Sponser


Monday, May 23, 2016

5.56 mm INSAS Rifle के सिंगल शॉट ट्रिगर मेचानिज्म और पार्ट्स के नाम

इंसास राइफल के जानकारी को आगे बढ़ाते हुए आज हम बाते  करेंगे इंसास राइफल के ट्रिगर मैकेनिज्म क्या है( What are the 5.56 mm INSAS Rifle Trigger Mechanism?) इंसास राइफल के सिगल शॉट (single shot) और उनके पार्ट पुरजो का नाम(Parts of single shot Trigger Mechanism) !

        जरुर पढ़े : इंसास राइफल की खाली करना, भरना, मेक सेफ करने का तरीका 

इंसास राइफल एक जवान का  जातीय हथियार है और इस राइफल  से  सिग्नले शॉट और थ्री राउंड ब्रस्ट फायर  किया जा सकता है  इसीलिए यह  जरुरी है  की एक जवान को इंसास राइफल के ट्रिगर  मेकनिज्म( 5.56 mm INSAS Rifle Trigger Mechanism) के बारे में जानकारी होनी चाहिए की वह जरुरत पड़ने पर  असानी से  उसे इस्तेमाल कर सके !




INSAS Rifle Trigger Parts
INSAS Rifle Trigger Parts
ट्रिगर मेकनिज्म के पार्ट्स का नाम : इंसास का ट्रिगर मेकनिज्म के छे(6) भाग और उनके पार्ट्स का नाम निम्न प्रकार से है :

  1. चेंज लीवर(Change Leaver) : पार्ट्स के नाम:  स्टेम(Stem), राईट लग(Right lug) , लेफ्ट लग(Left lug), रिब(Rib) 
  2. ट्रिगर सिअर(Trigger Sear) : पार्ट्स के नाम:   ट्रिगर(Trigger) , ट्रिगर सिअर हेड(Trigger Sear head) , क्लॉ(Claw), नैक(Neck) 
  3. औक्सिल्लारी सिअर(Axuliary Sear) :पार्ट्स के नाम:  हेड (Head), क्लॉ(Claw) , आर्म(Arm) 
  4. हैमर(Hammer) : पार्ट्स के नाम: हैमर(Hammer), हमेर स्प्रिंग प्लेटफार्म(Hammer Spring Platform) , पावल(Pawl) , पावल स्प्रिंग(Pawl Spring) 
  5. ट्रिगर एक्सिस पिन (Trigger Axix pin)
  6. हैमर एक्सिस पिन (Hammer Axix pin)
सिंगल शॉट ट्रिगर मेकनिज्म के काम करने का तरीका(How INSAS Rifle's Trigger Mechanism works?)


  • चेंज लीवर की पोजीशन S पर : जब चेंज लीवर की पोजीशन "S" पर रहती उस समय स्टेम का दाहिना वाला लग ट्रिगर सिअर पर सवार होता है ! जब ट्रिगर को दबाते है तो ट्रिगर नहीं दबता है क्यों की ट्रिगर सिअर टेल को स्टेम का लग ऊपर नहीं उठने देता है ! 
  • चेंज लीवर की पोजीशन R पर: जब चेंज लीवर की पोजीशन R पर होती है तो स्टेम का दाहिना लग आगे की पोजीशन में पड़ा रूख में रहता है जिससे ट्रिगर सिअर टेल को ऊपर उठाने के लिए जगह मिल जाता है ! जब ट्रिगर सिअर को दबाया जाता है तो ट्रिगर सिअर थोडा आगे और निचे दबता है !ट्रिगर सिअर और अक्सुलिअरी सिअर का एक ही एक्सिस पिन पर होने के कारन इस दौरान औक्सिलारी सिअर अपनी  जगह से आगे आ जाता है !  ट्रिगर सिअर के आगे दबाने से हैमर प्लेटफार्म और ट्रिगर सिअर का मिलाप टूट जाता है और हैमर स्प्रिंग की ताकत से  आगे की तरफ हरकत करता है और राउंड फायर हो जाता है !गैस के   दबाव से पुर्जे पीछे आते है साथी ही हैमर भी पीछे आता है . ट्रिगर पर दबाव होने के कारन ट्रिगर सिअर हैमर को नहीं पकड़ पता लेकिंग अक्सुलिअरी सिअर हैमर को पकड़ लेता है , जिससे एक राउंड फायर हो कर रुक जाता है ! अगला राउंड तबतक फायर नहीं होता है जब तक ट्रिगर को रिलीज कर के दुबारा न दबाया जाय ! जब ट्रिगर को रिलीज किया जाता है तो अक्सुलिअरी सिअर  पीछे जाता है  और ट्रिगर सिअर ऊपर की तरफ आत है ! इस दौरान अक्सुलिअरी सिअर हैमर को छोड़ देता है और ट्रिगर सिअर उसे पकड़ लेता है! 

इस प्रकार से इंसास राइफल के सिंगल शॉट ट्रिगर मेकानिज्म काम करता है !

Download pdf version of "इंसास राइफल का सिंगल शॉट ट्रिगर मेकनिज्म ,कोह्लना जोड़ना और् पार्ट्स ".

No comments:

Post a Comment

Addwith

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...