Search

10 September 2022

9 mm कार्बाइन मशीन गन की विशेषताए, खोलना जोड़ना और सफाई के IWT सरल भाषा में

 पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने 9 mm कार्बाइन मशीन गन के बेसिक टेक्निकल डाटा    आदि के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 9 mm कार्बाइन मशीन गन की विशेषताए, खोलना जोड़ना और सफाई के IWT सरल भाषा में जानेगे (CMG ki visheshtaye aur kholna jodna aur safai karne ka IWT saral shabdo me  ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे!

9 mm कार्बाइन मशीन
9 mm कार्बाइन मशीन 

1. शुरू-शुरू का काम :-

  • (क) क्लास की गिनती और युपों में बाँट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्यवाही

2 दोहराई- सी.एम.जी. को इस्तेमाल करने से पहले उसका निरीक्षण कर लिया जाय।

3. पहुच :- सी.एम.जी. सबसे छोटा व हल्का तो है लेकिन काफी कारगर हथियार है क्योंकि यह सिंगल और बर्स्ट फायर करता है। यह ब्लोबैक के सिद्धांत पर काम करता है।

4. उद्देश्य :- सी.एम.जी. की विशेषताएँ. खोलना, जोड़ना और सफाई करने का तरीका सिखाना है (उद्देश्यको दोहराये)।

5. सामान :- सी.एम.जी. मैगजीन, ड्रील कार्टिज, बैनट, सिलिंग, पुलभू चिन्दी, तेल और ग्राउण्डशीट। 6. भागों में बाँट :-

  • भाग 1- विशेषताएँ ।
  • भाग 2- खोलना और जोड़ना ।
  • भाग 3- सफाई का तरीका । 
 भाग 1- विशेषताएँ

विशेषताएँ :- (नमूना बयान से) 

  • (i) इसमें शिस्त के लिए ब्लेड के शक्ल का फोरसाइट और बैंकसाइट अपरचर होता है. जिसमें दो पोजीशन है।
  • (ii) बट को फोल्ड करके भी फायर कर सकते हैं।
  • (iii) फायर पावर ज्यादा होने के कारण बैरल को ठंडा करने के लिए केसिंग हॉल बनाये गये हैं।
  • (iv) फायरर की सेफ्टी के लिए बैरल में स्टापर गार्ड लगाये गये हैं ।
  • (v) चेन्ज लीवर के तीन पोजीशन होते हैं।
  • (vi) मुठभेड़ की लड़ाई में बैनेट फिक्स करके नजदीकी लड़ाई लड़ सकते हैं ।
  • अन्य सभी जानकारी टेक्निकल डाटा से समझें ।
भाग 2- खोलना और जोड़ना :खोलना
 खोलना और जोड़ना :

खोलना :- अगर मैगजीन लगा हो तो मैगजीन उतारें, कारबाईन का निरीक्षण करें, चेन्ज लीवर 'एस' पर करें। बैनेट कैच को दबाते हुए बैनेट उतारे सिलिंग उतारें।

ब्रिज ब्लॉक को खोलना :-

  • (क) कारबाईन को इस प्रकार पकड़े कि मजल दरी पर हो. बायें हाथ के अंगूठे से बॉडी कैप कैच को नीचे दबाते हुए दाहिने हाथ से बट को अपनी तरफ खीचते हुए बैरल के साथ नीचे बैठायें। दाहिने हाथ से बट प्लेट कैच को दबाते हुए बट फोल्ड करें और बैरल केसिंग में लगा दें।
  • (ख) कारवाईन को उसी पोजीशन में खड़ा करें। बायें हाथ से बॉडी कैच को दबाते हुए कैम को नीचे दबायें और घड़ी के उल्टे रुख घुमाते हुए बाहर खींचें।
  • (ग) चेन्ज लीवर को एस या 'आर' पर रखते हुए मजल को नीचे करें । बायें हाथ से कारवाईन को पकड़ें और दाहिने हाथ से कॉकिंग हैण्डल को पकड़ते हुए पीछे खींचें। कॉकिंग हैण्डल को निकालें, रिटर्न स्विंग और ब्रिज ब्लॉक को बाहर निकालें, बिज ब्लॉक से स्प्रिंग को अलग करें। हिस्से-पुर्जे के बारे में क्लास को बतायें।

मैगजीन को खोलना :- मैगजीन को बायें हाथ से इस प्रकार पकड़ें कि छोटा मेहरा अपनी तरफ हो। मैगजीन को दरी या बुट के ऊपर रखें. बटम प्लेट को बाहर की तफर निकालें तथा स्प्रिंग को बाहर निकालें।

मैगजीन को जोड़ना :- बायें हाथ से मैगजीन को पकड़ें. छोटा मेहराब अपनी तरफ करते हुए चिंग को इस प्रकार अंदर दाखिल करें कि रोलर का उठा हुआ भाग ऊपर हो। बायें हाथ से लिंग को नीचे दबायें और दाहिने हाथ से बटम प्लेट के चौड़े भाग को बाहर की तरफ दबायें, यकीन करें कि स्टड सुराख के अंदर सही बैठ गया है।

ब्रिज ब्लॉक को जोड़ना :- ब्रिज ब्लॉक जोड़ने के लिए कार्रवाई इस प्रकार करें

  • (क) ब्रिज ब्लॉक और रिटर्न स्प्रिंग को बॉडी में दाखिल करें, यकीन करें कि कॉकिंग हैंडल के लिए बना सुराख बॉडी में बने सुराख की सीध में हो। दाहिने हाथ से ब्रिज ब्लॉक और स्प्रिंग को अंदर दाखिल करें। स्प्रिंग तथा चाल वाले पुर्जे पर काबू पाते हुए कॉकिंग हैण्डल को इस प्रकार अंदर डालें कि मुड़ा हुआ भाग आगे हो। दायें हाथ की कलमे वाली अँगुली से ट्रिगर दबाते हुए पुर्जे को आगे जाने दें।
  • (ख) बॉडी कैप को रिटर्निग स्प्रिंग के ऊपर रखें। याद रहे कि कैप का बायर्यों लग कैच की सिधाई में हो । बॉडी कैप कैच को बायें हाथ से दबाते हुए दाहिने हाथ से कैप को दबाते हुए घड़ी के रुख में घुमायें, यकीन करें कि कैप ठीक बैठ गया है।
  • (ग) कारवाईन को सीधा रखते हुए बट प्लेट कैप दबाते हुए बैरल केसिंग से बट को अलग करें, बट को बॉडी कैप के साथ लगायें। बायें हाथ से बॉडी कैप कैच को दबाते हुए बट को उसके कटाव में फिट करें। कैप व कैच से दबाव हटा लें, यकीन करें कि बट सही जगह बैठ गया है। बट प्लेट कैच को दबाते हुए बट को खोलें।
  • (घ) कारबाईन जोड़ने के बाद चेन्ज लीवर का पोजीशन 'एस' या आर पर करके बारी-बारी से कारबाईन को कॉक कर ट्रिगर दबायें। चेक करें कि कारबाईन सही जुड़ गया है। ट्रिगर से दबाव हटायें। चाल वाले पुर्जे आगे होने चाहिए। सिलिंग और यदि बैनेट हो तो जोड़ें ।

भाग 3- सफाई करने का तरीका

सफाई करने का तरीका :

  • (क) आम सफाई- बैरल की सफाई करने के लिए सबसे पहले पुलभू का निरीक्षण करें. इसके बाद 4x3 इंच या 10x71/2 से.मी. साइज की चिंदी पुलथू में फिट करें। चेम्बर की तरफ से डालते हुए सफाई करें। याद रहे कि सफाई करते समय पुलथू बॉडी से टच नहीं होना चाहिए। बैरल में तेल लगाने के लिए 10x5 cm चिन्दी से तेल लगायें। बॉडी, बिज लॉक, रिटर्निग स्प्रिंग तथा मैगजीन को साफ कपड़े से साफ करके तेल लगायें।
  • (ख) फायरिंग से पहले की सफाई :- हथियार को रोजाना की तरह साफ करें, ब्रिज ब्लॉक तथा बैरल को शुष्क करें।
  • (ग) फायरिंग के बाद की सफाई :-कारबाईन को खोलें, अच्छी तरह सफाई करें, संभव हो तो गर्भ पानी का इस्तेमाल करें, ताकि बैरल में गैस न रहने पाये, शुष्क करने के बाद तेल लगायें। सभी बाहरी हिस्सों को साफ करें और तेल लगायें। फायरिंग के बाद तीन दिन तक लगातार सफाई की जाय ।
संक्षेप:- क्लास से पूरे सबक से प्रश्न पूछा जाये तथा क्लास का शंक-सामाधान किया जाय।

इसके साथ ही 9 mm  कार्मबाइन  मशीन के विशेषताए, खोलना जोड़ना और सफाई करना से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !

इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!  

इसे भी पढ़े  :


  1. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  2. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  3. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  4. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
  5. 9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I
  6. 5.56 mm INSAS LMG का बेसिक डाटा और स्पेसिफिकेशन
  7. इंसास राइफल का पार्ट्स का नाम और खोलना जोड़ना
  8. इंसास राइफल के डेलाइट टेलीस्कोपिक और पैसिव साईट का डिटेल.
  9. AKM राइफल का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  10. 7.62mm SLR के पार्ट्स का नाम और 7.62 mm SLRराइफल का चाल

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Add