Sponser


Thursday, March 30, 2017

ट्रू नार्थ , ग्रिड नार्थ, मैग्नेटिक नार्थ का मतलब हिंदी में

पिछले पोस्ट में हमने मैप के प्रकार की विस्तृत जानकारी प्राप्त की इस पोस्ट में हम मैप रीडिंग से सम्बंधित कुछ टेक्निकल टर्म्स जैसे ट्रू नार्थ(True North ka matlab hindi me), ग्रिड नार्थ(Grid North ka matlab hindi me) , लोकल मैग्नेटिक अट्रैक्शन (Local Magnetc Attraction hindi me) आदि शब्दों कई   उनके परिभाषा या मतलब जानेगे !


अध्यन के दौरान हर विषय में ऐसे कुछ शब्द होते है जो की परम्परागत उपयोग के कारन स्वाम ही अपने विशेष अहमियत उस विषय के अन्दर रख लेते है ! पर उन शब्दों का लिबरल अर्थ ओ नहीं होता है जैसे की आम व्यावहारिक रूप से किया जाता है और ऐसे ही विशेष शब्दों को उस विषय का टेक्निकल  टर्म्स कहते है !

जरुर पढ़े :सर्विस प्रिज्मैटिक लिक्विड कम्पास mk-iii के 20 पार्ट्स और उनके काम

वैसे ही मैप रीडिंग से संबधित कुछ टेक्निकल टर्म(Map reading ke technical terms) का परिभाषा हम इस पोस्ट में जानेगे और आगे और भी पोस्ट हम लिखेंगे जिसमे बाकि के शब्दों का श्रृखला बढ़ किया जायेगा !

इस पोस्ट को पढने के बाद मैप रीडिंग से सम्बंधित इन टेक्निकल टर्म्स का मतलब आप जन पायेगे :

  1. ट्रू नार्थ क्या होता है (What is true north in map reading in Hindi)
  2. ग्रिड नार्थ क्या होता है (What is grid north in map reading in Hindi)
  3. मैग्नेटिक नार्थ क्या होता है (What is Magnetic north in map reading in Hindi)
  4. स्थानीय चुम्बकीय आकर्षण (What is Local Magnetic attraction in map reading in Hindi)

1. ट्रू नार्थ क्या होता है(True north ka matlab ) : ध्रुव तारे की सहायता से जिस दिशा को हम मालूम करते है उसे ट्रू नार्थ कहते है तथा ट्रू नार्थ की और खिची गई रेखाओ को ट्रू नार्थ रेखाए कहते है ! सर्वे मैप पर ये रेखाए दक्षिण से उत्तर की ओर कलि रंग से  खिची जाती है !

2. ग्रिड नार्थ क्या होता है(Grid north ka matlab ) :सर्वे मैपो पर बैगनी रंग की दक्षिण से उत्तर को खिची गई रेखाए जिस उत्तर को इशारा करती है उसको ग्रिड नार्थ कहते है !

3. मैग्नेटिक नार्थ किसे कहते है(Magnetic north ka matlab ) : कंपास की सुई अर्थात चुम्बकीय सुई जिस उत्तर की और इशारा करती है उसे मैग्नेटिक नार्थ कहते है ! सर्वे मैपो पर मैग्नेटिक नार्थ को दर्शाने वाली रेखा नहीं खिची जाती है !

4. स्थानीय चुम्बकीय आकर्षण(Local Magnetic Attraction ka matlab) : कई स्थानों पर जमीन के अन्दर लोहा निकिल कोबाल्ट आदि कुछ धातुये है जो की कंपास की चुम्बकीय सुई को अपनी ओर आकर्षित करते है  जिसके कारन कंपास की सुई ठीक मैग्नेटिक नार्थ को न दर्शाते हुए थोडा दाए  या बाए  की ओर इशारा करती है उसका यही हटाव स्थानीय मैग्नेटिक अट्रैक्शन कहलाता है ! यह हटाव अगर पुर की और रहा तो उसे लोकल मैग्नेटिक अट्रैक्शन ईस्ट और पश्चिम की ओर रहा तो लोकल मैग्नेटिक अत्तर्क्तिओन पश्चिम कहलायेगा !


5. डिग्री क्या होता है(Map reading me degree ka kya matlab hota hai) : बेअरिंग की घुमाव को नापने की यूनिट  को डिग्री कहते है ये किसी भी सर्किल की परिधि का 360 व भाग होता है !

6. बेअरिंग क्या होता है(Map reading me bearing ka kya matlab hota hai ) : किसी एक स्थान से दुसरे स्थान को मिलाने वाली रेखा और उसी स्थान से तीनो उत्तर यानि ट्रू, मैग्नेटिक और ग्रिड नार्थ मेसे किसी एक नार्थ को मिलनी वाली रेखाओ के बीच की कोणात्मक दुरी को उस स्थान की बेअरिंग कहते है ! यह दुरी घडी की सुई के सुलटे रुख में डिग्री , मिनटों और सेकंड्स में मापी जाता है !

इस प्रकार से यहाँ ट्रू नार्थ , ग्रिड नार्थ , मैग्नेटिक नार्थ, लोकल मैग्नेटिक अट्रैक्शन , डिग्री और बेअरिंग से सम्बंधित परिभाषा और हिंदी में मतलब से सम्बंधित पोस्ट समाप्त हुई ! इस पोस्ट के पढने के बाद इन सवालो का भी जवाब मिल गया होगा जैसे :
  • सर्वे मैपो पर ट्रू नार्थ की लाइन किस रंग की होती है ?(On Survey maps True North lines are mark in which color)
  • सर्वे मैपो पर ग्रिड  नार्थ की लाइन किस रंग की होती है ?(On Survey maps Grid North lines are mark in which color)
  • सर्वे मैपो पर ट्रू नार्थ किस ओर से किस और खिची रहती है
  • सर्वे मैपो पर ग्रिड नार्थ किस ओर से किस और खिची रहती है 
  •  क्या सर्वे मैप पर मैग्नेटिक नार्थ की रेखा खिची रहती है ?

उम्मीद है की यह पोस्ट पसंद आएगा ! अगर इस पोस्ट से सम्बंधित कोई कमेंट होतो निचे के कमेंट बॉक्स में जरुर लिखे ! इस ब्लॉग को सब्सक्राइब और फेसबुक पे लाइक करके हमलोगों को और पोस्ट लिखने के लिए प्रोतोसाहित करे !
इन्हें भी  पढ़े :
  1. अपना खुद का लोकेशन मैप पे जानना और नार्थ पता करने के तरीके
  2. कम्पास के प्रकार और आर्म्ड फोर्स के लिए इसका अहमियत
  3. सर्विस प्रिज्मैटिक लिक्विड कम्पास mk-iii के 20 पार्ट्स और उनके काम
  4. 36 धरातलीय आकृतिया और उनके परिभाषा
  5. मैप रीडिंग की अवाश्काताये तथा मैप का परिभाषा
  6. 15 जरुरी पॉइंट्स मैप को सही पढने के लिए
  7. मैप कितने प्रकार के होते है ?
  8. कंपास को सेट करना तथा इस्तेमाल करने का तरीका
  9. कंटूर रेखाए क्या है ? एक मैप की विश्वसनीयता और कमिया किन किन बाते पे निर्भर करती है ?
  10. मैप रीडिंग में दिशाओ के प्रकार और उत्तर दिशा का महत्व
  11. दिन के समय उत्तर दिशा मालूम करने का तरीका

No comments:

Post a Comment

.