Sponser


Click to buy ePrecise

Search

11 March 2016

ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते

"Experience teaches only the teachable"

सिविलियन और वर्दीधारी के बिच फर्क जो देखने को मिलता है ओ है उसका मुख्य कारन होता है  परेड ड्रिल ! क्यों की परेड ड्रिल एक ऐसा विषय है जो एक वर्दीधारी को सिखाया जाता है लेकिंन सिविलिन को नहीं ! परेड ड्रिल में एक वर्दीधारी केवल लेफ्ट राईट यानि परेड करना ही नहीं सिखाया जाता है वल्कि उसको कैसे कैसे यूनिफार्म पहना चाहिए, कैसे चलना, बात करना , कैसे वरिष्ठ अधिकारी से बात करते है या आदेश लेते है और कैसे अपने से जूनियर को आदेश देते है या बात करते है इत्यादि सिखलाया जाता है यानि हम ये कह सकते है की जो एक वर्दीधारी का विशेष इमेज आम पब्लिक में बना हुवा है  उन सब में ड्रिल के दौरान दी गयी सिखलाई  का एक अपना अहम स्थान रहता है !
       ड्रिल फ़ौज में कब शरू हूवी ?
    सबसे पहले ड्रिल को फ़ौज में शुरु करने वाले थे जर्मन में मेजर जनरल डराल ने सान( Dral ne San) जो इसे सान 1666 में शुरु किये ! उनका सोच था की फ़ौज को कण्ट्रोल करने, अनुशाषित रखने, हुकुम मानने तथा सामूहिक रूप से काम के लिए कोई न कोई तरीका होने चाहिए और जो तरीका उन्होंने ड्रिल को अमल में लाया !
         ड्रिल किसे कहते है ?(Drill kise kahte hai)
    किसी प्रोसीजर को क्रमवार और उचित तरीके अनुकरण करने की करवाई को ड्रिल कहते है ! इसका मतलब ए हुवा की परेड ग्राउंड में परेड  करने को ही हम ड्रिल नहीं कहेंगे बल्कि ड्रिल उन सभी कार्यवाही को कहते है  जो क्रमवार और उचित तरीके से किया जाता हो !
          ड्रिल कितने प्रकार के होते है ?(Drill kitne prakar ke hote hai?
    ड्रिल दो प्रकार के होते है !
    (i)                   ओपन ड्रिल – ये ड्रिल फील्ड में की जाती है
    (ii)                 क्लोज ड्रिल – ये ड्रिल ट्रेनिंग ग्राउंड / पीस एरिया में की जाती ई
     ड्रिल का उद्देश्य क्या होता है ?Drill ka uddeshy kya hota hai ?
    एक सैनिक के अन्दर आदेश मानने और अपने कर्तव्य के सही तरीके से अंजाम देने केलिए हर समय सजग रहने का मज़्दा पैदा करना!
                        ड्रिल के फौजी के ऊपर क्या असर डालता है?(Drill fauj ke upar kya asar dalta hai?
    जैसे की कहा गया है की ड्रिल डिसिप्लिन  का बुनियाद है और ड्रिल एक फौजी को सिविलिन से फौजी बनता है! ड्रिल का असर कुछ निम्नलिखित है
    (i)                   डिसिप्लिन सिखलाती है!
    (ii)                 सामूहिक रूप में काम करने की आदत डालती है !
    (iii)                आदेश मानने की आदत सिखलाती है !
    (iv)                कमांड एवं कण्ट्रोल सिखलाती है
    (v)                 सही तरीके से यूनिफार्म पहनना सिखलाती है !
    (vi)                ड्रिल देख कर किसी यूनिट का डिसिप्रलिन  और  मोरल का अंदाजा लगाया जा सकता है !
    ड्रिल के उसूल क्या होते है ?(Drill ke usul kya hote hai?)
    ड्रिल का उसूल होता है :
    (i)                   स्थिरता (Steadiness)
    (ii)                 फूर्ती(Smartnes)
    (iii)                मिलकर कम करना (Coordination)

     फूट ड्रिल के क्या उसूल होते है ?(Foot drill ke usul kya hote hai?)
    फूट ड्रिल के उसूल :
    (i)                   पाँव तेजीसे आगे निकलना (Shoot the foot forward)
    (ii)                 घुटने को तेजी से झोकना (bend the Knee double time)
    (iii)                ठीक वफ़ा देना (Correct Pause)
    ड्रिल की सिखलाई देने के लिए ट्रेनिंग एड्स क्या क्या है ?(Drill ke lie training aid kya kya hote hai?)

    निम्नलिखित है :
    (i)                   पेस स्टिक
    (ii)                 बैक स्टिक
    (iii)                एंगल बोर्ड
    (iv)                समय सूचक (मेट्रोनोमे)
    (v)                 ड्रम और ड्रमर
    Forpoliceman-Savdhan Position
    Savdhan Position  (Image Source-Google Search)
    “सावधान” की जरुरत और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते क्या है ?(Savdhan ki position me dekhne wali bate)
    सावधान की जरुरत ड्रिल के कोई भी हरकत करनी हो तो वो सावधान पोजीशन से की जाती है और अपने से सीनियर से बात करनी या आदेश लेते समय सावधान पोजीशन को अख्तियार कर के ही की जाती है!
    सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते : दोनों पैर की एड़िया मिली हुई  और पौंजो का एंगल 30 डिग्री ! दोनों घुटने टाइट ! दिनों बाजु दाहिने और बाये तरफ पैंट की सिलाई के साथ मिले हुवे और मुट्ठी कुदरती तौर पे बंद ! पेट अन्दर के तरफ और छाती बहार के तरफ उट्ठी हवी ! कंधे पीछे खिचे हुवे और गर्दन कोलार के साथ मिली हवी और निगाह सामने !


         "सावधान" पोजीशन में दोनों पौंजो के बिच कितना डिग्री का एंगल होता है ?(Savdhan position me dono pairo ke bich ki angle?)

    दोनों पंजो के बिच 30 डिग्री का एंगल होता है !
    forpoliceman-Vishram Position
    Vishram Position
                                                                                     (image source_Google search)
           “विश्राम ” की जरुरत और विश्राम पोजीशन में देखनेवाली बाते क्या है ?(Vishram ki position me aur usme dekhnewali bate?)

    ड्रिल की कोई भी करवाई ख़त्म होने पे विश्राम पोजीशन की करवाई करते है या अपने  सीनियर से बात ख़त्म होने पे विश्राम की करवाई  से सम्बंधित ब्लॉग पोस्ट समाप्त हुई ! उम्मीद है की आपलोगों के ए पोस्ट पसंद आएगी !इस ब्लॉग को सब्सक्राइब या फेसबुक पेज को लाइक करके हमलोगों को प्रोतोसाहित करे!

    इसे भी  पढ़े :
    1. भारतीय पुलिस ड्रिल ट्रेनिंग में इस्तेमाल होने वाले परेड कमांड का हिंदी -इंग्लिश रूपांतरण
    2. ड्रिल में अच्छी पॉवर ऑफ़ कमांड कैसे दे सकते है
    3. ड्रिल का इतिहास और सावधान पोजीशन में देखनेवाली बाते
    4. VIP गार्ड ऑफ़ ऑनर के नफरी और बनावट
    5. विश्राम और आराम से इसमें देखने वाली बाते !
    6. सावधान पोजीशन से दाहिने, बाएं और पीछे मुड की करवाई
    7. आधा दाहिने मुड , आधा बाएं मुड की करवाई और उसमे देखने वाली बाते !
    8. 4 स्टेप्स में तेज चल और थम की करवाई
    9. फूट ड्रिल -धीरे चल और थम
    10. खुली लाइन और निकट लाइन चल


    28 comments:

    1. ड्रील के इतिहास की पीडीएफ फ़ाइल होतो सेन्ड करो सर

      ReplyDelete
      Replies
      1. यह डाउन लोड सेक्शन के अन्दर उपलब्ध है वह से आप डाउनलोड कर सकते है !

        Delete
      2. ड्रिल के इतिहास की पीडीएफ फाइल होते भेजें करे सर

        Delete
    2. ड्रील के इतिहास की पीडीएफ फ़ाइल होतो सेन्ड करो सर


      Mera email address kashiyadu143@gmail.com

      ReplyDelete
      Replies
      1. यह डाउन लोड सेक्शन के अन्दर उपलब्ध है वह से आप डाउनलोड कर सकते है !

        Delete
    3. mere ko bhi send Karo Sir email address hai
      anilkumarskd81@gmail.com

      ReplyDelete
      Replies
      1. यह डाउन लोड सेक्शन के अन्दर उपलब्ध है वह से आप डाउनलोड कर सकते है !

        Delete
    4. Drill ase related pdf ho to bataye

      ReplyDelete
      Replies
      1. thank you for visiting my blog. Aap load section me jake dekh sakte hai waha pe kuchh pdf file drill vishay pe hai sayad o aap ke kaam aa sake

        Delete
    5. your page is very helpfull for me ...
      thanx

      ReplyDelete
    6. Tnx it is very important for a cadet

      ReplyDelete
    7. Pdf send dril plz
      M sitapur iti cours m Hu ok

      ReplyDelete
    8. Sir 1666 ki jagha 1966 me drill army me aye

      ReplyDelete
    9. respected sir
      shantikal me sena kya karya karati hai?

      ReplyDelete
    10. Sir cadets ki intgrees me hi kyun khada kiya jata hain
      Aur gap cover hasa left se hi kyun hota hain

      ReplyDelete
    11. This page is very helpful for me especially in NCC exam thnku... Plzz publishe more topic related to NCc

      ReplyDelete
    12. Sir hame ek bat samagh nhi aati ki drill 1666 me start hui ya 1866 me

      ReplyDelete
    13. 1666 me jarmani me hua tha 1866 me india me hua tha

      ReplyDelete
    14. Cadet Unnati yadav
      it is very helpful in all Ncc cadet
      I need main point in drill thanku very much sir

      ReplyDelete