Sponser


Crazy deals on Amazon!

Sunday, December 18, 2016

.303" LMG के ज़ेरोइंग के सिद्धांत और ज़ेरोइंग करने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने .303" एल.एम्.जी  का जीरोइंग कब की जाती है और जिरोइंग के फायदे(.303" LMG ko kab zeroing kiya jata hai aur zeroing ke fayde) के बारे में जानकारी शेयर की इस पोस्ट में हम .303" एल.एम्.जी के जिरोइंग के सिद्धांत तथा जिरोइंग करने के तरीका(.303" LMG ko zeroing karne ka siddhant aur zeroing karne ka tarika) के बारे में जानकारी शेयर करेंगे !



303" एल.एम. जी. जिरोइंग के सिद्धांत(.303" LMG ke zeroing ka siddhant ):जैसे की राइफल के जिरोइंग वाले पोस्ट में बताया गया है की गोली के उड़न पे दो चीजे काफी असर डालती है  ओ चीजे है हवा और जमीं की कशिस  इस लिए इन दोनों को बे असर करने के लिए बैरल को थोडा बहुत एलिवेशन  दिया जाता है यह एलिवेशन बैक साईट को रेंज के मुताबिक एडजस्ट करने से मिलता है ! 
.303" LMG ka zeroing table
.303" LMG ka zeroing table

एक एल.एम्.जी को जिरोइंग करने के लिए उस पर 200 गज का साईट फिट करके 100 गज से 5 गोलियों का ग्रुपिंग फायर किया जाता है और इस तरह से हुई 5 गोलिओ के ग्रुप का एम्.पी.आई. दुरुस्त है तो बाकि रंजो पर भी नतीजा दुरुस्त मिलेगा !

जरुर पढ़े : 7.62 mm एसएलआर के ज़ेरोइंग करना और ज़ेरोइंग से होने वाले फायदे ? एम्.पी.आई की दुरुस्ती(.303" LMG ke Mean Point of Impact ki durusti) : अगर ऊपर बताये गए तरीके से फायर  ग्रुप की एम्.पी.आई  को दुरुस्त एम्.पी.आई से चेक करना चाहिए ! एल.एम्.जी का दुरुस्त एम्.पी.आई 5" ऊपर तथा 1" दाए होता है !

अगर एम्.पी.आई(MPI) की दुरुस्ती में गलती पाई जाए तो गलती को इस प्रकार से दूर किया जाता है :
  • आगर एलिवेशन में गलती हो तो बड़ी या छोटी फोर साईट को फिट करके गलती को दूर करे !
  • अगर डिफ्लेकसन में गलती है तो फोर साईट को दाए या बाए को हरकत दे ! हमेश याद रखे की फोर साईट को गलती की तरफ हरकत देना चाहिए !
  • दुरुस्त फायर करने के बाद ग्रुपिंग फिरे करके गलती को चेक करना चाहिए जहा तक हो सके निचे की गलती को नहीं छोड़ना चाहिए !
जरुर पढ़े :10 पॉइंट राइफल को ट्यूनिंग उप और स्टॉकिंग के करवाई के बारे में

.303" एल.एम्.जी को जिरोइंग करने का तरीका(.303" LMG ko zeroing karne ka tarika) :
  • फायरर की फायरिंग : जहा तक हो सके सेक्शन का अच्छा फायरर या एल.एम्.जी नम्बर -1 ही एल.एम्.जी को जीरो करे ! एल.एम्.जी को अगर आर्डिनेंस ट्राईपोड मिला हो तो उस पर माउंट करके जीरो करे बरना इम्प्रोवाइज्ड ट्राईपोड पर भी जीरो किया जा सकता है ! हर गोली को फिरेर करने के बाद शिस्त को चेक करे !
  • अगर हो सके तो 100 गज के रेंज से जीरो करे ! अगर 100 गज का रेंज न मिले तो 25 गज से भी किया जा सकता है !
.303" एल.एम्.जी को जिरोइंग करने के लिए साईट(.030 LMG  ko zeroing karne ke site range): 200 गज पे हो 

.303" एल.एम्.जी को जिरोइंग के लिए टारगेट (.030 LMG  ko zeroing karne ke target): 100 गज पे 4' x 4' क्लासिफिकेशन टारगेट जिस पर 4.5" x 3" सफ़ेद ऐमिंग मार्क लगा हो ! अगर जिरोइंग 25 गज पर कीया  जा रहा है  तो 1' x 1'  रिप्रेजेन्टेटिव टारगेट  या सफ़ेद स्क्रीन जिस पर 1" काला ऐमिंग मार्क लगा हो का इस्तेमाल किया जाय!

.303" एल.एम्.जी को जिरोइंगके वक्त ग्रुपिंग का साइज़(.030 LMG  ko zeroing karne ke grouping ka size) : 100 गज के रेंज से 4" का ग्रुप होना चाहिए  अगर 25 घ के रेंज से किया जा रहा हो तो ग्रुप 1" का होना चाहिए !

इस प्रकार से या .303" एल.एम्.जी का जेरोइंग के सिद्धांत और जिरोइंग करने से सम्बंधित एक संक्षिप्त पोस्ट समाप्त हुवा और उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा !अगर इस पोस्ट तथा इस ब्लॉग के बारे में कोई कमेंट या सुझाव हो तो निचे लिखे कमेन्ट बॉक्स में जरूर  दे !ब्लॉग को  सब्सक्राइब और अपने दोस्तों के बिच भी फेसबुक के ऊपर शेयर  कर हमलोगों को सपोर्ट  करे !
इसे भी पढ़े :
  1. .303 LE राइफल का इतिहास
  2. Lee Enfield .303राइफल का टेक्नीकल डाटा
  3. Lee Enfield 303राइफल की खूबिय और खामिया
  4. 9 mm कार्बाइन मचिन या सब मचिन गन का इतिहास और खुबिया
  5. 9mm कार्बाइन का टेक्नीकल डाटा -II
  6. 9 mm कार्बाइन मचिन का बेसिक टेक्नीकल डाटा -I
  7. 5.56 mm INSAS LMG का बेसिक डाटा और स्पेसिफिकेशन
  8. इंसास राइफल का पार्ट्स का नाम और खोलना जोड़ना
  9. इंसास राइफल के डेलाइट टेलीस्कोपिक और पैसिव साईट का डिटेल.
  10. AKM राइफल का बेसिक टेक्नीकल डाटा

2 comments:

  1. एक 303 राइफल से चलाई गई गोली लाइन में खड़े कितने आदमियो को चीर शकती है ?

    ReplyDelete
    Replies
    1. वह निर्भर करता है कितने दूर से गोली मरी गई है और गोली शारीर में कहा हिट की है

      Delete

Addwith