Sponser

Search

Sunday, October 25, 2020

पुलिस को शिकायतकर्ता के साथ कैसे व्यवहार करना चाहिए !

पुलिस  के लिए शिकायत करता या फरियादी एक महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है !शिकायतकर्ता के कई रूप हो सकते है जैसे :- स्त्री , पुरुष, बच्चा , स्वय अपराधी , , साधारणएवं प्रभावशाली व्यक्ति आदि ! जैसे की हमने अपने पिछले पोस्ट में एक बीट कांस्टेबल की ड्यूटी के बारे में जानकारी प्राप्त की थी उसी प्रकार से इस पोस्ट में हम जानेगे की एक  कांस्टेबल को एक कम्प्लेनेंट(Police  Constable  and  complainant ) या शिकायतकर्ता के साथ कैसे व्यवहार करना चाहिए ! 

इसे  भी  पढ़े :जनसम्पर्क अधिकारी की ड्यूटी करते समय एक सिपाही को ध्यान में रखने वाली बाते

शिकायतकर्ता या फरियदि द्वारा की गई शिकायत पर पुलिस मुकदमा दर्ज करती है ! प्रभावशाली व्यक्ति  शिकायत पर पुलिस जल्दी अनुशंधान (Investigation ) प्रारंभ कर देती है जबकि साधारण व्यक्तियों की शिकायत पर कोई खास ध्यान नहीं दिया जाता है ! उसे डरा  धमकाकर वापस भेज देती है ! कई बार तो अत्यधिक रूप से डरा दिया जाता है जिससे वह ठाणे में आने से डरता है!  

पुलिस प्राय:  अपराधों करके उनको छिपाने की कोशिश करती !शिकायतकर्ता की बात सुनने के समय उससे एवं अपराधी से रिश्वत भी स्वीकार की जाती है ! उसका आर्थिक शोषण भी किया जाता है !  ऐसे कारन है जो पुलिस एवं जनता के आपसी सम्बन्धो में रुकावट डालते है ! क्योकि वह पहले ही आर्थिक या शारीरिक रूप से पीड़ित है ! 

पुलिस अधिकारिओ को चाहिए की वह अपनी छवि सुधरने के लिए शिकायतकर्ता के साथ अच्छे सम्बन्ध स्थापित करने से पूर्व उसके साथ अच्छा व्यवहार करे !

इसे  भी  पढ़े :पुलिस को दुश्चरित्र व्यक्तिओ के साथ कैसा व्यवहार करना चाहिए

ऐसे तो  कैसे व्यवहार किया जय ये तो क्राइम और परिस्थिति के ऊपर निर्भर करता है फिर भी कुछ निम्न लिखित बातो को जो की पूर्ण लिस्ट नहीं है फिरभी पुलिस के छवि  सुधरने तथा शिकायतकर्ता के मन के एक आस जगायेगी।  पुलिस को शिकायतकर्ता के साथ निम्न व्यवहार  करना चाहिए :

पुलिस शिकायतकर्ता 

  • पुलिस थाने आने वाले हर फरियादी को उचित सम्मान देना चाहिए !
  • ऐसे व्यक्तिओ के साथ  अच्छा व्यवहार करे ताकि उनके मन में पुलिस के प्रति विश्वास पैदा हो सके !
  • ऐसे व्यक्ति स्वयं दुर्घटना से परेशां होते है, अतः उन्हें सान्तवना देनी चाहिए और उसे पिने के लिए पानी देनी चाहिए ताकि  आपको सयत महसूस करे !
  • जिस प्रकार का अपराध हो उसी प्रकार का अन्वेषण कार्य प्रारम्भ करना चाहिए ! यदि असज्ञेय मामला हो तो उसके सम्बन्ध में रिपोर्ट लिखकर उसको विनम्रता एवं प्यार से समझा  देना चाहिए !
  • उसकी शिकायत ध्यानपूर्वक सुननी चाहिए ताकि वह पुलिस को अपना सहायक समझे !
  • ऐसे व्यक्तियों से सहानुभूति से  चाहिए ताकि उनमे यह भावना पैदा की जा सके की उनकी शिकायत पर उचित कारवाही की जाएगी साथ ही कारवाही करनी चाहिए !
  • शिकायत के लिए आने वाले व्यक्तियों के साथ दुर्व्यवहार नहीं करना चाहिए ! उन्हें बुरा बात नहीं बोलना चाहिए, बल्कि घटना स्थल पर पहुंच कर अनुसन्धान शुरू करना चाहिए !
  • इस व्यक्तियों को जहातक हो सके पूरी सहायता करनी चाहिए! पुलिस के व्यवहार में मधुरता, शिष्टता और सहनशीलता होनी चाहिए !
  • भेदभाव का ध्यान किये बिना सभी सामान्य नागरिको के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए ! सभी के साथ प्रत्यक्ष एवं अच्छा व्यवहार करना चाहिए !
  • ऐसे व्यक्ति के साथ भूलकर भी मारपीट नहीं करनी चाहिए क्योकि यह गैरकानूनी है !इससे आपके विरुद्ध अनुशासनिक कार्यवाही की जा सकती है !
  • यदि कोई व्यक्ति झूठी शिकायत लेके आता है तो उसकी जाँच करने के बाद क़ानूनी कारवाही करे झठी शिकायत के आधार पर किसी को तंग नहीं करनी चाहिए !
  • किसी  रिश्वत न ले ! क्योकि ऐसा करने से  छवि धूमिल होने से बच सकती है ! अतः एक शिकायतकर्ता , फरियादी के साथ अच्छा व्यवहार करना चाहिए !
अतः शिकायतकर्ता, फरियादी एक महत्वपूर्ण व्यक्ति होता है ! अपराधो की रोकथाम में भी यह काफी सहायता !  इसीलिए उसके साथ सद्व्यवहार करना चाहिए ! उसको न्याय दिलवाने का पूरा प्रयास करना चाहिए !

उम्मीद है की उपरोक्त बताये गए पॉइंट आपको ड्यूटी के दौरान कुछ उपयोगी साबित होंगे !!उम्मीद है की यह  पोस्ट आप को पसंद आएगा ! अगर कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग  सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित !

इन्हें भी  पढ़े :
  1. पुलिस ड्यूटी
  2. फर्स्ट इनफार्मेशन रिपोर्ट में होनेवाली कुछ कॉमन गलतिया
  3. 6 कॉमन गलतिया अक्सर एक आई ओ सीन ऑफ़ क्राइम पे करता है
  4. क्राइम सीन पे सबसे पहले करनेवाले काम एक पुलिस ऑफिसर के द्वारा
  5. बीट और बीट पेट्रोलिंग क्या होता है ?एक बीट पट्रोलर का ड्यूटी
  6. पुलिस नाकाबंदी या रेड् क्या होता है ?नाकाबंदी और रेड के समय ध्यान में रखनेवाली बाते 
  7. निगरानी और शाडोविंग क्या होता है ? किसी के ऊपर निगरानी कब रखी जाती है ?
  8. अपराधिक सूचना कलेक्ट करने का स्त्रोत और सूचना कलेक्ट करने का तरीका
  9. चुनाव के दौरान पुलिस का कर्तव्य
  10. थाना इंचार्ज के चुनाव ड्यूटी सम्बंधित चेक लिस्ट

No comments:

Post a Comment