Sponser


Sunday, October 29, 2017

देखो कौन आया पुलिस बल में - मेरा देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है

यह कहना कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी की अपना देश बदल रहा है और आगे बढ़ रहा है ! देश के लोग तथा उनकी सोच बदल रही है ! जहा पहले पुलिस बल एक पुरुष प्रधान होता था उसमे महिलाये भी धीरे धीरे ज्वाइन करने लगी और बाद में महिलाओ का प्रतिशत निर्धारित कर दिया गया की राज्य पुलिस में 33% महिलाये रहेंगी जरुर !



इस पुलिस फ़ोर्स में एक और आयाम जुदा है ! और निचे दिए हुवा फोट आज काल इन्टरनेट पर बहित वायरल हो रहा है वह है पृथिका यशिनी जो हाल ही में तमिलनाडु पुलिस में उपनिरीक्षक के पद पर  ज्वाइन की है वह एक किन्नर है !
थिका यशिनी पहली ट्रांसजेंडर पी एस आई
पृथिका यशिनी पहली ट्रांसजेंडर पी एस आई 
वह देश की पहली किन्नर उपनिरीक्षक है ! वह तो IPS बनान चाहती थी लेकिन पिछले दिनों उन्होंने टेस्ट पास कर के उप निरीक्षक बनी है !  पृथिका का उप निरीक्षक बनाने  सफ़र उतना आसन नहीं था !उन्हें इस मुकाम को पाने में बहुत ही मेहनत करनी पड़ी और क़ानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी !

पृथिका यशिनी का जन्म एक ड्राईवर - टेलर के यहाँ सालेम , तमिल नाडू ,में हुई और उनका बचपन  का नाम प्रदीप कुमार था ! और नौ वे क्लास तक की पढाई उन्होंने एक लड़के के रूप में की ! उनके क्रिया कलाप जो थोड़े लडकियों जैसे थे उसके ठीक करने के लिए उनके माता पिता ने मंदिर , बाबाओ तथा डॉक्टर्स के पास लेके गए लेकिंन कुछ नहीं ठीक हुवा !

जरुर पढ़े : पान कार्ड नम्बर को स्टेट बैंक अकाउंट से लिंक करने का तरीका

जब ओ 9 वी क्लास में पढ़ रही थी तो उनको लगा की वह लड़का नहीं है ! उन्होंने अपना ग्रेजुएशन कंप्यूटर एप्लीकेशन में किया ! तथा 2011 अपना घर छोड़ के भाग कर चेन्नई चली गई जहा उनको किन्नर लोगो के बीच अपनी पहचान मिली !वह किन्नर बन गयी !

उन्होंने  चेन्नई के एक वीमेन हॉस्टल के वार्डन के रूप में कार्य सुरु किया ! जब तमिलनाडु में 1087 उपनिरीक्षक की भर्ती निकली तो उन्होंने अप्लाई किया लेकिन उनका एप्लीकेशन रिजेक्ट होगया क्यों की एप्लीकेशन में दो (मेल और फीमेल ) केटेगरी था और ट्रांसजेंडर के लिए कॉलम नहीं था ! इस बात को उन्होंने मद्रास हाई कोर्ट में चैलेंज किया जिसमे  में मद्रास हाई कोर्ट ने Tamil Nadu Uniformed Services Recruitment Board (TNUSRB)  को आर्डर दिया की उनका टेस्ट लिया जाय  !
पृथिका यशिनी रिक्रूटमेंट मेज़रमेंट
पृथिका यशिनी रिक्रूटमेंट मेज़रमेंट 
उनका रिक्रूटमेंट टेस्ट जो की लिखित , फिजिकल एन्दुरांस  टेस्ट तथा  इंटरव्यू था ! उन सब को उन्होंने ने पास किया !

जरुर पढ़े : आधार कार्ड को पान कार्ड से कैसे लिंक करे ?

उसके बाद मद्रास हाई कोर्ट ने  6 नवम्बर  2015  को आर्डर पास  किया TNUSRB  को की  पृथिका याशिनी को पुलिस उपनिरीक्षक के पद पे अप्पोइंत किया जाय और उसके अलावा TNUSRB के आदेश दिया के एप्लीकेशन में मेल ,और फीमेल के अलावा ट्रांसजेंडर को तीसरी ग्रुप में डाले !

इतनी लड़ाई के बाद  पृथिका याशिनी अपने 21 और ट्रांसजेंडर साथियो के साथ तमिलनाडु पुलिस फ़ोर्स को ज्वाइन किया और उस बात को चरितार्थ कर दिया की लड़ने वालो को कभी हार नहीं होती !उनका अपॉइंटमेंट चेन्नई पुलिस कमिश्नर स्मिथ सरन ने  अप्रैल 2017 को दी!
पृथिका यशिनी अपॉइंटमेंट आर्डर
पृथिका यशिनी अपॉइंटमेंट आर्डर
पृथिका याशिनी अभी तमिल नाडू के धर्मपुरी जिले  में लॉ & आर्डर विंग में तैनात  है !

इसे भी पढ़े :


  1. स्मोक और इल्लू बम का चाल और बेसिक डाटा
  2. 2" मोर्टार का परिचय,और खुबिया तथा इसकी खामिया
  3. 51 mm मोर्टार छोटी छोटी बाते
  4. 51 mm मोर्टार डिटैचमेंट का काम, बनावट और फायर कण्ट्रोल करने का तरीका
  5. 51 mm मोर्टार के भरना और खली करने का तरीका तथा बम को तैयार करना
  6. 51 mm मोर्टार का ले और फायर तथा मिस फायर पे करवाई
  7. 7.62 mm MMG के प्रकार तथा टेक्निकल डाटा 7.62 mm MMG के ?
  8. 7.62 mm MMG को खोलना और जोड़ने का तरीका
  9. 7.62 mm MMG को भरना और खाली करने का तरीका

1 comment:

  1. Good day! Magnificent blog! I really like the way
    in which described Blogger: P O L I C E M A N. Prestigious!
    The manner in which did you buy in these ideal writing skills?
    Is it really a fabulous employees as well as outcomes of persistence.


    You actually should have contain a technique! I will turn into as nice for coming up with when you, but it’s not only these cup of tea .

    But nonetheless ,, as the name indicated, it’s not simply a and if you know to fix it world-wide-web site http://www.youtube.com. It is a assess industry which
    foremost basis might be to do a comparison of sending
    retailers and examine the calibre of their products

    ReplyDelete

match contents