहिए उसके बारे में जानकारी प्राप्त किये थे और अब इस पोस्ट में हम पुलिस को दुश्चरित्र व्यक्तिओ के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए इसके बारे में हम जानेगे !


इस पोस्ट को आसानी से समझने के लिए हमने इसे छोटे छोटे भागो में बाँट दिया है जो निम्न प्रकार से है :
1.दुश्चरित्र व्यक्ति किसे कहते है(Notorious vyakti kise kahte hai ) ?
2.दुश्चरित्र व्यक्तिओ के खिलाफ पुलिस करवाई (Notorious vyakti ke khilaf police karwai kaise kare) 
3.दुश्चरित्र व्यक्तिओ के साथ व्यवहार (Notorious vyakti ke sath police kaise behave kare )


1. दुश्चरित्र व्यक्ति किसे कहते है(Notorious vyakti kise kahte hai )  ?: साधारणतः दुश्चरित्र व्यक्ति उस व्यक्ति को कहते है जो समाज द्वारा बनाये गए कानूनों एवं शांति व्यवस्था को भांग करता है और समाज विरोधी कार्य करता है ! ऐसे व्यक्ति किसी न किसी अपराध  है !

2. दुश्चरित्र व्यक्तिओ के खिलाफ पुलिस करवाई (Notorious vyakti ke khilaf police karwai kaise kare)  अतः ऐसा व्यक्ति जो समाज के कानूनों को भांग करता है और समाज के कार्यो में अड़चन पैदा करता है उन पर पुलिस द्वारा निगरानी करना स्वाभाविक है ! ऐसे व्यक्तिओ को ग्रिफ्तारी करने , निगरानी में रखने का अधिकार पुलिस को कानूनन !  CrPc के  धारा 106 , 109 , 110 के अनुसार पुलिस शांति व्यवस्था बनाये रखने  के लिए करवाई कर सकती है !


इनके बारे में अनेक रिकॉर्ड जैसे हिस्ट्रीशीट , पर्चा  बदमाशन, रजिस्टर निगरानी , सुचना पर्चा , भगोड़ा व मुजरिम इस्तिहारी  है !जिच जिच अप्राधिओं की  रखती उनकी सभी सूचनाएं एकत्रित करके एक सूचि बनाई जाती है  जिसके आधार पर निगरानी की जाती है !

इन दुश्चरित्र व्यक्तिओ को कई भंगो में  बांटा जा सकता है जैसे :
  • हिस्ट्रीशीटर 
  • आदतन अपराधी 
  • मिलावट  करने वाले 
  •  तस्करी  करने वाले 
  • ले भागने वाले 
  • सम्पति विरुद्ध अपराध करने वाले 
  • गिरफ्तार शुदा व्यक्ति 
  • साजयपता व्यक्ति जिसे पैरोल या परिवीक्षा या जमानत  गया हो 
पुलिस का प्रमुख कार्य अपराधों की रोकथाम करना है ! उसके पश्च्यात अन्य कार्य अनुसन्धान करना , अपराधियों को पकड़ना, उनकी निगरानी करनी  आदि !है  दुश्चरित्र व्यक्तियों पकड़ना,  निगरानी रखना भी पुलिस का महत्वपूर्ण कार्य है ! जब सिपाही जगता है तो जनता आराम से सोती है और जब सिपाही सोता है  अपराधों की रोकथाम करना एवं कानून  व्यवस्था  रखना जनता का कर्तव्य है 


 3. दुश्चरित्र व्यक्तिओ के साथ व्यवहार (Notorious vyakti ke sath police kaise behave kare )

 पुलिस जब किसी दुश्चरित्र व्यक्ति के विरुद्ध कार्यवाही करती  या जब यह दुश्चरित्र व्यक्ति  संपर्क में  तो पुलिस को उसके साथ निम्नलिखित व्यवहार करना चाहिए !
  • किसी भी दुश्चरित्र व्यक्ति के साथ दुर्व्यवहार नहीं  चाहिए ! उसके साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए !
  • किसी भी निर्दोष व दुश्चरित्र व्यक्ति को  नहीं फ़साना चाहिए !क्यों की ऐसा एकबार करने पर वह एक अभ्यस्त  आदतन  अपराधी बन जाता है जो समाज अधिक खतरनाक साबित हो सकता है !
  •  पुलिस का कर्तव्य है की वह उसे एक नागरिक होने नाते उसके साथ अच्छा व्यवहार करे  और उसे उचित सम्मान दे !
  • पुलिस को चाहिए की दुश्चरित्र व्यक्ति को भी साधारण नागरिक की भाटी जीवन बिताने में सहायता करे !
  • पुलिस दुश्चरित्र व्यक्तियों को समाज में रहने तथा अच्छा बनने के लिए उसकी सहायता  करे और आपराधिक जीवन को छुड़ाने में उसकी मदद करे !
  • केवल उनअपराधिओं  पर निगरानी रखे जो सुधरे नहीं या जो संदिग्ध गतिविधिओ में लगा रहता रहता है !
  •  दुश्चरित्र  व्यक्तिओ के परिवार को तंग नहीं करना चाहिए !ऐसा करने पर उनके ऊपर मनोबैज्ञानिक प्रभाव पड़ता है और  वो और खतरनाक हो जाते है !
  • किसी भी व्यक्ति को बार बार तंग नहीं करना चाहिए हो सके तो उसको रोजगार ढूंढने और ईमानदारी से जीविका चलने में मदद करना चाहिए !
  • जितनी अपराधिओं की संख्या काम होगी पुलिस रिकॉर्ड एवं छवि उतना ही अच्छी और प्रभावशाली होगी !
  • दुश्चरित्र व्यक्ति के खिलाफ अधिक  प्रयोग करे केवल उतना ही प्रयोग करे  आवश्यक है क्यों की बार बार बल प्रयोग उसे आदतन अपराधी  सहायक होता है !
  • ऐसे व्यक्ति  सामान्य नागरिक की तरह व्यवहार करे और उनके चरित्र  सुधर ने में उनकी उचित सहायता करे ! 
इस प्रकार से आज हमने पुलिस को दुश्चरित्र व्यक्तिओ के साथ कैसे व्यवहार करने  के बारे में जानकारी प्राप्त किया !उम्मीद है की यह छोटा पोस्ट आप को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित !

इन्हें भी  पढ़े :

  1. पुलिस ड्यूटी
  2. फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट में होनेवाली कुछ कॉमन गलतिया
  3. 6 कॉमन गलतिया अक्सर एक आई ओ सीन ऑफ़ क्राइम पे करता है
  4. क्राइम सीन पे सबसे पहले करनेवाले काम एक पुलिस ऑफिसर के द्वारा
  5. बीट और बीट पेट्रोलिंग क्या होता है ?एक बीट पट्रोलर का ड्यूटी
  6. पुलिस नाकाबंदी या रेड् क्या होता है ?नाकाबंदी और रेड के समय ध्यान में रखनेवाली बाते 
  7. निगरानी और शाडोविंग क्या होता है ? किसी के ऊपर निगरानी कब रखी जाती है ?
  8. अपराधिक सूचना कलेक्ट करने का स्त्रोत और सूचना कलेक्ट करने का तरीका
  9. चुनाव के दौरान पुलिस का कर्तव्य
  10. थाना इंचार्ज के चुनाव ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट

No comments:

Post a Comment