Sponser


Tuesday, February 6, 2018

सर्विस प्रोटेक्टर को इस्तेमाल करने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने मैप रीडिंग के एक अहम विषय के बारे में जानकारी प्राप्त की जिसका शीर्षक था एक जवान को दिशा का ज्ञान होना क्यों जरुरी है ! और इस पोस्ट में हम जानेगे की सर्विस प्रोटेक्टर का सही इस्तेमाल  कैसे किया(Service protector istemal karne ka tarika)जाता है !


ऐसेतो यह टॉपिक कोई खास बड़ा नहीं है लेकिन सर्विस  प्रोटेक्टर मैप  रीडिंग का एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट इंस्ट्रूमेंट है और इसका इस्तेमाल को जाने बिना अगर कभी  किसी स्थान का बेअरिंग मैप के ऊपर पढना हो तो काफी कठिनाई आ सकती है या सही बेक बेअरिंग हम नहीं पढ़ सकते है !

जरुर पढ़े :कंपास को सेट करना तथा इस्तेमाल करने का तरीका

इसीलिए यह जरुरी है की सर्विस प्रोटेक्टर को सभी  को सही तरीके से इस्तेमाल करना आता हो !

किसी स्थान का बेअरिंग पढने से पहले हमे यह जान  लेना चाहिए की जिस स्थान की बेअरिंग पढनी है वह मैप में जहा से बेअरिंग पढनी है उससे पूर्व में है या पश्चिम में !

अगर आपके ऑन पोजीशन से ही बेअरिंग पढनी है तो सबसे पहले मैप को सही और सिखाये हुए  तरीके से  मैप को सेट करे और माप पर देखे की जिस स्थान  की बेअरिंग बढ़नी है उसका लोकेशन जहा से बेअरिंग पढनी है वह से किस तरफ है !
जरुर पढ़े :सर्विस प्रिज्मैटिक लिक्विड कम्पास mk-iii के 20 पार्ट्स और उनके काम
सर्विस प्रोटेक्टर का सही इस्तेमाल करने का तरीका(Service protector istemal karne ka tarika) : जैसे मैंने ऊपर बताया  सर्विस प्रोटेक्टर काम में लेन से पहले यह जान लेना जरुरी  है की जिस स्थान की बेअरिंग पढनी है वह उस निशान या जहा से बेअरिंग पढनी है ! उससे पूर्व या पश्चिम में है !
Service Protector
अगर निशान पूर्व में हो तो सर्विस प्रोटेक्टर  का तीर(Arrow)उस निशान की रेखा के साथ रख कर डिग्रियो वाला भाग को पूर्व की तरफ रखे और  और बेअरिंग ज्ञात करे !

जरुर पढ़े :कम्पास के प्रकार और आर्म्ड फोर्स के लिए इसका अहमियत

अगर निशान पश्चिम में हो तो सर्विस प्रोटेक्टर का तीर(Arrow) का निशान उस निशान की रेखा के साथ रखकर डिग्रियो वाला भाग को पश्चिम की तरफ रखे और बेअरिंग ज्ञात करे !

इस प्रकार से हमने सर्विस प्रोटेक्टर का सही इस्तेमाल का तरीका है अगर इसप्रकार से हम सर्विस प्रोटेक्टर क इस्तेमाल करंगे को सही बेअरिंग ज्ञात कर पाएंगे !
जरुर पढ़े :अपना खुद का लोकेशन मैप पे जानना और नार्थ पता करने के तरीके
इस प्रकार से यहाँ सर्विस प्रोटेक्टर का सही इस्तेमाल से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई !उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट हो तो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे  और इस ब्लॉग को सब्सक्राइब तथा फेसबुक पेज  लाइक करके हमलोगों को और प्रोतोसाहित करे बेहतर लिखने के लिए !
इन्हें  भी  पढ़े :  
  1. 36 धरातलीय आकृतिया और उनके परिभाषा
  2. मैप रीडिंग की अवाश्काताये तथा मैप का परिभाषा
  3. 15 जरुरी पॉइंट्स मैप को सही पढने के लिए
  4. मैप कितने प्रकार के होते है ?
  5. कंपास को सेट करना तथा इस्तेमाल करने का तरीका
  6. कंटूर रेखाए क्या है ? एक मैप की विश्वसनीयता और कमिया किन किन बाते पे निर्भर करती है ?
  7. मैप रीडिंग में दिशाओ के प्रकार और उत्तर दिशा का महत्व
  8. दिन के समय उत्तर दिशा मालूम करने का तरीका
  9. कन्वेंशनल सिग्न ,कन्वेंशनल सिग्न के प्रकार , कन्वेंशनल सिग्न बनाने का तरीका
  10. रात के समय उत्तर मालूम करने का तरीका