Search

12 September 2022

9 mm कार्बाइन मशीन गन के मैगज़ीन को भरना, कार्बाइन को भरना, कार्बाइन को खली करना और फायर करना के IWT सरल भाषा में

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने 9 mm कार्बाइन मशीन गन की विशेषताए, खोलना जोड़ना और सफाई के   आदि के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 9 mm कार्बाइन मशीन गन के मैगज़ीन को भरना, कार्बाइन को भरना, कार्बाइन को खली करना और फायर करना के IWT सरल भाषा में जानेगे (9 mm CMG ke magazine ko bharna, Carbine ko bharna khali karna aur fire karna ke IWT Saral Shabdo me  ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे!
9 mm  CMG
9 mm  CMG

1. शुरू-शुरू का काम :-

  • (क) क्लास की गिनती और गुपों में बाँट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्यवाही

2 दोहराई :- पिछले सबक से प्रश्न पूछे जायें तथा कारबाईन को खोलने-जोड़ने का अभ्यास कराया

जाय।

3. पहुँच : सी.एम.जी. को खोलना जोड़ना ही काफी नहीं है बल्कि इससे काफी नजदीक होनेवाले दुश्मन के खिलाफ इस्तेमाल होने के कारण प्रत्येक जवान को कारबाईन भरने, तथा खाली करने की कार्रवाई इतनी तेजी से आनी चाहिए कि वह तेजी और दुरुस्ती के साथ कारबाईन को भरकर फायर कर सके। इसके लिए जरूरी है कि प्रत्येक जवान ने सही ट्रेनिंग हासिल की हो।

4. उद्देश्य :- मैगजीन भरना, कारबाईन भरना, खाली करना और फायर करने का तरीका सीखाना है (उद्देश्य को दोहराये) ।

5. सामान :- सी.एम.जी.. मैगजीन, ड्रील कार्टिज, बैनेट, सिलिंग, सी.क्यू.बी टारगेट और ग्राउण्डशीट।

6. भागों में बाँट :-

  • भाग 1- मैगजीन भरना और खाली करना ।
  • भाग 2-कारबाईन को भरना, ले जाने का तरीका, रेडी पोजीशन और खाली करना
  • भाग 3- फायर, स्टॉप और मेकसेफ की कार्रवाई।
भाग 1- मैगजीन भरना और खाली करना :- (नमूना बयान से)

(क) मैगजीन भरना- मैगजीन को भरने से पहले जरूरी है कि एम्यूनिशन की सफाई कर लें, ताकि फायरिंग के दौरान रोकों से बचा जाय। मैगजीन का निरीक्षण करें तथा यकीन करें कि मैगजीन के सभी हिस्से ठीक हैं। बायें हाथ से मैगजीन को इस तरह से पकड़ें कि मैगजीन का मुड़ा हुआ भाग अपनी तरफ हो। मैगजीन को दरी. बूट की टो या दाहिने जंधे पर रखते हुए राउण्ड का पेंदा आगे की तरफ रखते हुए लिप्स के ऊपर रखें और बायें अंगूठे से नीचे तथा दाहिने अंगूठे से आगे की तरफ दबायें। यकीन करें कि राउण्ड ठीक तरह से बैठ गया है। यदि भरते समय कोई राउण्ड गिर जाय, तो उसे अंत में साफ करके भरें। इस प्रकार एक मैगजीन में 32 राउण्ड भरे जाते हैं। मैगजीन ज्यादा दिनों तक इस्तेमाल में लाना हो तो उसे खाली करके रखा जाय, नहीं तो स्प्रिंग की ताकत कम हो जाती है ।

(ख) मैगजीन को खाली करना- मैगजीन को खाली करने का तरीका इस प्रकार है- बायें हाथ से मैगजीन को इस प्रकार पकड़ें कि छोटा मेहरा नीचे की तरफ हो। अगर चिन्दी लगाई गई हो तो निकाल दें। बायें हाथ के अंगूठे से राउण्ड के पेंदे के पीछे से नीचे की ओर दबाते हुए राउण्ड खाली करें (जिस प्रकार मकई को पिरोया जाता है)। याद रहे कि राउण्ड का गिराव साफ जगह पर हो।


भाग 2- कारबाईन को भरना, ले जाने का तरीका, रेडी पोजीशन और खाली करना :

(क) कारबाईन भरना - (नमूना बयान से)

  • (i) उठाओ कारबाईन और मैगजीन हुक्म पर दाहिने हाथ से कारबाईन और बायें हाथ से मैगजीन को उठायें। मैगजीन को पाउच में बंद करें। मजल जमीन से 45 डिग्री के एंगल पर हो। 
  • (ii) भर पोजीशन के हुक्म पर बायाँ पाँव थोड़ा आगे और बायीं तरफ रखते हुए पैर को खम दें। बाएँ हाथ से बैरल केसिंग और दाहिने हाथ से पिस्टन ग्रिप को पकड़ें। कलमे वाली अंगुली ट्रिगर गार्ड से बाहर तथा नजर सामने हो। भर के हुक्म पर यकीन करें कि चेंज लीवर 'एस' पर है। बायें हाथ से मैगजीन को पाउच से निकालें और निरीक्षण करते हुए मैगजीन वे में दाखिल करें तथा यकीन करें कि मैगजीन ठीक से बैठ गया है। पकड़ पहले की तरह। 
(ख) ले जाने के तरीके - (नमूना बयान से)

जब कभी हमें कारबाईन को एक जगह से दूसरी जगह ले जाना पड़े तो हम तीन तरीकों से कैरी करते हैं

  • (i) माला या हार पोजीशन- इस पोजीशन को अख्तियार करने के लिए सबसे पहले बैरल को बायीं तरफ करते हुए सिलिंग को गले में डालें। ध्यान रहे कि मैगजीन बायीं बगल में दबा हो तथा मैगजीन कैच ऊपर की तरफ हो। इस पोजीशन में दोनो हाथ खाली होते हैं।
  • (ii) सिलिंग आर्भ पोजीशन- इस पोजीशन को हम उस हालत में इस्तेमाल करते हैं, जब हमें काफी समय तक मार्च करना हो । सिलिंग को दाहिने कंधे में इस तरह डालें कि बैरल ऊपर की तरफ हो और मैगजीन पीठ के साथ लगा हो तथा दाहिना हाथ सिलिग पर हो। बारिश के मौसम में बैरल का पोजीशन नीचे की तरफ किया जाता है, ताकि बैरल में पानी नहीं जाय।
  • (ii) तोल शस्त्र पोजीशन-कारबाईन को दाहिने हाथ से कॉकिंग हैंडल के पास पकड़ें। बैरल आगे की तरफ और मैगजीन दाहिने जाँध से मिला हो तथा मैगजीन कैच ऊपर की तरफ हो । यह पोजीशन दुश्मन के इलाके में या छोटी-छोटी रुकावटों को पार करते समय अख्तियार की जाती

(ग) रेडी पोजीशन – (नमूना बयान से)

जब दुश्मन दिखाई दे या आदेश मिले 'रेडी तो कार्रवाई इस प्रकार करें

  • (i) कारबाईन को भर पोजीशन में लायें, बायें हाथ से चेन्ज लीवर को 'आर' या 'ए' पर करें, कारबाईन को कॉक करें, कलमे वाली अंगुली ट्रिगर पर रखें नजर सामने तथा अगले हुक्म का इन्तजार करें।
  • (ii) खाली करना- अगर फायर करने की जरूरत न हो या हुक्म मिले खाली कर. तो कार्रवाई इस प्रकार करें- कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से हटायें, चेन्ज लीवर का पोजीशन 'एस' पर करें, मैगजीन कैच को दबाते हुए मैगजीन को उतारें और पाउच में बंद करें। चेन्ज लीवर को 'ए' या 'आर' पर करते हुए पुर्जी पर काबू रखते हुए ट्रिगर दबायें। यह कार्रवाई दो बार करें, चेन्ज लीवर को 'एस' पर करें तथा कारबाईन ठीक का रिपोर्ट दें।

भाग 3- फायर, स्टॉप और मेकसेफ की कार्रवाई - (नमूना बयान से)

(क) उठायें कारबाईन से रेडी तक की कार्रवाई के लिए क्लास से सवाल-जवाब करते रहे और अनुदेशक रेडी की कार्रवाई पर आ जायें ।

(ख) इस कारबाईन से दो हलातों में फायर करते हैं-

1. जब दुश्मन दूर हो

2. जब दुश्मन नजदीक हो।

(ग) जब हुक्म मिले फायर और दुश्मन दूर हो तो कारबाईन को कंधे में ले जायें और साइट का इस्तेमाल करते हुए शिस्त लेकर फायर करें ।

(घ) जब दुश्मन नजदीक को तो कारबाईन को बैटल क्रोच पोजीशन में लायें। इस पोजीशन में देखने वाली बातें- बायें पैर चलती हलात में खम किया हुआ तथा टारगेट की सीध में दायाँ पैर खिंचा हुआ, पोजीशन छोटा से छोटा. दोनो हाथ का पोजीशन पहले की तर

स्टॉप और मेकसेफ :- अगर फायर करने की जरूरत न हो. या हुक्म मिले स्टॉप तो सबसे पहले कलमे वाली अंगुली को ट्रिगर से हटायें और कारबाईन को भर पोजीशन में लें। यदि मैगजीन खाली हो गया हो तो सीखे हुए तरीके से मैगजीन की बदली करें। यदि कुछ समय के लिए फायर न करना हो तो मेकसेफ की कार्रवाई की जाती है । मेकसेफ की कार्रवाई इस प्रकार करें -

  • (i) कलमे वाली अंगुली ट्रिगर से हटायें, चेंज लीवर को 'एस' पर करें ।
  • (ii) मैगजीन कैच दबाते हुए मैगजीन उतारें ।
  • (iii) चेंज लीवर 'एस' या 'आर' पर करें।
  • (iv) कारबाईन को कॉक करें और ट्रिगर दबायें। साथ ही चेंज लीवर को 'एस' पर करें।
  • (v) पाउच से भरा मैगजीन निकालें और निरीक्षण करते हुए चढ़ा दें।।

अभ्यास :- फायर, स्टॉप, मेकसेफ तथा पूरे सबक पर अभ्यास कराया जाय ।

संक्षेप:- पूरे सबक से सवाल-जवाब करें तथा क्लास का शक दूर करें और अच्छे जवानों से नमूना दिलाओं ताकि उनका हौसला बलंट हो ।

इसके साथ ही 9 mm  कार्मबाइन  मशीन के मैगज़ीन को भरना , कार्बाइन को भरना खली करना और फायर करने  से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !

इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!  

इन्हें भी पढ़े :
  1. Basic data of 5.56mm INSAS and It characteristics.
  2. 5.56mm INSAS ki chal in hindi , 5.56mm INSAS की चाल हिंदी में.
  3. 9 mm पिस्तौल ब्राउनिंग का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  4. 7.62 mm एसएलआर राइफल की खुबिया और खामिया
  5. 9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया
  6. .303 LE राइफल का इतिहास
  7. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  8. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  9. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  10. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Add