Sponser

Search

Monday, April 8, 2019

गुरिल्ला लड़ाई और सरकार की भूमिका

पिछले ब्लॉग पोस्ट में हमने गुरिल्ला का मनोविज्ञान के बारे में जानकारी प्राप्त की अब इस पोस्ट में हम गुरिल्ला लड़ाई और सरकार की भूमिका के बारे में जानेगे !


जैसे की हम जानते है की गुरिल्ला लड़ाई का एक अपना पुराना इतिहास है ! गुरिल्ला /नक्सलवादी का दस्ता  आम  जनता के साथ मिलकर जनता का ढाल बनाके सरकार के खिलाफ करवाई करते है !

जब आम जनमानस , अग्रेजो , तानाशाहों , और किसी खास वर्ग के द्वारा  सताए गए है और इन्ही सभी बातो को सुन  वह गुरिल्ला /नक्सलवादी  के बहकावे में आ जाते है तथा सरकार के खिलाफ अपना विचार बनाने लगते है जो की गुरिल्ला /नक्सलवादी का अल्टीमेट उद्देश्य होता है ! आज भारत के कई राज्य इन गुरिल्ला /नक्सलवादी  से प्रभावित है जैसे, छतीसगढ़, बिहार, तेलागना , उड़ीसा यदि !

जरुर  पढ़े:विआइपी इंस्पेक्शन के दौरान व्यू पॉइंट ब्रीफिं

इन सभी राज्यों में एक बाते कॉमन है वह है की यहाँ विकाश बहुत कम हुवा है और गरीबी बहुत है और गुरिल्ला /नक्सलवादी  को पनपने के लिए ऐसा वातावरण की ही जरुरत होती है और इसका फायदा उठा कर गुरिल्ला /नक्सलवादी  इन राज्यों में अपना दुकान चला रहे है !


इस पोस्ट को समझने के लिए हमने इसे निम्न भागो में बाँट दिया है :
Tribals

1. गुरिल्ला /नक्सलवादी  का विशेषताए(Gurilla ki visheshtaye)
2. गुरिल्ला /नक्सलवादी  उन्मूलन में सरकार की भूमिका (Gurilla ya nakshlwad unmulan me sarkar ki bhumika) 

1. गुरिल्ला /नक्सलवादी  का विशेषताए(Gurilla ki visheshtaye)

गुरिल्ला /नक्सलवाद की कुछ विशेषताए इस प्रकार से है :
  • यह लोग सरकार के नीतिओ को नहीं मानते 
  • क्रांति में विश्वास रखते है 
  • पूरा परिवर्तन बन्दुक के नोक पे करना चाहते है !
  • वह सरकार की उन सभी नीतिओ का विरोध करते है जिससे निचले वर्ग का उत्थान  होता हो !
  • इनकी प्रमुख निति होता है गरीब और अमीर के बीच की असामनता को दूर करने की बाते करते रहना लेकिन करना कुछ नहीं  !

2. गुरिल्ला /नक्सलवादी  उन्मूलन में सरकार की भूमिका (Gurilla ya nakshlwad unmulan me sarkar ki bhumika) 

भारत में गुरिल्ला लड़ाई अपना चरण बध्द तरीके से जारी  है ! नक्सलवादी अपनी पैठ उन इलाको में बढ़ा रहे है जहा पर सरकार की पहुच नगण्य है और वहा पे सरकार नहीं , स्कूल, रोड, हॉस्पिटल यदि की व्यवस्था कर पाई  है नहीं आमलोगों की बेसिक जरूरतों की सुविधा मुहैया करा पाई है !ऐसी स्तिथि का फ़ायदा उठा कर नक्सलवादी आम लोगो को सरकार के खिलाफ भड़का के अपने मुहीम में सामिल कर रहे है !

उनके इस मुहीम को विफल करने के लिए सरकार को बहुत कुछ करना बाकि है !   गुरिल्ला /नक्सलवाद उन्मूलन में सरकार की भूमिका कुछ इस प्रकार है :
  • सरकार को नक्सल प्रभावित इलाको में अपनी पहुच ज्यादा से ज्यादा बढ़ाना चाहिए !
  • नक्सल प्रभावित इलाको में सरकार को सबसे पहले लोगो की आम जरूरतों को पूरा करने का कोसिस करना चाहिए  ताकि लोगो का विश्वास सरकार के ऊपर बढे !
  • सरकार को आम जनता को नक्सलवादी के आतंक के  भय  से मुक्ति के लिए ठोस कदम उठाना चाहिए !
  • सरकार को इन इलाको में विश्वास कार्य बढ़ाना चाहिए !
  • सरकार द्वारा इन इलाको में स्कूल का व्यवस्था करना चाहिए ताकि आम लोगो का अज्ञानता दूर हो सके और लोग सही और गलत के बिच निर्णय कर सके !
  • ऐसे इलाके के सभी गाँव को पक्की सडको से जोड़ना चाहिए की लोगो की यातायात के सुविधा बढ़ सके !
  • इन इलाको में पिने योग्य पानी, लाइट यदि का व्यवस्था करना चाहिए 
  • इन इलाको में रोजगार के लिए अवसर बढ़ाना चाहिए !
  • इन इलाको में अधिक से अधिक उद्योग स्थापित करना चाहिए ताकि जनता की बेरोजगारी दूर हो सके !
  • इन इलाको में प्रशाशन की पहुच बढ़नी चाहिए ताकि आम लोगो की समस्या का समाधान तुरंत हो सके !
  • ऐसे इलाको में नक्सलवादी के खिलाफ ज्यादा से ज्याद ऑपरेशन चलाना चाहिए ताकि  उनका सफाया हो सके और आम लोगो का विश्वास सरकार और सरकारी मशीनरी पर बढ़ सके !
  • ऐसे क्षेत्रो में सरकार की कल्याणकारी योजनाओ का ज्यादा से ज्यादा विस्तार करना चाहिए ताकि लोगो की गरीबी दूर हो सके !

नक्सल प्रभावित इलाको में सरकार को जनता में विश्वास पैदा करना होगा  और विकास कार्यो का निर्माण करना होगा ताकि  आम जनता को सभी सुबिधा आसानी से मिल सके  और उनका जीवन यापन ऊपर उठ सके !

इस प्रकार से यहाँ गुरिल्ला लड़ाई  और सरकार की भूमिका से सम्बंधित यह पोस्ट समाप्त  हुई उम्मीद है की आप को पसंद आएगी !इस ब्लॉग  को सब्सक्राइब औत फेसबुक पर लाइक करे और हमलोगों को और अच्छा करने के लिए प्रोतोसाहित !
इसे भी पढ़े : 
  1. सेक्शन फार्मेशन और सेक्शन फार्मेशन का बनावट
  2. आतंक प्रभावित इलाके में सिक्यूरिटी पोस्ट लगान
  3. रात के संतरी तथा स्काउट की ड्यूटी क्या होता है
  4. फील्ड फोर्टीफीकेसन में इस्तेमाल होने वाले फौजी टेकटिकल शब्दों का क्या मतलब
  5. फौजी टैक्टिकल शब्द जैसे फर्स्ट लाइट फ्लैंक गार्ड यदि क मतलब
  6. अम्बुश की जुबानी हुक्म क्या होता है और इसमें सामिल होने वाले मुख्य बाते
  7. रोड ओपनिंग पार्टी/पट्रोल और उसके महत्व के बारे
  8. कॉन्वॉय कितने प्रकार का होता है ? कॉन्वॉय प्रोटेक्शन की पार्टिया कौन कौन सी होती ?
  9. कॉन्वॉय कमांडर और कॉन्वॉय मूवमेंट से पहले जानने वाली बातें
  10. रोड ओपनिंग पार्टी की तैनाती करने का तरीका तथा ROP ड्यूटी के दौरान IED से बचा के लिए ध्यान में रखनेवाली बाते

No comments:

Post a Comment