Advertisement

Search

Friday, October 12, 2018

खाली हाथ की चाले और हरकत करने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने SSG-69 राइफल से हरकती टारगेट के ऊपर दुरुस्त शिस्त लेने के तरीका के बारे में जानकारी प्राप्त किये और अब इस पोस्ट में हम जानेगे की एक स्नाइपर  को खाली से भिन्न भिन्न प्रकार के चाल चलने पड़ सकते  है !


जैसे की हम जानते है की एक स्नाइपर को इस काबिल होना चाहिए की वह ऑपरेशन के दौरान दुश्मन की देखभाल से बच कर अपनी हरकत को जारी रख सके !स्टैकिंग करते समय या आड़ को पकड़ते समय स्नाइपर को जमीन के बनावट के लिहाज से हरकत करनी पड़ती है !


जमीन पर कुदरती चीजे जैसे पेड़ , झाड़ी, नाला , उबड खाबड़ जमीन और बनावटी चीजे जैसे मकान , दिवार आदि के छुपाव का फायदा उठाते हुए हरकत जारी रखना होता है ताकि ऑपरेशन में कामयाबी हासिल किया जा सके !

इस ब्लॉग पोस्ट में हम खाली  हाथ से चलने वाले निम्न चालो  के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे 
1. बन्दर चाल चलने का तरीका (Monkey chal aur use chalne ka tarika)
2. चीता चाल(पहला तरीका ) चलने का तरीका (Cheeta chal-I aur chalne ka tarika)
3. चीता चाल(दूसरा  तरीका ) चलने का तरीका(Cheeta chal-II aur halne ka tarika )
4.लुढकन चाल और चलने का तरीका (Ludhkan chaal aur chalne ka tarika)
5. खाली हाथ हरकत करते समय ध्यान रखने वाली बाते (Khali hath harkat samy dhyan me rakhne wali bate)

1. बन्दर चाल चलने का तरीका (Monkey chal aur use chalne ka tarika)

 बन्दर चाल की जरुरत  आम तौर पे हर एक ऑपरेशन के दौर हरकत करते समय पड़ता है ! इस चाल को चलने के लिए दोनों हाथो और घुटनों को जमीन पर टिकाये ! उसके बाद चलने का तरीका इस प्रकार है जिस हाथ को आगे बढ़ते है उसी घुटने को आगे बढ़ाये ! पीछे वाला हाथ और घुटने को आगे ले ! ऐसे ही चाल को जारी  रखे ! इस चाल को बन्दर चाल (Monkey Chaal) इस लिए कहा जाता है क्यों बन्दर जैसे अपना हाथ और पैर का इस्तेमाल करता है उसी तरह से हम भी करते है !

शुरू में हरकत बिलकुल अहिस्ता अहिस्ता करे  और आवाज से बचने के लिए सूखे पतों को हाथ से हटा दे , काफी अभ्यास के बाद हरकत तेजी से की जा सकती है ! यह चाल दो फिट  से अधिक के ऊँची आड़ से फायदा लेने के लिए किया जाता है !

2. चीता चाल(पहला तरीका ) चलने का तरीका (Cheeta chal-I aur chalne ka tarika)

यह चाल को हम दो फीट से कम उचाई वाले आड़ के अन्दर छुपाव हासिल करते हुए हरकत करने के लिए चलते है !इस चाल चल ने के लिए पेट के बल लेट जाये ! और आगे बढ़ने के लिए कोई भी घुटना मोड़ दे और उसके बर खिलाफ हाथ को मोड़ दे और आगे बढे ! यह करवाई दुसरे हाथ और घुटने के साथ करे और आगे बढ़ते रहे !इस पोजीशन में ध्यान देने की बात सर और बॉडी  के पिछले वाले हिस्से को ऊपर न उठाये !

3. चीता चाल(दूसरा  तरीका ) चलने का तरीका(Cheeta chal-II aur chalne ka tarika )

यह चाल हम उस समय अख्तियार करते है जब दुश्मन कभी करीब हो ! इस चाल में भी जमीन के ऊपर पूरी तरह लेट जाए और दोनों  हाथ पूरी लम्बाई में आगे फैलाये !और बूट की टोए और दोनों  घुटने  के ताकत से आगे बढे ! इस चाल में सर को निचे रखना चाहिए और बिच बिच में ऑब्जरवेशन करते रहना चाहिए ! हरकत आहिस्ता से की जाए और अवाजा बिलकुल न हो !

4.लुढकन चाल और चलने का तरीका (Ludhkan chaal aur chalne ka tarika)

 यह चाल हम उस समय इस्तेमाल करते है जब स्काइलाइन से गुजरना हो और जहा दुश्मन द्वारा देखे जाने का डर हो उस वक्त इस चाल को अमल  में लाया जाता है !इस चल के लिए जमीन पर लेट जाए और दोनों हाथ को बॉडी के साथ एक दम चिपका ले और दोनों पैर लम्बा करके एक दुसरे से चिका ले और लुढकन जरी करे !

लुढकने से सर घुमने लगता है इस के लिए सुझाव के तौर पे जिधर लुढकन हो उसके बरखिलाफ एक दो बार लुढके सर का चक्कर कम हो जायेगा !

5. खाली हाथ हरकत करते समय ध्यान रखने वाली बाते (Khali hath harkat samy dhyan me rakhne wali bate)

उपरोक्त चालो को अंजाम देते समय निम्न बाते को ध्यान में रखना चाहिए :
  • जैसे की हम जानते है की ऑपरेशन केवल दिन के समय में ही नहीं होता है बल्कि रात के समय में भी किया जाता है इसलिए हरकत के दौरान अगर दुश्मन के ट्रिप फ्लारे में उलझ जाए तो उस सूरत में पत्थर की तरह जम जाना (फ्रीज़) या कम हरकत करे ! 
  • इन बातो को अमल में लाये की दुश्मन का पता मिस फायर या उसके आवाज़ के द्वारा पता लगाये की दुश्मन कहा है !
  • हरकत के दौरान न नजर आये हो लेकिन  इस बात का ख्याल रखा जाय की कमर और सर नजायेज उचा न हो !
  • आड़ के ऊंचाई के अनुसार चाल को अख्तियार करे न की सुविधा के अनुसार 

इस प्रकार से हम यहाँ स्नाइपर के द्वारा ऑपरेशन  के दौरान इस्तेमाल किये जाने वाले चालो के बारे  में जानकारी प्राप्त की !उम्मीद है की यह छोटा पोस्ट आप को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित !

इसे भी पढ़े : 

  1. पेट्रोलिंग पार्टी को ब्रीफिंग देने का तरीका ?
  2. अम्बुश का परिभाषा और अम्बुश की पार्टिया
  3. अम्बुश  की पार्टियो को ब्रीफिंग देने के तरीका
  4. फायर कण्ट्रोल आर्डर और फायर डिसिप्लिन क्या है ?
  5. सेक्शन बैटल ड्रिल और उसे सफल बनाने वाली बातें
  6. 4 बाते शत्रु के कारगर फायर के अंदर आने पे करनी चाहिए
  7. 3 तरीके दुश्मन के फायर पोजीशन को पता लगने के
  8. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  9. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  10. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है

No comments:

Post a Comment