Search

19 August 2022

एल एम् जी की एलीमेंट्री ट्रेनिंग के IWT सरल भाषा में

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने  7.62 mm LMG  की चाल और पड़ने वाली रोके आदि के बारे जानकारी प्राप्त की और अब इस इंटीग्रेटेड वेपन ट्रेनिंग के इस लेसन में हम 7.62 mm एल एम् जी की एलीमेंट्री ट्रेनिंग   के IWT सरल भाषा में जानेगे(7.62 mm LMG Elementary Training IWT saral bhasha me ) ! इस पोस्ट को आसान बनानके लिए हमने इसे कांस्टेबल के बेसिक ट्रेनिंग में जिस क्रमबद्ध तरीके से सिखाया जाता है उसी क्रम में लिखेगे !

LMG Elementary Training
LMG Elementary Training

1. शुरू-शुरू का काम -

  • (क) क्लास का गिनता और गुपा में बाँट
  • (ख) हथियार और सामान का निरीक्षण
  • (ग) बंदोबस्ती की कार्रवाई

2 दोहराई- दोहराई पिछले पाठ से (एल.एम.जी. की चाल और रोकों से)।

3. पहुँच - एल.एम.जी. ग्रुप में 1 और 2 को हमेशा टीम के तौर पर काम करना चाहिए । एक्शन में

फायर से पहले नम्बर 1 एल.एमजी, मैगजीन और बैलेट का निरीक्षण कर, मेकसेफ की कार्रवाई कर लेनी चाहिए । नम्बर 2 स्पेयर मैगजीन और होलडाल का मुलाहिजा करे। ट्रेनिंग के दौरान यह कार्रवाई चेक पोस्ट या स्थान लो के आदेश पर की जाती है।

4. उद्देश्य - एक्शन में एल.एम.जी. का हैंडलिंग सिखाना है (दोहराया जाय)।

5. सामान - एल.एम.जी. मैगजीन, सिलिंग.9 एमएम सी.एम.जी. मैगजीन, यू पाउच, होल्डर, स्पेयर पार्ट

बैटेल, ड्रील काट्रिज, फिगर 11 टारगेट और ग्राउण्डशीट ।

6. भागों में बाँट -

  • भाग 1- फायरिंग पोजीशन ।
  • भाग 2- नम्बर 1 की ड्यूटी ।
  • भाग 3- नम्बर 2 की ड्यूटी ।
  • भाग 4-मैगजीन और बैरल की बदली ।

भाग 1- फायरिंग पोजीशन

भाग 1- फायरिंग पोजीशन - (बयान से नमूना दे) एल.एम.जी. को आड़ से फायर करने का तरीका
राइफल की तरह है । फिर भी चंद एक बातों को ध्यान में रखना चाहिए । सैन्ड बैग, ढलानदार जमीन, ऊँची और गोल आड़ का इस्तेमाल इस प्रकार किया जाय

  • आड को अच्छी तरह इस्तेमाल करने के लिए बाईपाट को फोल्ड करके आड़ के ऊपर रखकर इस्तेमाल करने की जरूरत पड़ सकती है लेकिन बाईपाट पर एल.एम.जी से फायर किया जाय तो दुरुस्ती ज्यादा मिलती है ।
  • इजेक्शन ओपनिंग कवर आड़ से अलग हो. ढलान के ऊपर एल.एम.जी. के लेग्स को खोलकर बराबर कर लिए जायें। (नमूना लेग्स खोलकर और क्लोज कर दिखायें)। गोल आड का इस्तेमाल दाहिने से करे !

भाग 2- नम्बर 1 की ड्यूटी

नम्बर 1 की ड्यूटी-बयान से नमूना दे) 'स्थान लो के आदेश पर

  • उसी प्रकार एलएम. जी. का मुलाहिजा करो जैसे फायर की तैयारी पर किया जाता है ।
  • मेकसेफ करो और बैलेट को कंधे में डालो।
  • आड़ पकड़ो के आदेश पर एलएम.जी उठाओ,
  • दौडो लेटो
  • और मुनासिब आड़की तरफ क्राल करो।
  • आड़ के पास पहुँचने पर इलाके की तलाशी करो।
  • कमांडर द्वारा बताए हुए टारगेट को देखो।
  • एलएम.जी.माउण्ट करो
  • साइट लगाओ कॉक करो
  • और अगले आदेश का इंतजार करो।
  • फायर स्टॉप, जारी कर
  • और खाली कर की कार्रवाई पहले की तरह है ।

हरकत के लिए तैयार करना -

  • एलएम.जी को मेकसेफ करो ।
  • अगर मेकसेफ करने का मौका नहीं मिलता है.
  • तो चेंज लीवर का पोजीशन एस पर करो
  • और पहला मौका मिलते ही मेकसेफ की कार्रवाई कर लो।
  • जिस्म और एलएमजी. को आड़ के पीछे लाओ |
  • आड़ से हटकर दूसरी तरफ जाओ,
  • अगले आदेश का इंतजार करो।
  • आगे बढ़ के आदेश पर यकीन करो कि सनी मैगजीन पाउच में बंद है।
  • यकीन करो कि जिस
  • आड़ से फायर किया जा रहा था, वह ठीक हालत में है। 

भाग 3- नम्बर 2 की ड्यूटी

 नम्बर 2 की ड्यूटी:-अनुदेशक क्लास से एक जवान को लेकर नम्बर 1 का काम करवायें और खुद नम्बर2 का नमूना बयान से दें।स्थान लो के आदेश पर नम्बर २ नम्बर 1 की तरह कार्रवाई करेगा। होलडाल और यूटीलिटी पाउच का मुलाहिजा करता है और साथ में लेट जाता है । नम्बर 1 नजदीक और हमेशा बायें रहता है । नम्बर 1 की हर तरह से मदद करता है और जरूरत पड़ने पर फायर करेक्शन भी देता है। नम्बर 1 फायर कर रहा हो तो मैगजीन की बदली करता है और जरूरत पड़ने पर बैरल की बदली करता है।

भाग 4- मैगजीन और बैरल की बदली

मैगजीन और बैरल की बदली :- (नम्बर 2 की हैसियत से नमूना दो)

  • मैगजीन की बदली करने के लिए नम्बर 1 एल.एम.जी. कोकाक करता है.
  • मैगजीन उतारता है
  • और एल.एम.जी. को नीच से नम्बर 2 के बायें हाथ पर रखता है ।
  • नम्बर 2 दाहिने हाथ से दूसरी भरी हुई मैगजीन एल.एम.जी. पर चढ़ता है।

बैरल की बदली -

  • बैरल की बदली करने के लिए नम्बर 1 एल.एम.जी. को कॉक करता है,
  • मैगजीन उतारता है
  • और ओपनिंग कवर को बंद करता है ।
  • नम्बर 2 बैरल को उतारता है ।
  • होल्डर से 'एस' बैरल को निकालता है
  • और यकीन करता है कि गैस रेगुलेटर नम्बर 2 पर सेट है ।
  • साथ ही बैरल के अंदर देखता है कि बैरल खुश्क और साफ है,
  • और एल.एम.जी. पर चढ़ाता है।

अभ्यास -फौरी इलाज और रोकों को दूर करने की कार्रवाई के साथ सबक का अभ्यास लें।

इसके साथ ही 7.62 mm एल एम् जी की एलीमेंट्री ट्रेनिंग  से  सम्बंधित IWT का पाठ समाप्त हुवा !उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !

इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!
इसे भी पढ़े  :

  1. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  2. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  3. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  4. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
  5. 9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I
  6. 5.56 mm INSAS LMG का बेसिक डाटा और स्पेसिफिकेशन
  7. इंसास राइफल का पार्ट्स का नाम और खोलना जोड़ना
  8. इंसास राइफल के डेलाइट टेलीस्कोपिक और पैसिव साईट का डिटेल.
  9. AKM राइफल का बेसिक टेक्नीकल डाटा
  10. 7.62mm SLR के पार्ट्स का नाम और 7.62 mm SLRराइफल का चाल

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Add