Sponser


Crazy deals on Amazon!

Tuesday, January 10, 2017

पिस्टल फायर करने का तरीका

पिछले पोस्ट में हमने मार्क्स मैन बनाने के तरीके और मार्क्स मैंन के गुण(Small arms training - marksman yani achche firer banane ke tarika) के बारे में जानकारी हासिल की इस पोस्ट में पिस्टल के फायरिंग के तरीके(Firearms pistol ko fire ke liye pakdne ttha fire karne ka tarika) के बारे में जानकारी हासिल करेंगे !



इस पोस्ट में पिस्टल को
  1. एक हाथ तथा(Small arms training- pistol ko signle hand firing technique) 
  2. दोनों हाथ से फायर करने तरतीब के बारेमे जानकारी शेयर करेंगे(Small arms pistol ko both hand firing technique)  !
जैसे की हम जानते है की किसी भी हथियार से अच्छी फायरिंग हासिल करने के लिए जरुरी है की उस हथियार के हैंडलिंग के बारेमे पूरी तरह से वाकिफ हो जिससे की फायरिंग के दौरान पड़ने वाले रोको को तुरंत दूर करके फायरिंग किया जा सके !

जरुर पढ़े:9 mm पिस्तौल का खुबिया और खामिया

1. पिस्टल को एक हाथ से फायर करने के तरीके (Small arms training- pistol ko single hand firing technique) 


  • पिस्टल की हैंडलिंग और पड़ने वाले रोको को  दूर करने के बारेमे पूरी जानकारी हो 
  • फायरर अपनी मास्टर आँख को जनता हो 
  • पिस्टल को अंगूठा और उसके बगल वाली अंगुली तर्जनी के बीच अच्छी तरह से ग्रिप बनाये 
  • पिस्टल की ग्रिप ऐसी होनी चाहिए की पिस्टल अंगूठा और उसकी बगल वाली अंगुली में फंस सी जाय !
  • पिस्टल को दृढ़ता से पकडे लेकिंन इतनी भी टाइट हो की ओ अकड़ सी जाय !
  • बीच वाली अंगुली ट्रिगर के ऊपर हो 
  • बगली रुख में टारगेट के  खड़ा हो 
  • साईट अलिंग्मेंट को हासिल करे 
  • फिर साईट पिक्चर को हासिल करे और साईट पिक्चर के बाडी फायर साईट अलिंग्मेंट के ऊपर ध्यान दे 
  • बिचवाली अंगुली को ट्रिगर पे लाये 
  • साँस को कण्ट्रोल करे 
  • धीरे धीरे ट्रिगर के ऊपर प्रेशर अप्लाई करे और गोली को फायर करे 
  • फायर के बाद  अपने टारगेट को चेक करे 
  • फायरिंग रिजल्ट को अध्यन करे और कोई गलती हो तो उसे खुद सुधारे या किसी तजुर्बादर फायरर से सलाह ले !

2. दोनों हाथ से पिस्टल को फायर करने का तरीका(Small arms training- pistol ko both hand firing technique)

  •  दोनों हाथ से पिस्टल को ग्रिप(Both hand grip) करने  के लिए अपने मास्टर हैण्ड में  पिस्टल को  अंगूठा और बिचवाली अंगुली को V शेप बनाते हुए इस प्रकार से पकडे की मास्टर हाथ  का ग्रिप दूसरी हाथ के ग्रिप के ऊपर ओवरलैप इस प्रकार से करे की दूसरी हाथ की सभी अंगुलिया मास्टर हाथ के अंगुलियों के ऊपर ओवरलैप करे  और लेफ्ट हाथ  मास्टर हाथ को एक तरह से पकड़ा हुवा रहे और मास्टर हाथ का अंगुठ टारगेट के दिशा की और हो !
  • केहुनी(Elbows position) : दोनों हाथो की केहुनिया एक तरह से जकड़ी हुई सीधी टारगेट की दिशा की ओर
  • पैर(Both leg position) : दोनों पैर कद के मुताबिक खुले हुए शारीर का भार दोनों पैर के बीच 
  • आप पिस्टल के पड़ने वाले रोके और उसके दूर करने तथा हैंडलिंग करने में माहिर हो !
  • फायरर अपना मास्टर आंख को जनता हो (Know your master eye for better firing )
  • हो सके तो लाइव फायरिंग से पहले कुछ प्रैक्टिस फायर करले 
  • साईट अलिंग्मेंट को अपनाये(Sight alignment ko hasil kare) 
  • फिर साईट पिक्चर को हासिल करे और उसके बाद फायर साईट अलिंग्मेंट को हासिल करे 
  • बीच वाली अंगुली ट्रिगर के ऊपर (Bichwali anguli trigger ke upar)
  • साँस के ऊपर काबू रखे (Sans ke upar control rakhe)
  • ट्रिगर के ऊपर धीरे धीरे प्रेशर अप्लाई करते हुए ट्रिगर को दबाये और फायर करे (Trigger ke pressure ko slowly slowly release kare)
  • फायरिंग रिजल्ट को चेक करे (Check your firing result)
  • फायरिंग रिजल्ट में कोई गलती हो तो उसे सुधारे और जरुरी पड़े तो किसी ट्रेनर से सलाह ले 

इस प्रकार से पिस्टल को एक हाथ तथा  दोनॉ  हाथो  से पकड़ के स्टैंडिंग पोजीशन से फायर करने के बारे में संक्षिप्त जानकारी समाप्त हुई उम्मीद है की ये पोस्ट पसंद आएगा ! !अगर इस पोस्ट तथा इस ब्लॉग के बारे में कोई कमेंट या सुझाव हो तो निचे लिखे कमेन्ट बॉक्स में जरूर  दे !ब्लॉग को  सब्सक्राइब और अपने दोस्तों के बिच भी फेसबुक के ऊपर शेयर  कर हमलोगों को सपोर्ट  करे !

डाउनलोड डॉक् वर्शन ऑफ़ पिस्टल फायरिंग तकनीक (Download pdf version of pistol firing technique)

इन्हें भी  पढ़े:
  1. 5.56 MM INSAS LMG के ऊपर दुरुस्त पकड़ बनाने का तरीका
  2. 5.56 MM INSAS LMG से दुरुस्त शिस्त लेने का तरीका
  3. 5.56 mm INSAS LMG से सही फायर करने का तरीका
  4. 5.56 mm INSAS LMG से सही फायर करने का तरीका
  5. 5.56 mm INSAS LMG का चाल और चाल में सामिल होने वाले हिस्से पुर्जे !
  6. इंसास एलएमजी में पड़ने वाले रोके और फौरी इलाज से दूर करने का तरीका
  7. इंसास एलएमजी में पड़ने वाले शख्त खिचाव के रोक और उसे दूर करने का तरीका
  8. INSAS LMGमें पड़ने वाली गैस की कमी का रोक और उसे दूर करने का तरीका
  9. INSAS LMG में पड़ने वाले अन्य रोके तथा उसे दूर करने का तरीका
  10. 9mm पिस्तौल के चाल और चाल में सामिल होने वाले हिस्से पुर्जे

No comments:

Post a Comment

Addwith