Sponser

Search

Tuesday, March 11, 2014

पुलिस का व्यवहार आम जनता के साथ (पुलिस व्यवहार)?

आम लोगो के सहयोग के बिना पुलिस के आपने मकसद की प्राप्ति नहीं हो सकती. अपराधो  की रोकथाम, समाज में शांति व्यवस्था बनाये रखना पुलिस की प्रमुख जवाबदेही है. अकेले अपने दम पर इन कार्यो में पुलिस सफल नहीं हो सकती. इसकेलिए  उन्हें हर हालत में जन सहयोग चाहिए. जन सहयोग प्राप्त करने के लिए जरुरी है की जनता के साथ पुलिस का अच्छा और आदरपूर्वक व्यवहार  हो. आज आम आदमी के मन में पुलिस के प्रति बहुत बुरी भावना रहती है. लोग पुलिस को गली गलौज करने वाला, बेमतलब लोगो से मारपीट करने वाला और परेशन करनेवाला, चरित्रहीन , नशाखोर आदि समझते है. वे जानते हुवे भी पुलिस को कोई सहयोग और जानकारी नहीं देते है . इन सबके पीछे कारन पुलिस का जनता के प्रति खराब व्यवहार  है. जब तक पुलिस आपने व्यवहारों में सुधर नहीं लाती है तब तक उनकी छवि में सुधर नहीं हो सकता


जनता-पुलिस सम्बन्ध अच्छा हो, इसके लिए पुलिस को निम्न कार्य करने होंगे

         i.            अपने को जनता का मालिक समझकर जनता का सेवक समझ कर कार्य करना .
       ii.            हर हालत में मानवीय व्यवहार अपनाना .
      iii.            लोगो के साथ विनम्र व्यवहार करना- प्रायः पुलिस के पास लोग अपने दुखो को लेकर आते है. अतः उनके साथ सहानुभूति पूर्वक व्यवहार करना चाहिए.
     iv.            उचित और अनुचित का ख्याल रखना चाहिए.
       v.            आपनी ड्यूटी के क्रम में कोई ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए के लोग हमे भ्रष्ट समझे  वर्दी का धौस जताने की आदत त्याग करना.
     vi.            अनुशाशन प्रिय होना.
    vii.            लोगो में अपने कार्य के प्रति विश्वास जगाना.

छात्रो के साथ पुलिस का सम्बन्ध(Police ka students ke sath sambandh)

स्कूल , कॉलेज एवं यूनिवर्सिटी मर पढनेवाले छात्र आये दिन अपनी कुछ समस्यायों को लेकर आन्दोलन पर उतर आते है. इससे विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हो जाती है, तथा पुलिस को ही इन समस्यायों से निबटना पड़ता है. छात्रो के साथ हर वर्ग के लोगो का सहानुभूति रहती है. पुलिस के भी बच्चे कही कही छात्र रहते है. अतः पुलिस को छात्रो के साथ बहुत मधुर एवं विवेकपूर्ण ढ़ंग से व्यवहार करना चाहिए. इससे छात्रो के मन में तो पुलिस के प्रति अछि भावना बनेगी ही उनकी समस्याओ का भी समाधान हो सकेगा और समाज के सामने भी पुलिस की छवि सुधरने का प्रयास करेंगे. छत्रो की समस्याओ के दौरान पुलिस का व्यवहार छात्रो के प्रति नींम होना चाहिए.
         i.            उन्हें अपशब्द नहीं कहना चाहिए
       ii.            उनकी समस्याओ का संधान शिक्षण संस्थान द्वारा बातचीत एवं धरी से करवाना.
      iii.            उनके साथ मिलजुल कर रहना तथा उनकी मानगो को सम्बंधित अधिकारिओ तक पहुचना.
     iv.            छात्र नेताओ को विश्वास में लेना.
       v.            छात्रो के आड़ लेने वाले असामाजिक एवं गुंडा तत्वों की पहचान कर उन पर कड़ी करवाई करना.
     vi.            उनकी समस्यायों को लिखित में लेकर आवश्यक करवाई करना.
    vii.            छात्रो को गुमराह होने से बचाने का प्रयास करना.

मजदूरों के प्रति पुलिस का व्यवहार(Police ka labours ke sath sambandh)

मजदूर समाज का पिछला वर्ग होता है . ये लोग अपनी मेहनत से अपना एवं अपने बाल बच्चो का पेट भरते है. इनके पास आमदनी का दूसरा जरिया नहीं होता. बड़े शहरों में काफी संख्या में मजदूर रहते है. जिनको रोज भोजन-वस्त्र-आवास की समस्या से जूझना पड़ता है. पुलिस का इनके प्रति प्रायः  सख्त रवैया ही रहता है जो अनुचित है. मजदूर आपनी मांगो को मजदूर उनियां के माध्यम से मनवाने का प्रयास करते है. यदा-कड़ा हड़ताल, आन्दोलन का भी सहारा लेते है. तोड़ फोड़ की भी घटनाये होती है. पुलिस का मजदूरों  के प्रति इन प्रति स्थीतियो व्यवहार निम्न होना चाहिए.
    i.     मजदूरो, उनके नेताओ व मालिको से नरंतर संपर्क रखन.
   ii.     मजदूरों को विश्वास में लेना.
  iii.     मजदूर नेताओ एवं मालिको के बिच समझौता हेतु  बातचीत करवाना.
  iv.     शांत स्वाभाव से मामले को निपटने का प्रयास करना.
   v.     उन्हें समझने का प्रयास करना
  vi.     हिंसा या तोड़फोड़ की स्तिथि में कम से कम बल प्रयोग करना.

महिलायों से पुलिस का व्यवहार(Police ka women ke sath sambandh)

    i.     महिलायों से अच्छा व्यवहार करना, चाहे वह महिला शिकायतकर्ता या आपराधि ही क्यों न हो.
   ii.     उनकी इज्जत का ध्यान रखते हुए शालीनतापूर्वक व्यवहार करना चाहिए.
  iii.     महिलायों के प्रति अपशब्दों का प्रयोग नहीं करना.
  iv.     उनसे पूछ ताछ करते समय सभी भाषा का प्रयोग करना चाहिए.
   v.     यह जरुरी है की एक महिला के साथ ये महिला कर्मी ही पूछ ताछ करे.
  vi.     महिला अपराधी की गिरफ्तारी एवं एवं तलाशी एक महिला पुलिसकर्मी ही ले.
 vii.     मकान के  तलासी के दौरान यदि कोई महिला है जिसका तलासी लेना जरुरी है तो महिला पुलिसकर्मी या कोई और महिला ही एक महिला का तलासी ले.
viii.     महिला शिकायतकर्ता या गवाह की बातो को सावधानीपूर्वक सुनना और करवाई करना.
  ix.     महिला अपराधी की गिरफ्तारी के पश्च्यात  अलग हवालात में रखना और एक महिला सुरक्षा कर्मी के निगरानी में ही रखना.

बच्चो के साथ पुलिसकर्मी व्यवहार(Police ka children ke sath sambandh)

बच्चो के साथ व्यवहार करते समय पुलिस को निम्न बातो पे ध्यान देना चाहिए:
    i.     बच्चो के साथ सहानुभूति पूर्वक व्यवहार करना चाहिए.
   ii.     उनके साथ अच्छा व्यवहार करना ताकि उनका पुलिस के प्रति विश्वास बढे.
  iii.     उनके साथ सहयोगपूर्ण तथा मित्रतापूर्ण सम्बन्ध बनाना चाहिए.
  iv.     बच्चो को यातायात नोयामो की जानकारी देना.
   v.     किसी घटना की जानकारी प्राप्त करने के लिए बच्चो को उस घटना की जानकारी देना ताकि वे सही सही घटना का वर्णनान कर सके.
  vi.     बच्चो के प्यार से समझाना चाहिए उनसे डट डपटकर बात नहीं करना चाहिए.
 vii.     गिरफ्तारी के बाद बच्चो को लाक कप में नहीं रखना चाहिए.
viii.     अपराध करते हुए यदि कोई बच्चा मिले तो उससे सहानुभूति का व्यवहार कर सम्बंधित कोर्ट में पेश करना चाहिए.
  ix.     गिरफ्तार बच्चो को दिन में ही न्यायलय में पेश कर देना चाहिए.

सही या गलत(Police ka kaun sa kary sahi aur galat hai)

    i.     पिछले दिनों कमला कुछ सहेलियों के साथ बाज़ार गयी थी. अचानक पुलिस वाले आये और उन्होंने कहा की उसके खिलाफ एक शिकायत दर्ज हुयी है . वे कमला को हाथ पकड़ते हुए थाना ले गए.
   ii.     कुछ दिनों पहले पुलिस का एक आदमी सुभाष के घर आया और बोला की ठाणे चलो बड़े बाबु बुलाये है क्या पुलिस को उसे थाना बुलाना चाहिए.
  iii.     एक दिन पुलिस वाले मीना के दुकान पे आये और बोलने लगे दम नशीली पदार्थ बेचती हो और उसके कपडे की तलाशी लेने लगे . पुलिस का ये बर्ताव सही था.
  iv.     एक पुलिस कर्मी वर्दी में सरकारी बस में बैठ गया और कंडक्टर जब भाडा माँगा तो बोलने लगा वो पुलिस वाला है वो किसी चीज का भाडा नहीं देता है. ये पुलिस कर्मी का वर्ताव क्या सही है.
   v.     सिपाही मनमोहन हमेश पान  खा कर ड्यूटी पे जाता है उसका डबल भी बाधा रहता है और वर्दी का टर्न आउट भी अच्छा नहीं रहता है. क्या मनमोहन का ये वर्ताव अच्छा है.
  vi.     किसी व्यक्ति को फायदे के लिए गिरफ्तार करना चाहिए.
 vii.     सामान्य स्तिथि में रात्रि में तलाशी लेना चाहिए.

viii.     महिलायों की तलाशी एक पुरुष पुलिस कर्मी के द्वारा देना सही बात अहै.

No comments:

Post a Comment