Search

14 September 2022

9 mm कार्बाइन मशीन गन की चाल और रोके के IWT सरल भाषा में

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने  9 mm कार्बाइन मशीन गन के मैगज़ीन को भरना, कार्बाइन को भरना, कार्बाइन को खाली करना और फायर करना  के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 9 mm कार्बाइन मशीन गन की चाल और रोके के IWT सरल भाषा में जानेगे (9 mm  Carbine Machine Gun ki chal aur roke ki IWT Saral shabdo me   ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे! 
9 mm Carbine Machine gun
9 mm CMG
1. शुरू-शुरू का कामः-
  • (क) क्लास की गिनती और ग्रुपों में बाँट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्यवाही 
2 दोहराई- पिछले सबक से प्रश्न पूछे जायें तथा कारवाईन को नरना, खाली करने का अभ्यास कराया
जाय।
3. पहुँच -सी.एम.जी. हल्के वजन का हथियार है। साथ ही सो बैक के साथ ए.पी.आई. के सिद्धांत पर
चालन क्रिया करता है। लड़ाई में किसी भी जवान को फायर करने का मौका मिल सकता है। इसलिए हर एक जवान को सी.एमजी. की चाल जानना आवश्यक है. ताकि फायर के दौरान किसी प्रकार के
हादसे से बच सके। यह तभी संभव है. जब जवान अच्छा प्रशिक्षण पाया हुआ हो।
4. उद्देश्य -9 एमएम. कारबाईन की चाल और पड़नेवाली रोकों को दूर करने का तरीका सिखाना है।
(उद्देश्य को दोहराये)।
5. सामान :- सी.एम.जी., मैगजीन, ड्रील काट्रिज, टारगेट फिगर 11 और ग्राउण्डशीट।
6. भागों में बाँट -
  • भाग 1- कारबाईन की चाल और सेफ्टी।
  • भाग 2- तुरन्त उपायों से रोकों को दूर करना।
भाग 1- कारवाईन की चाल और सेफ्टी
कारवाईन की चाल और सेफ्टी :- (नमूना बयान से) पहले खुली हुई कारबाईन पर चाल बताया जाय, इसके बाद जुड़ी हुई कारबाईन पर चाल सवाल-जवाब से पूरा किया जाय । 9 एम.एम. कारवाईन की चाल दो एक्शनों में पूरा होता है-
  • 1. ब्लो बैक
  • 2 एडवांस प्राइमर इग्निशन (API) |
चाल - जब चेंज लीवर के पोजीशन को 'एस' से आर' या 'ए पर करके ट्रिगर को दबाते हैं, तो सियर नीचे दब जाता है, जिससे सियर ब्रिज लॉक वेन्ट से अलग हो जाता है और ब्रिज ब्लॉक रिटर्निंग स्प्रिंग की ताकत से आगे की हरकत करता है. इस दौरान ब्रिज ब्लॉक का फीड हार्न मैगजीन के ऊपरवाले राउण्ड को बायें से दायें घुमाते हुए चैम्बर में दाखिल करता है। जैसे ही राउण्ड चेम्बर में दाखिल होता है ब्रिज लॉक आगे का हरकत जारी रहता है। इस दौरान राउण्ड 0.3 इंच दाखिल होने के लिए बाकी रहता है, वैसे ही फिक्स फायरिग पिन प्राइमर पर ठोकर मारता है और राउण्ड फायर हो जाता है। राउण्ड फायर होने से गैस पैदा होती है, जो बुलेट को बैरल में आगे धकेलती है. गैस सेफ लेवल पर होता है ।
गैस के निम्नलिखित काम हैं-
  • (क) भारी ब्रिज ब्लॉक को आगे जाने से रोकता है
  • (ख) बुलेट को आगे धकेलता है
  • (ग) खाली केश को पीछे लाता है
  • (घ) ब्रिज ब्लॉक को पीछे लाता है। ज्योंही बुलेट मजल को छोड़ता है. उसी दौरान फायर केश और ब्रिज ब्लॉक पीछे की हरकत करता है। फायर केश एजेक्टर से टकराकर एजेक्शन स्लॉट के रास्ते दाहिनी ओर नीचे गिर जाता है और ब्रिज ब्लॉक पूरा पीछे आ जाता है। जब ब्रिज सॉक पूरा पीछे रहता है, तो ब्रिज ब्लॉक का वेन्ट सियर में फंस जाता है।
सेफ्टी (सुरक्षा)-सुरक्षा के बारे में बताने से पहले कारवाईन की खूबियाँ और कमियाँ बताना जरूरी है।
खूबियों :-
  • (1) 9 एम.एम. कारवाईन का काट्रिज पैरलल होने के कारण चेम्बर में सही बैठता है। फायर होने पर गैस को पीछे नहीं आने देता है। यह कार्टिज ब्लो बैंक के सिद्धांत को पूरा करता है।
  • (2) भारी ब्रिज ब्लॉक API के सिद्धांत को पूरा करने के लिए बनाया गया है। भारी बिज लॉक के कारण फायर के एक्यूरेसी में अंतर देता है जिससे एम.पी.आई.2 इंच नीचे बनता है।
  • (3) लो पावर एम्यूनिशन फायर होने से धक्का नहीं लगता है और फायर की रफ्तार को बढ़ाता है। साथ ही ब्लो बैक के सिद्धांत को भी पूरा करता है।
कमियों :- इस हथियार की तीन कमजोरियों हैं-
  • (1) हैण्ड चैम्चरिंग
  • 2) हैंग फायर
  • (3) अर्ली इग्नेशन।
भाग 2- तुरन्त उपायों से रोकों को दूर करना
तुरन्त उपायों से रोकों को दूर करना:-9 एमएम कारबाईन में बहुत कम रोके पड़ती है। अगर किसी कारण रोकें पड़ जाती हैं. तो तुस्त उपाय से उसे दूर किया जाता है। तुरन्त उपाय से पाँच प्रकार के रोकों को दूर किया जाता है -
  • (क) खाली मैगजीन
  • (ख) अनफिट मैगजीन
  • (ग) बॉडी में रोक
  • (घ) मिस फायर
  • (ड.) साइज से मोटा राउण्ड।
रोक दूर करने का तरीका- यदि कारबाईन शुरू से ही फायर न करे या फायर करते-करते रुक जाय, तो कार्रवाई इस प्रकार करें -
  • (i) कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से बाहर निकालें तथा कारबाईन को भर पोजीशन में लायें।
  • (ii) कारवाईन को कॉक करें, बायें टर्न करते हुए एजेक्शन स्लॉट से मैगजीन चैम्बर का निरीक्षण करें, देखने से पता चला मैगजीन खाली. चेम्बर खाली तो खाली मैगजीन समझकर मैगजीन कैच दबाते हुए मैगजीन को उतारे और पाउच में रखें पाउच से भरी हुई मैगजीन को लें और सरसरी निगाह से चेक करते हुए मैगजीन वे में दाखिल करे और यकीन करें कि मैगजीन बैठ गया है और फायर को जारी करें।
  • (in) यदि देखने से पता चला कि मैगजीन भरा चेम्बर खाली तो अनफिट मैगजीन समझकर बाये हाथ से मैगजीन को ठीक से बैठायें, शिस्त लें और फायर करें।
  • (iv) यदि देखने से पता चला कि बॉडी में फायर केश या लटका हुआ राउण्ड हो तो कारबाईन को बायें टर्न करें और आगे-पीछे हिलाएँ। फायर केश या राउण्ड बाहर आ जायेगा। फायर को जारी करे।
  • (v) यदि देखने से पता चला मैगजीन भरा. चेन्बर खाली और इजेक्ट किया हुआ राउण्ड हो तो राउण्ड के पेदे को चेक करें। अगर पेदे पर चोट हो तो मिस फायर का रोक समझकर शिस्त लें और फायर करे।
  • (vi) देखने से पता चला मैगजीन भरा, चेम्बर भरा तो कार्रवाई इस प्रकार करें- कारबाईन को 45 डिग्री ऊपर करते हुए आगे-पीछे हिलायें, राउण्ड निकल जायेगा। यदि नहीं निकला तो सीखे हुए तरीके मैगजीन को उतारें, दोनो पाँव को मिलाएँ. कारबाईन को कंधे पर ले जायें दायें-बायें 10 गज देखें कोई जानदार चीज तो नहीं, है अगर न हो तो फायर करें। साइज से मोटा राउण्ड का रोक दूर हो जाएगा । पोजीशन में जायें, शिस्त लें और फायर करें । इस प्रकार तुरन्त उपाय से पाँच प्रकार की रोकों को दूर किया जाता है ।
नोट :- रात के समय रोक को टटोलकर पता किया जाता है। अभ्यास रोकों का पता लगाने और दूर करने का अभ्यास कराया जाय ।
संक्षेप - सवाल-जवाब द्वारा सबक को दोहराया जाय तथा क्लास के शक-सवाल को दूर किया जाय।
इसके साथ ही 9 mm  कार्मबाइन  मशीन केचाल और रोके  से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !
इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे! 
इन्हें भी पढ़े :
  1. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  2. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  3. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  4. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  5. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  6. .303 LE राइफल का इतिहास
  7. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  8. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  10. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
 


No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Add